Submit your post

Follow Us

नेपोटिज़म पर कंगना रनौत और पूजा भट्ट की भिड़ंत 2006 के किस वीडियो तक जा पहुंची?

नेपोटिज़म पर पूजा भट्ट और कंगना रनौत के बीच ट्विटर पर बहस छिड़ी हुई है. एक ट्वीट करके कुछ बोल रहा है, तो दूसरा उसका जवाब दे रहा है. और फिर इस जवाब पर जवाब दिया जा रहा है. अब बात 2006 के फिल्म फेयर अवॉर्ड्स पर जाकर अटक गई है. पूजा भट्ट ने तब का एक वीडियो शेयर किया है, इसमें कंगना अवॉर्ड लेने के बाद महेश भट्ट और मुकेश भट्ट को थैंक्यू कहते दिख रही हैं. इसे शेयर करते वक्त पूजा ने तंज मारने वाले अंदाज में कहा कि लगता है कि वीडियो भी झूठ बोलते हैं.

क्या है पूरा मामला?

कंगना काफी पहले से ही बॉलीवुड में पसरे नेपोटिज़म (भाई-भतीजावाद) के खिलाफ बोलते आई हैं. सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद उन्होंने एक बार फिर इस मुद्दे पर बोला था. जवाब में पूजा भट्ट ने 8 जुलाई को चार-पांच ट्वीट किए थे. कहा था कि विशेष फिल्म्स ने कई सारे नए टैलेंट्स को लॉन्च किया है, कंगना को भी उन्होंने ही लॉन्च किया था. पूजा भट्ट ने लिखा था,

“जहां तक कंगना रनौत की बात है, तो उनके पास शानदार प्रतिभा है, अगर नहीं होती तो विशेष फिल्म्स उन्हें ‘गैंगस्टर’ के ज़रिए लॉन्च नहीं करता. हां वो अनुराग बसु की खोज थीं, लेकिन विशेष फिल्म्स ने उनके (अनुराग) नज़रिए को सपोर्ट किया और फिल्म में पैसा लगाया. कोई छोटी बात नहीं है. उन्हें (कंगना) उनके आगे के सभी कामों के लिए शुभकामनाएं.”

इसके जवाब में कंगना की टीम ने ट्वीट कर कहा था,

“डियर पूजा भट्ट, कंगना के टैलेंट की पहचान अनुराग बसु ने की थी. हर कोई जानता है कि मुकेश भट्ट कलाकारों को भुगतान करना पसंद नहीं करते. प्रतिभाशाली लोगों को मुफ्त में लेकर कई सारे स्टूडियोज़ खुद के ऊपर अहसान करते हैं. लेकिन ये सब आपके पिता को उनके (कंगना) ऊपर चप्पल फेंकने का, पागल कहने का या अपमानित करने का लाइसेंस नहीं देता. उन्होंने कंगना के दुखद अंत की भी घोषणा कर दी थी. साथ ही वो सुशांत और रिया चक्रवर्ती के रिलेशन में इतनी दिलचस्पी क्यों ले रहे थे? उन्होंने सुशांत के अंत की भी घोषणा क्यों की थी? कुछ सवाल आपको उनसे (महेश भट्ट) भी पूछने चाहिए.”

अब बारी आई 2006 वाले वीडियो की

कंगना की टीम की तरफ से आए इस जवाब पर पूजा ने एक और ट्वीट किया. उन्होंने एक 2006 के फिल्म फेयर अवॉर्ड्स का वीडियो शेयर किया. ये 52वां फिल्म फेयर अवॉर्ड्स था. इसमें कंगना को लगातार दो अवॉर्ड्स मिले थे. एक ‘फेस ऑफ द ईयर’ का, दूसरा ‘बेस्ट फीमेल डेब्यू’ अवॉर्ड. दोनों ही कंगना को उनकी फिल्म ‘गैंगस्टर’ के लिए मिले थे. पहला अवॉर्ड लेने जाते वक्त कंगना मुकेश भट्ट को गले लगाते दिखीं. दूसरा लेने जाते वक्त मुकेश भट्ट से हाथ मिलाते दिखीं. दूसरा अवॉर्ड लेने के बाद उन्होंने मुकेश भट्ट और महेश भट्ट को थैंक्यू भी कहा.

इसी वीडियो को शेयर करते वक्त पूजा भट्ट ने लिखा,

“लगता है वीडियो भी झूठ बोलते हैं? इसके अलावा, लड़ाई में दो की ज़रूरत होती है. मैं सारे खंडन और आरोपों को बुद्धिमान लोगों पर छोड़ती हूं. मैं इसके बजाय तथ्यों को सामने रखती हूं.”

