Submit your post

Follow Us

'सीरियस मेन' ट्रेलर: हर कॉमन आदमी को देखनी चाहिए नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी की ये पिक्चर

नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी की एक फिल्म आ रही है. नाम है ‘सीरियस मेन’. ट्रेलर 18 सितंबर को आया है. कुछ दिन पहले एक वेब सीरीज़ आई थी. जिसका नाम था ‘द फैमिली मैन’. इसमें मनोज बाजपेयी लीड किरदार में थे. हालांकि इन दोनों का एक-दूसरे से कोई लेना-देना नहीं है, बस नाम थोड़े-थोड़े मिल रहे हैं. वो फैमिली मैन, ये सीरियस मेन. अब ‘सीरियस मेन’ की कहानी में क्या खास है, इसका ट्रेलर कैसा है, ट्रेलर से कहानी कैसे पता चलती है, आपको एक-एक करके सब कुछ बताते हैं.

1.) कहानी क्या है?

कहानी है कॉमन मैन अयान मानी की. जिन्हें बड़े लोग कॉमन समझकर गालियां देते हैं, मूर्ख या बेवकूफ कहते हैं. ट्रेलर की शुरुआत होती है, जिसमें अयान यानी नवाज़ ऑफिस में किसी का वेलकम करते नज़र आते हैं. नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी कहते हैं,

‘लाइफ में कुछ नहीं करने के लिए चार जेनरेशन लगते हैं. 2जी हैं…हम, 2जी वाले कभी एंजॉय नहीं कर सकते’

सीन में उनके साथ प्रेग्नेंट वाइफ दिखती है, जिसे नवाज़ समझाते हैं कि किस तरह जेनरेशन टु जेनरेशन सक्सेस मिलती है.

Serious Man 2

अयान कहता है, उसके पिता फर्स्ट जेनरेशन के थे, जो कभी स्कूल नहीं गए. वो सेकेंड जेनरेशन यानी 2G का है. जो स्कूल भी गया और जिसने पढ़ाई भी की. तीसरी जेनरेशन के बच्चे के बारे में भी अयान सपने बुनता है कि चौथी जेनरेशन जब होगी तो उसके पास सब कुछ होगा. उसे कुछ भी करने की ज़रूरत नहीं होगी.

इसके बाद अयान की वाइफ को बच्चा होता है. जिसका नाम है आदि. ये बच्चा, अपनी उम्र से कुछ ज़्यादा ही टैलेंटेड है. साइंस को घोलकर पी चुका है. बच्चा इतना टैलेंटेड है कि न्यूज़ की हेडलाइन बन गया है. पॉलिटिशन उसे अपनी चुनावी रैली में ले जा रहे हैं. गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए उसका नाम भेजा जा रहा है.

Serious Man 23

अपने बच्चे में अपनी महत्वाकांक्षा को देखने वाले पिता की कहानी लगती है सीरियस मेन. एक ऐसा पिता, जिसने अपने समय पर बहुत स्ट्रगल किया. अब अपने बेटे को ऊंचाइयों पर देखना चाहता है. मगर एक आम आदमी के लिए सक्सेस में कैसी-कैसी समस्याएं आती हैं. जब एक आम इंसान के बच्चे को जूनियर अब्दुल कलाम और आइंस्टीन कहा जाने लगे तो क्या सच में सभी का रिस्पॉन्स पॉजिटिव होता है? बस इसी की कहानी है सीरियस मेन.

2.) कैसा है ट्रेलर

इंट्रेस्टिंग तो है. ट्रेलर में दो-चार जगहें ऐसी हैं, जिन्हें देखकर आपकी एक्साइटमेंट बढ़ जाएगी. आम ज़िंदगी से जुड़ी कहानी है, इसलिए कैमरे का काम जबरदस्त होना चाहिए था. जो है भी. दो सीन, जो मुझे बहुत पसंद आए, वो थे- एक, जब नवाज़ अपनी वाइफ को बताता है कि कॉन्डम पर डॉट क्यों होने चाहिए… ऐसी नौकरी करेगी तीसरी जेनरेशन. इस सीन में उनकी वाइफ का रिएक्शन कमाल का है. दूसरा वो सीन, जब नवाज़ के बेटे को उसकी मां समझाती है कि तू इतना टैलेंटेड है, इसका घमंड मत किया कर. इस पर नवाज़ का रिएक्शन.

