Submit your post

Follow Us

दिमागी पेचिश हो जाएगी फिल्म 'फितूर' देख के

एक बच्चा रात में शिकारा चला रहा है. क्यों. डायरेक्टर को भी नहीं पता. ओह, सॉरी. पता है ना. उसे कुछ देर बाद एक आदमी से मिलना है. कुछ देर के लिए. जो बाद में पूरी लाइफ उसकी मदद करेगा. और जिसके बारे में राज लास्ट में खुलेगा. और उसे सुनकर आपके दिमाग को खूनी पेचिश हो जाएगी.

हाजत की बात क्यों करते हो. हजरात की करो. हां यही ठीक रहेगा.

तो एक बेगम हजरत हैं. कम उम्र के लड़के को ऐसे देखती हैं कि खा ही जाएंगी. सेक्स फैंटेसी एंड ऑल. पर समय संस्कारी है. और कहानी पेचीदा. इसलिए यहां भी नहीं रुकते. लड़के को बेगम की लड़की से मिलवा देते हैं. इश्क वाला लव. लड़के की तरफ से. क्योंकि वह सिनेमा जगत की सभी अहर्ताएं पूरी करता है. गरीब है. हुनरमंद है. लड़की को अवाक देखता है.

और लड़की. वह क्यूट है. घोड़ा चलाती है. बचपन से ही फैशन सेंस रखती है. लड़के के प्रति दयालु है. मगर उसे लंदन जाना होगा. क्योंकि बड़े होकर उसे कटरीना कैफ बनना है. जिनकी हिंदी अभी भी रैपिडेक्स रिवर्स मोड में है.

और लड़का. घिना दलिद्री कहीं का. बिना नहाया दिखता है. हमेशा. जैसे IIT की कोचिंग कर रहा हो. वैलंटाइन आ रहा है. लड़की लोगन को आशिकी-2 के रैपर में ये क्या पकड़ाया जा रहा है.

खैर. कलाकार गंदा है. मगर उसकी कला सुंदर. फिर वह काला कुर्ता पहन लेगा. सूनी सोई अंखियों सा. फिर वह कुर्ता उतार देगा. अब उसकी वैक्स की छाती नजर आएगी. उसमें कट वट तो होंगे ही. ISI मार्क के बिना बाजार में कोई कैसे आ सकता है.

अब इंटरवल का समय हो रहा है. पब्लिक भी कश्मीर की स्लेटी स्क्रीन, बर्फ, फ्लैशबैक और गाना सुन चट गई है. तो हीरो हीरोइन को मिलवा देते हैं.

फिर वही सीन नए सिरे से करते हैं. लड़का मुंह खोले एकटक देख रहा है. और लड़की. वो अभी भी पुचकारने के मूड में है. लेकिन अब तो दोनों बालिग हैं. तो सेक्स तो बनता है बॉस. पहले कुछ रोमैंस करवा देते हैं. फिर तसल्ली से आग राग दिखाएंगे.

अब लड़का जॉर्डन बनेगा. लड़की जाकर बेगमात के आंसू संभालेगी. पर एक प्लॉट तो छूट ही गया. लड़की का नाम है फिरदौस. माने जन्नत. लड़का है नूर. हिंदुस्तानी हीरो. तो पाकिस्तान भी आना चाहिए. आना चाहिए कि नहीं आना चाहिए मितरों. एंटर बिलाल. पाकिस्तानी मंत्री का जॉकी चड्ढी टाइप चिकना मॉडल.

नूर होगा चूर. क्योंकि उसे मिलेगी हूर आखिर में. पर एक घंटा और झिलाना है. इसलिए कलाकार को लंदन बुलाना है. वहां फिर नए सिरे से मिलना बिछड़ना.

और उस आदमी का क्या हुआ जो पहली लाइन में बीसियों साल पहले मिला था. फिर मिलवा देते हैं. आतंकवादी के दिल की कालिख दफतन हो गई है. भटके हुओं को राह दिखाए. ज्योता वाली माता. तेरी सदा ही जय हो.

