Submit your post

Follow Us

ठंड और पथरी का दर्द भी नहीं रोक पाया इस लड़की को जीतने से

1.59 K
शेयर्स

22 दिसम्बर को ईसपुर गांव की बक्शो देवी डिस्ट्रिक्ट लेवल के स्कूल एथलेटिक्स टूर्नामेंट में दौड़ रही थी. 5 हजार मीटर की दौड़. हिमाचल की सर्दी. पैर में जूते नहीं. खिलाड़ियों वाले कपड़े भी नहीं. फिर भी दौड़ी. नंगे पैर दौड़ी थीं. दौड़ते-दौड़ते पेट में दर्द उठा. दर्द क्योंकि पित्ताशय में पथरी है. तब भी दौड़ती रही और जिले भर के दौड़ने वालों को हरा अव्वल आई.

ये बक्शो देवी है. हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के ईसपुर गांव में रहती है. नौवीं कक्षा में पढ़ती है. नौ साल पहले उसके पापा चल बसे . मम्मी हैं,थोड़ी-बहुत खेती के काम करती हैं. कुछ मवेशी हैं उनका दूध बेच लेते हैं. महीने के 1300 रूपए की आमदनी है. फिर भी बच्चों को पढ़ा रही हैं.

बक्शो की कहानी और फोटो फेसबुक तक पहुंची. लोगों ने पढ़ी,किसी ने 11 हजार कि मदद कि तो किसी ने विदेश से 33 हजार भेजे. सोलन के एक डॉक्टर ने सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर बक्शो को कहानी देखकर उसकी पथरी के इलाज का खर्च उठाने की पेशकश की है.

इस सबके बीच सबसे खास जो रहीं. वो बक्शो और उसकी मां की बातें.  बक्शो से जिनने पूछा उन्हें बताया – पी.टी. ऊषा बनना चाहती हूं.
वही मेरी प्रेरणा हैं. बक्शो की मां जीत से खुश हैं, कहती हैं.  लड़कियां, लड़कों से किसी भी मामले में कम नहीं होतीं.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

अर्जन सिंह डेथ एनिवर्सरी: पहले एयरफोर्स मार्शल के 4 किस्से, जो शरीर में खून की गर्मी बढ़ा देंगे

लाख चाहने के बावजूद अंग्रेज इनके खिलाफ कोर्ट मार्शल में कोई एक्शन नहीं ले पाए थे.

आयुष्मान खुराना की 22 अंतरंग बातेंः मां के सामने एक लड़की ने उनके स्पर्म मांग लिए थे!

बड्डे बॉय को इतना पर्सनली कहीं और जान पाएं तो बताएं.

Dabangg 3 से सलमान खान का दनदनाता हुआ पहला ऑफिशियल वीडियो आ गया है

'स्वागत नहीं करोगे हमारा' से 'स्वागत तो करो हमारा' तक का सफर देखकर आप भी कहेंगे- भाई भाई भाई भाई!

इन 5 किरदारों से पता चलता है कि अतुल कुलकर्णी की एक्टिंग रेंज कितनी ज़बरदस्त है

वो एक्टर जिसने मुसलमानों को पाकिस्तान चले जाने को कहा और बाद में खुद रामप्रसाद बिस्मिल बन गया.

अक्षय कुमार बनेंगे वो राजपूत राजा जिसे दुश्मन कैद करके ले गया आंखें फोड़ दी, फिर भी मारा गया

कल्पना नहीं कर सकते 'पृथ्वीराज' थियेटरों में उतरेगी तो क्या होगा!

इंडिया के वो क्रिकेटर्स जिन्होंने फिल्मों में सिर्फ गेस्ट रोल नहीं बाकायदा एक्टिंग की

जब तक हम 10 क्रिकेटर्स का नाम बताते, लिस्ट में एक और नया नाम जुड़ गया.

वो पांच वजहें जिनके लिए 'छिछोरे' देखी ही जानी चाहिए

देख लो भाई, पहली फ़ुर्सत में देख लो.

फ़िल्म 'आधार' का टीज़रः मुक्काबाज़ वाले हीरो की ये फिल्म हर कोई देखने वाला है

गांव का पहला आदमी, जो आधार कार्ड बनवाने के लिए आगे आया और उसकी ऐसी-तैसी हो गई.

सनी देओल के बेटे की पहली फ़िल्म के ट्रेलर में सिर्फ एक चीज़ देखने लायक है

'पल पल दिल के पास' से डेब्यू करने जा रहे हैं करण देओल.

हमारी हर फिल्म और वेब सीरीज़ में पाकिस्तान अपनी जगह कैसे बना लेता है?

The Family Man Trailer: मनोज बाजपेयी और शाहरुख-इमरान हाशमी की वेब सीरीज़ में ये दो चीज़ें डिट्टो हैं.