Submit your post

Follow Us

पुलिस को हेलमेट न पहनने पर टोका तो हवालात जाना पड़ा, लेकिन फिर जो हुआ दिल खुश करता है

नए ट्रैफिक नियम लागू हो गए हैं. और धड़ाधड़ चालान काटे जा रहे हैं. ट्रैफिक पुलिस के साथ-साथ सिविल पुलिस भी चालान काटने में पीछे नहीं है. पर वो खुद नियम फॉलो कर रहे हैं या नहीं ये देखने वाला कोई नहीं है. ऐसा उन्हें लगता है. हमे नहीं. क्योंकि भई जब आप जनता का कई हज़ारों रुपए चालान काटेंगे, तो जनता भी आप पर उसी तरह निगरानी रखेगी न? लेकिन ऐसा करना एक व्यक्ति को थोड़ा भारी पड़ गया.

मालमा बिहार के बक्सर का है. यहां के एक दरोगा साहिब अपनी फटफटिया से जा रहे थे. वो भी बिना हेलमेट लगाए. अब एक व्यक्ति ने उन्हें पकड़ लिया. वहीं पीछे खड़े एक व्यक्ति ने पूरे मामले का वीडियो बना लिया, जो तेज़ी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

वीडियो में दरोगा जिस तरह से उस व्यक्ति का कॉलर पकड़कर गुंडई कर रहे हैं, उससे एक कहावत याद आती है- उल्टा चोर कोतवाल को डांटे. मतलब एक तो आपने हेलमेट नहीं लगाया. दूसरा अपनी गलती मानने के बजाय आप चढ़े जा रहे हैं. इतना ही नहीं, आपने एक साथी को भी बुला लिया, जो उस व्यक्ति को गाड़ी में बैठाने के लिए कह रहा है. ऐसी वैसी गाड़ी नहीं, पुलिस की गाड़ी. और बाद में जब आपको पता चलता है कि पूरे इंसिडेंट का वीडियो बनाया जा रहा है, तो आपका रवैया चेंज हो जाता है. आप फिर कहते हो कि मैं फाइन भरूंगा.

पर अब क्या फायदा, कुर्सी तो चली गई सर. दरोगा साहिब का नाम रोशन कुमार है. इन्हें निलंबित कर दिया गया है. और लाइन हाज़िर भी. और हिरासत में लिए गए उस व्यक्ति को भी रिहा कर दिया गया है.

हालांकि हम उस व्यक्ति को भी सही नहीं कह रहे हैं, क्योंकि उसने जो भाषा का इस्तेमाल किया, वो गलत है. उसे ऐसा नहीं करना चाहिए था. पर उसे भी लगा कि आज उसने एक पुलिस वाले को एक्सपोज़ किया है तो इस मौके को कैसे जानें दें.

खैर, इस तरह के और वीडियो और वायरल हो रहे हैं. एक वीडियो में पुलिस वाला बिना हेलमेट के बाइक चला रहा है. एक ने वीडियो बनाते-बनाते पूछ लिया कि हेलमेट कहां हैं, तो उन भाईसाहब ने अपनी बाइक ही दूसरी डायरेक्शन में मोड़ ली. और रफ्तार इतनी तेज़ कर ली, जैसे मर्डर करते हुए पकड़ा गया हो.

इस तरह के वीडियो आने पर लोग अपनी तरह-तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं.  

 

 

 


वीडियो देखें : चालान से भड़के आदमी ने अपनी बाइक में आग लगा दी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सत्यजीत राय के 32 किस्से: इनकी फ़िल्में नहीं देखी मतलब चांद और सूरज नहीं देखे

ये 50 साल पहले ऑस्कर जीत लाते, पर हमने इनकी फिल्में ही नहीं भेजीं. अंत में ऑस्कर वाले घर आकर देकर गए.

ऋषि कपूर की इन 3 हीरोइन्स ने उनके बारे में क्या कहा?

इनमें से एक अदाकारा को ऋषि ने आग से बचाया था.

ईश्वर भी मजदूर है? लेखक लोग तो ऐसा ही कह रहे हैं!

पहली मई को दुनियाभर में मजदूरों के हक़ की बात कही जाती है.

बलराज साहनी की 4 फेवरेट फिल्में : खुद उन्हीं के शब्दों में

शाहरुख, आमिर, अमिताभ बच्चन जैसे सुपरस्टार्स के फेवरेट एक्टर रहे बलराज साहनी.

जब भीमसेन जोशी के सामने गाने से डर गए थे मन्ना डे

मन्ना डे के जन्मदिन पर पढ़िए, उनसे जुड़ा ये किस्सा.

ऋषि कपूर के ये 13 गीत सुनकर समझ आता है, ये लवर बॉय पर्दे पर कैसे मेच्योर हुआ

'हमको तो तुमसे है, प्यार.'

इरफ़ान की 15 विदेशी फ़िल्में और सीरीज़ जो टाइम निकालकर देखनी चाहिए

जितने वो इंडिया में पॉपुलर थे, उतने ही इंटरनेशनल दर्शकों के बीच भी.

इरफ़ान के वो 10 धांसू सीरियल जो आपको ज़रूर देखने चाहिए

आपने उनको 'चंद्रकांता' में देखा है, लेकिन क्या 'किरदार' सीरीज़ में देखा है?

रोहित शर्मा किसके लिए ट्रेन की पटरी पर दौड़ते हुए वापिस पिछले स्टेशन आए थे

रोहित शर्मा की लाइफ की 5 मज़ेदार कहानियां.

इरफान के अंतिम संस्कार की 8 तस्वीरें

परिवार के अलावा तिग्मांशु धूलिया से लेकर कपिल शर्मा और मीका सिंह भी पहुंचे थे.