इस पर कंगना की टीम की तरफ से भी जवाब दिया गया. कहा गया,

“पूजा जी, कंगना इस बात के लिए शुक्रगुज़ार हैं कि विशेष फिल्म्स ने उन्हें लॉन्च किया, लेकिन वो चाहती हैं कि आउटसाइडर्स के साथ अच्छे से पेश आया जाए. वो शुक्रगुज़ार हैं कि उनके एक्स ने उनसे ब्रेकअप कर लिया, लेकिन वो चाहती हैं कि इसे सम्मानजनक तरीके से किया जाना था. आदमियों द्वारा चलाई जा रही दुनिया में सफलता पाकर वो सौभाग्यशाली महसूस करती हैं, लेकिन चाहती हैं कि पितृसत्ता खत्म हो जाए.”

ये सारे ट्वीट्स दोनों के बीच किए गए. दरअसल, सुशांत की मौत के बाद नेपोटिज़म के मुद्दे पर जमकर बहस हो रही है. कई लोग ये कह रहे हैं कि नेपोटिज़म की वजह से सुशांत परेशान थे. बड़े नामी लोगों पर लगातार आरोप लग रहे हैं.


वीडियो देखें: नेपोटिज़म की बहस में पूजा भट्ट ने कंगना के लिए जो कहा वो बवाल करा सकता है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

'कागज़' ट्रेलर : खुद को ज़िंदा साबित करने की लड़ाई लड़ेंगे पंकज त्रिपाठी

'कागज़' ट्रेलर : खुद को ज़िंदा साबित करने की लड़ाई लड़ेंगे पंकज त्रिपाठी

ये फिल्म सच्ची घटना पर आधारित है.

वो गाना, जिसे गाते हुए रफी साहब के गले से खून आ गया

वो गाना, जिसे गाते हुए रफी साहब के गले से खून आ गया

मोहम्मद रफी के कुछ रोचक मगर कम चर्चित किस्से.

MIT ने कहा- बच्चो ऐप बनाओ, इंडियन चिल्लर पार्टी ने गदर काट दिया

MIT ने कहा- बच्चो ऐप बनाओ, इंडियन चिल्लर पार्टी ने गदर काट दिया

2020 में लगभग हर महीने 'ऐप ऑफ द मंथ' अवॉर्ड भारतीय बच्चों के नाम रहा.

2020 के 13 रीजनल एक्टर्स, जिन्हें देख बॉलीवुड सुपरस्टार्स भूल जाओगे

2020 के 13 रीजनल एक्टर्स, जिन्हें देख बॉलीवुड सुपरस्टार्स भूल जाओगे

अलग-अलग इंडस्ट्रीज़ से 13 तगड़े नाम.

2020 में हुए बॉलीवुड के 17 बड़े विवाद, जहां जनता सांस रोके नज़ारा देखती रही

2020 में हुए बॉलीवुड के 17 बड़े विवाद, जहां जनता सांस रोके नज़ारा देखती रही

सुशांत केस, सोनू का बयान, कंगना की लडाइयां.

2020 की वो 7 शानदार फिल्में, जो मनोरंजन के साथ तगड़ी सीख भी देती हैं

2020 की वो 7 शानदार फिल्में, जो मनोरंजन के साथ तगड़ी सीख भी देती हैं

लिस्ट देखकर चेक करना, कोई मिस तो नहीं हुई आपसे?

ममता बनर्जी की पार्टी में 'गयाराम' बढ़ते जा रहे हैं; कौन-कौन हैं ये, जान लीजिए

ममता बनर्जी की पार्टी में 'गयाराम' बढ़ते जा रहे हैं; कौन-कौन हैं ये, जान लीजिए

बंगाल चुनाव से पहले बीजेपी की सेंधमारी?

'टाइगर ज़िंदा है' जैसी फ़िल्में देने वाले डायरेक्टर के पहले वेब शो 'तांडव' का टीज़र जबराट है

'टाइगर ज़िंदा है' जैसी फ़िल्में देने वाले डायरेक्टर के पहले वेब शो 'तांडव' का टीज़र जबराट है

सैफ अली ख़ान का जलवा एक मिनट में ही दिख गया.

पिछले 60 सालों से चलता जा रहा ये टीवी सीरियल खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा!

पिछले 60 सालों से चलता जा रहा ये टीवी सीरियल खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा!

पहले ही एपिसोड में 'बर्बाद' करार दिए जाने के बाद ये टीवी शो इतने सालों तक कैसे चलता रहा?

'मैंने जो किया, खुलेआम किया' कहने वाली एक्ट्रेस शकीला की बायोपिक का ट्रेलर बोल्ड है, वल्गर नहीं

'मैंने जो किया, खुलेआम किया' कहने वाली एक्ट्रेस शकीला की बायोपिक का ट्रेलर बोल्ड है, वल्गर नहीं

लॉकडाउन के बाद सबसे बड़ी रिलीज़ मिल रही है.