Submit your post

Follow Us

मां औरत ही नहीं, ट्रांसजेंडर भी हो सकती है

2.74 K
शेयर्स

मां. इस एक शब्द से ही सारी कायनात खूबसूरत लगने लगती है. एक बच्चे के लिए मां सबसे खूबसूरत होती है. हम मां को एक औरत के रूप में ही देखते हैं.

लेकिन एक ट्रांसजेंडर औरत कैसी मां होती होगी?

यकीनन गौरी सावंत जैसी. विक्स का नया ऐड आया है. जिसमें एक बच्ची अपनी ट्रांसजेंडर मां की कहानी बता रही है. ये बच्ची है गायत्री और मां हैं गौरी सावंत.

गौरी चाहती हैं कि उनकी बच्ची बड़ी होकर पुलिस या डॉक्टर बने लेकिन उनकी बिटिया वकील बनना चाहती है. क्योंकि उसको लगता है, उसकी मां जैसा कोई नहीं. जब उसकी मां सबके लिए इतना सब कुछ करती है तो इस देश में उसको बाकियों के बराबर हक क्यों नहीं मिलता. वो बड़ी होकर उसको उसका सम्मान और हक दिलाना चाहती है. वो ट्रांसजेंडरों को मेनस्ट्रीम में लाने की लड़ाई लड़ना चाहती है.

गौरी सावंत ट्रांसजेंडरों की सेहत अच्छी रखने के लिए काम करती हैं. मुंबई में उनकी संस्था ‘सखी चार सउघी ट्रस्ट’ एड्स पीड़ितों को जागरूक करती है. वो मलाड में रहती हैं. उन्होंने गायत्री को तब गोद लिया था जब वो 6 साल की थी. उसकी असली मां एक सेक्स वर्कर थी और एचआईवी-एड्स से मर गई थी. गौरी उसे घर ले आईं, वो पास के ही एक स्कूल में जाने लगी. गौरी के ट्रांसजेंडर दोस्त उसको खूब लाड़ करते थे. गायत्री जब छोटी थी तो उसे किसे अंकल बोलना है और किसे आंटी, इसमें कंफ्यूज हो जाती थी. एक दिन गायत्री का स्कूल में किसी से झगड़ा हो गया. वो परंपरागत ट्रांसजेंडर्स की इमेज की तरह ताली बजा-बजाकर लड़ने लगी. उसी दिन गौरी ने सोच लिया था कि गायत्री को यहां से दूर बोर्डिंग स्कूल में भेजना है. गायत्री को पुणे भेज दिया गया. अब वो छुट्टियों में ही घर आ पाती है.

गौरी खुद भी ‘हिजड़ा’ नहीं बनना चाहती थीं. जब वो जवान हो रही थीं, उन्हें मालूम चल गया था कि वो लड़का नहीं लड़की हैं. उन्होंने अपना जेंडर चेंज करवाया. लेकिन एक बात उनके दिमाग में बिल्कुल साफ थी कि उन्हें भीख नहीं मांगना, उन्हें वेश्यावृत्ति नहीं करनी. उन्होंने नौकरी करनी शुरू कर दी. ट्रांसजेंडर लोगों को कॉन्डोम बांटना और उनका हेल्थ-चेकअप करवाना शुरू कर दिया. धीरे-धीरे लोग उन्हें पहचाने लगे. उनका पार्टनर भी उनके इस नेक काम में भरपूर साथ देता है. गौरी अपनी बच्ची के साथ अपने छोटे से परिवार में बहुत खुश हैं. गौरी को बस एक बात का मलाल है कि उनके पापा ने उन्हें कभी अपनाया नहीं.


ये भी पढ़ें:

12 साल का बच्चा सैकड़ों LGBT-विरोधियों के सामने अड़ गया

इन हिंदी तस्वीरों से समझ लो ‘गे’ और ‘लेस्बियन’ कौन होते हैं

LGBTQ 10: ‘हां साले, लड़के के साथ सोना चाहता हूं. तुझे प्रॉब्लम?’

LGBTQ 9: ‘यहां लोग इश्क तो करते हैं, लेकिन बंद घरों के अंदर’

LGBTQ 8: LGBT फैशन शो से महोत्सव की ‘मर्यादा’ तार-तार हुई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वॉर का ट्रेलर: अगर ये फिल्म चली तो बॉलीवुड की 'बाहुबली' बन जाएगी

ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ का ये ट्रेलर आप 10 बारी देखेंगे!

इस टीज़र में आयुष्मान ने वो कर दिया जो सलमान, शाहरुख़ करने से पहले 100 बार सोचते

फिल्म 'बाला' का ये एक मिनट का टीज़र आपको फुल मज़ा देगा.

'इतना सन्नाटा क्यों है भाई' कहने वाले 'शोले' के रहीम चाचा अपनी जवानी में दिखते कैसे थे?

जिस आदमी को सिनेमा के परदे पर हमेशा बूढा देखा वो अपनी जवानी के दौर में राज कपूर से ज्यादा खूबसूरत हुआ करता था.

शोले के 'रहीम चाचा' जो बुढ़ापे में फिल्मों में आए और 50 साल काम करते रहे

ताउम्र मामूली रोल करके भी महान हो गए हंगल सा'ब को 7 साल हुए गुज़रे हुए.

जानिए वर्ल्ड चैंपियन पी वी सिंधु के बारे में 10 खास बातें

37 मिनट में एकतरफा ढंग से वर्ल्ड चैंपियन का खिताब अपने नाम कर लिया.

सलमान की अगली फिल्म के विलेन की पिक्चर, जिसके एक मिनट के सीन पर 20-20 लाख रुपए खर्चे गए हैं

'पहलवान' ट्रेलर: साउथ के इस सुपरस्टार को सुनील शेट्टी अपनी पहली ही फिल्म में पहलवानी सिखा रहे हैं.

संत रविदास के 10 दोहे, जिनके नाम पर दिल्ली में दंगे हो रहे हैं

जो उनके नाम पर गाड़ियां जला रहे हैं उन्होंने शायद रविदास को पढ़ा ही नहीं है.

'सेक्रेड गेम्स' वाले गुरुजी के ये 11 वचन, आपके जीवन की गोची सुलझा देंगे

ग़ज़ब का ज्ञान बांटा है गुरुजी ने.

'मैं मरूं तो मेरी नाक पर सौ का नोट रखकर देखना, शायद उठ जाऊं'

आज हरिशंकर परसाई का जन्मदिन है. पढ़ो उनके सबसे तीखे, कांटेदार कोट्स.

वो एक्टर, जिनकी फिल्मों की टिकट लेते 4-5 लोग तो भीड़ में दबकर मर जाते हैं

आज इन मेगास्टार का बड्‌डे है.