Submit your post

Follow Us

वीडियो: आतिफ असलम ने लड़की को यौन उत्पीड़न से बचाने के लिए क्या किया?

बेंगलुरु में मास मोलेस्टेशन हुआ. हजारों की भीड़ में सैकड़ों लड़कियों को हैरेस किया गया. किसी की कमर, किसी के ब्रेस्ट, किसी का मुंह पकड़ा गया. कपड़ों में हाथ डाला गया. जबरन उन्हें बांहों में जकड़ा गया. देखने वालों ने बताया, लड़कियां चीखीं, चिल्लाईं, रोयीं. जिन्होंने जवाबी वार किए, उन्हें दबा दिया गया. सब चुप किसी ने उन लड़कियों के फेवर में बोलने का साहस नहीं जुटाया. लड़कियों के साथ गलत हरकतें होती रहीं.


पाकिस्तान के कराची में भी लड़की को हैरेस किया जा रहा था. वो भी आतिफ असलम के कॉन्सर्ट में. स्टेज पर सिंगर आतिफ असलम. हाथ में माइक. आतिफ की आवाज़ पर सब झूम रहे थे. लोग शोर मचा रहे थे. जिस तरह जश्न के माहौल में बेंगलुरु में हुआ. वैसा ही इस कॉन्सर्ट में कुछ लड़के एक लड़की को दबोच रहे थे. लड़की खुद को बचाने की कोशिश में थी. आतिफ असलम की निगाह उस पर पड़ी. आतिफ ने बैंड वालों को म्यूजिक रोकने का इशारा किया और उन लोगों के पास पहुंचे. और जमकर लताड़ लगाई. इतना बेइज्ज़त किया कि अगर थोड़ी शर्म बाकी हो तो दोबारा ऐसी हरकत करते वक्त अपनी मां और बहन के बारे में सोचने लगें.

शनिवार रात को ‘कराची ईट 2017’ में आतिफ परफॉर्म कर रहे थे. ये इवेंट हर साल कराची में होता है. रात करीब एक बजे आतिफ परफॉर्मेंस के लिए स्टेज पर पहुंचे थे. आतिफ ने गाना गाते हुए देखा कि पहली ही लाइन में खड़े कुछ लड़के एक लड़की को परेशान कर रहे हैं. वो लड़की को दबोच रहे लोगों के पास आए और बोले, ‘क्या तुमने इससे पहले लड़की नहीं देखी है? इस जगह तुम्हारी मां या बहन भी हो सकती है.’

लड़की को परेशान कर रहे लड़कों ने वार्निंग दी तो आतिफ असलम ने लड़की को स्टेज पर बुला लिया. और आयोजकों से लड़की को किसी और जगह पर ले जाने को कहा. आतिफ असलम ने शो दोबारा शुरू करने से पहले लोगों को नसीहत की, ‘इंसान की औलाद बनो.’

कॉन्सर्ट में गए लोग अपने मोबाइल से वीडियो बना रहे थे. इस वीडियो को किसी ने यूट्यूब पर अपलोड किया है, जो वायरल हो रहा है. वीडियो में आतिफ गुस्से में दिखाई दे रहे हैं. जब आतिफ ने उन लड़कों को सबक सिखाया तो सब आतिफ आतिफ चिल्लाकर उन्हें चियर्स करने लगे. और तालियां बजाईं.

महज़ ये कुछ लड़कों की बात थी. मगर ये सोच बहुत ही पनप रही है कि अगर लड़की कहीं पार्टी में है या फिर कम कपड़े पहने है तो वो सेक्स सब्जेक्ट है. इस सोच पर आतिफ असलम की ये नसीहत ऐसे लोगों को सबक सिखाने के लिए बहुत ज़रूरी है. जो बाहर आई लड़की से गन्दी हरकतें करते वक्त भूल जाते हैं कि उनकी भी अपनी मां-बहन हैं.

