Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

आसान नहीं होगा पीएम मोदी का रोल, विवेक ओबेरॉय के सामने 8 बड़े चैलेंज!

18.24 K
शेयर्स

इससे पहले कि किसी और की सरकार आए और एक्सीडेंटल नाम की कोई बायोपिक आए, पीएम नरेंद्र मोदी की बायोपिक पीएम नरेंद्र मोदी नाम से आ रही है. इसे रिलीज कराने का दबाव भी चार से पांच महीने के अंदर का है. भगवान जाने अगर सरकार बदल गई तो टाइटल भी बदलकर एक्स पीएम नरेंद्र मोदी रखना पड़ेगा. फिर भी एक्स ठीक है, एक्सीडेंटल से. इससे पहले कि इसे एक और पीआर फिल्म घोषित किया जाए. इससे पहले कि इसके प्रड्यूसर और विवेक ओबेरॉय के पापा सुरेश ओबेरॉय के बीजेपी से रिश्तों पर उंगली उठे, इससे पहले कि ऑडिएंस कहे कि मोदी जी के होते हुए विवेक को क्यों लिया, इससे पहले कि इलेक्शन की डेट आ जाए, मैं आपको बता दूं कि विवेक ओबेरॉय के सामने पीएम मोदी का रोल करने में क्या चैलेंज है. बहरहाल खुशी की बात ये है कि विवेक को मस्ती की मनरेगा सीरीज के अलावा किसी और फिल्म में रोजगार मिला. ये उन लोगों के मुंह पर तमाचा है जो कहते हैं मोदी सरकार में लाखों नौकरियां गई हैं. देखो फिर मुद्दे से भटक गया, चैलेंज बताते हैं.

#1 कैमरा

कोई भी फिल्म शूट करते हुए ये सबसे बड़ी जरूरत होती है और सख्त इंस्ट्रक्शन होते हैं कि कैमरे की तरफ नहीं देखना है. लेकिन पीएम मोदी की बायोपिक शूट करने में सबसे बड़ा चैलेंज यही होगा कि विवेक को पूरे टाइम कैमरे में देखते रहना होगा. क्योंकि इस दुनिया सिर्फ एक ही आदमी जानता है कैमरा कहां है.

कैमरा इधर है
कैमरा इधर है

#2 युवा

नहीं हम विवेक ओबेरॉय की फिल्म युवा की बात नहीं कर रहे हैं, युवा प्रधानमंत्री की बात कर रहे हैं. इस उम्र में भी जो एनर्जी और जवानी उनके मुखड़े पर दिखती है वो फिल्म में दिखाने के लिए विवेक को प्रोस्थेटिक मेकप की जरूरत पड़ेगी. हालांकि पहले पीएम के गोरेपन और एनर्जी का जिम्मेदार ताइवान के मशरूम को बताया गया था. मगर पीएम ने खुद लंदन में इस अफवाह से परदा हटाते हुए कहा था कि उन्हें जो रोज एक दो किलो गालियां देते हैं लोग वही उनकी सेहत का राज़ है. अब इतनी गालियां खाने की हिम्मत विवेक में होगी, इसमें संदेह है.

vivek with modi
लंबाई भी सेम टू सेम है

#3 टूर

ये चैलेंज न सिर्फ विवेक के लिए है बल्कि पूरी फिल्म यूनिट के लिए है. फिल्म का हर 5 मिनट किसी दूसरी कंट्री में शूट होगा. जितने वक्त हमारे पीएम देश में रह पाए हैं उसके हिसाब से तो सिर्फ 5 मिनट की फिल्म बन पाएगी. क्या टीम के पास इतना पैसा है कि विवेक को सुबह का नाश्ता काबुल में, दोपहर का खाना कराची में और डिनर दिल्ली में करवा पाए. और फिर हर जगह उनकी स्पीच के लिए इंडियन लोगों की भीड़ बटोरनी पड़ेगी. तालियां बजाने के लिए.

दुवाओं में याद रखना
दुवाओं में याद रखना

#4 प्रेस कॉन्फ्रेंस

विवेक ओबेरॉय प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए कुख्यात हैं. पीएम मोदी प्रेस कॉन्फ्रेंस न करने के लिए सुविख्यात हैं. सरकार के पांच साल पूरे होने वाले हैं लेकिन पीएम ने कभी प्रेस कॉन्फ्रेंस में वक्त नहीं गंवाया. विवेक ओबेरॉय को भी कंट्रोल करके रखना होगा. यहां तक कि वो फिल्म के प्रमोशन के लिए भी प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं कर पाएंगे. नतीजतन फिल्म का ट्रेलर बीजेपी को अपने ट्विटर हैंडल से प्रमोट करना होगा. प्रेस से विवेक को इतनी दूरी रखनी होगी कि वो फिल्म में कुर्ते भी बिना प्रेस किए हुए पहनें.

