Submit your post

Follow Us

फिल्म रिव्यू: शांग-ची एंड दी लीजेंड ऑफ दी टेन रिंग्स

मार्वल की 25वीं फिल्म ‘शांग ची एंड दी लीजेंड ऑफ दी टेन रिंग्स’ सिनेमाघरों में रिलीज़ हो चुकी है. ये फिल्म इसलिए चर्चा में है क्योंकि पहली बार किसी मार्वल की सुपरहीरो फिल्म का नायक एशियाई मूल का है. मगर जब आप ये फिल्म देखेंगे, तब ये आपके दिमाग में आने वाली ये आखिरी चीज़ होगी.

खैर, फिल्म का बेसिक स्टोरीलाइन ये है कि वेन्वु नाम का एक आदमी है, जिसके पास 10 रिंग हैं. इन रिंग्स में अथाह पावर है. वो आदमी पिछले 400 सालों से धरती पर है. मगर उसकी पावर की भूख अब तक खत्म नहीं हुई. उसकी The 10 Rings नाम की खुद की आर्मी है, जिनकी मदद से वो अपनी तमाम कारस्तानियों को अंजाम देता है. उसके दो बच्चे हैं- शांग ची नाम का बेटा और जू जियालिंग नाम की बिटिया. मगर उनकी मां के गुज़रने के बाद पिता ने उन्हें जैसे बड़ा किया, वो चीज़ इन दोनों ही बच्चों को खलती है. इसलिए ये लोग घर से भाग जाते हैं और दुनिया के दो अलग-अलग शहरों में अपने पसंद का काम कर रहे हैं. एक दिन शांग-ची को अपनी बहन का पोस्टकार्ड मिलता है, जो उसकी बहन ने नहीं भेजा. यहीं से फिल्म की कहानी बदलने लगती है.

फिल्म 'शांग-ची एंड दी लीजेंड ऑफ दी टेन रिंग्स' का पोस्टर.
फिल्म ‘शांग-ची एंड दी लीजेंड ऑफ दी टेन रिंग्स’ का पोस्टर.

कमाल की बात है कि हम एक मार्वल सुपरहीरो फिल्म की बात कर रहे हैं, जिसकी कहानी एक बिखरे हुए परिवार के बारे में है. यहां टिपिकल विलन नहीं है, जो दुनिया पर कब्जा करना चाहता है. इस फिल्म का विलन ये सब पहले ही कर चुका है. फिल्म का नायक शांग-ची बना-बनाया हीरो नहीं है. उसे नहीं पता वो क्या आदमी है या क्या कर सकता है. क्योंकि वो अपने पास्ट से जूझ रहा है. उसकी लाइफ में जो कुछ भी हो रहा है, वो उसके पिछले अनुभवों का नतीजा है. इसके ठीक उलट शांग-ची की बहन जू जियालिंग को भी अपने साथ हुए भेद-भाव को लेकर दुखी रहती है. मगर उसने अपने इस दुख से खुद को मोटिवेट किया है. शांग-ची की दोस्त केटी वैसे तो उसका कहानी से डायरेक्ट कोई लेना-देना नहीं है. मगर वो हीरो की बेस्ट फ्रेंड है. साथ ही वो फिल्म को फन एलीमेंट भी देती है.

फिल्म के एक सीन में मूवी का विलन और उसकी पत्नी. ये रोल्स टोनी ल्यूंग और फाला चेन ने किए हैं.
फिल्म के एक सीन में मूवी का विलन और उसकी पत्नी. ये रोल्स टोनी ल्यूंग और फाला चेन ने किए हैं.

ये फिल्म कई मायनों में अपने पैरेंट MCU फिल्मों से अलग है. ‘शांग-ची’ बुनियादी तौर पर एक ह्यूमन स्टोरी, जिसका नायक एक सुपरहीरो है. इस फिल्म को देखते हुए आप हमेशा इसे एक नॉर्मल फिल्म की तरह देखते हैं. इसकी खास बात ये है कि इसका विलन बहुत मजबूत है. एक ऐसा विलन जो नफरत से नहीं, प्रेम से मोटिवेट हो रहा है. वो जो कुछ भी करना चाहता है उसके कोर में उसकी पत्नी के लिए अगाध प्रेम है. वो आउट एंड आउट नेगेटिव कैरेक्टर नहीं है. आप वेन्वु का किरदार जो कर रहा है, उससे अग्री नहीं करते. मगर आप उसकी बातें या कुछ गलत करने की वजह समझते हैं. ऊपर से इस कैरेक्टर को दिग्गज एक्टर टोनी ल्यूंग ने प्ले किया है. टोनी हॉन्ग कॉन्ग फिल्मों के बहुत बड़े स्टार हैं. टोनी और लेजेंड्री फिल्ममेकर वॉन्ग कर वई की जुगलबंदी की फैन फॉलोविंग पूरी दुनिया में है. टोनी को इस सुपरहीरो फिल्म में देखना एक चौंकाने वाला अनुभव था. मगर फिल्म देखने के बाद आपको उनका होना सार्थक लगने लगेगा.

