Submit your post

Follow Us

मां औरत ही नहीं, ट्रांसजेंडर भी हो सकती है

मां. इस एक शब्द से ही सारी कायनात खूबसूरत लगने लगती है. एक बच्चे के लिए मां सबसे खूबसूरत होती है. हम मां को एक औरत के रूप में ही देखते हैं.

लेकिन एक ट्रांसजेंडर औरत कैसी मां होती होगी?

यकीनन गौरी सावंत जैसी. विक्स का नया ऐड आया है. जिसमें एक बच्ची अपनी ट्रांसजेंडर मां की कहानी बता रही है. ये बच्ची है गायत्री और मां हैं गौरी सावंत.

गौरी चाहती हैं कि उनकी बच्ची बड़ी होकर पुलिस या डॉक्टर बने लेकिन उनकी बिटिया वकील बनना चाहती है. क्योंकि उसको लगता है, उसकी मां जैसा कोई नहीं. जब उसकी मां सबके लिए इतना सब कुछ करती है तो इस देश में उसको बाकियों के बराबर हक क्यों नहीं मिलता. वो बड़ी होकर उसको उसका सम्मान और हक दिलाना चाहती है. वो ट्रांसजेंडरों को मेनस्ट्रीम में लाने की लड़ाई लड़ना चाहती है.

गौरी सावंत ट्रांसजेंडरों की सेहत अच्छी रखने के लिए काम करती हैं. मुंबई में उनकी संस्था ‘सखी चार सउघी ट्रस्ट’ एड्स पीड़ितों को जागरूक करती है. वो मलाड में रहती हैं. उन्होंने गायत्री को तब गोद लिया था जब वो 6 साल की थी. उसकी असली मां एक सेक्स वर्कर थी और एचआईवी-एड्स से मर गई थी. गौरी उसे घर ले आईं, वो पास के ही एक स्कूल में जाने लगी. गौरी के ट्रांसजेंडर दोस्त उसको खूब लाड़ करते थे. गायत्री जब छोटी थी तो उसे किसे अंकल बोलना है और किसे आंटी, इसमें कंफ्यूज हो जाती थी. एक दिन गायत्री का स्कूल में किसी से झगड़ा हो गया. वो परंपरागत ट्रांसजेंडर्स की इमेज की तरह ताली बजा-बजाकर लड़ने लगी. उसी दिन गौरी ने सोच लिया था कि गायत्री को यहां से दूर बोर्डिंग स्कूल में भेजना है. गायत्री को पुणे भेज दिया गया. अब वो छुट्टियों में ही घर आ पाती है.

गौरी खुद भी ‘हिजड़ा’ नहीं बनना चाहती थीं. जब वो जवान हो रही थीं, उन्हें मालूम चल गया था कि वो लड़का नहीं लड़की हैं. उन्होंने अपना जेंडर चेंज करवाया. लेकिन एक बात उनके दिमाग में बिल्कुल साफ थी कि उन्हें भीख नहीं मांगना, उन्हें वेश्यावृत्ति नहीं करनी. उन्होंने नौकरी करनी शुरू कर दी. ट्रांसजेंडर लोगों को कॉन्डोम बांटना और उनका हेल्थ-चेकअप करवाना शुरू कर दिया. धीरे-धीरे लोग उन्हें पहचाने लगे. उनका पार्टनर भी उनके इस नेक काम में भरपूर साथ देता है. गौरी अपनी बच्ची के साथ अपने छोटे से परिवार में बहुत खुश हैं. गौरी को बस एक बात का मलाल है कि उनके पापा ने उन्हें कभी अपनाया नहीं.


ये भी पढ़ें:

12 साल का बच्चा सैकड़ों LGBT-विरोधियों के सामने अड़ गया

इन हिंदी तस्वीरों से समझ लो ‘गे’ और ‘लेस्बियन’ कौन होते हैं

LGBTQ 10: ‘हां साले, लड़के के साथ सोना चाहता हूं. तुझे प्रॉब्लम?’

LGBTQ 9: ‘यहां लोग इश्क तो करते हैं, लेकिन बंद घरों के अंदर’

LGBTQ 8: LGBT फैशन शो से महोत्सव की ‘मर्यादा’ तार-तार हुई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

जिस तिहाड़ में निर्भया के दोषियों को फांसी हुई, उसी जेल में ये फांसियां भी हो चुकी हैं

वो हाई प्रोफाइल केस, जिन्होंने पूरे देश का ध्यान खींचा.

इन 6 ज़बरदस्त फिल्मों में कोरोना जैसी महामारी दिखाई गई है

महामारी पर बनी हुई इन फिल्मों को पूरी दुनिया में देखा जा रहा है

निर्भया के दोषियों को फांसी मिलने पर बॉलीवुड हस्तियों ने क्या कहा?

निर्भया के गुनहगारों को आज सुबह फांसी दे दी गई.

अलका याज्ञ्निक के 36 लुभावने गानेः जिन्हें गा-गाकर बरसों लड़के-लड़कियों ने प्यार किया

प्लेलिस्ट जो बार-बार सुनी जाने वाली है. अलका आज 53 की हो गई हैं.

शशि कपूर ने बताया था, दुनिया थर्ड क्लास का डिब्बा है

पढ़िए उनके दस यादगार डायलॉग्स.

जब तक ये 11 गाने रहेंगे, शशि कपूर याद आते रहेंगे

हर एज ग्रुप की प्ले लिस्ट में आराम से जगह बना सकते हैं ये गाने.

कोरोना वायरस का असर दिखाती ये 17 तस्वीरें देखीं आपने?

क्या से क्या हो गया, देखते-देखते.

श्रेया घोषाल के जन्मदिन पर सुनिए नशा भर देने वाले गाने

पहले ही गाने में नैशनल अवॉर्ड जीतने वाली सिंगर का बड्डे है.

इस महिला दिवस इन 10 किताबों को अपनी लिस्ट में जोड़ लीजिए और फटाफट पढ़ लीजिए

स्त्री विमर्श और स्त्री सत्ता की संरचना को समझने के लिए हमने कुछ उपन्यासों को चुना है.

जब प्रेमचंद रुआंसे होकर बोले, 'मेरी इज्जत करते हो, तो मेरी ये फिल्म कभी न देखना.'

वो 5 मौके जब हिंदी के साहित्यकारों ने हिंदी फिल्मों में अपनी किस्मत आजमाई.