Submit your post

Follow Us

भाई के 30 साल: वो फिल्म जिसने सलमान को सलमान बनाया

ये तब की बात है जब बॉलीवुड में कोई भाई नहीं हुआ करता था. एहसानों-इल्जामों, जीने-मरने, ब्लैकबक-टाइगर की कोई बात नहीं होती थी. क्योंकि भाई मेकिंग में था. ये पहली फिल्म थी सलमान खान की. या यू कहें कि इंडिया के सबसे बड़े राइटर के बेटे की. हीरो, हिरोइन, डायरेक्टर सब लोग नए. बस स्टोरी वही पुरानी सलमान खान टाइप की. मैंने प्यार किया फिल्म का नाम था. 29 दिसंबर, 1989 को रिलीज़ हुई थी. मतलब ये कि आज सलमान खान को हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखे 30 साल हो गए हैं.

#1. सलमान पहले ऑडिशन में ही रिजेक्ट कर दिए गए थे

राजश्री प्रोडक्शन ने एक फिल्म अनाउंस की और तय किया गया कि फिल्म में सिर्फ नए चेहरों को ही कास्ट किया जाएगा. तलाश शुरू हुई. कई एक्टर्स के नाम आए और गए. फिर एक दिन एक्ट्रेस शबिना दत्त के कहने पर सलमान खान को बुलाया गया. फिल्म के डायरेक्टर सूरज को वो पहली नज़र में ही ‘प्रेम’ के किरदार के लिए छोटे लगे. फिर भी उनका ऑडिशन ले लिया गया, जो सूरज को बिल्कुल पसंद नहीं था.

उन्होंने मन बना लिया कि सलमान तो फिल्म के हीरो नहीं ही होंगे. ऊपर से सलमान उनकी ‘नए चेहरे’ वाली रिक्वायरमेंट में फिट नहीं हो रहे थे. क्योंकि वो फिल्म ‘बीवी हो तो ऐसी’ में सपोर्टिंग रोल कर रहे थे. सलमान ने फिर भी हार नहीं मानी और लगातार उनके पीछे लगे रहे. वो सूरज को एक के बाद एक लोगों के नाम सूझाते रहते जो ये रोल कर सकते थे. 4-5 महीने तक यही चलता रहा.

फिल्म 'बीवी हो तो ऐसी' के एक सीन में सलमान खान और बिंदु.
फिल्म ‘बीवी हो तो ऐसी’ के एक सीन में सलमान खान और बिंदु.

एक दिन सूरज किसी काम से फिल्म ‘बीवी हो तो ऐसी’ के सेट पर पहुंचे जहां सलमान रेखा और फारुख शेख के साथ शूटिंग कर रहे थे. सूरज को वहां देखते ही सलमान उनके गले लग गए. सूरज ने असहज होते हुए सलमान को बताया कि वो उन्हें फिल्म में नहीं ले रहे हैं. सलमान ने फटाक से एक एक्टर का नाम बताते हुए कहा कि आप इसे ले लीजिए. ये मुझसे बेहतर है. वहां से बाहर निकलते वक्त सूरज ने तय किया फिल्म में सलमान ही होंगे.

#2. हिरोइन ने फिल्म में पहली बार जींस पहनी थी

भाग्यश्री महाराष्ट्र के पटवर्धन राजघराने से आती हैं. उनका पूरा नाम भी भाग्यश्री राजे पटवर्धन है. उनके यहां की लड़कियां सिर्फ चूड़ीदार पहनती थीं. अपनी डेब्यू फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ में भी उन्होंने वही पहनावा रखने की गुजारिश की. फिल्म के डायरेक्टर सूरज बड़जात्या ने उनसे कहा कि फिल्म की स्क्रिप्ट के मुताबिक उन्हें कुछ सीन में जींस और वन पीस भी पहनना है. इससे भाग्यश्री परेशान हो गई. ऐसे में सूरज ने उनके पापा से बात करके वो इजाज़त ले ली. फिल्म के सेट पर भाग्यश्री ने पहली बार वन पीस गाउन पहनी थी.

