Submit your post

Follow Us

सरोज ख़ान के कोरियोग्राफ किए हुए 11 गाने, जिनपर खुद-ब-खुद पैर थिरकने लगते हैं

मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान नहीं रहीं.71 की उम्र में उन्होंने मुंबई के गुरू नानक अस्पताल में आखिरी सांस ली. उन्हें गुरुवार (2 जुलाई) की रात दिल का दौरा पड़ा था.3 जुलाई की सुबह 1:52 पर उन्होंने आख़िरी सांस ली.

उनके कोरियोग्राफ किए हुए गानों के स्टेप्स पर डांस करती हुई हम जैसी लड़कियां बड़ी हुईं. जिसे आइकन कहा जाता है, सरोज खान उन चंद लोगों में से थीं जिन्होंने परदे के पीछे रह कर भी कमाल रचा. कोरियोग्राफी के लिए उन्हें आठ फिल्मफेयर अवॉर्ड्स मिल चुके थे, जो इस कैटेगरी में हाइएस्ट हैं. कोई उनके करीब तक नहीं है. उनके कुछ ऐसे ही कोरियोग्राफ किए हुए गाने, जो बेहद पॉपुलर हुए, आप यहां देख सकते हैं. साथ ही उससे जुड़ी कुछ रोचक जानकारी भी पढ़ लीजिएगा.


1. चने के खेत में

फिल्म:अंजाम (1994)

किस पर फिल्माया गया: माधुरी दीक्षित

इस गाने का हुक स्टेप बहुत पॉपुलर हुआ. हुक स्टेप उसे कहते हैं जो गाने में बार-बार रिपीट होता है. चने के खेत में लाइन पर माधुरी जो एक्शन करती हैं, वो आज भी करने की कोशिश करते हुए लोग देखे जा सकते हैं. (दिखने में आसान है, करने में नहीं).


2. तम्मा तम्मा लोगे

फिल्म: थानेदार (1990)

किस पर फिल्माया गया: संजय दत्त, माधुरी दीक्षित

इस गाने के बारे में  सरोज खान ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनकी एक सहेली ने आकर संजय दत्त की तारीफ की थी. कि गाने में वो बहुत अच्छे लगे. मैंने उसे बताया कि गाने में तो माधुरी भी थी. उसने कहा कि उसने माधुरी को तो नोटिस ही नहीं किया. मैं यकीन नहीं कर पाई. ये अचानक से हुआ था.


3. निम्बूड़ा निम्बूड़ा

फिल्म: हम दिल दे चुके सनम (1999)

किस पर फिल्माया गया: ऐश्वर्या राय

इस गाने के लिए सरोज खान को बेस्ट कोरियोग्राफी का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था. ये गाना एक राजस्थानी लोकगीत की तर्ज पर बना है. ओरिजिनल गाने का शीर्षक निम्बूड़ा था जिसे राजस्थान के मांगणियार समुदार के गाजी खान बरना ने पॉपुलर किया था.


4. डोला रे डोला

फिल्म: देवदास (2002)

किस पर फिल्माया गया: माधुरी दीक्षित और ऐश्वर्या राय

इस गाने को लिखने में डायरेक्टर संजय लीला भंसाली को हफ्ते भर का समय लग गया. क्योंकि वो इसकी हर लाइन परफेक्ट करना चाहते थी. इस गाने की शूटिंग के दौरान भारी झुमकों की वजह से ऐश्वर्या राय के कानों से खून निकलना शुरू हो गया था. लेकिन उन्होंने किसी को बताए बिना शूटिंग जारी रखी.


5. हमको आजकल है

फिल्म: सैलाब (1990)

किस पर फिल्माया गया: माधुरी दीक्षित

इसमें लीड सिंगर ने सिर्फ एक लाइन गाई है. ‘हमको आजकल है इंतज़ार, कोई आए, ले के प्यार’. बाकी सबकुछ कोरस गाता है. कोरस के तमाम सवालों का जवाब माधुरी इस एक ही बात से देती है. ये कुछ अलग प्रयोग था, जो बेहतरीन बन पड़ा था.


6. ये इश्क हाय

फिल्म: जब वी मेट (2007)

किस पर फिल्माया गया: करीना कपूर

इस गाने का एक कवर सर्बिया नाम के देश के एक गाने में इस्तेमाल हुआ है. नेमम एलाना. इस फिल्म की एक ख़ास बात ये है कि इसका टाइटल पॉपुलर वोट से डिसाइड हुआ था. उस समय इंटरनेट इतना पॉपुलर नहीं था. तो अख़बारों में भी ऐड छपवाए गए थे और पब्लिक से उनकी राय मांगी गई थी. दूसरे ऑप्शन्स थे इश्क वाया भटिंडा और पंजाब मेल.


7. तबाह हो गए

फिल्म:कलंक (2019)

किस पर फिल्माया गया: माधुरी दीक्षित

इस गाने के साथ सरोज खान ने रेमो डिसूजा के साथ कोलैबोरेट किया था. और उनकी फेवरेट स्टूडेंट माधुरी तो थी हीं. पूरे गाने को कोरियोग्राफ करने में दो दिन लगे थे. इसके आखिर में जो क्लाइमेक्स शॉट है, वो एक ही टेक में पूरा किया गया था. इसमें माधुरी ने लगातार दस चक्कर लिए थे.