फिल्म के एक सीन में अपने पिता वेन्वु के साथ बालक शांग-ची.
फिल्म के एक सीन में अपने पिता वेन्वु के साथ बालक शांग-ची.

शांग-ची नाम के सुपरहीरो का किरदार प्ले किया है सिमु लियू ने. सिमु चीनी मूल के कनैडियन एक्टर हैं. आम तौर पर सुपरहीरो फिल्मों में हमें ये देखने को मिलता है, सुपरहीरो अपनी सुपरपावर्स का प्रदर्शन करने को बेताब रहते हैं. यहां इस लड़के के पास तमाम पावर्स हैं. मगर वो इंसान होने में ही इतना उलझा हुआ कि उसे अपने पावर्स की सुध नहीं है. उसने अपनी को अपनी आंखों के सामने मरते देखा. मां के गुज़रने के बाद उसने अपने पिता को वो सब करते देखा, जो वो कभी नहीं करना चाहता. उसे बचपन से इतनी कड़ी ट्रेनिंग मिली कि वो 14 साल की उम्र में ट्रेंड असैसिन बन गया. पिता के ऑर्डर्स पर लोगों की जान लेने लगा. मगर वो एक साधारण ज़िंदगी चाहता था, इसलिए सैन फ्रैंसिस्को भाग गया. अपना नाम शांग ची से बदलकर शॉन कर लिया. और एक होटल की पार्किंग में काम करने लगा. मगर उसने अपने आसपास एक शेल बना रखा था. जिससे वो चाहकर भी बाहर नहीं निकल पा रहा था. एक सुपरहीरो फिल्म आपको किसी किरदार की साइकोलॉजी के बारे में इतना कुछ बताए, ये आपने पहले किस फिल्म में देखा था. हालांकि इस तरह की चीज़ों को एस्टैब्लिश करने में फिल्म ठीक-ठाक समय लेती है, जिससे उसकी पेस प्रभावित होती है.

फिल्म में वो पहला मौका जब शांग-ची अपनी सुपरपावर्स का प्रदर्शन करता है.
फिल्म में वो पहला मौका जब शांग-ची अपनी सुपरपावर्स का प्रदर्शन करता है.

‘शांग-ची एंड द लीजेंड ऑफ दी टेन रिंग्स’ एक सुपरहीरो की ओरिजिन स्टोरी है. मगर इसका फोकस अपने मुख्य पात्रों को हीरो बनाने पर नहीं है. ये फिल्म उन्हें नॉर्मल इंसानों की ट्रीट करती है. रिलेटेबल बनाती है. उसकी दुखभरी कहानी सुनाकर आपको उसके साथ सिम्पथाइज़ करवाती है. फिर आखिरी के आधे घंटे में सुपरहीरो फिल्म होने की सारी कसर पूरी कर देती. कहर बरपा देती है. फिल्म के आखिर में एक फाइट सीक्वेंस है, जो कि हाई ऑन कंप्यूटर ग्राफिक्स है. मगर वो सीक्वेंस क्या कमाल बन पड़ा है. आला दर्जे का CJI इस मज़े को कई गुना बढ़ा देता है. फिल्म की शुरुआत में सिमु लियू का एक एक्शन सीन है, जो कि चलती बस में घटता है. उसे देखकर आपको लगता है कि इस बंदे को सुपरपावर्स की क्या ज़रूरत है. वो इतने तगड़े तरीके से ट्रेन्ड है कि उसे कोई मार नहीं सकता.

फिल्म के एक सीन में अपनी बहन जू जियालिंग और बेस्ट फ्रेंड केटी के साथ शांग-ची उर्फ शॉन.
फिल्म के एक सीन में अपनी बहन जू जियालिंग और बेस्ट फ्रेंड केटी के साथ शांग-ची उर्फ शॉन.

