Submit your post

Follow Us

बड़ी स्टारकास्ट के लिए फेमस संजय गुप्ता इस बार तोड़ू गैंगस्टर फिल्म लेकर आ रहे हैं

5
शेयर्स

‘कांटे’ देखी है? ‘मुसाफिर’? ‘शूटआउट एट लोखंडवाला’ तो देखी ही होगी. इन्हीं फिल्मों के मेकर्स नई फिल्म लेकर आ रहे हैं. इस गैंगस्टर फिल्म का नाम है ‘मुंबई सागा’ (Mumbai Saga). पहले लाइन में बताई गई फिल्मों की तरह इसमें भी एक्टर्स की टोली काम कर रही है. ये हमें इसलिए पता है क्योंकि इसका पोस्टर आ चुका है. ये फिल्म किस बारे में है और टोली में कौन-कौन है ये हम नीचे बता रहे हैं.

1) ये फिल्म 1980 और 90 के दशक की कहानी बताएगी. बॉम्बे से मुंबई कैसे बना इस जर्नी को ट्रेस करेगी. और ये सब किया जाएगा उस टाइम पीरियड में घटी कुछ अहम घटनाओं के ज़रिए. अंडरवर्ल्ड गैंग्स के बीच की लड़ाई ने इस दौरान सबसे ज़्यादा उत्पात मचाया था. इसकी शुरुआत हुई थी फरवरी, 1981 में. मुंबई के सिद्धिविनायक मंदिर के सामने पेट्रोल पंप पर दाउद के राइवल गैंग ने उसके भाई साबिर इब्राहिम कास्कर की हत्या कर दी थी. इसके बाद दाउद और मुंबई के बाकी गैंग्स के बीच रार ठन गई थी. दिन-दहाड़े बिज़नेसमैन, बिल्डर्स और सिनेमा से जुड़े लोगों की हत्या होने लगी. लेकिन 1994 में स्पिनिंग मिल के मालिक सुनीत खटाऊ के मर्डर ने मुंबई में अंडरवर्ल्ड के खत्म होने की शुरुआत कर दी. 80 और 90 के दशक में पुलिस ने 900 एनकाउंटर्स किए जिसमें कई गैंग के लोग मारे गए और अंडरवर्ल्ड का मुंबई से खात्मा हुआ. ‘मुंबई सागा’ इन्हीं घटनाओं के बारे में बात करेगी. फिल्म का पहला पोस्टर नीचे देखिए:

D9AB0uWUIAAMXcw

2) फिल्म में सबसे पहले इमरान हाशमी और जॉन अब्राहम को कास्ट किया गया. ये दोनों की साथ में पहली फिल्म होगी. लेकिन दोनों ही कलाकार इससे पहले अंडरवर्ल्ड की कहानियों पर बेस्ड फिल्मों का हिस्सा रह चुके हैं. इन दोनों के अलावा फिल्म में सुनील शेट्टी, जैकी श्रॉफ, प्रतीक बब्बर, गुलशन ग्रोवर, रोहित रॉय और अमोल गुप्ते जैसे एक्टर्स भी काम करेंगे. ये अलग-अलग कलाकार गैंगस्टर्स, पॉलिटिशियन और पुलिसवालों के रोल करेंगे, ताकि हमें उस दौर का पूरा नेक्सस और उन लोगों की आपसी सांठ-गांठ का पता चल सके. फिल्म का दूसरा पोस्टर आप नीचे देख सकते हैं:

D9BRXC0UwAIjrUQ (1)

3) इस फिल्म को संजय गुप्ता डायरेक्ट करेंगे. जून, 2019 में संजय ने बॉलीवुड में अपने 25 साल पूरे कर लिए हैं. उनकी पहली फिल्म ‘आतिश’ 17 जून, 1994 को रिलीज़ हुई थी. संजय अब तक कुल 17 फिल्में (डायरेक्ट-प्रोड्यूस) बना चुके हैं. वो गैंगस्टर बेस्ड फिल्में बनाने के लिए जाने जाते हैं. ‘कांटे’, ‘मुसाफिर’, ‘शूटआउट एड वडाला’ जैसी फिल्में संजय ने ही डायरेक्ट की हैं.

