Submit your post

Follow Us

'धड़क' की 8 बातेंः क्यों स्टार किड जाह्नवी और ईशान की इस डेब्यू हिंदी फिल्म पर नजरें रहेंगी

नोटः जाह्नवी कपूर - श्रीदेवी की बेटी हैं. ईशान खट्टर - शाहिद कपूर के छोटे भाई हैं.

#1) फर्स्ट लुक:प्रोड्यूसर करण जौहर ने ‘धड़क’ का पहला पोस्टर ट्वीट किया जिसमें पार्श्व में रेगिस्तान और ऊंट दिखाई दे रहे हैं. फ़िल्म के डायरेक्टर शशांक खेतान कह भी चुके हैं कि इसकी कहानी राजस्थान में ही सेट की गई है. सीपिया शेड के पोस्टर में रिलीज़ डेट 06 जुलाई 2018 बताई गई है.

धड़क फर्स्ट लुक
‘धड़क’ के पोस्टर में जाह्नवी और ईशान.

#2) वो, बदल गया: शशांक खेतान अपनी रोमैंटिक-कॉमेडीज़ – ‘हम्पटी शर्मा की दुल्हनिया’ और ‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ के लिए जाने जाते हैं. इतनी हल्की-फुल्की फिल्मों के बाद उनके लिए ‘ऑनर किलिंग’ यानी ‘इज्ज़त के नाम पर हत्या’ की थीम पर ये फ़िल्म बनाना बहुत मुश्किल भी होगा.

बद्री की दुल्हनिया
‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ में आलिया भट्ट और वरुण धवन.

#3) लावणी से घूमर: ‘धड़क’ सबसे ज़्यादा कमाई (करीब 120 करोड़) का रिकॉर्ड बनाने वाली मराठी फ़िल्म ‘सैराट’ की रीमेक है. ‘सैराट’ के बैकड्रॉप में महाराष्ट्र था और भाषा मराठी.

सैराट - धड़क
‘सैराट’ में रिंकू और आकाश, जिनका हिंदी संस्करण जाह्नवी और ईशान बनेंगे.

#4) ऑनर बनाम हॉरर: ऑनर किलिंग के सबसे ज़्यादा केस इंडो-एशियन और अफ्रीकन देशों में होते हैं. अजीब सा संयोग है कि जिस समाज, जिस क्षेत्र और जिस देश में ऑनर किलिंग के जितने अधिक मामले पाए जाते हैं क्रमशः वो समाज, क्षेत्र और देश उतना ही विपन्न, उतना ही पिछड़ा हुआ होता है. या शायद चूंकि वो पिछड़ा हुआ है इसलिए उनके पास ‘सम्मान’ जैसी व्यंजनात्मक चीज़ के आलावा ज़्यादा कुछ होता नहीं.

कुछ वर्ष पहले मीडिया में ये बहस ज़ोरों पर थी कि ऑनर किलिंग को ऑनर किलिंग कहा जाए या हॉरर किलिंग? और तर्क, जो कि जायज़ थे वो, ये कि इस किलिंग में ‘ऑनर’ अर्थात सम्मान जैसा कुछ नहीं है. ऑनर किलिंग तो खैर चरम-सीमा है, अन्यथा तो वर्तमान में ‘पद्मावती विवाद’ और दीपिका और भंसाली को मिलने वाली धमकियां भी इसका ही एक तुलनात्मक रूप से माइल्ड मगर व्यापक संस्करण कहा जा सकता है.


#5) लव सेक्स और धोखा: ‘ऑनर किलिंग’ पर बन रही ये पहली हिंदी फ़िल्म नहीं है. पहले भी इस थीम पर ‘खाप’ (2011), दिबाकर बनर्जी की ‘लव सेक्स और धोखा’ (2010) और डायरेक्टर नवदीप सिंह की ‘एनएच10’ (2015) जैसी फिल्में बन चुकी हैं. ‘लव सेक्स और धोखा’ में ऑनर किलिंग वाला भाग रौंगटे खड़े करने वाला और वास्तविकता के बहुत करीब था.

