Submit your post

Follow Us

आखिर क्यों एक थानेदार को कहना पड़ा कि इस देश में मुसलमान होना गुनाह है?

अभी तक तो हमारे देश में नेता हिंदू-मुस्लिम की बात कर और भावनाएं भड़काकर वोट लेने का काम करते थे. लेकिन अब एक पुलिसवाले को भी कहना पड़ गया है कि क्या इस देश में मुस्लिम होना गुनाह है. पुलिसवाले का ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. लेकिन इसके पीछे एक हत्याकांड है, जिससे नाराज़ भीड़ ने पुलिस पर सवालिया निशान लगाए और इसी क्रम में भीड़ ने पुलिसवाले के मजहब पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी.

मामला झारखंड का है. झारखंड की राजधानी रांची में बीजेपी के अनुसूचित जाति के मंडल अध्यक्ष थे धीरज राम. 18 जुलाई की सुबह करीब साढ़े चार बजे हर रोज की तरह धीरज राम स्कूटी से अपर बाजार में निकले थे. अभी वो घर से करीब 200 मीटर दूर पहुंचे ही थे कि चार अपराधियों ने उनकी स्कूटी रोकी और ताबड़तोड़ उन्हें गोलियां मार दीं. सिर, कंधा, जबड़ा और हाथ में गोली लगने की वजह से धीरज गिर गए और अपराधी गोली मारने के बाद फरार हो गए. पडोस की एक महिला ने धीरज को पड़ा हुआ देखा तो घर जाकर सूचना दी. मौके पर पहुंचे धीरज के भाई सुजीत ने डोरंडा पुलिस को सूचना दी और धीरज को लेकर अस्पताल गए. वहां डॉक्टरों ने धीरज को मरा हुआ घोषित कर दिया.

धीरज राम बीजेपी के नेता थे. उनकी हत्या के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं ने थाने का घेराव कर दिया और आबिद खान के खिलाफ उनके मजहब को लेकर टिप्पणी की.

वारदात के बाद स्थानीय लोग हंगामा करने लगे और उन्होंने डोरंडा थाने का घेराव कर दिया. थाने को घेरने के बाद स्थानीय लोग नारेबाजी करने लगे. वो थानेदार हाय-हाय के नारे लगाने लगे और साथ ही डोरंडा थाना प्रभारी आबिद खान को हटाने की मांग करने लगे. इस नारेबाजी के दौरान ही भीड़ में शामिल कुछ लोगों ने डोरंडा थाना प्रभारी आबिद पर उनके मजहब के नाम पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी. उनका आरोप था कि थाना प्रभारी मुस्लिम हैं और धीरज को मारने वाले आरोपी भी मुस्लिम हैं. जब तक भीड़ नारेबाजी कर रही थी, पुलिस खामोश थी. लेकिन जैसे ही भीड़ ने दरोगा आबिद खान के मजहब पर टिप्पणी की, आबिद खान नाराज हो गए. गुस्से से तमतमाए हुए आबिद खान ने कहा कि क्या उनका मुसलमान होना गुनाह है, क्या उन्होंने हत्या की है. आबिद ने कहा कि वो अपनी मर्जी से डोरंडा थाने में नहीं हैं, सरकार ने उन्हें वहां भेजा है.

थानेदार पर धर्म की वजह से टिप्पणी की गई तो वो बहुत नाराज हो गए | The Lallantopथानेदार पर धर्म की वजह से टिप्पणी की गई तो वो बहुत नाराज हो गए

Posted by The Lallantop on Monday, 23 July 2018

आबिद खान के गुस्से को देखकर थाने में मौजूद भीड़ में कुछ लोगों ने आबिद खान से माफी भी मांगी. वहीं थाने में उस वक्त डीएसपी भी मौजूद थे. उन्होंने भी भीड़ को धर्म के आधार पर टिप्पणी करने से रोका, जिसके बाद थाने में मौजूद लोगों ने और भीड़ में शामिल कुछ लोगों ने आबिद खान को समझा-बुझाकर शांत करवाया.

आबिद ने जब पूछा कि क्या उनका मुसलमान होना गुनाह है, तब लोगों ने उनसे माफी मांगी.

