Submit your post

Follow Us

साउथ से हिंदी में डब हुई 11 फ़िल्में, जिन्होंने बॉक्स ऑफिस तोड़कर रख दिया

‘मक्खी’, मेरी जंग’, ‘अपरिचित’ और ‘शिवाजी: दी बॉस’. ये सब सुनकर क्या याद आया? नाम सुनते ही दिमाग में हर फिल्म की एक इमेज घूमने लगी. है ना? अगर हम आपको बताते कि जो ‘अपरिचित’ को टीवी पर देखते आए हैं, वो तो वास्तविकता में ‘अन्नियन’ है. या नागार्जुन वाली ‘मेरी जंग’ का असली नाम ‘मास’ है. तो आपका रिएक्शन थोड़ा अलग होता. आज हम ऐसी ही फिल्मों की बात करेंगे. जो साउथ से आईं और हिंदी बॉक्स ऑफिस पर कमाल कर गईं. चलिए, शुरू करते हैं.

Bharat Talkies


1. बाहुबली: दी कन्क्लुज़न (2017)
कमाई: 510 करोड़
कास्ट: प्रभास, अनुष्का शेट्टी, सत्यराज, राणा दगुबत्ती
डायरेक्टर: एसएस राजामौली

“कटप्पा ने बाहुबली को क्यूं मारा?” कहना गलत नहीं होगा कि इस सवाल ने पूरे इंडिया को दो साल तक बेचैन रखा. जवाब मिला 28 अप्रैल, 2017 को. जब बाहुबली का दूसरा पार्ट रिलीज़ हुआ. और जनता ने भी इस जवाब को क्या ग़ज़ब का रिस्पॉन्स दिया. फिल्म का बजट भी कुछ कम नहीं था. पूरे 250 करोड़. और इस 250 में से भी 30 करोड़ तो सिर्फ क्लाइमैक्स शूट करने में लगे थे. फिल्म ने भी आते ही कमाई के रिकॉर्ड तोड़ने शुरू कर दिए. अपनी वर्ल्डवाइड रिलीज़ के महज़ छह दिनों में 790 करोड़ का बिज़नेस कर डाला. इससे पहले विदेश में इतनी बड़ी ओपनिंग‘पीके’ और ‘दंगल’ जैसी इंडियन फिल्म्स को मिली थी. ‘पीके’ ने 740 करोड़ तो वहीं, ‘दंगल’ ने 718 करोड़ रुपए कमाए थे. फिल्म के सिर्फ हिंदी वर्जन ने ही 510 करोड़ रुपए की करिश्माई कमाई की.

इंडिया के अंदर सबसे ज़्यादा बिज़नेस करने वाली फिल्म.
इंडिया के अंदर सबसे ज़्यादा बिज़नेस करने वाली फिल्म.

बॉक्स ऑफिस इंडिया के मुताबिक ‘बाहुबली: दी कन्क्लुज़न’ इंडिया के अंदर सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली फिल्मों में टॉप पर है. करीब 709 करोड़ रुपए के कलेक्शन के साथ. इसके बाद लिस्ट में दूर-दूर तक सिर्फ बॉलीवुड की फिल्में दिखती हैं. हालांकि, दुनियाभर में सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली इंडियन फिल्म की लिस्ट में ये दूसरे स्थान पर है. फिल्म का अब तक का वर्ल्डवाइड कलेक्शन है करीब 1796 करोड़ का. लिस्ट में पहले पायदान पर ‘दंगल’ है.


2. 2.0 (2018)
कमाई: 190 करोड़
कास्ट: रजनीकांत, अक्षय कुमार, एमी जैकसन, सुधांशु पांडे
डायरेक्टर: एस शंकर

इंडियन सिनेमा की सबसे महंगी फिल्म. करीब 570 करोड़ के बजट में बनी. ‘2.0’ के बारे में एक और बात खास है. इसे 3D में शूट किया गया था. बनाया था डायरेक्टर शंकर ने. ‘रोबोट’, ‘अपरिचित’, ‘हिन्दुस्तानी’ और ‘शिवाजी: द बॉस’ जैसी फिल्में दे चुके हैं. पिछले 25 सालों से फिल्में बना रहे हैं. लेकिन आजतक एक भी फिल्म नहीं पिटी. ‘2.0’, 29 नवंबर, 2018 को रिलीज़ हुई और पहले ही दिन फिल्म ने 118 करोड़ का वर्ल्डवाइड कलेक्शन कर लिया. सिर्फ इतने पर ही नहीं रुकी. पहले ही हफ्ते में वर्ल्डवाइड कलेक्शन का नंबर 520 करोड़ पर पहुंच गया. फिल्म के हिंदी वर्जन ने कुल 190 करोड़ रुपए कमाए.

