Submit your post

Follow Us

महात्मा गांधी की इस मूर्ति की आंखें लाल क्यों हो गईं?

5
शेयर्स

सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें काफी तेज़ी से वायरल हो रही हैं. ये तस्वीरें महात्मा गांधी के एक स्टैच्यू की है. तस्वीरों में स्टैच्यू की आंखों में तेज़ लाल रोशनी चमक रही है. महात्मा गांधी का ये स्टैच्यू सैन फ्रांसिस्को में है. वहां के फेमस फार्मर्स मार्केट में. स्टैच्यू का चेहरा सीधे बे ब्रीज की तरफ है.

अब जब महात्मा गांधी की चमकती हुई आंखों वाली तस्वीरें तेज़ी से वायरल होने लगीं, तब सबके मन में सवाल आया कि ऐसा कैसे हुआ? तो आपको बता दें कि ये सब एक मज़ाक था. ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, किसी ने मज़ाक करने के लिए स्टैच्यू की आंखों में लाल लाइट्स लगाई थीं.

बाद में कुछ और तस्वीरें भी वायरल हुईं. जिनमें एक आदमी महात्मा गांधी के उस स्टैच्यू के ऊपर चढ़ते और उसकी आंखों में लाइट्स लगाते दिख रहा है. फेसबुक और इंस्टाग्राम में इन तस्वीरों के वायरल होने के पहले, ये रेडिट में वायरल हुई थीं. लोग इन तस्वीरों को शेयर करके लिख रहे थे, ‘लेज़र लाइट्स की आंखों वाले गांधी सबसे अच्छे गांधी हैं’.

रेडिट पर ये तस्वीरें सबसे पहले वायरल हुई थीं. एक यूज़र का कमेंट. इस तस्वीर में एक आदमी महात्मा गांधी के स्टैच्यू की आंखों में लाइट लगाते दिख रहा है.
रेडिट पर ये तस्वीरें सबसे पहले वायरल हुई थीं. एक यूज़र का कमेंट. इस तस्वीर में एक आदमी महात्मा गांधी के स्टैच्यू की आंखों में लाइट लगाते दिख रहा है.

कब बना ये स्टैच्यू?

ब्रॉन्ज, यानी कांसे का स्टैच्यू है. साल 1988 में इसे बनाया गया था. सैन फ्रांसिस्को के फेरी बिल्डिंग के पास बना है. ऊंचाई 8 फुट है. ये गांधी मेमोरियल इंटरनेशनल फाउंडेशन का एक गिफ्ट है.

पहले भी इसे छेड़ा गया है

इस बार तो आंखों में लाल लाइट डाली गई थीं, लेकिन इसके पहले स्टैच्यू का चश्मा गायब हो गया था. वो भी एक से ज्यादा बार, जिसके बाद सिटी के आर्ट्स कमीशन को चौकन्ना होना पड़ा. अब ये कमीशन अपने पास पहले से ही एक चश्मे का सेट रखता है. ताकि अगर स्टैच्यू का चश्मा फिर से गायब हो, तो तुरंत दूसरा लगाया जा सके.


वीडियो देखें : आर्टिकल 370: राम माधव ने मुस्कुराते हुए किया इशारा, कौन से वादे 3-4 सालों में पार्टी पूरा कर सकती है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

दीपिका से पहले ये फिल्में और सुपरस्टार्स एसिड अटैक का दर्द हमें महसूस करवा चुके हैं

ऐसे में दीपिका पादुकोण और शाहरुख खान लोगों के लिए काफी मददगार साबित होंगे.

अशोक कुमार की 32 मज़ेदार बातेंः इंडिया के पहले सुपरस्टार थे पर कहते थे 'भड़ुवे लोग हीरो बनते हैं'

महान एक्टर दिलीप कुमार उनको भैय्या कहते थे और उनसे पूछ-पूछकर सीखते थे.

शैलेंद्र ने 'गाइड' के गीत लिखने के लिए देवानंद से इतने ज़्यादा पैसे क्यूं मांग डाले थे?

'आज फ़िर जीने की तमन्ना है: एक गीत, सात लोग और नौ किस्से

ऋषि कपूर ने बताया कि वो 'चिंटू' नाम से बुलाए जाने पर कितने दुखी हैं

क्या आपको दूसरे स्टार्स के ये 'घर वाले' नाम पता हैं?

इन 4 फिल्मी खलनायकों के थे अपने खुद के देश, जैसा अब रेप के आरोपी नित्यानंद का है

शोम शोम शोम, शामो शा शा...

शशि कपूर ने बताया था, दुनिया थर्ड क्लास का डिब्बा है

पढ़िए उनके दस यादगार डायलॉग्स.

जब तक ये 11 गाने रहेंगे, शशि कपूर याद आते रहेंगे

हर एज ग्रुप की प्ले लिस्ट में आराम से जगह बना सकते हैं ये गाने.

मीरा नायर के ‘अ सूटेबल बॉय’ की 7 बातें: नॉवेल जितना ही बोल्ड है इसका तब्बू, ईशान स्टारर अडैप्टेशन

दुनिया के सबसे लंबे नॉवेल ‘अ सूटेबल बॉय’ की कहानी में कांग्रेस की राजनीति, पॉलिटिकल खेमेबाजी और नए आज़ाद हुए भारत के कई गहरे-पैने टुकड़े मिलेंगे.

जिमी शेरगिल: वो लड़का जो चॉकलेट बॉय से कब दबंग बन गया, पता ही नहीं चला

इन 5 फिल्मों से जानिए कैसे दबंगई आती गई.

जयललिता की एक और बायोपिक, जिसमें कंगना तो नहीं लेकिन उनके साथ गज़ब का संयोग जुड़ा है

ये सीरीज़ कंगना की फिल्म से अलग कैसे होगी?