Submit your post

Follow Us

लहू के कितने रंग? नीले वाले खून का दाम तो आपके होश उड़ा देगा!

साल 2018 में एक फिल्म आई थी ‘सत्यमेव जयते’. जॉन अब्राहम और मनोज बाजपेयी लीड रोल में थे. कहानी दो भाइयों की थी. एक ईमानदार पुलिसवाला. एक ‘सच्चा’ आम नागरिक, जो बुरे काम करने वाले पुलिसवालों को धायं-धायं मारता है. फिर आखिर में खुदई मर जाता है. ‘सच्चे’ नागरिक का किरदार निभाया था जॉन ने. पुलिसवाले बने थे मनोज. खैर, फिल्म को आए-गए ढाई-तीन साल बीतने के बाद अब इसका सिक्वल भी आ रहा है. ‘सत्यमेव जयते-2’ नाम है सिक्वल का. 12 मई, 2021 को बड़े पर्दे पर आएगी ये फिल्म. अभी क्या आया है? इसका पोस्टर. जॉन ही लीड रोल में हैं.

जॉन अब्राहम ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर पोस्टर शेयर करते हुए लिखा-

“जिस देश की मइया गंगा है, वहां खून भी तिरंगा है!”

पोस्टर पर भी यही बात लिखी है. साथ में जॉन अपनी कतई सिक्स पैक एब्स वाली बॉडी लेकर खड़े हैं. हाथ में भारी-सी कुदाल है. शरीर पर चोट के निशान हैं. उनमें से खून बह रहा है, तिरंगे के रंग का. यानी- केसरिया, सफेद और हरे रंग का. ज़ाहिर-सी बात है, फिल्म पूरी देशभक्ति टाइप ही होगी.

इसके पहले भी इस फिल्म के पोस्टर्स रिलीज़ हुए थे. अक्टूबर, 2019 में. जॉन और दिव्या खोसला कुमार ने ये पोस्टर सोशल मीडिया पर शेयर किए थे. जॉन वाले पोस्टर में वो खाकी वर्दी पहने दिख रहे थे. उन्होंने अपनी वर्दी अपने हाथों से खोल रखी थी, सीने पर तिरंगा झंडा बना था. वहीं दिव्या वाले पोस्टर में, उनके दुपट्टे से भारत का नक्शा बना हुआ था. तिरंगे झंडे के रंगों वाला. तब ये ऐलान किया गया था कि फिल्म 2 अक्टूबर, 2020 को रिलीज़ होगी, लेकिन लगता है कि कोरोना काल की वजह से टारगेट हासिल नहीं हो पाया. अब ये अगले साल ईद पर आने वाली है.

फिल्म में जॉन के साथ दिव्या खोसला कुमार भी हैं. डायरेक्टर मिलाप ज़ावेरी हैं. भूषण कुमार, कृष्णा कुमार, मोनिशा आडवाणी, मधु भोजवानी, निखिल आडवाणी मिलकर टी-सीरीज़ और एम्मे एंटरटेनमेंट मिलकर इसे प्रोड्यूस कर रहे हैं.

फिल्म पर तो बात हो गई, अब बात करते हैं उस चीज़ पर, जिस पर हमारी नज़र अटकी. जो नया पोस्टर आया है, उसमें हमारी नज़र अटकी रह गई तीन रंगों वाले खून पर. वैसे इंसानों के खून का रंग तो लाल ही सुना है, लेकिन फिल्म में कुछ भी हो सकता है. ‘लहू के दो रंग’ भी हो सकते हैं.

Film Poster
‘लहू के दो रंग’ फिल्म का पोस्टर. ये 1997 में आई थी.

हां, अलग-अलग जानवरों के शरीर में रंग-बिरंगे खून होने के बारे में ज़रूर सुना है. तो सोचा कि तिरंगे खून के बहाने आपको थोड़ा ज्ञान दे देते हैं.

इंसान और ज्यादातर जानवरों का खून लाल क्यों होता है?