फिल्म में अक्षय कुमार ने मेन विलेन का किरदार निभाया था.
फिल्म में अक्षय कुमार ने मेन विलेन का किरदार निभाया था.

फिल्म 2010 में आई ‘रोबोट’ यानि ‘एंदीरन’ का सीक्वल थी. कहानी पिछले पार्ट के 8 साल बाद शुरू होती है. वसीगरण ने अब नया रोबोट बनाया है. नाम है ‘निला’. मानता है कि ये चिट्टी के मुकाबले ह्यूमन ईमोशन को बेहतर समझ पाएगा. तभी अचानक शहर में हर जगह से सेल फोन गायब होने लगते हैं. और एक बड़ा पक्षी तबाही मचाना शुरू कर देता है. मजबूरन, चिट्टी को वापस लाया जाता है. इस पक्षी से लड़ने के लिए. फिल्म में इस पक्षी का किरदार अक्षय कुमार ने निभाया. जिस रोल के लिए सबसे पहली चॉइस हॉलीवुड एक्टर अर्नोल्ड श्वॉर्जनेगर थे.


3. साहो (2019 )
कमाई: 143 करोड़
कास्ट: प्रभास, श्रद्धा कपूर, जैकी श्रॉफ, अरुण विजय
डायरेक्टर: सुजीत

बाहुबली सीरीज़ के बाद सबकी प्रभास से उम्मीदें बढ़ गई थीं. वेट कर रहे थे कि इंडियन सिनेमा के ‘बाहुबली’ का अगला प्रोजेक्ट क्या होगा. तब अनाउंस की गई ‘साहो’. ‘बाहुबली’ की तरह इसे भी पैन-इंडिया फिल्म बनाया गया. प्रभास के साथ लीड में लिया गया श्रद्धा कपूर को. तमिल, तेलुगु और हिंदी में रिलीज़ किया गया. बजट भी भारी-भरकम था. पूरे 350 करोड़ का. शूटिंग भी सिर्फ इंडिया में नहीं हुई. लोकेशन में दुबई, रोमानिया और ऑस्ट्रिया जैसे देश भी शामिल थे. 30 अगस्त, 2019 को फिल्म रिलीज़ हुई. कहानी थी एक अंडरकवर एजेंट और उसके पार्टनर की. बड़ी चोरी हो जाती है. 2000 करोड़ की. जिसके बाद इन दोनों एजेंट्स को जांच के लिए भेजा जाता है. दोनों पाते हैं कि मामला सिर्फ चोरी का नहीं. यहां तो कई बड़े गैंग्स शामिल हैं. और अब हालात बन गए हैं एक गैंग वॉर के. इस सब के बीच फंसे ये दोनों एजेंट्स क्या करेंगे, यही फिल्म की कहानी थी.

बाहुबली सीरीज़ के बाद प्रभास का अगला प्रोजेक्ट था 'साहो'.
बाहुबली सीरीज़ के बाद प्रभास का अगला प्रोजेक्ट था ‘साहो’.

फिल्म को अच्छा रिस्पॉन्स नहीं मिला. या तो सबको प्रभास से उम्मीदें ज़्यादा थीं या फिर फिल्म ही डिलीवर करने में नाकाम रही. बावजूद इसके, फिल्म ने दुनियाभर में करीब 433 करोड़ का कलेक्शन किया. इंडिया में इसका नेट कलेक्शन करीब 300 करोड़ का रहा. हिंदी वर्जन ने कमाए 143 करोड़ रुपए.


4. बाहुबली: दी बिगिनिंग (2015)
कमाई: 120 करोड़
कास्ट: प्रभास, अनुष्का शेट्टी, सत्यराज, राणा दागुबत्ती, तमन्ना भाटिया
डायरेक्टर: एसएस राजामौली

01 जून, 2015 को एक साउथ इंडियन फिल्म का ट्रेलर आया. आते ही झमाझम वायरल हो गया. ऐसा वक्त जब इंटरनेट पर हर चीज़ वायरल नहीं होती थी. कमेंट सेक्शन तारीफ़ों से खचाखच भर गया. लोग बाट देखने लगे कि फिल्म कब आएगी. जो कि लाज़मी भी था. शायद पहली बार इंडियन ऑडियंस अपने कलाकारों को इतने ग्रैंड स्केल पर देखने वाली थी. बहरहाल, फिल्म रिलीज़ हुई. और इंडियन सिनेमा के इतिहास में एक नया चैप्टर लिख डाला. 180 करोड़ के बजट में बनी ये एपिक दुनियाभर में करीब 600 करोड़ कमा गई. अपनी रिलीज़ के वक्त इंडिया में सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली फिल्म भी बनी.

