Submit your post

Follow Us

चुनाव के बाद और होली से पहले अखिलेश यादव के लिए 11 शेर

2.25 K
शेयर्स

चुनाव निपट चुके हैं और होली आ चुकी है. इस चुनाव में जीत के राग ने जहां मोदी जी के चाहने वालों के फाग का नशा दुगुना कर दिया. वहीं यूपी के लड़कों का बोलना किसी काम का नहीं रहा. सियासत का साहित्य से भी बड़ा पुराना रिश्ता रहा है. होली की मस्ती और चुनाव परिणामों के सुरूर में पढ़िए 11 शेर जो इस समय, हालात और जज़्बात पर फिट बैठते हैं. 11 इसलिए क्योंकि होली है, शगुन तो बनता है न भाई.

1. अब नेताजी तो कह रहे थे कि लड़का बहक गया है. पर लड़के ने कहा नेताजी बस तीन महीने के लिए पार्टी दे दो. अब ये शेर टीपू को कौन सुनाना चाह रहा होगा, समझ लेओ.

01

2. ये तो तय है कि पिताजी के साथ-साथ चाचा जी भी कुछ न कुछ कहना चाहते होंगे. अतः बैक टु बैक एक और.

02

3. हरिवंश राय बच्चन की कविता की लाइन है, जो बीत गई सो बात गई. मगर हम उर्मिलेश का शेर पढ़वा रहे हैं. बच्चन जी को इस मामले में नहीं बुलाएंगे. अखिलेश बाबू को हौसला मिलता रहे. 

03

4. उदय प्रताप सिंह मुलायम सिंह के गुरु हैं और कुछ महीनों से अखिलेश के साथ ज़्यादा दिखते हैं. उन्होंने लिखा तो कभी और होगा मगर फिलहाल मौजू है.

04

5. नेताओं की इतनी बात हो और मीडिया का ज़िक्र न आए.

05

6. टीपू भैया ने मायावती को साथ में आने का ऑफर किया है. बुआ जी ने भी कोई स्पष्ट इंकार नहीं किया है, तो…

06

7. किसी भी नेता के जीवन का सबसे बड़ा सुख यही है शायद जो अदम गोंडवी बता गए हैं.

07

8. ये बात यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री जनता से कहना चाहेंगे या अपने गंगा-जमुना पार्टनर से आप तय करें.

09

9. कई लोग कह रहे थे कि अखिलेश ने काम तो किया है मगर… तो ये शेर उन्हीं लोगों की तरफ से.

10

10. सब बातों की एक बात. कुछ तो आपकी भी खता रही होंगी. साढ़े पांच मुख्यमंत्री और मुज़फ्फरनगर जैसी बहुत सी बातें बाकी रही हैं. 

11

11. इस वाले पर कोई भूमिका नहीं, बस ध्यान से पढ़िए.

07


ये भी पढ़ें :

वो 5 कारण जो केजरीवाल को पंजाब में ले डूबे और कैप्टन को तैरा दिया

सब मोदी को क्रेडिट दे रहे हैं, पर मोदी ने किसको क्रेडिट दिया

जीतने के बाद भी अमित शाह का ये दावा गले नहीं उतर रहा

यूपी में काम का गला ख़राब था, बोल नहीं पाया

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

सेक्रेड गेम्स 2: रिव्यू

त्रिवेदी के बाद अब 'साल का सवाल', क्या अगला सीज़न भी आएगा?

फिल्म रिव्यू: बाटला हाउस

असल घटना से प्रेरित होते हुए भी असलियत के बहुत करीब नहीं है. लेकिन बहुत फर्जी होने की शिकायत भी इस फिल्म से नहीं की जा सकती.

फिल्म रिव्यू: मिशन मंगल

फील गुड कराने वाली फिल्म.

दीपक डोबरियाल की एक शब्दशः स्पीचलेस कर देने वाली फिल्म: 'बाबा'

दीपक ने इस फिल्म में अपनी एक्टिंग का एवरेस्ट छू लिया है.

फिल्म रिव्यू: जबरिया जोड़ी

ये फिल्म कंफ्यूज़ावस्था में रहती है कि इसे सोशल मैसेज देना है कि लव स्टोरी दिखानी है.

क्या जापान का ये आर्क ऐटम बम और सुनामी झेलने के बाद भी जस का तस खड़ा है?

क्या ये आर्क परमाणु बम, भूकंप और विशाल समुद्री लहरें झेल गया है?

फिल्म रिव्यू: ख़ानदानी शफ़ाखाना

'खानदानी शफाखाना' की सबसे दिलचस्प बात उसका नाम और कॉन्सेप्ट ही है.

ऐसी बवाल गैंग्स्टर फिल्म आ रही है कि आप दोस्तों से Netflix का पासवर्ड मांगते फिरेंगे

जिसने बनाया है, अनुराग कश्यप ने उसके पैर पकड़ लिए थे

जानिए कैसे खरीदते हैं यूट्यूब पर वीडियो के व्यूज़

इतने बड़े अचीवमेंट के बावजूद बादशाह को गूगल-यूट्यूब ने वो नहीं दिया, जो दुनियाभर के मशहूर सेलेब्रिटीज़ को दिया.

मंदाकिनी के झरने में नहाने वाले सीन को आलोचकों ने अश्लील नग्नता कहा तो राज कपूर ने ये जवाब दिया

वो तीन बातें जो मंदाकिनी के बारे में सब जानना चाहते हैं.