कौन हैं आतिफ

आतिफ असलम पाकिस्तान के वजीराबाद में एक पंजाबी फैमिली में पैदा हुए. और जल बैंड से जुड़कर गाने की शुरुआत की. आतिफ असलम ‘तेरे बिन यूं मैं कैसे जिया…’ और ‘रेस’ में ‘पहली नजर में…’ अजब प्रेम की गजब कहानी में ‘तू जाने न’ जैसे गाने गा चुके हैं. 33 साल का ये सिंगर फ़िल्मी, रॉक, पॉप और सूफी गायकी में खूब वाहवाही बटोर चुका है. नाम सर्च करोगे तो बहुत से फ़िल्मी गाने मिल जाएंगे. उनकी आवाज़ में ‘ताजदारे हरम, निगाहें करम…’ भी खूब पॉपुलर हो चुका है.  2011 में आई एक पाकिस्तानी फिल्म “बोल” में एक्टिंग भी की है.

ये रहा वीडियो देख लो

आतिफ असलम के लड़की को बचाने के बाद ट्वीटर पर खूब तारीफ़ भी हुई.

हिना बट ने लिखा कि आतिफ असलम का लड़की को बचाना बहुत ही सम्मानजनक काम है. हमें सबक लेना चाहिए कि पब्लिक स्पेस में एक औरत किसी की मां, बहन, बीवी या बेटी हो सकती है.

सुमैया नाज़ ने लिखा, ‘ये बात जेंडर की नहीं है. ये मानसिकता की है. आतिफ असलम सम्मान के हक़दार हैं’


 

आतिफ असलम की गर्लफ्रेंड कैंसर से मर गई थी, वो भी मरने वाला है!

बेंगलुरु मास मोलेस्टेशन के बाद नेताओं के बयान से भी घटिया ये काम हुआ

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो देश, जहां मिलिट्री सर्विस अनिवार्य है

क्या भारत में ऐसा होने जा रहा है?

'हासिल' के ये 10 डायलॉग आपको इरफ़ान का वो ज़माना याद दिला देंगे

17 साल पहले रिलीज़ हुई इस फ़िल्म ने ज़लज़ला ला दिया था

4 फील गुड फ़िल्में जो ऑनलाइन देखने के बाद दूसरों को भी दिखाते फिरेंगे

'मेरी मूवी लिस्ट' में आज की रेकमेंडेशंस हमारी साथी स्वाति ने दी हैं.

आर. के. नारायण, जिनका लिखा 'मालगुडी डेज़' हम सबका नॉस्टैल्जिया बन गया

स्वामी और उसके दोस्तों को देखते ही बचपन याद आता है

वो 22 एक्टर्स जिनको यशराज फिल्म्स ने बॉलीवुड में लॉन्च किया

यश और आदि चोपड़ा के इस प्रोडक्शन हाउस ने इस साल 50 बरस पूरे कर लिए हैं.

इन 8 बॉलीवुड सेलेब्स के मदर्स डे वाले वीडियोज़ और फोटो आप मिस नहीं करना चाहेंगे

बच्चन ने मां को गाकर याद किया है, वहीं अनन्या पांडे ने बचपन के दो बेहद क्यूट वीडियोज़ पोस्ट किए हैं.

मंटो, जिन्हें लिखने के फ़ितूर ने पहले अदालत फिर पागलखाने पहुंचाया, उनकी ये 15 बातें याद रहेंगी

धर्म से लेकर इंसानियत तक, सबपर सब कुछ कहा है मंटो ने.

सआदत हसन मंटो को समझना है तो ये छोटा सा क्रैश कोर्स कर लो

जानिए मंटो को कैसे जाना जाए.

महाराणा प्रताप के 7 किस्से: जब वफादार मुसलमान ने बचाई उनकी जान

9 मई, 1540 को पैदा होने वाले महाराणा प्रताप की मौत 29 जनवरी, 1597 को हुई.

दुनिया के 10 सबसे कमज़ोर पासवर्ड कौन से हैं?

रिस्की पासवर्ड का पता कैसे चलता है?