Submit your post

Follow Us

अपनी अगली फिल्म में गे बनने जा रहे हैं आयुष्मान खुराना

176
शेयर्स

दो दिनों के अंतराल में आयुष्मान खुराना की दो फिल्मों का काम शुरू हो गया है. पहली की शूटिंग शुरू हो गई और दूसरी का टीज़र के साथ अनाउंसमेंट हो चुका है. ये फिल्में हैं ‘बाला’ और ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’. अगर आपको ‘बाला’ से जुड़ी बातें जाननी हो, तो यहां क्लिक करें. अभी हम बात करेंगे फिल्म ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ के बारे में, जो तमिल फिल्म ‘कल्याण समयाल साधम’ की हिंदी रीमेक ‘शुभ मंगल सावधान’ का सीक्वल है. 9 मई को फिल्म के मेकर्स ने सोशल मीडिया पर इस फिल्म का पहला टीज़र लॉन्च किया. आइए जानते हैं कि इस टीज़र में क्या दिखता है? ये फिल्म किस बारे में है? और फिल्म से जुड़ी तमाम बातें.

1) ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ का टीज़र एनिमेटेड वीडियो है. इसमें हमें बताया जाता है कि कैसे हमने किताबों में, गानों में, फिल्मों में कई मशहूर प्रेम कहानियां पढ़ी-सुनी-देखी हैं. इन सभी प्रेम कहानियों में एक चीज़ कॉमन थी. इसमें दोनों पार्टनर अलग-अलग सेक्स के थे. लेकिन उसी दौर में कुछ प्रेम कहानियां ऐसी हैं, जिन पर किसी का ध्यान नहीं गया, लेकिन वो चलती रहीं. एक ही लिंग के दो लोग आपस में तब भी प्यार करते थे. गे-लेस्बियन तब भी होते थे, लेकिन तब हमारे पास ये पॉप-कल्चर वाले कूल नाम नहीं थे, इसलिए सबकुछ जानने के बावजूद हमने कभी उनके बारे में बात ही नहीं की. न ही हमें इन चीज़ों के बारे में बात करने दिया गया. हमेशा से इस तरह की रिलेशनशिप को अप्राकृतिक बताया जाता रहा है, इस पर मार करते हुए फिल्म की टैग लाइन है- ‘100 % प्राकृतिक प्यार’.

2) अब इसी होमोसेक्शुएलिटी के मुद्दे पर बात करने एक फिल्म आ रही है. विषय की गंभीरता को देखते हुए छोटे शहर के एक मिडल क्लास फैमिली में सेट किया जाएगा. एक ऐसे परिवार की कहानी होगी, जिसका खुद का बच्चा गे है. पहले तो वो इस सच्चाई से भागते हैं या मुंह फेर लेते हैं. लेकिन आखिर में उन्हें मानना पड़ता है. अब तक जितनी भी फिल्में होमोसेक्शुएलिटी पर बनी हैं, उसमें कुछ ही फिल्में हैं, जिनमें इस विषय को गहराई तक टटोला गया है. बाकी फिल्मों में इस चीज़ को टैबू की तरह ही असंवेदनशील तरीके से दिखाया गया है. इस फिल्म के बारे में कहा जा रहा कि ये इस इशू को काफी सेंसिटिव तरीके से उठाएगी और घर-घर तक पहुंचाएगी.

फिल्म 'दम लगाके हइशा' के एक सीन में आयुष्मान खुराना. आयुष्मान इससे पहले भी 'बरेली की बर्फी', 'बधाई हो' और 'शुभ मंगल सावधान' जैसी फिल्मों में भी आयुष्मान छोटे शहर के लड़के का रोल कर चुके हैं.
फिल्म ‘दम लगाके हइशा’ के एक सीन में भूमि पेडनेकर के साथ आयुष्मान खुराना. आयुष्मान इससे पहले ‘बरेली की बर्फी’, ‘बधाई हो’ और ‘शुभ मंगल सावधान’ जैसी फिल्मों में भी छोटे शहर के लड़के का रोल कर चुके हैं.