'एलएसडी' के एक दृश्य में राजकुमार राव और नम्रता राव.
‘एलएसडी’ के एक दृश्य में राजकुमार राव और नम्रता राव.

#6) इफ्फी गोवा-2017, बियॉन्ड दी क्लाउड्स, माजिद माजिदी और ‘धड़क’: इस फिल्म में ईशान खट्टर और जाह्नवी कपूर लीड रोल में हैं. जाह्नवी की ये डेब्यू फ़िल्म होगी, वहीं ईशान की डेब्यू ‘बियॉन्ड दी क्लाउड्स’ बनकर तैयार है जिसे माजिद माजिदी ने डायरेक्ट किया है. ‘धड़क’ ईशान की दूसरी फिल्म और पहली हिंदी रिलीज होगी.

ईरानी डायरेक्टर माजिदी की फिल्में विश्व भर में पसंद की जाती हैं. ‘बरन’, ‘चिल्ड्रेन ऑफ़ हेवन’, ‘दी कलर ऑफ़ पैरेडाइज़’ उनकी सबसे ज़्यादा सराही गई फ़िल्में हैं. गोवा में चल रहे 48वें अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव का आगाज़ 20 नवंबर को माजिदी ‘बियॉन्ड..’ की स्क्रीनिंग से ही हुआ.

बियॉन्ड दी क्लाउड्स - ईशान खट्टर
‘बियॉन्ड द क्लाउड्स’ में ईशान खट्टर.

#7) ये रिश्ता क्या कहलाता है: ईशान और शाहिद कपूर सौतेले भाई हैं. शाहिद के मां-पिता नीलिमा अज़ीम और पंकज कपूर की शादी 1975 में हुई थी. 1984 में तलाक़ हुआ. उसके बाद नीलिमा ने एक्टर राजेश खट्टर से 1990 में शादी कर ली. उन्हीं से नीलिमा को ईशान हुए. शाहिद की तरह ईशान भी डांस में एक्सपर्ट हैं. उन्होंने शाहिद स्टारर ‘उड़ता पंजाब’ में डायरेक्टर अभिषेक चौबे को असिस्ट भी किया था.

शाहिद ईशान


#8) जाह्नवी ने इससे पहले ठुकराई थी ‘बड़े बजट’ की तेलुगु मूवी:फ़िल्म ‘धड़क’ की हीरोइन जाह्नवी अपनी मां श्रीदेवी सी दिखती हैं. बीस साल की हो चुकीं जाह्नवी के पास 15 की उम्र से ही फ़िल्मों के ऑफर आना शुरू हो गए थे. कहा जाता है कि ‘गजनी’ और ‘हॉलिडे’ के निर्देशक ए. आर. मुरुगदॉस जाह्नवी को 150 करोड़ के बजट की एक तेलुगु फ़िल्म में लेना चाहते थे. उन्होंने श्रीदेवी और बोनी कपूर से संपर्क किया था. बताया जाता है कि जाह्नवी ने फ़िल्म ये कहकर ठुकरा दी कि अभी वो पूरी तरह से तैयार नहीं हैं. इस तरह ‘धड़क’ उनकी पहली फ़िल्म बन गई.

जाह्नवी श्रीदेवी
मां श्रीदेवी के साथ कुछ अरसा पहले की फोटो में जाह्नवी.

सिनेमा पर और पढ़ें:
8 भारतीय फिल्में जिन्हें पोलिटिकल कारणों से बैन झेलना पड़ा
‘टाइगर ज़िन्दा है’ के गाने का टीज़र आया, नियमों की उड़ाई गई धज्जियां
‘पद्मावती’ की वो फुटेज और गाने जो फिल्म में नहीं दिखाए जाएंगे !
2018 की बड़ी फिल्म ‘अय्यारी’ की आठ बातेंः जब ‘सिज़ल’ इतना धांसू है तो फ़िल्म कैसी होगी!