मां मर गई. बेटी समझ गई. कि मां बी नेगेटिव थी. उसके आशिक लोलू निकला. पर ये सत्यनारायण कथा तो नहीं. जो सबका एक ही ढंग से टिकट कटे.

इसलिए सब मिलकर गाएं. ये फितूर मेरा. लाया मुझको है तेरे करीब. अब बर्फ गिरेगी. नायिका सफेद कपड़ों में भागती हुई आएगी. नायक उसे पुल पर मिलेगा. और अपना शॉल उठा देगा.

आप चाहें तो शॉल की जगह कंबल निकालें. और उन सब खखोर की परेड कर दें. जो वेलंटाइन के चक्कर में आपके मजे लेने का फितूर पाल रहे हैं.

कटरीना कैफ ने अपना काम पूरा किया है. खूब सुंदर दिखना. झड़ताई के मौसम में चिनार के लाल पत्तों सी. कल्पना किलक न जाए, इसलिए बाल भी उसी रंग में पोत दिए गए हैं. बाकी स्त्रीविरोधी हम हैं नहीं. इसलिए एक्टिंग पर कमेंट करेंगे नहीं.

और वो प्रॉड्यूसर का भइया. आदित्य रॉय कपूर. मुंह ऐसे तुतराया है लड़के का, जैसे बारह रोज से सिर्फ जिमीकंद खा रहा हो. एक्टिंग वैक्टिंग न होगी तुमसे भइया.

बचीं तब्बू. कित्ता ढोएंगी. कभी हैदर की याद दिलाती हैं. तो कभी मकबूल की. गाना वाना सुनने को मचलो तो ज्यूकबॉक्स पर सुन लेना.
स्वयं साक्षात सदेह सिनेमा हॉल न जाना. क्योंकि फिलिम बहुत ही ‘सुंदर’ मगर अझेल है.

शुक्रिया.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो इंडियन डायरेक्टर जिसने अपनी फिल्म बनाने के लिए हैरी पॉटर सीरीज़ की फिल्म ठुकरा दी

मीरा नायरः जो भारत से बाहर रहकर भारतीय समाज पर फिल्में बनाती हैं.

15 अक्टूबर से खुलेंगे सिनेमाघर और फिर से रिलीज़ होंगी ये छह फिल्में!

सुशांत सिंह राजपूत की भी फिल्म है इस लिस्ट में.

अशोक कुमार की 32 मज़ेदार बातेंः इंडिया के पहले सुपरस्टार थे पर कहते थे 'भड़ुवे लोग हीरो बनते हैं'

महान एक्टर दिलीप कुमार उनको भैय्या कहते थे और उनसे पूछ-पूछकर सीखते थे.

फ़्लिपकार्ट, ऐमज़ॉन की सालाना सेल में ये होंगी 10 सबसे बड़ी डील्स

फ़ोन खरीदने का बढ़िया मौक़ा है

आईफोन 12 से लेकर वनप्लस 8T तक, कौन-कौन से फोन लॉन्च हो रहे हैं इस महीने

सवा लाख का फ़ोन लेहेव?

राज कुमार के 42 डायलॉगः जिन्हें सुनकर दर्शक तालियों पे तालियां कूट देते थे

हिंदी सिनेमा में सबसे ज्यादा अकड़ इनसे ज्यादा किसी सुपरस्टार के किरदारों में नहीं थी

मिर्ज़ापुर-2 : गजबे ट्रेलर है, पूरा सिस्टम हिलाने की इस बार धमाकेदार तैयारी है

23 अक्टूबर को रिलीज़ होगी सीरीज़.

एक प्रेरक कहानी जिसने विनोद खन्ना को आनंदित होना सिखाया

हिंदी फिल्मों के इन कद्दावर अभिनेता के जन्मदिन पर आज पढ़ें उनके 8 किस्से.

अब कहां हैं वो विलेन, जो शक्तिमान और जूनियर जी का जीना हराम किए रहते थे

ये सुपरविलेन आजकल कहां हैं, आइए बताते हैं.

6 किस्से: इमरजेंसी के दौरान इंदिरा की नाक में दम करने वाला अखबार मालिक

आज ही के दिन 1991 में निधन हुआ था बेखौफ रामनाथ गोयनका का.