इस पूरे हंगामे के दो दिन बाद आबिद खान और उनकी टीम ने धीरज की हत्या के आरोप में अली, शहबाज और आरिफ को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने उनके पास से दो पिस्टल बरामद की हैं. पुलिस के मुताबिक अली, शहबाज और आरिफ की धीरज से छेड़खानी को लेकर कहासुनी हो गई थी. इसकी वजह से अली, शहबाज और आरिफ धीरज से नाराज थे और बदला लेना चाहते थे. इसकी वजह से उन्होंने धीरज की हत्या की थी. इसके अलावा पुलिस ने चांद और मुन्ना को भी हथियार छिपाने के आरोप में गिरफ्तार किया है. रांची के एसएसपी अनीश गुप्ता ने कहा कि पुलिस ने धीरज के सभी हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.


ये भी पढ़ें:

मुसलमानों और हिंदुओं के बीच के इस फर्क ने ही मुसलमानों की छवि इतनी खराब की है

एयरटेल से हिंदू कस्टमर केयर मांगने वाली लड़की के साथ इससे बुरा कुछ नहीं हो सकता

पति मुस्लिम था पत्नी हिंदू, अधिकारी ने पासपोर्ट देने से मना किया और सबक पा गया

राम का नाम लेकर नमाज़ियों को भगाने वाले गुंडे पकड़े गए हैं

नमाज़ियों को राम का नारा देकर भगाओगे, तो असल नुकसान हिंदुओं का ही होगा

मुस्लिम ड्राइवर की कैब कैंसल करने वाले अभिषेक मिश्रा पहले ओला नहीं, ऊबर से जाते थे

जब कश्मीर में हुमा कुरैशी से उनका आई-कार्ड मांगा गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

कोरोना से जुड़ी आठ अफवाहें, जिनको लोगों ने बिना सोचे-समझे, धड़ल्ले से शेयर किया

वायरस से ज्यादा तेज़ी से तो ये अफवाहें फ़ैलीं.

अंग्रेजों से गुरिल्ला युद्ध लड़ने वाले आदिवासी नायक जिनकी जान कॉलरा ने ले ली

कहानी झारखंड के सबसे बड़े हीरो की, जिसने 25 साल में ही दुनिया छोड़ दी थी.

इबारत : धाकड़ प्यार करने वाला कैसेनोवा कल्ट कैसे बन गया?

उसकी ये 10 बातें तो और भी क्लासिक हैं

आज़ादी से पहले जन्मे इस गायक ने सलमान को टॉप पर पहुंचाने के लिए सबसे ज़्यादा एफर्ट किए

उस कॉलेज ड्रॉपआउट के 6 गीत और ढेरों किस्से, जिसने 40,000 गाने गाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया

वो 8 बॉलीवुड स्टार्स, जो हीरो-हीरोइन बाद में इंजीनियर पहले हैं

इस लिस्ट में एक्टर्स का नाम देखकर चौंकिएगा मत.

शेन वॉर्न की बॉल ऑफ़ द सेंचुरी के अलावा 5 गेंदें जो भुलाई नहीं जा सकतीं

आज ही के दिन सदी की महानतम गेंद फेंकी गई थी.

इबारत : मशहूर लेखक फ्रेंज काफ़्का ने अपना लिखा ज़्यादातर जला क्यों दिया?

उसके बाद भी दुनिया ने काफ्का को वो जगह दी जिसके वो हक़दार थे.

थॉमस हार्डी जिनकी पहली क़िताब किसी ने नहीं छापी लेकिन बाद में दुनिया ने सराहा

एक से बढ़कर एक उपन्यास लिखे हैं थॉमस हार्डी ने.

इबारत : हेलेन केलर, जो देख-सुन नहीं सकतीं थीं लेकिन दुनिया को रास्ता दिखाया !

और उनके सीखने सिखाने की लगन ने साहित्य को नायाब तोहफ़ा दिया.

वो फिल्म जिसमें काजोल का मर्डर कर, आशुतोष राणा ने फिल्मफेयर जीत लिया

काजोल के साथ ब्लॉकबस्टर फिल्में दे चुके शाहरुख ने इस फिल्म में काम करने से मना क्यों कर दिया?