Submit your post

Follow Us

कारगिल के शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा की बायोपिक 'शेरशाह' की ख़ास बातें जान लीजिए

धर्मा प्रॉडक्शन की पिक्चर पहली बार अमेज़न प्राइम वीडियो पर आने वाली है. फ़िल्म का नाम है ‘शेरशाह’. ये फ़िल्म कारगिल युद्ध में शहीद हुए कैप्टन विक्रम बत्रा के जीवन पर आधारित है. फ़िल्म में सिद्धार्थ मल्होत्रा शहीद विक्रम का किरदार निभा रहे हैं. इसी फ़िल्म से जुड़ी हर बात हमने आपके लिए नीचे लिख दी है.

#कौन थे विक्रम बत्रा?

कैप्टन विक्रम बत्रा. पालमपुर हिमाचल प्रदेश में 9 सितम्बर 1974 को जन्मे. शुरूआती पढाई के लिए स्कूल नहीं गए. घर पर ही मम्मी से पढ़ा करते थे. बड़े हुए फ़ौज में भर्ती होने के सपने के साथ. स्कूल में भी NCC जॉइन कर ली. यहां भी अव्वल रहे. बाद में मर्चेंट नेवी में भी सिलेक्ट हो गए. लेकिन फ़िर मन बदल गया और फ़ैसला किया जल में नहीं, थल पर देश के लिए लड़ेंगे. 1997 में विक्रम बत्रा की 13 JAK रायफल्स में लेफ्टिनेंट के पद पर नियुक्ति हुई. दो साल बाद कारगिल युद्ध के शुरू होने से कुछ वक़्त पहले ही कप्तान बना दिए गए. कारगिल युद्ध जीतने में विक्रम बत्रा का बहुत अहम योगदान था. 19 जून 1999 को विक्रम बत्रा के नेतृत्व में सेना ने पॉइंट 5140 दुश्मनों से छीन लिया था. ये कारगिल युद्ध का बहुत ही अहम हिस्सा था. क्यूंकि पॉइंट 5140 एक सीधी और ऊंची चढ़ाई पर था. जहां से पाकिस्तानी घुसपैठिए भारतीय जवानों पर फ़ायर कर रहे थे. ऐसी ही हर विक्ट्री के बाद कैप्टन बत्रा एक विक्ट्री कॉल चिल्लाते थे,

‘ये दिल मांगे मोर’

कारगिल यद्ध के दौरान खींची गई विक्रम बत्रा की तस्वीर. 2266392377857025571 N
कारगिल यद्ध के दौरान खींची गई विक्रम बत्रा की तस्वीर.

7 जुलाई, 1999 को 4875 पॉइंट पर उन्होंने अपनी जान गंवा दी. विक्रम अपनी जान से ज्यादा अपने साथियों की जान की परवाह किया करते थे. जिस समय वो दुश्मन के गोलियों का शिकार बने उस वक़्त भी उन्होंने अपने साथ के सिपाही को ‘तुम हट जाओ. तुम्हारे बीवी-बच्चे हैं’ कहते हुए पीछे हटाया था और खुद दुश्मनों से जा भिड़े थे. शायद यही बहादुरी वजह थी जिस वजह से चीफ़ ऑफ आर्मी स्टाफ वेद प्रकाश मलिक ने एकबार कहा था कि,

‘कैप्टन विक्रम बत्रा अगर कारगिल वॉर से सही-सलामत लौट आए होते, तो 15 साल के अंदर मेरी कुर्सी पर बैठे होते.’

कैप्टन बत्रा को उनकी शहादत के बाद परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया था. परमवीर चक्र पाने वाले विक्रम आखिरी सैनिक हैं. कैप्टन विक्रम के साहस के किस्से सिर्फ हिंदुस्तान में ही नहीं सुनाए जाते. बल्कि पाकिस्तान में भी विक्रम की बहादुरी की चर्चा होती है. यहां तक कि पाकिस्तानी आर्मी भी उन्हें शेरशाह कहा करती थी. जिसका मतलब होता है शेरों का बादशाह.

 

कैप्टन विक्रम बत्रा. दुश्मन भी जिनकी बहादुरी के किस्से पढ़ते थे.
कैप्टन विक्रम बत्रा. दुश्मन भी जिनकी बहादुरी के किस्से पढ़ते थे.

#सिद्धार्थ मल्होत्रा बनेंगे SherShah

कैप्टन विक्रम बत्रा के इस अतुलनीय जीवन को पर्दे पर उतारने का जिम्मा डायरेक्टर विष्णुवर्धन ने उठाया है. ये विष्णु की पहली हिंदी फ़िल्म है. इससे पहले तक विष्णु ‘बिल्ला’,’पंजा’ जैसी तमिल भाषा की फ़िल्में बनाते आए हैं. ‘शेरशाह’ को धर्मा प्रॉडक्शन के अंडर बनाया गया है. यानी फ़िल्म के निर्माता करण जौहर हैं. फ़िल्म में कैप्टन बत्रा का किरदार सिद्धार्थ मल्होत्रा निभा रहे हैं. सिद्धार्थ फ़िल्म में डबल रोल में नज़र आएंगे. एक विक्रम बत्रा और एक उनके जुड़वा भाई विशाल बत्रा के किरदार में. फ़िल्म में विक्रम बत्रा की मंगेतर डिंपल चीमा का रोल कियारा अडवाणी अदा कर रही हैं. इनके अलावा ‘बॉस’, ‘शिवाय’ जैसी फ़िल्मों में दिखे शिव पंडित, ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ के थंगाबली निकितन धीर भी फ़िल्म में दिखाई देंगे.