3) इससे पहले हमारे यहां होमोसेक्शुएलिटी पर बनी कायदे की फिल्मों की संख्या उंगली पर गिन लिए जाने भर ही है. 6 सितंबर, 2018 को भारतीय संविधान की धारा 377 को सुप्रीम कोर्ट ने डिक्रिमिनलाइज़ कर दिया. इसके फौरन बाद इसी मसले पर बेस्ड फिल्म ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ रिलीज़ हुई. ये शायद पहली बड़े एक्टर्स वाली मेनस्ट्रीम फिल्म थी. इससे पहले 2016 में हंसल मेहता डायरेक्टेड फिल्म ‘अलीगढ़’ आई थी, जिसमें मनोज बाजपेयी ने एक गे प्रोफेसर का किरदार निभाया था. इनके अलावा ‘मार्गरीटा विद अ स्ट्रॉ’, ‘कपूर एंड संस’, ‘दोस्ताना’, ओनीर की ‘आय एम’ और दीपा मेहता की ‘फायर’ जैसी फिल्मों में भी इस मामले को थोड़ी गंभीरता से दिखाया गया था.

फिल्म 'अलीगढ़' में प्रो. रामचंद्र सिरस के रोल में मनोज बाजपेयी और फिल्म 'एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा' के एक सीन में सोनम कपूर.
फिल्म ‘अलीगढ़’ में प्रो. रामचंद्र सिरस के रोल में मनोज बाजपेयी और फिल्म ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ के एक सीन में सोनम कपूर.

4) ‘शुभ मंगल सावधान’ में ‘इरेक्टाइल डिस्फंक्शन’ यानी सेक्स से पहले लिंग शिथिलता जैसी बीमारी के शिकार लड़के का रोल आयुष्मान खुराना ने किया था. इसके सीक्वल में वो एक गे किरदार निभाते नज़र आएंगे. आयुष्मान के पार्टनर के रोल में दिखने वाले एक्टर के पास भी फिल्म में करने के लिए काफी कुछ होगा, इसलिए फिल्म की कास्टिंग देखना दिलचस्प रहेगा. हालांकि शैली धर चोपड़ा की फिल्म ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ में सोनम की पार्टनर का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस का नाम फिल्म की रिलीज़ तक छुपाकर रखा गया था. फिल्म में वो रोल तमिल-तेलुगू फिल्मों की मशहूर एक्ट्रेस रेजिना कैसेंड्रा ने किया था. आयुष्मान के फिल्म की कास्टिंग होनी अभी बाकी है.

फिल्म 'शुभ मंगल सावधान' के एक सीन में आयुष्मान खुराना.
फिल्म ‘शुभ मंगल सावधान’ के एक सीन में आयुष्मान खुराना. इसमें उन्होंने इरेक्टाइल डिस्फंक्शन से जूझ रहे एक लड़के का रोल किया था.

5) इस फिल्म को बनाने के पीछे की कहानी आनंद.एल. राय बताते हैं. आनंद ने मुंबई मिरर से बात करते हुए बताया कि ‘शुभ मंगल सावधान’ की सफलता के बाद उसे एक फ्रैंचाइज़ी के रूप में डेवलप किया गया है. इस सीरीज़ में वो सिर्फ उन्हीं मामलों पर फिल्में बनाएंगे, जिसके बारे में पता तो सबको है लेकिन कोई बात नहीं करना चाहता. वो अपनी इस सीरीज़ की मदद से उन गंभीर मुद्दों को हल्की-फुल्की फिल्म की शक्ल में जनता के बीच लेकर आएंगे. आनंद इस सीरीज़ और फिल्म के प्रोड्यूसर हैं.

 आनंद.एल.रॉय की बतौर डायरेक्टर आखिरी फिल्म शाहरुख खान, अनुष्का शर्मा और कटरीना कैफ स्टारर 'ज़ीरो' थी.
आनंद.एल.राय की बतौर डायरेक्टर पिछली  फिल्म शाहरुख खान, अनुष्का शर्मा और कटरीना कैफ स्टारर ‘ज़ीरो’ थी. लेकिन आयुष्मान वाली फिल्म को वो सिर्फ प्रोड्यूस कर रहे हैं.