इस आदत को बदलना होगा
इस आदत को बदलना होगा

#5 योग

प्रधानमंत्री रोज योग करते हैं. विवेक की योग करते हुए कोई तस्वीर पब्लिक स्पेस में नहीं है. फिल्म इंडस्ट्री में उनके डांस वाले गाने भी बहुत अच्छे नहीं हैं. क्या आपको लगता है कि विवेक ओबेरॉय ये वाले खतरनाक योग कर पाएंगे. इनके बिना सीन कंप्लीट तो होगा नहीं. बॉडी डबल से भले करवा लें.

योग है, योगा नहीं
योग है, योगा नहीं

#6 पतंग

सलमान खान के साथ पीएम मोदी ने पतंग उड़ाई थी. वो सीन इस फिल्म में काटना पड़ेगा. विवेक फिल्म में भी सलमान का रोल करने वाले किसी आदमी का सामना नहीं करना चाहेंगे.

ये सीन फिल्म में नहीं है, यहीं देख लो
ये सीन फिल्म में नहीं है, यहीं देख लो

#7 कॉस्ट्यूम

पीएम मोदी का ड्रेसिंग सेंस किसी से छिपा नहीं है, विवेक ओबेरॉय उस लाइन पर कितना आगे बढ़ेंगे ये तो फिल्म देखकर ही पता लगेगा. वैसे अगर कॉस्ट्यूम पर ठीक ठाक खर्च किया गया तो पीएम के नाम का एक और सूट तैयार हो जाएगा लेकिन वो पीएम मोदी के काम कभी आएगा नहीं क्योंकि वो उनके साइज का नहीं होगा. विवेक ओबेरॉय उस सूट को दोबारा क्यों ही पहनेंगे जिसमें किसी और का नाम लिखा है.

सूट सूट करदा
सूट सूट करदा

#8 एक्टिंग

ये सबसे बेसिक चीज सबसे लास्ट में रखी है. पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल में इतने ऊंचे मापदंड स्थापित कर चुके हैं कि उनको परदे पर उतारना उनके अलावा किसी एक्टर के बस का नहीं है. विवेक ने इससे पहले इतना चैलेंजिंग रोल क्रिष 3 में किया था.

टीन का सूट पहनने वाले विवेक अपने नाम का सूट कैसे पहनेंगे?
टीन का सूट पहनने वाले विवेक अपने नाम का सूट कैसे पहनेंगे?

देखें बाकी जानकारी वाला वीडियो:

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Satire: Vivek Oberoi to prove his acting skills in PM Narendra Modi Biopic

पोस्टमॉर्टम हाउस

द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर: मूवी रिव्यू

क्या ये फिल्म बीजेपी की एक प्रोपेगेन्डा फिल्म है?

फिल्म रिव्यू: उरी - दी सर्जिकल स्ट्राइक

18 सितंबर, 2016 का बदला लेने वाले मिशन पर बनी फिल्म.

वो 9 टीवी और वेब सीरीज जो 2019 के गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स में जीती हैं

ये सीरीज नहीं देखी तो अब देख सकते हैं.

ये 10 फिल्में 2019 के गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स में क्यों जीतीं?

ग्लोब्स के वोटरों ने इन्हें 2018 की बेस्ट फिल्में माना है.

पुतिन ने जिसकी छाती पर ऊंचा तमगा बांधा वो अकेला इंडियन डायरेक्टर नहीं रहा

भारत के लैजेंड्री फिल्म निर्देशक मृणाल सेन ने 95 साल की उम्र में आखिरी सांस ली.

फिल्म रिव्यू: सिंबा

घिसे-पिटे फॉर्मूले वाली मज़ेदार फिल्म.

जब संजय दत्त की छाती पर उगा ऐमज़ॉन का जंगल

संजय दत्त और नग़मा का एक गाना, जिसे आपने बहुत सुना है. लेकिन हमारी नजरों से देखिए.

KGF मूवी रिव्यू

साउथ में अडवांस बुकिंग के सारे रिकॉर्ड तोड़े. क्या हिंदी वर्ज़न भी ज़ीरो जैसे कंपीटिशन के बावज़ूद धमाल मचा पाएगी?

फिल्म रिव्यू: ज़ीरो

कसम से जियरा चकनाचूर!

क्या अब भारतीय करंसी पर अटल बिहारी वाजपेयी की तस्वीर छपेगी?

ये बात सच है, लेकिन कुछ जगह बड़ी भ्रामक तरीके से बताई जा रही है.