8. हवा हवाई

फिल्म: मिस्टर इंडिया (1987)

किस पर फिल्माया गया: श्रीदेवी

इस गाने को गाने वाली कविता कृष्णमूर्ति ने बताया कि ये गाना वो नहीं गाने वाली थीं. उन्होंने गाना सिर्फ डब किया था. लेकिन कम्पोजर लक्ष्मीकांत जी ने उन्हें बताया कि उनकी आवाज़ ही इस गाने के लिए इस्तेमाल की जाएगी, और इसे दुबारा रिकॉर्ड नहीं किया जाएगा.


9. धक-धक करने लगा

फिल्म: बेटा (1992)

किस पर फिल्माया गया: माधुरी दीक्षित , अनिल कपूर

फिल्म के डायरेक्टर और को प्रोड्यूसर इंद्रा कुमार ने ‘द टाइम्स ऑफ इंडिया’ को दिए इंटरव्यू में बताया कि इस गाने की शूटिंग के लिए उन्होंने छह दिन प्लैन किए थे. लेकिन माधुरी के पास डेट्स नहीं बची थीं. तो इस पांच मिनट के गाने के पहले ढाई मिनट तीन दिन में और बाकी का गाना एक रात में शूट हुआ था.


10. चोली के पीछे

फिल्म: खलनायक (1993)

किस पर फिल्माया गया: नीना गुप्ता, माधुरी दीक्षित

इस गाने के लिए ना सिर्फ सरोज खान  को बेस्ट कोरियोग्राफी के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था, बल्कि इस गाने को गाने वाली अलका याग्निक और इला अरुण को भी बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर का अवॉर्ड मिला था. इस गाने पर बहुत बवाल हुआ था और इसे बैन भी कर दिया गया था. लेकिन बाद में इसे वापस लाया गया.


11. एक दो तीन

फिल्म: तेज़ाब (1988)

किस पर फिल्माया गया: माधुरी दीक्षित

ये गाना जब आया था, इससे माधुरी अचानक से लाइमलाइट में आ गई थीं. गाने की रिहर्सल 16 दिनों तक चली थी, और शूट लगातार एक हफ्ते तक. जावेद अख्तर, जिन्होंने लिरिक्स लिखे, उन्होंने बताया कि म्यूजिक डायरेक्टर लक्ष्मीकांत ने उन्हें एक दो तीन गाकर धुन सुनाई. जावेद अख्तर ने लिरिक्स में भी एक दो तीन रखने का निर्णय लिया.

सरोज खान की लिगेसी उनके गानों में मौजूद रहेगी. आने वाले कई सालों तक छोटी-छोटी बच्चियों से लेकर उनकी मांओं तक उनके स्टेप्स पर थिरकती दिखेंगी. गाने बदलते रहेंगे, सरोज और उनका नृत्य के लिए प्रेम हमेशा मौजूद रहेगा.


वीडियो: कोरियोग्राफर सरोज खान की मौत की ख़बर सुनकर इन सेलिब्रिटीज़ ने क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फ़िल्म रिव्यूः भोंसले

मनोज बाजपेयी की ये अवॉर्ड विनिंग फिल्म कैसी है? और कहां देख सकते हैं?

जॉर्ज ऑरवेल का लिखा क्लासिक 'एनिमल फार्म', जिसने कुछ साल पहले शिल्पा शेट्‌टी की दुर्गति कर दी थी

यहां देखें इस पर बनी दो मजेदार फिल्में. हिंदी वालों के लिए ये कहानी हिंदी में.

फिल्म रिव्यू: बुलबुल

'परी' जैसी हटके हॉरर फिल्म देने वाली अनुष्का शर्मा का नया प्रॉडक्ट कैसा निकला?

फ़िल्म रिव्यूः गुलाबो सिताबो

विकी डोनर, अक्टूबर और पीकू की राइटर-डायरेक्टर टीम ये कॉमेडी फ़िल्म लेकर आई है.

फिल्म रिव्यू: चिंटू का बर्थडे

जैसे हम कई बार बातचीत में कह देते हैं कि 'ये दुनिया प्यार से ही जीती जा सकती है', उस बात को 'चिंटू का बर्थडे' काफी सीरियसली ले लेती है.

फ़िल्म रिव्यूः चोक्ड - पैसा बोलता है

आज, 5 जून को रिलीज़ हुई ये हिंदी फ़िल्म अनुराग कश्यप ने डायरेक्ट की है.

फिल्म रिव्यू- ईब आले ऊ

साधारण लोगों की असाधारण कहानी, जो बिलकुल किसी फिल्म जैसी नहीं लगती.

इललीगल- जस्टिस आउट ऑफ़ ऑर्डर: वेब सीरीज़ रिव्यू

कहानी का छोटे से छोटा किरदार भी इतनी ख़ूबसूरती से गढ़ा गया है कि बेवजह नहीं लगता.

बेताल: नेटफ्लिक्स वेब सीरीज़ रिव्यू

ये सीरीज़ अपने बारे में सबसे बड़ा स्पॉयलर देने से पहले स्पॉयलर अलर्ट भी नहीं लिखती.

पाताल लोक: वेब सीरीज़ रिव्यू

'वैसे तो ये शास्त्रों में लिखा हुआ है लेकिन मैंने वॉट्सऐप पे पढ़ा था.‘