Submit your post

Follow Us

फिल्म रिव्यू- नो टाइम टु डाय

लंबे इंतज़ार के बाद सिनेमाघरों में जेम्स बॉन्ड सीरीज़ की नई फिल्म ‘नो टाइम टु डाय’ रिलीज़ हुई है. ये फिल्म इसलिए खास है क्योंकि 2006 में ‘कसिनो रॉयाल’ से जेम्स बॉन्ड बनने वाले डेनियल क्रेग इस फिल्म में आखिरी बार ब्रिटिश स्पाई के तौर पर नज़र आएंगे. हालांकि 2015 में टाइम आउट मैग्ज़ीन को दिए इंटरव्यू में डेनियल क्रेग ने कहा था कि अगली बार जेम्स बॉन्ड प्ले करने से बेहतर होगा कि वो अपनी कलाई काट लें. बहरहाल, इस सीरीज़ को करीब से फॉलो करने वालों के लिए डेनियल क्रेग को आखिरी बार जेम्स बॉन्ड प्ले करते देखना इमोशनल मोमेंट रहने वाला है. क्योंकि किसी एक्टर को एक किरदार में देखते-देखते आपका उनके साथ एक अनकहा बॉन्ड बन जाता है.

फिल्म के शुरुआती सीन्स में अपने गर्लफ्रेंड मैडलिन को सोते हुए देखता जेम्स बॉन्ड का किरदार.
फिल्म के शुरुआती सीन्स में अपने गर्लफ्रेंड मैडलिन को सोते हुए देखता जेम्स बॉन्ड का किरदार.

जेम्स बॉन्ड की पर्सनल स्टोरी ‘स्पेक्टर’ में अपने मुकाम तक पहुंच चुकी थी. ‘नो टाइम टु डाय’ में जासूसी की दुनिया से दूर जेम्स अपनी गर्लफ्रेंड मैडलिन के साथ किसी आइलैंड पर रोमैंटिक गे-अवे एंजॉय कर रहा है. मगर एक धमाका होता है और जेम्स की ज़िंदगी वापस उसी दोराहे पर आकर खड़ी हो जाती है. जेम्स की मुलाकात अपने लॉन्ग टाइम फ्रेंड फीलिक्स लाइटर से होती है. लाइटर उसे बताता है कि एक साइंटिस्ट लापता है, जिसके पास एक वेपन ऑफ मास डेस्ट्रक्शन है. अगर वो सही समय पर पकड़ा नहीं गया, तो उससे बड़ी संख्या में लोगों के मारे जाने का खतरा है. इस बायो-वॉरफेयर का नाम है ‘हेरेकल्स’. ऐसे में जेम्स बॉन्ड रिटायरमेंट से वापसी करता है और उस साइंटिस्ट को ढूंढने में लग जाता है. मगर इस सबके पीछे एक ऐसा व्यक्ति है, जिसकी जेम्स बॉन्ड से कुछ पर्सनल दिक्कत है. जेम्स को इस व्यक्ति को मारकर पूरी दुनिया को बचाना है.

रिटायरमेंट के बाद जासूसी की दुनिया में वापस जाने को मजबूर अपने प्रेम से अलग होता जेम्स बॉन्ड.
रिटायरमेंट के बाद जासूसी की दुनिया में वापस जाने को मजबूर अपने प्रेम से अलग होता जेम्स बॉन्ड.

इस कहानी को देखते वक्त आप कई बार खोया हुआ या कंफ्यूज़्ड फील करेंगे, क्योंकि सबकुछ बहुत क्लीयर नहीं है. तिस पर पिछली फिल्मों का रेफरेंस काम आसान करने की बजाय उसे और जटिल बनाने का काम करता है. मगर आखिर में ये फिल्म जेम्स बॉन्ड बने डेनियल क्रेग को वो विदाई देती है, जिसके वो हक़दार हैं. ये चीज़ फिल्म की तमाम खलने वाली चीज़ों से ज़्यादा वजनदार है. इसलिए ‘नो टाइम टु डाय’ के खत्म होने पर बाद आपको शिकायत से ज़्यादा अफसोस होता है. जैसे ‘एवेंजर्स: एंडगेम’ के खत्म होने पर हुआ था. एंड ऑफ एन एरा टाइप फील. ‘नो टाइम टु डाय’ डेनियल क्रेग को एक शानदार और यादगार विदाई देने के मक़सद से बनाई गई फिल्म लगती है. और वो काम ये फिल्म सफलतापूर्वक कर ले जाती है.