गुजरात चुनाव-2017 की लल्लनटॉप कवरेज यहां पढ़ेंः
जानिए, उस ड्रामे की असलियत जिसके दम पर सालों से पब्लिक को ‘मूर्ख’ बना रही है कांग्रेस
गुजरात की वो झामफाड़ सीट जहां से जीतने वाले राज्यपाल, CM और PM बने
बीजेपी गुजरात में जीते या हारे, नरेंद्र मोदी ये रिकॉर्ड ज़रूर बना लेंगे
बीजेपी गुजरात में जीते या हारे, नरेंद्र मोदी ये रिकॉर्ड ज़रूर बना लेंगे
नरेंद्र मोदी की लाइफ की पूरी कहानी और उनकी वो विशेषताएं जो नहीं पढ़ी होंगी

Video: BJP जीते या हारे Narendra Modi गुजरात में एक रिकॉर्ड बनाने जा रहे हैं

 

Video:गुजरात के दंगों पर सुनिए इन बुज़ुर्गों के बोल

 

Video:ये वो फिल्में हैं जिन्हें इतिहास से छेड़छाड़ के नाम पर कोई रोक नहीं पाया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: सी यू सून

फिल्म रिव्यू: सी यू सून

बढ़िया परफॉरमेंसेज़ से लैस मजबूत साइबर थ्रिलर,

फिल्म रिव्यू- सड़क 2

फिल्म रिव्यू- सड़क 2

जानिए कैसी है संजय दत्त, आलिया भट्ट स्टारर महेश भट्ट की कमबैक फिल्म.

वेब सीरीज़ रिव्यू- फ्लेश

वेब सीरीज़ रिव्यू- फ्लेश

एक बार इस सीरीज़ को देखना शुरू करने के बाद मजबूत क्लिफ हैंगर्स की वजह से इसे एक-दो एपिसोड के बाद बंद कर पाना मुश्किल हो जाता है.

फिल्म रिव्यू- क्लास ऑफ 83

फिल्म रिव्यू- क्लास ऑफ 83

एक खतरनाक मगर एंटरटेनिंग कॉप फिल्म.

बाबा बने बॉबी देओल की नई सीरीज़ 'आश्रम' से हिंदुओं की भावनाएं आहत हो रही हैं!

बाबा बने बॉबी देओल की नई सीरीज़ 'आश्रम' से हिंदुओं की भावनाएं आहत हो रही हैं!

आज ट्रेलर आया और कुछ लोग ट्रेलर पर भड़क गए हैं.

करोड़ों का चूना लगाने वाले हर्षद मेहता पर बनी सीरीज़ का टीज़र उतना ही धांसू है, जितने उसके कारनामे थे

करोड़ों का चूना लगाने वाले हर्षद मेहता पर बनी सीरीज़ का टीज़र उतना ही धांसू है, जितने उसके कारनामे थे

कद्दावर डायरेक्टर हंसल मेहता बनायेंगे ये वेब सीरीज़, सो लोगों की उम्मीदें आसमानी हो गई हैं.

फिल्म रिव्यू- खुदा हाफिज़

फिल्म रिव्यू- खुदा हाफिज़

विद्युत जामवाल की पिछली फिल्मों से अलग मगर एक कॉमर्शियल बॉलीवुड फिल्म.

फ़िल्म रिव्यू: गुंजन सक्सेना - द कारगिल गर्ल

फ़िल्म रिव्यू: गुंजन सक्सेना - द कारगिल गर्ल

जाह्नवी कपूर और पंकज त्रिपाठी अभिनीत ये नई हिंदी फ़िल्म कैसी है? जानिए.

फिल्म रिव्यू: शकुंतला देवी

फिल्म रिव्यू: शकुंतला देवी

'शकुंतला देवी' को बहुत फिल्मी बता सकते हैं लेकिन ये नहीं कह सकते इसे देखकर एंटरटेन नहीं हुए.

फ़िल्म रिव्यूः रात अकेली है

फ़िल्म रिव्यूः रात अकेली है

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और राधिका आप्टे अभिनीत ये पुलिस इनवेस्टिगेशन ड्रामा आज स्ट्रीम हुई है.