'शेरशाह' का पोस्टर.
‘शेरशाह’ का पोस्टर.

#अभिषेक बच्चन भी निभा चुके हैं किरदार

ऐसा नहीं है कि पहली बार कप्तान विक्रम बत्रा का शौर्य सिनेमा में दिखने जा रहा है. इससे पहले 2003 में रिलीज़ हुई जे.पी दत्ता की फ़िल्म ‘एल.ओ.सी:कारगिल’ में अभिषेक बच्चन विक्रम बत्रा के किरदार में नज़र आए थे. हां लेकिन इस फ़िल्म में संपूर्ण कारगिल युद्ध को दिखाया गया था. वहीं ‘शेरशाह’ विक्रम की बायोपिक है जिसका केंद्र बिंदु उन्हीं का जीवन रहेगा. अभिषेक बच्चन को विक्रम बत्रा के किरदार के लिए उस वक़्त काफ़ी सराहना मिली थी. और कास्टिंग के लिहाज़ से देखा जाए तो अभिषेक बच्चन विक्रम बत्रा से मेल भी खाते थे. अब सिद्धार्थ इस किरदार को कैसा निभा पाएंगे ये तो फ़िल्म में ही पता चलेगा.

अभिषेक बच्चन ने 2003 में रिलीज़ हुई 'एल.ओ.सी कारगिल' में विक्रम बत्रा का किरदार निभाया था.
अभिषेक बच्चन ने 2003 में रिलीज़ हुई ‘एल.ओ.सी कारगिल’ में विक्रम बत्रा का किरदार निभाया था.

#कब और कहां आएगा ‘शेरशाह’


पहले तो ‘शेरशाह’ को थिएटर में ही रिलीज़ करने का प्लान था. लेकिन सिनेमाघरों के जल्दी ना खुलने के आसार देखते हुए मेकर्स ने फ़िल्म को ओटीटी पर ही रिलीज़ करने का फ़ैसला कर लिया है. इसलिए ‘शेरशाह’ अब सीधे 12 अगस्त को आपके घरों में दस्तक देगा. फिल्म अमेज़न प्राइम पर स्ट्रीम होगी.


ये स्टोरी दी लल्लनटॉप में इंटर्नशिप कर रहे शुभम ने लिखी है.


वीडियो:कान फिल्म फेस्टिवल की सबसे मारक स्पीच कौन सी हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू- मनी हाइस्ट 5

वेब सीरीज़ रिव्यू- मनी हाइस्ट 5

'मनी हाइस्ट' के नए सीज़न में आपको वो सब देखने को मिलेगा, जो आप देखना चाहते हैं.

मूवी रिव्यू: हेलमेट

मूवी रिव्यू: हेलमेट

'कंडोम खरीदने को राष्ट्रीय समस्या' बताती फिल्म आखिर है कैसी?

फ़िल्म रिव्यू: F9

फ़िल्म रिव्यू: F9

जॉन सीना और विन डीज़ल की लड़ाई में मज़ा आएगा या बोर होंगे, जान लीजिए.

मूवी रिव्यू: ब्लैक विडो

मूवी रिव्यू: ब्लैक विडो

क्या ये फिल्म 'एवेंजर्स: एंडगेम' का गम भुला पाने में कामयाब रही?

विजय सेतुपति-तापसी की नई फिल्म 'एनाबेल सेतुपति', जिसमें सबसे ज़्यादा ग़दर भूत काट रहे हैं

विजय सेतुपति-तापसी की नई फिल्म 'एनाबेल सेतुपति', जिसमें सबसे ज़्यादा ग़दर भूत काट रहे हैं

इस हॉरर कॉमेडी फिल्म में कितना हॉरर है और कितनी कॉमेडी?

वेब सीरीज़ रिव्यू: द एम्पायर

वेब सीरीज़ रिव्यू: द एम्पायर

जिस शो की वजह से सस्ते आईटी ट्रोल्स को ओवरटाइम शिफ्ट में काम करना पड़ा, वो आखिर है कैसा?

दो महान वैज्ञानिकों की कहानी है 'रॉकेट बॉयज़', जिनका पूरा जीवन हम भारतीयों के लिए प्रेरणास्त्रोत है

दो महान वैज्ञानिकों की कहानी है 'रॉकेट बॉयज़', जिनका पूरा जीवन हम भारतीयों के लिए प्रेरणास्त्रोत है

जानिए इस शो के बारे में सबकुछ.

फिल्म रिव्यू- चेहरे

फिल्म रिव्यू- चेहरे

कैसी है अमिताभ बच्चन, इमरान हाशमी और रिया चक्रवर्ती स्टारर फिल्म 'चेहरे'?

‘मुंबई डायरीज़' ट्रेलर रिव्यू: 26/11 की भयानक रात को डॉक्टर्स के नज़रिए से दिखाने वाली सीरीज़

‘मुंबई डायरीज़' ट्रेलर रिव्यू: 26/11 की भयानक रात को डॉक्टर्स के नज़रिए से दिखाने वाली सीरीज़

स्पेशल इवेंट 'साहस को सलाम' में महाराष्ट्र के कैबिनेट मिनिस्टर आदित्य ठाकरे ने ट्रेलर लॉन्च किया.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कार्टेल

वेब सीरीज़ रिव्यू: कार्टेल

क्या 'कार्टेल' में कुछ नया देखने को मिला या एक बार सेम ओल्ड गैंगस्टर स्टफ ने पका दिया?