अपने दोस्त फीलिक्स के मिलने के बाद मिशन पर निकलने की तैयारी में बॉन्ड.
अपने दोस्त फीलिक्स के मिलने से बाद मिशन पर निकलने की तैयारी में बॉन्ड.

‘नो टाइम टु डाय’ में ऐसी कोई चीज़ नहीं है, जो बिल्कुल नई है. मगर ये बॉन्ड सीरीज़ की पिछली फिल्मों से कई मायनों में अलग है. जेम्स बॉन्ड सीरीज़ की खासियत रही है फास्ट कार्स, फैंसी गैजेट, दुनियाभर के एग्जॉटिक लोकेशंस, जेम्स बॉन्ड का स्वैगर, धांसू एक्शन सीक्वेंस और बॉन्ड… जेम्स बॉन्ड वाला पॉपुलर डायलॉग. ये सबकुछ इस फिल्म में भी है मगर उसे बड़े मानवीय तरीके से हैंडल किया गया है. फिल्म देखकर आपको ये नहीं लगता कि ये फिल्म पूरी तरह से जेम्स बॉन्ड के बारे में है. आपको ये महसूस करवाया जाता है कि ‘नो टाइम टु डाय’ एक मिशन के बारे में है, जिसे जेम्स बॉन्ड नाम का स्पाई अंजाम देने वाला है. ये जेम्स बॉन्ड एक्शन शुरू करने से पहले, स्वैगर- चेक वाले फील में नहीं रहता. उसे चोट लगती है, वो कराहता है. अपनी जान बचाने के लिए भागता है. बावजूद इसके वो निडर इंसान मालूम पड़ता है. जो अपनी भावनाओं को छपाने की बजाय खुलकर उसके बारे में बात करता है. ‘नो टाइम टु डाय’ देखकर लगता है मानो जेम्स बॉन्ड का एवॉल्यूशन हुआ हो. मानो एक रुथलेस, शौविनिस्ट और हमेशा कूल दिखने वाला रोबोट अब इंसान बन गया है. पतलून और दिमाग से सोचने वाले आदमी ने दिल नाम की चीज़ ईजाद कर ली है.

एस्टन मार्टिन से फायरिंग करता जेम्स बॉन्ड का किरदार.
एस्टन मार्टिन से फायरिंग करता जेम्स बॉन्ड का किरदार.

इस चीज़ का क्रेडिट फिल्म के डायरेक्टर कैरी फुकुनागा को जाता है. कैरी की ये पहली प्रॉपर मेनस्ट्रीम फिल्म है. कैरी HBO सीरीज़ ‘True Detective’ जैसी चर्चित सीरीज़ और ‘Beasts Of No Nation’ जैसी फिल्म के लिए जाने जाते हैं. उनकी वो सेंसिब्लिटीज़ इस फिल्म में दिखाई देती हैं. जेम्स बॉन्ड सीरीज़ की फिल्मों में महिलाओं के पिक्चराइजेशन को लेकर हमेशा से लोगों को शिकायत रही है. ‘नो टाइम टु डाय’ वो शिकायत दूर करने की कोशिश करती है. गलती सुधारना हमेशा दूसरा कदम होता है. क्योंकि सुधारने से पहले आपको वो गलती स्वीकार करनी पड़ती है.

फिल्म 'नो टाइम टु डाय' के सेट पर डायरेक्टर कैरी फुकुनागा के साथ डेनियल क्रेग.
फिल्म ‘नो टाइम टु डाय’ के सेट पर डायरेक्टर कैरी फुकुनागा के साथ डेनियल क्रेग.