संजय गुप्ता की पिछली डायरेक्टेड फिल्म ऋतिक रौशन-यामी गौतम स्टारर 'काबिल' थी.
संजय गुप्ता की पिछली डायरेक्टेड फिल्म ऋतिक रौशन-यामी गौतम स्टारर ‘काबिल’ थी.

4) कई बार अंडरवर्ल्ड के साथ संबंध होने को लेकर भी वो सवालों के घेरे में रह चुके हैं. 26 जुलाई, 2002 को संजय दत्त, महेश मांजरेकर, हरीश सुगंध और संजय गुप्ता की छोटा शकील से टेलीफोन पर हुई बातचीत का क्लिप मुंबई के स्पेशल कोर्ट में चलाया गया था. ये उस समय की बात है जब अंडरवर्ल्ड फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पैठ जमाने की कोशिश कर रहा था. इस बातचीत में ऋतिक रौशन से लेकर प्रीति ज़िंटा, गोविंदा और संजय लीला भंसाली तक का ज़िक्र आया था

5) फिल्म की शूटिंग अगले महीने से शुरू होने वाली है. रिलीज़ डेट अभी तय नहीं है. बताया जा रहा है कि ‘मुंबई सागा’ 2020 के मिड में रिलीज़ होगी.


वीडियो देखें: इंडियन क्रिकेट टीम के साथ 15 और लोगों की टीम इंग्लैंड गई है, जो एक ही वर्ल्ड कप दोबारा जीतेगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Mumbai Saga: Upcoming gangster film starring Emraan Hashmi and John Abraham along with Suniel Shetty, Jackie Shroff and Prateik Babbar directed by Sanjay Gupta

पोस्टमॉर्टम हाउस

मूवी रिव्यू: गेम ओवर

थ्रिल, सस्पेंस, ड्रामा, मिस्ट्री, हॉरर का ज़बरदस्त कॉकटेल है ये फिल्म.

भारत: मूवी रिव्यू

जैसा कि रिवाज़ है ईद में भाईजान फिर वापस आए हैं.

बॉल ऑफ़ दी सेंचुरी: शेन वॉर्न की वो गेंद जिसने क्रिकेट की दुनिया में तहलका मचा दिया

कहते हैं इससे अच्छी गेंद क्रिकेट में आज तक नहीं फेंकी गई.

मूवी रिव्यू: नक्काश

ये फिल्म बनाने वाली टीम की पीठ थपथपाइए और देख आइए.

पड़ताल : मुख्यमंत्री रघुवर दास की शराब की बदबू से पत्रकार ने नाक बंद की?

झारखंड के मुख्यमंत्री की इस तस्वीर के साथ भाजपा पर सवाल उठाए जा रहे हैं.

2019 के चुनाव में परिवारवाद खत्म हो गया कहने वाले, ये आंकड़े देख लें

परिवारवाद बढ़ा या कम हुआ?

फिल्म रिव्यू: इंडियाज़ मोस्ट वॉन्टेड

फिल्म असलियत से कितनी मेल खाती है, ये तो हमें नहीं पता. लेकिन इतना ज़रूर पता चलता है कि जो कुछ भी घटा होगा, इसके काफी करीब रहा होगा.

गेम ऑफ़ थ्रोन्स S8E6- नौ साल लंबे सफर की मंज़िल कितना सेटिस्फाई करती है?

गेम ऑफ़ थ्रोन्स के चाहने वालों के लिए आगे ताउम्र की तन्हाई है!

पड़ताल: पीएम मोदी ने हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात कहां कही थी?

जानिए ये बात आखिर शुरू कहां से हुई.

मूवी रिव्यू: दे दे प्यार दे

ट्रेलर देखा, फिल्म देखी, एक ही बात है.