कुल मिलाकर ‘शांग-ची एंड द लीजेंड ऑफ दी टेन रिंग्स’ एक अलग किस्म की फिल्म है. जैसे मार्वल का कोर्स करेक्शन हुआ. इस फिल्म को ये कहकर प्रचारित किया जा रहा था कि ये ‘ब्लैक पैंथर’ का एशियन वर्ज़न होगी. क्योंकि दोनों ही फिल्म एक सुपरहीरो की ओरिजिन स्टोरी हैं. मगर ये तुलना ठीक नहीं है. ‘ब्लैक पैंथर’ में सुपरहीरो वाला पार्ट ज़्यादा था. आदमियत कम थी. वो एस्पिरेशनल कैरेक्टर था. इसलिए उसकी रिलेटेबलिटी कम थी. मगर ये सारी कमियां आपको ‘शांग-ची’ में नहीं मिलती. जो कि ज़ाहिर तौर पर एक पॉज़िटिव चीज़ है. शांग-ची एक ऐसी फिल्म है, जिसे मार्वल से निकली रेगुलर सुपरहीरो फिल्म की तरह नहीं देखा चाहिए. इसे सिर्फ एक फिल्म की तरह देखा जाना चाहिए. क्योंकि इसे बनाया ही वैसे गया है. ‘शांग-ची दी लीजेंड ऑफ दी टेन रिंग्स’ को डेस्टिन डेनियल क्रेटन ने डायरेक्ट किया है. इस फिल्म को सिनेमाघरों में देखा जा सकता है.


वीडियो देखें: वेब सीरीज़ रिव्यू – मनी हाइस्ट 5

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

कॉमेडियन कृष्णा ने फिर 'कपिल शर्मा शो' पर आने से मना कर दिया

कॉमेडियन कृष्णा ने फिर 'कपिल शर्मा शो' पर आने से मना कर दिया

पहले भी एक बार कृष्णा ने गोविंदा के आने से पहले शूटिंग के लिए मना कर दिया था.

सिद्धार्थ की अंतिम यात्रा पर बदहवास सी दिखीं शहनाज़

सिद्धार्थ की अंतिम यात्रा पर बदहवास सी दिखीं शहनाज़

'बिग बॉस' के एक्स कंटेस्टेंट रहे राहुल महाजन ने भी शहनाज़ का हाल बताया.

कल रात सोने से लेकर आज सुबह सिद्धार्थ की मौत तक क्या-क्या हुआ?

कल रात सोने से लेकर आज सुबह सिद्धार्थ की मौत तक क्या-क्या हुआ?

सिद्धार्थ शुक्ला मामले में पुलिस ये जांच करेगी कि उन्होंने सोने से पहले क्या कोई दवा ली थी?

सिद्धार्थ शुक्ला का 'मौत' पर किया ट्वीट वायरल, ये पांच पुराने ट्वीट अब पढ़ने पर विचलित करते हैं

सिद्धार्थ शुक्ला का 'मौत' पर किया ट्वीट वायरल, ये पांच पुराने ट्वीट अब पढ़ने पर विचलित करते हैं

व्यक्ति चला जाता है, उसकी बातें पीछे रह जाती हैं.

सिद्धार्थ शुक्ला की याद में सलमान ने बस इतना कहा

सिद्धार्थ शुक्ला की याद में सलमान ने बस इतना कहा

शहनाज़ गिल ने अधूरी छोड़ दी शूटिंग.

सिद्धार्थ शुक्ला के गुज़रने पर अक्षय कुमार और कपिल शर्मा समेत इन 16 सेलेब्रिटीज़ ने क्या कहा?

सिद्धार्थ शुक्ला के गुज़रने पर अक्षय कुमार और कपिल शर्मा समेत इन 16 सेलेब्रिटीज़ ने क्या कहा?

सिद्धार्थ के अचानक गुज़रने की खबर से पूरी फिल्म इंडस्ट्री सदमे में है.

शाहरुख खान की एटली डायरेक्टेड फिल्म का सारा तिया-पांचा यहां जानिए

शाहरुख खान की एटली डायरेक्टेड फिल्म का सारा तिया-पांचा यहां जानिए

शाहरुख खान-एटली फिल्म की शूटिंग शुरू होने को है. जानिए फिल्म से जुड़ी 4 करारी बातें.

'कपिल शर्मा शो' की शूटिंग के बाद सेट पर एक्टर्स जो करते हैं उसका वीडियो आया है

'कपिल शर्मा शो' की शूटिंग के बाद सेट पर एक्टर्स जो करते हैं उसका वीडियो आया है

अर्चना पूरन सिंह ने वीडियो शेयर किया है.

'दी एम्पायर’ सीरीज़ के 12 धांसू डायलॉग्स, जिनमें जंग की बातें भी हैं और प्रेम की भी

'दी एम्पायर’ सीरीज़ के 12 धांसू डायलॉग्स, जिनमें जंग की बातें भी हैं और प्रेम की भी

आपको इनमें से कौन सा डायलॉग सबसे अच्छा लगा.

'मोटी के बच्चे इतने सूखे' वाले भद्दे कमेंट पर फराह खान ने गज़ब का जवाब दे डाला

'मोटी के बच्चे इतने सूखे' वाले भद्दे कमेंट पर फराह खान ने गज़ब का जवाब दे डाला

फराह खान, अरबाज़ के शो 'पिंच' पर नज़र आएंगी.