‘नो टाइम टु डाय’ में अना दे आरमस ने पलोमा नाम की जासूस का रोल किया है. जिसकी कायदे से ट्रेनिंग नहीं हुई है. वो फिल्म के एक सीक्वेंस में नज़र आती हैं. मगर वो मज़ेदार कैरेक्टर है, जिसे आगे भी याद किया जाएगा. लिया सिडू ‘स्पेक्टर’ में निभाए मैडलिन स्वान वाले कैरेक्टर को आगे लेकर जाती हैं. उनकी बैकस्टोरी इस फिल्म को एक डरावनी ओपनिंग और क्लाइमैक्स के लिए ठीक-ठाक मसाला देती है. रामी मलेक ने फिल्म के विलन सैफिन का रोल किया है. मगर यकीन मानिए ये बॉन्ड सीरीज़ का सबसे कमज़ोर विलन है. प्लस इस किरदार को देखकर ऐसा लगता है मानो रामी ने अपनी ओर से इस किरदार में कुछ भी डालने की कोशिश नहीं है. हो सकता है ये उनकी ओर से बड़ी सोच-समझकर की गई चीज़ हो. मगर एक दर्शक होने के नाते, ये मैं बड़े कॉन्फिडेंस के साथ कह सकता हूं कि इस कैरेक्टर में कभी इतना पोटास नज़र नहीं आया कि ये जेम्स बॉन्ड से भिड़ सके. जीतने की तो बात ही छोड़िए. ‘दी ग्रैंड बुडापेस्ट होटल’ फेम राल्फ फीएनेस ने MI6 के हेड M का रोल किया है. मगर उनके पास करने को ज़्यादा कुछ रहता नहीं है. लशाना लिंच ने नोमी नाम की स्पाई का रोल किया है, जिसे जेम्स बॉन्ड के उत्तराधिकारी के तौर पर 007 बना दिया गया था. नोमी ने बड़े कूल और स्टाइलिश तरीके से अपना ये रोल प्ले किया है. मानों वो जेम्स बॉन्ड की अगली फिल्म में लीड रोल के लिए ऑडिशन दे रही हों.

फिल्म के क्यूबा बार सीक्वेंस में एक्शन मोड में अना दे आरमस.
फिल्म के क्यूबा बार सीक्वेंस में एक्शन मोड में अना दे आरमस.

‘नो टाइम टु डाय’ का एक्शन बड़े करीने से डिज़ाइन किया गया है. मगर वो ऐसा नहीं लगता कि हमने ऐसा कुछ पहले नहीं देखा है. विज़ुअली ये फिल्म बहुत सुंदर है. पहले फ्रेस से लेकर आखिर तक ये चीज़ आपको दिखती है. और फिल्म के खत्म होने के बाद कुछ एक सीन्स तो सिर्फ इसिलए याद रह जाते हैं क्योंकि वो बहुत सुंदर थे. इस फिल्म का म्यूज़िक हैंस ज़िमर ने किया है. बैकग्राउंड स्कोर इस फिल्म की मजबूत कड़ियों में से एक है. और शायद वो इकलौती चीज़, जो जेम्स बॉन्ड के कैरेक्ट के साथ मैच करती है. उसे समझती है. और फिर वो भाव हम तक पहुंचाने की कोशिश करती है.

बॉन्ड की उत्तराधिकारी नोमी के रोल में लशाना लिंच.
बॉन्ड की उत्तराधिकारी नोमी के रोल में लशाना लिंच.

चाहे हम तमाम बातें कर लें मगर इस फिल्म की एंडिंग से जबरदस्त और दुखदाई कोई और चीज़ नहीं है. दुनिया को हेरैकल्स से बचाने के बाद डूबते सूरज के सामने सिर उठाए डेनियल क्रेग अपने इस किरदार से विदाई लेते हैं. अगर आपने डेनियल क्रेग को ये कैरेक्टर प्ले करते पहले भी देखा है, तो आप इस लम्हे को कभी भूल नहीं पाएंगे. सिर्फ इस मोमेंट के एंजॉय करने के लिए ये फिल्म एक से ज़्यादा बार देखी जा सकती है.

