Submit your post

Follow Us

महाभारत के टाइम इंटरनेट था, ये देखिए 7 सुबूत!

त्रिपुरा के सीएम बिप्लव देव ने बताया कि महाभारत के टाइम भी इंटरनेट और सैटेलाइट थे. विरोधियों को मौका मिला मजे लेने का. किसी को कुछ पता नहीं है. आता न जाता चुनाव चिन्ह छाता. जिन लोगों को इस बात में जरा भी शक है वो ध्यान दें. महाभारत के समय न सिर्फ इंटरनेट था बल्कि इस प्लेटफार्म पर चलने वाले सभी ऐप्स और वेबसाइट्स भी थीं.

सबसे पहला सुबूत तो ये है. वाई फाई भी था. देख लो. फिर आते हैं सीरियस डिस्कसन पर.

वाई फाई सिग्नल
वाई फाई सिग्नल

1# ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स:

महाभारत के समय सभी ऑनलाइन शॉपिंग करते थे. लेकिन गांधारी का हाथ नहीं बैठ पाया था इसलिए दो बार उनसे मिस्टेक हो गई. पहली बार में पति ऑर्डर किया था वो डिफेक्टिव निकल गया. धृतराष्ट्र जन्म से अंधे थे. उन्होंने बच्चे भी ऑर्डर किए थे 10 लेकिन एक जीरो और दब गया तो गड़बड़ हो गई थी.

2# फेसबुक

शिखंडी
शिखंडी

न सिर्फ फेसबुक बल्कि फ़ेक आईडी भी प्रचुर मात्रा में इस्तेमाल होती थीं. शिखंडी भी उस जमाने की एंजेल प्रिया थी. जिसके जाल में फंसकर भीष्म पितामह जिंदगी की जंग हार गए थे.

भीष्म पितामह वही थे जिन्होंने लड़कियों को अपनी लिस्ट में न ऐड करने की प्रतिज्ञा कर रखी थी.

3# ऑनलाइन ट्यूटर

धनुष बाण ट्यूटोरियल, द्रोण सर
धनुष बाण ट्यूटोरियल, द्रोण सर

द्रोणाचार्य ऑनलाइन ट्यूटर थे. क्षत्रियों को बच्चों को धनुर्विद्या सिखाते थे. एकलव्य ने उनका क्रैक वर्जन यूज कर लिया था.

4# कैम्ब्रिज एनालिटिका

संजय, द डेटा दृष्टि
संजय, द डेटा दृष्टि

संजय महाभारत का सारा डेटा अपनी दिव्य दृष्टि से देखकर उसका डेटा लीक करके धृतराष्ट्र को दिखाते थे.

5# ऑनलाइन ट्रोलिंग

ट्रोल आर्मी का पहला शिकार
ट्रोल आर्मी का पहला शिकार

दुर्योधन पहला बंदा था जो ऑनलाइन ट्रोलिंग का शिकार हुआ. द्रौपदी ने उसकी हंसी उड़ाई थी. याद है?

6# भीम ऐप

भीम, जो गलती से आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए
भीम, जो गलती से आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए

भीम सब कुछ कर सकते थे. घर का खाना न खतम हो रहा हो तो भीम को बुलाओ. गांव भर का खाना खा जाने वाले राक्षस वत्रासुर का मारना था तो भीम को बुलाया. युद्ध में तीन चार लोगों को एक साथ पीटना हो तो भीम को बुलाओ.

7# कैप्चा

यक्ष, द क्वेस्चन मार्क
यक्ष, द क्वेस्चन मार्क

यक्ष याद है? उधर युधिष्ठिर के फैमिली के लोग मरे पड़े थे और वो सवाल पर सवाल किए जा रहा था. आखिरी मोमेंट तक सब्र का इम्तेहान लेने वाला कैप्चा, यही यक्ष था.

गुस्सा करना है तो पीएम पर करो सीएम पर नहीं. लेकिन पीएम मोदी जी ने भी तो बताया था कि पहला हेड ट्रांसप्लांट गणेश जी का हुआ था. रहने दो यार.


ये भी पढ़ें;

प्रेस कॉन्फ्रेंस में महिला पत्रकार के गाल छूने वाले गवर्नर अब नीयत पर सफ़ाई देंगे?

मोदी जी की इन दो फोटो में 10 अंतर ढूंढो?

कांग्रेसी नेताओं की छोले भटूरे की प्लेट का सच जानेंगे तो सोशल मीडिया छोड़ देंगे

इस फोटो की सबसे बड़ी बात अभी बीजेपी को पता ही नहीं है!

10 अप्रैल को होने वाले भारत बंद को पीएम मोदी ने ठेंगा दिखा दिया!

कर्नाटक में अमित शाह की फिर बेइज्जती, लेकिन इस बार विलेन कोई और है

डियर राहुल गांधी, CBSE पेपर लीक पर आपको मौज नहीं लेनी चाहिए

राम मंदिर बन रहा है लेकिन यूपी के राम भक्तों को इससे आधी खुशी होगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

इललीगल- जस्टिस आउट ऑफ़ ऑर्डर: वेब सीरीज़ रिव्यू

कहानी का छोटे से छोटा किरदार भी इतनी ख़ूबसूरती से गढ़ा गया है कि बेवजह नहीं लगता.

बेताल: नेटफ्लिक्स वेब सीरीज़ रिव्यू

ये सीरीज़ अपने बारे में सबसे बड़ा स्पॉयलर देने से पहले स्पॉयलर अलर्ट भी नहीं लिखती.

पाताल लोक: वेब सीरीज़ रिव्यू

'वैसे तो ये शास्त्रों में लिखा हुआ है लेकिन मैंने वॉट्सऐप पे पढ़ा था.‘

इरफ़ान के ये विचार आपको ज़िंदगी के बारे में सोचने पर मजबूर कर देंगे

उनकी टीचर ने नीले आसमान का ऐसा सच बताया कि उनके पैरों की ज़मीन खिसक गई.

'पैरासाइट' को बोरिंग बताने वाले बाहुबली फेम राजामौली क्या विदेशी फिल्मों की नकल करते हैं?

ऐसा क्यों लगता है कि आरोप सही हैं.

रामायण में 'त्रिजटा' का रोल आयुष्मान खुराना की सास ने किया था?

रामायण की सीता, दीपिका चिखालिया ने किए 'त्रिजटा' से जुड़े भयानक खुलासे.

क्या दूरदर्शन ने 'रामायण' मामले में वाकई दर्शकों के साथ धोखा किया है?

क्योंकि प्रसार भारती के सीईओ ने जो कहा, वो पूरी तरह सही नहीं है. आपको टीवी पर जो सीन्स नहीं दिखे, वो यहां हैं.

शी- नेटफ्लिक्स वेब सीरीज़ रिव्यू

किसी महिला को संबोधित करने के लिए जिस सर्वनाम का इस्तेमाल किया जाता है, उसी के ऊपर इस सीरीज़ का नाम रखा गया है 'शी'.

असुर: वेब सीरीज़ रिव्यू

वो गुमनाम-सी वेब सीरीज़, जो अब इंडिया की सबसे बेहतरीन वेब सीरीज़ कही जा रही है.

फिल्म रिव्यू- अंग्रेज़ी मीडियम

ये फिल्म आपको ठठाकर हंसने का भी मौका देती है मुस्कुराते रहने का भी.