फिल्म के एक सीन में सलमान खान के साथ भाग्यश्री.
फिल्म के एक सीन में सलमान खान के साथ भाग्यश्री.

फिल्म में सलमान के साथ उनका एक किसिंग सीन भी था जिसे करने से उन्होंने इंकार कर दिया था. फिर दोनों के बीच शीशा लगाकर वो सीन फिल्माया गया.

'मैंने प्यार किया' में शीशे की मदद से किसिंग सीन फिल्माते सलमान खान और भाग्यश्री.
‘मैंने प्यार किया’ में शीशे की मदद से किसिंग सीन फिल्माते सलमान खान और भाग्यश्री.

#3. फिल्म का विलेन पायलट बनने बनने जा रहा था

मोहनीश बहल का एक्टिंग करियर कुछ सही नहीं चल रहा था. ऐसे में उन्होंने पायलट बनने की बात सोची और फ्लाइंग लाइसेंस ले लिया. तब ‘मैंने प्यार किया’ में सलमान को कास्ट किया जा चुका था. सलमान और मोहनीश अच्छे दोस्त थे इसलिए उन्होंने फिल्म में एक रोल के लिए सूरज को मोहनीश का नाम रेकमेंड किया. ऑडिशन हुआ और मोहनीश कास्ट कर लिए गए. फिल्म में उन्होंने जीवन नाम का निगेटिव किरदार निभाया था. ये फिल्म उनके करियर के लिए संजीवनी बूटी साबित हुई. 90 के दशक में वो निगेटिव कैरेक्टर प्ले करने वाले बड़े नामों में गिने जाने लगे.

फिल्म के दो अलग-अलग दृश्यों में मोहनिश बहल.
फिल्म के दो अलग-अलग दृश्यों में मोहनीश बहल.

#4. लता की आवाज में सारे गाने एक ही दिन रिकॉर्ड किए गए

जब ‘मैंने प्यार किया’ बन रही थी उस दौर में लता मंगेशकर बहुत बड़ा नाम हुआ करती थीं. ऐसे में कि फिल्म के म्यूज़िक डायरेक्टर राम-लक्ष्मण ने अपनी फीमेल लीड के लिए उनका ही नाम चुना था, जबकि मेल लीड के लिए एस.पी. बालासुब्रमण्यम को फाइनल किया गया था. लता के पास अपने कमिटमेंट की वजह से समय की बहुत किल्लत रहती थी. जिस दिन इस फिल्म के गाने रिकॉर्ड होने थे उसके ठीक अगले दिन लता को एक कॉन्सर्ट के लिए विदेश जाना था.

ऐसे में मामला बहुत तनावपूर्ण हो गया क्योंकि एक दिन में आठ गाने रिकॉर्ड करना कोई बच्चों का खेल नहीं था. कई बार एक गाना रिकॉर्ड करने में ही पूरा दिन निकल जाया करता था. लेकिन लता और सूरज ने बहुत ही संजीदगी और संयम से काम लिया. लता की आवाज में फिल्म के सभी आठ गाने उसी एक दिन में रिकॉर्ड किए गए. रिलीज़ के बाद उन गानों को इतना पसंद किया गया कि ‘मैंने प्यार किया’ का एल्बम उस दशक का सबसे ज़्यादा बिकने वाला साउंडट्रैक बन गया.

लता मंगेशकर और एस.पी बालासुब्रमण्यम 'मैंने प्यार किया' के लीड सिंगर्स थे.
लता मंगेशकर और एस.पी बालासुब्रमण्यम ‘मैंने प्यार किया’ के लीड सिंगर्स थे.