देखिए, हमारा जो खून है, वो मोटा-मोटी प्लाज़्मा, रेड ब्लड सेल्स, वाइट ब्लड सेल्स और प्लेटलेट्स से बना होता है. और खून के लाल रंग के लिए बेसिकली रेड ब्लड सेल्स ज़िम्मेदार होते हैं. हर रेड ब्लड सेल में हीमोग्लोबिन होता है, ये आयरन रिच प्रोटीन है. जब हीमोग्लोबिन, ऑक्सीजन के साथ मिलता है, तो उनके बीच जो क्रिया होती है, वो ही हमारे खून को लाल रंग देती है.

जानवरों का रंग नीला-पीला क्यों?

‘Owlcation (आउलकेशन)’ वेबसाइट के मुताबिक, जानवरों के खून का रंग लाल, नीला, हरा, पीला, ऑरेंज, पर्पल या कलरलेस भी हो सकता है. कुछ जानवरों के शरीर में इंसानों की तरह हीमोग्लोबिन होता है. किसी के पास अलग-अलग रेस्पिरेटरी पिगमेंट्स होते हैं, तो वहीं कुछ के पास कोई रेस्पिरेटरी पिगमेंट्स नहीं होते. हालांकि, हर जानवर ऑक्सीजन ट्रांसपोर्ट करने का तरीका विकसित कर ही लेता है.

# मकड़ी, ऑक्टोपस, हॉर्स शू स्क्वेड और कटलफिश (Squid, Cuttlefish- ये एक तरह के समुद्री जीव होते हैं) समेत कुछ जीवों का खून नीला होता है.

क्यों? क्योंकि खून में हीमोग्लोबिन की जगह हीमोसायनिन नाम का प्रोटीन होता है, जो कॉपर रिच प्रोटीन है. जब हीमोसायनिन और ऑक्सीजन मिलते हैं, तो उनकी परस्पर क्रिया या इंटरेक्शन खून को नीला रंग देती है. हॉर्स शू का तो एक लीटर नीला खून 11 लाख रुपए में बिकता है.

Horseshoe Crab 2
हॉर्स शू के खून का रंग नीला होता है, इसके खून का व्यापार बहुत फैला हुआ है. (फोटो- गेटी)

# कुछ लिज़र्ड्स के खून का रंग हरा होता है

क्यों? ‘एनिमल्स हाउ स्टफ वर्क्स’ के एक आर्टिकल के मुताबिक, न्यू गिनी आइलैंड में कुछ ऐसे लिज़र्ड्स मिलते हैं, जिनके खून का रंग हरा होता है. इंसानों की तरह इनके शरीर में भी हीमोग्लोबिन रिच रेड ब्लड सेल्स होते हैं. लेकिन ये सेल्स ज्यादा समय तक ज़िंदा नहीं रह पाते. और जब ये सेल्स टूटते हैं, तो हरे पिगमेंट्स वाला वेस्ट प्रोडक्ट बनता है, बिलिवर्डिन नाम का. यही प्रोडक्ट इन लिज़र्ड्स में हरे रंग के खून का ज़िम्मेदार होता है.

# कुछ समुद्री जीवों के खून का रंग पीला भी होता है

क्यों? ‘Owlcation’ के मुताबिक, सी कुकुम्बर्स (Sea cucumbers) के खून का रंग पीला होता है. इसका कारण एक पिगमेंट है. सी कुकुम्बर्स समुद्र के पानी से वेनेडियम लेते हैं और शरीर में स्टोर करते हैं. ये वेनेडियम वेनेबिन्स नाम का प्रोटीन बनाता है. ये प्रोटीन जब ऑक्सीजन के कॉन्टैक्ट में आता है, तो पीले रंग का हो जाता है.

# खून का रंग ऑरेंज और बैंगनी क्यों?

‘Owlcation’ के मुताबिक, कुछ इन्सेक्ट्स, कुछ जीवों में ओपन सर्कुलेटरी सिस्टम होता है. इस सर्कुलेटरी सिस्टम में एक फ्लुइड (द्रव्य) होता है, जिसे हीमोलिम्फ (Hemolymph) कहते हैं. कुछ इन्सेक्ट्स, जैसे कॉकरोच में मौजूद हीमोलिम्फ में कोई रेस्पिरेटरी पिगमेंट्स नहीं होते. ये लिक्विड लगभग रंगहीन होता है. लेकिन शरीर के अंदर मौजूद एक ऑर्गन ऑरेंज प्रोटीन बनाता है, जिसे विटेलोजेनिन कहते हैं. ये प्रोटीन हीमोलिम्फ में स्रावित होता है, और ऑरेंज कलर देता है.