फिल्म के क्लाइमैक्स में डेनियल क्रेग फॉर द लास्ट टाइम ऐज़ बॉन्ड...जेम्स बॉन्ड.
फिल्म के क्लाइमैक्स में डेनियल क्रेग फॉर द लास्ट टाइम ऐज़ बॉन्ड…जेम्स बॉन्ड.

वीडियो देखें: फिल्म रिव्यू- सनी

;

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

कपिल के शो पर सिद्धू लौटे तो अर्चना क्या करेंगी?

कपिल के शो पर सिद्धू लौटे तो अर्चना क्या करेंगी?

सिद्धू के शौ पर लौटने को लेकर खूब मीम्स भी बने हैं.

जेनेलिया को 'चीप-बेशर्म दादी' कहा, जवाब सुन ट्रोल्स का मुंह उतर जाएगा

जेनेलिया को 'चीप-बेशर्म दादी' कहा, जवाब सुन ट्रोल्स का मुंह उतर जाएगा

रितेश और जेनेलिया, अरबाज़ के शो 'पिंच 2' में आए थे.

सोनू सूद ने बताया, IT रेड के वक्त किसी भी एक्टर ने उनका साथ क्यों नहीं दिया?

सोनू सूद ने बताया, IT रेड के वक्त किसी भी एक्टर ने उनका साथ क्यों नहीं दिया?

सोनू सूद पर टैक्स चोरी का आरोप भी लगा.

इतनी बड़ी-बड़ी फ़िल्में आपस में भिड़ने वाली हैं कि आप समझ नहीं पाएंगे क्या देखें, क्या छोड़ें

इतनी बड़ी-बड़ी फ़िल्में आपस में भिड़ने वाली हैं कि आप समझ नहीं पाएंगे क्या देखें, क्या छोड़ें

अगले साल भर में कम से कम आठ मौके ऐसे आएंगे जब बड़ी तगड़ी फ़िल्में आमने-सामने होंगी.

IPS अफसर ने अक्षय की 'सूर्यवंशी' वाली फोटो में क्या गलती निकाल दी?

IPS अफसर ने अक्षय की 'सूर्यवंशी' वाली फोटो में क्या गलती निकाल दी?

अक्षय कुमार ने इस पर सफाई भी दी है.

सलमान खान के अलावा बिग बॉस 15 में नज़र आ सकते हैं ये 11 सेलेब्रिटीज़

सलमान खान के अलावा बिग बॉस 15 में नज़र आ सकते हैं ये 11 सेलेब्रिटीज़

टीवी के चर्चित से लेकर विवादित, हर तरह के नाम शामिल हैं इस लिस्ट में.

सिद्धार्थ शुक्ला की मौत के बाद रश्मि देसाई ने पहले इंटरव्यू में क्या कहा?

सिद्धार्थ शुक्ला की मौत के बाद रश्मि देसाई ने पहले इंटरव्यू में क्या कहा?

रश्मि ने सिद्धार्थ की मौत के बाद उनके लिए इमोशनल पोस्ट किया था.

राज कुंद्रा की गाड़ी के आगे भागते इस आदमी के क्यों चर्चे हो रहे हैं?

राज कुंद्रा की गाड़ी के आगे भागते इस आदमी के क्यों चर्चे हो रहे हैं?

राज कुंद्रा को कोर्ट से ज़मानत मिल गई है.

आलिया भट्ट के नए 'कन्यादान' ऐड पर कंगना रनौत ने भड़क कर क्या कहा?

आलिया भट्ट के नए 'कन्यादान' ऐड पर कंगना रनौत ने भड़क कर क्या कहा?

कंगना ने लंबा-चौड़ा पोस्ट किया है.

राज कुंद्रा के जेल से छूटने के बाद शिल्पा शेट्टी ने क्या कहा?

राज कुंद्रा के जेल से छूटने के बाद शिल्पा शेट्टी ने क्या कहा?

पोर्नोग्राफी केस में दो महीने से जेल में बंद थे राज कुंद्रा.