एक और सीन है, जो ट्रेलर के सबसे अंत में आया है. जब बेटा अपने बाप से पूछता है कि शाहरुख खान के कितने फॉलोअर्स हैं… तो नवाज़ कहते हैं, ‘अपनी औकात में रह’.

Serious Man 222

फिल्म का फर्स्ट हाफ, अयान की जिंदगी और उसके छोटे-छोटे सपनों को दिखाता है. वहीं सेकेंड हाफ में इन सक्सेस में आने वाले स्ट्रगल को भी दिखाता है. जैसे एक सीन में अयान का बेटा आदि एक इवेंट में माइक पर बोल रहा होता है. मगर बोलते-बोलते अचानक से बेहोश होकर गिर जाता है.

फिल्म के कुछ शॉट बहुत क्लोज़ से लिए गए हैं. एक तब, जब नवाज़ अपने बच्चे के स्कूल में खड़े होते हैं. जब वो अपने ऑफिस से निकलते हैं और फिर तब जब नवाज़ स्क्रीन पर रोते दिखाई देते हैं. ये क्लोज़अप शॉट बहुत पावरफुल हैं, जो आपको किरदार की ज़िंदगी से कनेक्ट करेंगे.

Serious Man 12345

3.) कौन-कौन है फिल्म में

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी

Serious Man 12

इनका इंट्रोडक्शन देने की ज़रूरत नहीं हैं. नेटफ्लिक्स के साथ ये पहले भी काम कर चुके हैं. ‘सेक्रेड गेम्स’ और ‘रात अकेली है’ जैसी सीरीज़ और फिल्म में दिखे हैं. हां नवाज़ के लिए ये फिल्म बेहद खास है क्योंकि पहली बार उन्होंने डायरेक्टर सुधीर मिश्रा के साथ काम किया है. नवाज़ ने खुद ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी थी कि उनका 20 साल पुराना सपना (सुधीर मिश्रा के साथ काम करने का) पूरा हुआ है. एक्टर-डायरेक्टर का कॉम्बिनेशन डेडली है.

इंदिरा तिवारी

Serious Man 1

नवाज़ के अपोज़िट नज़र आ रही हैं इंदिरा तिवारी. घुंघराले बाल और साड़ी में. इंदिरा वही हैं, जिन्होंने अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘आरक्षण’ में स्टूडेंट का किरदार निभाया था. हालांकि इंदिरा थिएटर आर्टिस्ट हैं. नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से पढ़ाई की है. 2019 में उन्होंने एक फीचर फिल्म ‘नज़रबंद’ की थी, जिसे डायरेक्ट किया था सुमन मुखोपाध्याय ने. साल 2007-08 में इंदिरा तिवारी को बाल श्री सम्मान मिल चुका है.

नास्सर

Seriuos Man 2

अगर नाम से नहीं पहचान पाएं तो एक रेफरेंस सुनिए. ये ‘भल्लाल देव’ एक्टर के पिता हैं. ‘बाहुबली’ देखी होगी तो अब तक आपको समझ आ गया होगा. हम लेजेंडरी एक्टर नास्सर की बात कर रहे हैं . बहुत दिनों बाद स्क्रीन पर नज़र आए हैं. नास्सर साउथ इंडियन एक्टर्स असोसिएशन के प्रेसिडेंट हैं. ‘थावेर मगन’, ‘बॉम्बे’, ‘नायकन’ जैसी फिल्मों में काम कर चुके हैं. ट्रेलर देखकर लगता है सीरियस मेन में इन्होंने नवाज़ के बॉस का किरदार निभाया है.

श्वेता बासु प्रसाद

श्वेता बासु वही हैं, जिनको आपने ‘ताशकंद फाइल्स’ मूवी में देखा होगा. अगर अभी भी याद ना आ रहा हो तो बता दें ये ‘मकड़ी’ फिल्म में दिख चुकी हैं. छोटी उम्र में अपनी एक्टिंग से इन्होंने लोगों को बहुत हंसाया और डराया था. ‘ताशकंद फाइल्स’ में श्वेता ने एक पत्रकार का रोल प्ले किया था. रागिनी फुले के रोल में वो गज़ब हैं.

Serious Man 44

4.) कौन है डायरेक्टर?

