Submit your post

Follow Us

दिवाली से पहले करके रख लें ये पांच तैयारियां!

1.10 K
शेयर्स

दिवाली आने वाली है. गिनती के दिन बचे हैं. हर बार की तरह इस बार भी कुछ बवाल-बमचक होगी कि नहीं होगी. कि फिर से ईको फ्रेंडली वालों के चोंचले में आ जाओगे. हम तो कह रहे हैं कि सीट की पेटी बांध लो और फुल तैयारी कर लो. तैयारी की लिस्ट हम दे रहे हैं. अपने हिसाब से अप डाउन कर लो.

1. चाइनीज का विरोध

manipur_301216-050241

इस बार चाइनीज झालर और पटाखों के विरोध का नया तरीका निकालना होगा. हालांकि व्हाट्सऐप पर चल चुका है कि चाइनीज पटाखों पर ‘मेड इन चाइना’ की जगह ‘Made in PRC’ लिखकर आने लगा है. इनके धुंएं में कुछ ऐसा होगा जो मर्दों को नपुंसक बना देगा. लेकिन ये बहुत बेसिक है. मर्दों की नामर्दी वाला फार्मूला बड़े काम का है फिर भी कुछ नया करना होगा.

2. पुराने जोक्स

Capture
चिट्ठी आई है आई है चिट्ठी आई है

दिवाली में घर की सफाई की जाती है. लेकिन अक्ल की सफाई नहीं होती. इसलिए मोबाइल में पुराने घिसे जोक्स आते रहते हैं. इस बार थोड़ा ध्यान रखें और जैसे ही कोई आपके फोन पर ‘पटा के नहीं छोड़ेंगे’ वाला जोक भेजे तो उसकी पतलून में सुतली बम डाल दो.

3. नकली खोए वाली मिठाई

खोया खाकर खोना है
खोया खाकर खोना है

असली दूध, खोया बहुत महंगा है. लेकिन मिठाई तो हमको खानी ही है. इसलिए देश के समस्त अग्रवाल स्वीट्स वाले अलर्ट हो जाएं. अभी से नकली खोया बनाना शुरू कर दें ताकि त्योहार में कमी न रहे.

4. मोबाइल जागरण

नोटिफिकेशन में हो न कोई संकट हर पल उंगली करे
नोटिफिकेशन में हो न कोई संकट हर पल उंगली करे

पहले दिवाली की रात सब पढ़ते थे. बुजुर्ग लोग धार्मिक किताबें और बच्चे कोर्स की किताबें. कहते थे इससे विद्या का जागरण होता है. अब सारी विद्या मोबाइल में है. गूगल सर्च से लेकर ट्रोल तक सब कुछ मोबाइल में हैं. तो उसका जागरण करने के लिए कम से कम एक नया स्मार्टफोन ले लें. लक्ष्मी गणेश की मूर्ति न हो तब भी चलेगा.

5. सोन पापड़ी का डिब्बा

शायद इसीलिए लोग सोन पापड़ी खाते नहीं, आगे बढ़ाते हैं
शायद इसीलिए लोग सोन पापड़ी खाते नहीं, आगे बढ़ाते हैं

ये सबसे जरूरी रस्म है दिवाली की. पता नहीं उसे सोहन पापड़ी कहते हैं कि सोन पापड़ी, लेकिन वो पापड़ी जैसी हरगिज नहीं होती. इसके डिब्बे में सबसे खास बात होती है कि ये कभी खुलता नहीं. बस इस रिश्तेदार से उस रिश्तेदार, इस पड़ोसी से उस पड़ोसी तक ट्रांसफर होता रहता है.

तो भैया ईको फ्रेंडली दिवाली एंजॉय कीजिएगा, किसी के बहकावे में मत आइएगा. साल के 364 दिन पेट्रोल फूंककर, एसी चलाकर प्रदूषण करते हो तो एक दिन पटाखे जलाकर क्या हो जाएगा. पर्यावरण की नाश तो उसी दिन पिट गई थी जब धरती पर इंसान का जन्म हुआ.

जाते जाते विवादुद्दीन ओवैसी के साथ सिर्री बात देखते जाओ.


ये भी पढ़ें:

कल रात जब आप सो रहे थे, दिवाली का अखबार लीक हो गया

‘बाहुबली’ फिल्म फिर से ख़बरों में है, वजह बड़ी प्यारी है

बिना सोना खरीदे गोल्ड में इनवेस्ट करके मालामाल होने का तरीका ये है

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Satire: Diwali preparation tips for this festive season

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: कलंक

सुंदरता और भव्यता पर सारा फोकस रखने के चक्कर में फिल्म की फील मर गई है.

गेम ऑफ़ थ्रोन्स सीज़न 8 एपिसोड 1 - रिव्यू

सबसे बड़े राज़ का खुलासा | फैमिली रियूनियन | कुछ बेहतरीन वन लाइनर्स | विंटर इज़ हियर |

फिल्म रिव्यू: दी ताशकंद फाइल्स

लाल बहादुर शास्त्री की मौत के पीछे का सच और उसकी कहानी बताने का दावा करने वाली ये फिल्म आपको बेवकूफ बनाती है.

फिल्म रिव्यू: अलबर्ट पिंटो को गुस्सा क्यों आता है?

देशभक्ति के लिए नाम के आगे चौकीदार लगाना जरूरी नहीं. वो अंदर से आती है.

फैक्ट चेकः क्या 2014 के चुनाव से पहले मोदी ने किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था?

जानिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शेयर किए जा रहे भाषण की हकीकत.

मूवी रिव्यू: नो फादर्स इन कश्मीर

कश्मीर पर बनी बेहद संवेदनशील फिल्म.

फिल्म रिव्यू: रोमियो अकबर वॉल्टर (RAW)

टुकड़ा-टुकड़ा फिल्म.

ये क्या है जिसे पीएम मोदी चुनावी मंच पर दिखा रहे थे?

हार लहराते हुए लोगों को बताया कि परंपराओं का अपमान करने वालों और उन्हें गौरव के साथ स्वीकार करने वालों के बीच क्या अंतर है.

फिल्म रिव्यू: 15 ऑगस्ट

जिस दिन एक प्रेमी जोड़े को भागना था, एक बच्चे का हाथ गड्ढे में फंस गया.