#5. ‘दिलवाले दुल्हनिया…’ से पहले सबसे ज़्यादा फिल्मफेयर अवॉर्ड का रिकॉर्ड ‘मैंने प्यार किया’ के नाम था

सलमान खान की ये फिल्म रिलीज़ हुई और बहुत जबरदस्त हिट साबित हुई. दो करोड़ रुपए के बजट में बनी इस फिल्म ने 28 करोड़ का बिजनेस किया था. बॉक्स ऑफिस इंडिया ने फिल्म को ऑल टाइम ब्लॉकबस्टर डिक्लेयर कर दिया. इतना ही नहीं 35वें फिल्मफेयर अवॉर्ड में ‘मैंने प्यार किया’ 12 कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया था जिसमें से फिल्म ने बेस्ट फिल्म और बेस्ट म्यूज़िक डायरेक्टर समेत छह अवॉर्ड जीते. ये उस समय का रिकॉर्ड था. जिसे 1995 में आई शाहरुख़ ख़ान की फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ ने 10 अवॉर्ड जीतकर तोड़ा.

फिल्म 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे' औऱ 'मैंने प्यार किया' के एक सीन में उनके मुख्य कलाकार.
फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ औऱ ‘मैंने प्यार किया’ के एक सीन में उनके मुख्य कलाकार.

ये भी पढ़ें:

एक टिपिकल सलमान खान फिल्म को पहचानने के 8 तरीके क्या हैं!

सलमान भाई की पिछली 10 फिल्मों ने कितनी कमाई की थी, जान लो

टाइगर ज़िंदा था, टाइगर ज़िंदा है, टाइगर ज़िंदा रहेगा

टाइगर ज़िन्दा रहेगा क्यूंकि इस टाइगर को फांसना फिलहाल तो किसी के बस की बात नहीं

सलमान के डायलॉग्स, ग़ालिब के शेर – मज्जानि लाईफ!


अब भाई का ये लल्लनटॉप वीडियो भी देखते जाइए:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

नसीरुद्दीन शाह और अनुपम खेर की रगों में क्या है?

एक लघु टिप्पणी दोनों के बीच विवाद पर. जिसमें नसीर ने अनुपम को क्लाउन यानी विदूषक कहा था.

पंगा: मूवी रिव्यू

मूवी देखकर कंगना रनौत को इस दौर की सबसे अच्छी एक्ट्रेस कहने का मन करता है.

फिल्म रिव्यू- स्ट्रीट डांसर 3डी

अगर 'स्ट्रीट डांसर' से डांस निकाल दिया जाए, तो फिल्म स्ट्रीट पर आ जाएगी.

कोड एम: वेब सीरीज़ रिव्यू

सच्ची घटनाओं से प्रेरित ये सीरीज़ इंडियन आर्मी के किस अंदरूनी राज़ को खोलती है?

जामताड़ा: वेब सीरीज़ रिव्यू

फोन करके आपके अकाउंट से पैसे उड़ाने वालों के ऊपर बनी ये सीरीज़ इस फ्रॉड के कितने डीप में घुसने का साहस करती है?

तान्हाजी: मूवी रिव्यू

क्या अपने ट्रेलर की तरह ही ग्रैंड है अजय देवगन और काजोल की ये मूवी?

फिल्म रिव्यू- छपाक

'छपाक' एक ऐसी फिल्म है, जिसके बारे में हम ये चाहेंगे कि इसकी प्रासंगिकता जल्द से जल्द खत्म हो जाए.

हॉस्टल डेज़: वेब सीरीज़ रिव्यू

हॉस्टल में रह चुके लोगों को अपने वो दिन खूब याद आएंगे.

घोस्ट स्टोरीज़ : मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

करण जौहर, अनुराग कश्यप, ज़ोया अख्तर और दिबाकर बनर्जी की जुगलबंदी ने तीसरी बार क्या गुल खिलाया है?

गुड न्यूज़: मूवी रिव्यू

साल की सबसे बेहतरीन कॉमेडी मूवी साल खत्म होते-होते आई है!