ऐसे ही कुछ समुद्री जीवों के अंदर हेमेरिथ्रीन नाम का रेस्पिरेटरी पिगमेंट होता है. ये पिगमेंट ऐसे तो रंगहीन होता है, लेकिन ऑक्सीजन के संपर्क में आने पर गुलाबी-बैंगनी रंग बनाता है.

Cuttlefish
कटलफिश के खून का रंग भी नीला होता है. ये काफी बुद्धिमान मानी जाती है. (फोटोः सैली गिब्सन)

# कुछ समुद्री जानवर का खून रंगहीन भी होता है

‘Owlcation’ के मुताबिक, आइसफिश जो ज्यादातर अंटार्कटिक में पाई जाती हैं, उनका खून रंगहीन होता है. क्योंकि खून में कोई रेड ब्लड सेल्स नहीं होती, न ही कोई रेस्पिरेटरी पिगमेंट होता है. ऑक्सीजन ब्लड प्लाज़मा के ज़रिए ट्रांसपोर्ट होती है.


वीडियो देखें: सोशल लिस्ट: अमूल के उर्मिला वाले कार्टून में ऐसा क्या है कि उसे आईटी सेल वाला कहा जा रहा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

लैजेंड एक्टर महमूद, जो खुद को अमिताभ बच्चन का दूसरा बाप कहते थे

राजेश खन्ना को सबके सामने थप्पड़ मारकर स्टारपना निकाल दिया था

मुंबई स्टेशन पर पॉकेट मारने वाले ये बच्चे आपका अटेंशन और दिल दोनों चुरा लेंगे

इमरान हाशमी की 'हरामी' का ट्रेलर रिलीज़ हुआ.

जेल भेजने और जुर्माना लगाने के अलावा रेप और यौन अपराधियों को क्या सजा देते हैं ये देश?

'ऑपरेशन दुराचारी' जनता के सामने ‘नेम और शेम’ करने के तरीके पर बहस चल रही है.

GI टैग वाली इन मिठाइयों में से आप ने कितने का स्वाद चखा है?

फेमस जगहों के लड्डू, पेड़े, रसगुल्ले को मिल चुका है GI टैग.

IPL में कमाई का रिकॉर्ड बनाने वाले खिलाड़ियों का प्रदर्शन कैसा रहा है

पैट कमिंस की बात चली है, तो दूर तलक जाएगी.

ये ध्रुव और सिमोन कौन हैं, जो ड्रग्स मामले में दीपिका-सारा के साथ NCB के रडार पर हैं

बॉलीवुड की वो 10 हस्तियां, जिन्हें NCB ने तलब किया.

वो नेताजी, जिन्होंने खाकी छोड़ पहनी थी खादी और खूब सियासी दांव आजमाए

खबर है कि गुप्तेश्वर पांडे भी चुनाव मैदान में उतरने वाले हैं.

खिलाड़ियों पर भारी है IPL 2020, चार दिन में ही खड़ी हो गई घायलों की फौज़

हर दिन कोई न कोई इस लिस्ट में जुड़ रहा है.

आग में कलम डुबाकर लिखने वाले रामधारी सिंह 'दिनकर' की ये 10 बातें सुन लीजिए

आज़ादी की लड़ाई में कलम को बिगुल बना दिया था इस कवि ने.

रीडर्स की चीख़ें निकाल देने वाले स्टीफन किंग की लिखी ये 6 फिल्में मस्ट वॉच हैं!

'शॉशैंक रिडेंप्शन' से लेकर क्यूब्रिक की 'द शाइनिंग' और सिनेमा इतिहास की सबसे कमाऊ भुतही फिल्म 'इट' भी इन्होंने ही लिखी है.