सुधीर मिश्रा डायरेक्टर हैं. जिन्होंने बॉलीवुड को कुछ कल्ट फिल्में दी हैं. इनमें ‘हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी’, ‘धारावी’, ‘चमेली’ और ‘कलकत्ता मेल’ जैसी फिल्में शामिल हैं. सुधीर मिश्रा वो डायरेक्टर हैं, जो आम आदमी की ज़िंदगी को पर्दे पर बखूबी उतारते हैं. ‘चमेली’ फिल्म की ही बात करें तो सिर्फ एक जगह पर शूट की गई ये फिल्म अनगिनत कहानियां बयां कर जाती है. ‘सीरियस मेन’ फिल्म मनु जोसेफ की PEN Open Book Award विनर नॉवेल पर बेस्ड है.

देखिए सीरियस मेन का ट्रेलर

5.) कहां देख सकते हैं?

‘सीरियस मेन’ फिल्म नेटफ्लिक्स की ओरिजनल फिल्म है, जो 2 अक्टूबर को नेटफ्लिक्स पर ही रिलीज़ होगी. अब आप में से बहुत से लोग ये पूछ सकते हैं कि ये नेटफ्लिक्स ओरिजनल मूवी आखिर होती क्या है? ये मूवीज़ वो होती हैं, जिन्हें थिएटर्स पर रिलीज़ नहीं किया जाता. ये सिर्फ नेटफ्लिक्स के लिए ही बनाई जाती हैं और यहीं रिलीज़ होती हैं.

माने लॉकडाउन का असर नवाज़ की इस फिल्म पर नहीं पड़ेगा. लोग इसे नेटफ्लिक्स पर देखेंगे. इसका रीसेंट उदाहरण दें तो इस साल आई ‘बुलबुल’ भी नेटफ्लिक्स ओरिजनल थी. इससे पहले आई ‘लस्ट स्टोरीज़’, ‘राजमा-चावल’, ‘घोस्ट स्टोरीज़’ भी नेटफ्लिक्स ओरिजनल थी.


वीडियो:

उर्मिला पर कंगना की बयानबाजी के बाद बॉलीवुड सितारे और फैंस भड़क गए हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू- कार्गो

कभी भी कुछ भी हमेशा के लिए नहीं खत्म होता है. कहीं न कहीं, कुछ न कुछ तो बच ही जाता है, हमेशा.

फिल्म रिव्यू: सी यू सून

बढ़िया परफॉरमेंसेज़ से लैस मजबूत साइबर थ्रिलर,

फिल्म रिव्यू- सड़क 2

जानिए कैसी है संजय दत्त, आलिया भट्ट स्टारर महेश भट्ट की कमबैक फिल्म.

वेब सीरीज़ रिव्यू- फ्लेश

एक बार इस सीरीज़ को देखना शुरू करने के बाद मजबूत क्लिफ हैंगर्स की वजह से इसे एक-दो एपिसोड के बाद बंद कर पाना मुश्किल हो जाता है.

फिल्म रिव्यू- क्लास ऑफ 83

एक खतरनाक मगर एंटरटेनिंग कॉप फिल्म.

बाबा बने बॉबी देओल की नई सीरीज़ 'आश्रम' से हिंदुओं की भावनाएं आहत हो रही हैं!

आज ट्रेलर आया और कुछ लोग ट्रेलर पर भड़क गए हैं.

करोड़ों का चूना लगाने वाले हर्षद मेहता पर बनी सीरीज़ का टीज़र उतना ही धांसू है, जितने उसके कारनामे थे

कद्दावर डायरेक्टर हंसल मेहता बनायेंगे ये वेब सीरीज़, सो लोगों की उम्मीदें आसमानी हो गई हैं.

फिल्म रिव्यू- खुदा हाफिज़

विद्युत जामवाल की पिछली फिल्मों से अलग मगर एक कॉमर्शियल बॉलीवुड फिल्म.

फ़िल्म रिव्यू: गुंजन सक्सेना - द कारगिल गर्ल

जाह्नवी कपूर और पंकज त्रिपाठी अभिनीत ये नई हिंदी फ़िल्म कैसी है? जानिए.

फिल्म रिव्यू: शकुंतला देवी

'शकुंतला देवी' को बहुत फिल्मी बता सकते हैं लेकिन ये नहीं कह सकते इसे देखकर एंटरटेन नहीं हुए.