6) 2017 में आई ‘शुभ मंगल सावधान’ को आर.प्रसन्ना ने डायरेक्ट किया था. ऐसा इसलिए हुआ था क्योंकि वो फिल्म ही प्रसन्ना की ‘कल्याण समयाल साधम’ की रीमेक थी. लेकिन ‘शुभ मंगल सावधान’ को डायरेक्ट करने की जिम्मेदारी पिछली फिल्म के डायलॉग-स्क्रीनप्ले राइटर हितेश केवल्या को दी गई है. हितेश इससे पहले ‘आगे से राइट’ (2009) और ‘सिद्धार्थ- द प्रिज़नर’ जैसी फिल्में लिख चुके हैं. डायरेक्शन एक्सीपीरियंस के नाम पर उनके पास ‘रिद्मैटिक्स’ नाम की एक शॉर्ट फिल्म है.

7) ‘स्त्री’ फेम अमर कौशिक डायरेक्टेड फिल्म ‘बाला’ की शूटिंग पूरी करने के बाद आयुष्मान ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ की शूटिंग शुरू करेंगे. मीडिया रिपोर्ट्स में ये बताया जा रहा है कि फिल्म की शूटिंग अगस्त में शुरू होगी. इसकी रिलीज़ डेट 2020 वैलेंटाइन डे अनाउंस की गई है. इसी समय के लिए इम्तियाज़ अली की कार्तिक आर्यन-सारा अली खान स्टारर फिल्म और मोहित सूरी की आदित्य रॉय कपूर और दिशा पाटनी स्टारर ‘मलंग’ भी शेड्यूल्ड है.


वी़डियो देखें: ऋतिक रौशन ने अपनी फिल्म सुपर 30 की रिलीज़ डेट आगे क्यों खिसका दी है?

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Shubh Mangal Zyada Saavdhan: Teaser of upcoming film about homosexuality starring Ayushamann Khurrana directed by Hitesh Kewalya

पोस्टमॉर्टम हाउस

भारत: मूवी रिव्यू

जैसा कि रिवाज़ है ईद में भाईजान फिर वापस आए हैं.

बॉल ऑफ़ दी सेंचुरी: शेन वॉर्न की वो गेंद जिसने क्रिकेट की दुनिया में तहलका मचा दिया

कहते हैं इससे अच्छी गेंद क्रिकेट में आज तक नहीं फेंकी गई.

मूवी रिव्यू: नक्काश

ये फिल्म बनाने वाली टीम की पीठ थपथपाइए और देख आइए.

पड़ताल : मुख्यमंत्री रघुवर दास की शराब की बदबू से पत्रकार ने नाक बंद की?

झारखंड के मुख्यमंत्री की इस तस्वीर के साथ भाजपा पर सवाल उठाए जा रहे हैं.

2019 के चुनाव में परिवारवाद खत्म हो गया कहने वाले, ये आंकड़े देख लें

परिवारवाद बढ़ा या कम हुआ?

फिल्म रिव्यू: इंडियाज़ मोस्ट वॉन्टेड

फिल्म असलियत से कितनी मेल खाती है, ये तो हमें नहीं पता. लेकिन इतना ज़रूर पता चलता है कि जो कुछ भी घटा होगा, इसके काफी करीब रहा होगा.

गेम ऑफ़ थ्रोन्स S8E6- नौ साल लंबे सफर की मंज़िल कितना सेटिस्फाई करती है?

गेम ऑफ़ थ्रोन्स के चाहने वालों के लिए आगे ताउम्र की तन्हाई है!

पड़ताल: पीएम मोदी ने हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात कहां कही थी?

जानिए ये बात आखिर शुरू कहां से हुई.

मूवी रिव्यू: दे दे प्यार दे

ट्रेलर देखा, फिल्म देखी, एक ही बात है.

क्या वाकई सलमान खान कन्हैया कुमार की बायोपिक में काम करने जा रहे हैं?

बताया जा रहा है कि सलमान इसके लिए वजन कम करेंगे और बिहारी हिंदी बोलना सीखेंगे.