Submit your post

Follow Us

अगर थोड़ी सी सावधानी बरती होती तो ये सिक्स नहीं, कैच होता

क्रिकेट के मैदान पर आपका सिर्फ अच्छा फील्डर होना ही ज़रूरी नहीं है. इसके साथ आपका दिमाग भी तेज़ होना चाहिए. आपको हमेशा अलर्ट रहने की आदत होनी चाहिए. कितनी ही बार आपको मिली सेकंड में फैसला लेना होता है. आपका असल स्किल ऐसे ही वक़्त परखा जाता है. अगर आपमें शार्पनेस की कमी है, तो आप पक्का घपला कर बैठेंगे. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाड़ी मंदीप सिंह से ऐसा ही एक डिज़ास्टर हो गया.

ये हुआ 8 अप्रैल को ईडन गार्डन पर KKR और RCB के बीच हुए मुकाबले में. 177 रनों के टार्गेट को चेज करने उतरी KKR को सुनील नरेन ने तूफानी शुरुआत दी. जो भी सामने आया उससे रन लूट लिए. तेज़ रफ़्तार फिफ्टी बनाई. चार चौके और पांच छक्को समेत. इन पांच छक्कों में से एक उन्हें मंदीप सिंह ने गिफ्ट दिया था. साथ में जीवनदान भी.

मंदीप सिंह.
मंदीप सिंह.

पांचवें ओवर की पांचवी गेंद. सुनील 43 रन के स्कोर पर खेल रहे थे. वॉशिंगटन सुंदर के इस ओवर की पांचवी गेंद को सुनील ने लॉन्ग ऑन की तरफ उड़ा दिया. गेंद को ज़्यादा हाईट भी नहीं हासिल हुई थी. वहां फील्डिंग कर रहे मंदीप सिंह के लिए आसान कैच लग रहा था. था भी. उन्होंने आसानी से पकड़ भी लिया. लेकिन इसके बाद गड़बड़ कर बैठे. न जाने कैसे उन्हें बाउंड्री लाइन कहां है इसका आईडिया न रहा. गेंद तो उन्होंने आसानी से लपक ली लेकिन जब उसी फ्लो में ज़मीन पर घुटने टेके, तो बाउंड्री लाइन को छू लिया. ये ब्लंडर हो गया. जो एक आसान कैच होना था, उसकी जगह छह रनों की पेनल्टी मिल गई.

बार-बार इसका रीप्ले देखने के बावजूद यही नज़र आया कि ये गड़बड़ टाली जा सकती थी. बस मंदीप को थोड़ा सा अलर्ट रहना था. आजकल तो बाउंड्री लाइन पर फील्डर लोग तरह-तरह के स्टंट करते हुए कैच ले लेते हैं. ऐसे में मंदीप से ऐसी चूक हो जाना अखरता तो है.

देखिए वो वीडियो:

वो तो गनीमत रही कि इससे RCB को सिर्फ 7 रनों का नुकसान हुआ.


ये भी पढ़ें:

जब कोहली ने उमेश यादव से कहा, “इसके सिर पर निशाना लगाओ”

बेंगलुरु ने क्रिस लिन की तैयारी की थी, ये खिलाड़ी कोर्स से बाहर आ गया

कोहली के बल्ले पर गेंद ही नहीं आ रही थी, वजह डिविलियर्स और मैकुलम हैं

के एल राहुल ने याद दिलाए IPL के वो सात मौके, जब बैट्समैन के सर पर कोई भूत सवार था

पंजाब ने झूठ नहीं बोला था, ओपनिंग करने ‘वीरेंद्र सहवाग’ ही आए थे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

गूगल के इन नए फीचर्स से 'क्रोमवीरों' का दिल गार्डन-गार्डन हो जाएगा

दुनिया के नंबर-1 इंटरनेट ब्राउज़र ने कई नए फ़ीचर जोड़े हैं, जो बहुत काम के हैं, आइए जानें

आप बस ऑनलाइन क्लास पर फोकस कीजिए, टीचर के लेक्चर से नोट्स ये सॉफ्टवेयर लिख देंगे

बड़े काम के हैं ये जुगाड़, कोई भी बोलता रहे, ये लिखते रहेंगे

देश-दुनिया के वो पांच रोपवे जिनपर चढ़ने में सांस अटक जाएगी!

असम में देश का सबसे लंबा रिवर रोपवे शुरू हुआ है.

पहली बार धरती पर किसी ने कमाए 200 बिलियन डॉलर, इसमें कितने बोरी आलू आएंगे, हम बताते हैं

जेफ बेजोस पहले इंसान बने, जिन्होंने 15 लाख करोड़ रुपये जितनी दौलत कमा ली है.

शोले के 'रहीम चाचा' जो बुढ़ापे में फिल्मों में आए और 50 साल काम करते रहे

ताउम्र मामूली रोल करके भी महान हो गए हंगल सा'ब को 8 साल हुए गुज़रे हुए.

'इतना सन्नाटा क्यों है भाई' कहने वाले 'शोले' के रहीम चाचा अपनी जवानी में दिखते कैसे थे?

जिस आदमी को सिनेमा के परदे पर हमेशा बूढा देखा वो अपनी जवानी के दौर में राज कपूर से ज्यादा खूबसूरत हुआ करता था.

एक ऐसा हवाई जहाज़, जो उड़ने के 35 साल बाद क्रैश-लैंड हुआ और सनसनी फ़ैल गई

अभय देओल की वेब सीरीज़ का ट्रेलर आया है.

इस धांसू साइंस-फिक्शन फिल्म को देखकर पता चलेगा कि लोग मरने के बाद कहां जाते हैं

'कार्गो' टीज़र- एक स्पेसशिप है, जो मर चुके लोगों को रोज सुबह लेने आता है. लेकिन लेकर कहां जाता है?

ईशान-अनन्या की नई फिल्म, जो डिसलाइक्स के मामले में 'सड़क 2' का भी रिकॉर्ड तोड़ सकती है

'खाली-पीली' का टीज़र आपको कोरोना काल में बहुत राहत देने वाला है.

वो राज्य, जहां राज्यपाल और मुख्यमंत्री एकदूसरे से खार खाए बैठे हैं

साथ में, राज्यपाल की 'दादागिरी' का एक किस्सा भी.