8
इंडियन सिनेमा में नया चैप्टर लिखा ‘बाहुबली’ ने.

फिल्म का करिश्मा सिर्फ तेलुगु वर्ज़न तक ही सीमित नहीं रहा. फिल्म के हिंदी डब ने भी नए रिकॉर्ड अपने नाम किए. फिल्म ने नॉर्थ बेल्ट में करीब 120 करोड़ का कलेक्शन किया. इसी के साथ हिंदी में डब पहली साउथ इंडियन फिल्म बनी, जिसने 100 करोड़ का आंकड़ा पार किया. ऐसा नहीं है कि ‘बाहुबली’ से पहले साउथ इंडिया की फिल्में नॉर्थ में नहीं चलती थीं. लेकिन इतनी मोटी कमाई किसी ने नहीं की. ‘बाहुबली’ ने ये ट्रेंड बदला. और भी फिल्ममेकर्स को पैन-इंडिया एक्सपेरिमेंट करने की हिम्मत दी.


5. KGF (2018)
कमाई: 45 करोड़
कास्ट: यश, श्रीनिधि शेट्टी, अनंत नाग, हरीश राय
डायरेक्टर: प्रशांत नील

अपने वक्त की सबसे ज़्यादा बजट में बनी कन्नड फिल्म. 80 करोड़ की लागत में बनकर तैयार हुई. वो बात अलग है कि जब रिलीज़ हुई तो दुनियाभर में तीन गुना कमाई कर गई. करीब 250 करोड़ की. KGF ने कन्नड सिनेमा के जमे जमाए फॉर्मूले को उलट के धर दिया था. लोग सिर्फ ये फिल्म ही नहीं देखना चाहते थे. बल्कि, इस अनुभव को महसूस करना चाहते थे. सच में, KGF को बड़े पर्दे पर देखना एक अनुभव के समान ही था. फिल्म को 2460 स्क्रीन्स पर रिलीज़ किया गया था. जिनमें से करीब 1500 हिंदी बेल्ट में थी. 2 करोड़ की ओपनिंग के साथ फिल्म के हिंदी वर्ज़न ने 45 करोड़ का कलेक्शन किया.

कन्नड सिनेमा की दशा-दिशा बदलने वाली फिल्म.
कन्नड सिनेमा की दशा-दिशा बदलने वाली फिल्म.

फिल्म की कहानी ‘रैगस टू रिचेस’ टाइप की है. पर एकदम टिपिकल नहीं. पास्ट और प्रेजेंट में चलती रहती है. मेन किरदार है रॉकी. गरीबी में पैदा हुआ. लेकिन गरीबी में मरना नहीं चाहता. निकल पड़ता है दुनिया का सबसे पावरफुल आदमी बनने. इस सब में उसके साथ क्या-क्या घटता है, यही फिल्म की कहानी है. फिल्म आने से पहले इसके लीड एक्टर यश की पहचान सिर्फ कन्नड प्रदेश तक ही थी. रिलीज़ के बाद वो एक पैन-इंडिया नाम बन गए. ‘KGF’ शाहरुख खान की फिल्म ‘ज़ीरो’ के साथ रिलीज़ हुई थी. बॉक्स ऑफिस पर ऐसा तूफान मचाया कि ‘ज़ीरो’ का मार्केट पीट के रख दिया.


6. कबाली (2016)
कमाई: 28 करोड़
कास्ट: रजनीकांत, राधिका आपटे, साई धनशिका, किशोर
डायरेक्टर: पा रंजिथ

थलाईवा रजनीकांत की फिल्म. जिनका नाम भर जुड जाने से थिएटर भर जाते हैं. फिल्म ने गैर-हिंदी भाषाओं और विदेश में अच्छा बिज़नेस किया. इतना अच्छा कि अब तक कोहराम मचाने वाली ‘बाहुबली: द बिगिनिंग’ की कमाई को विदेश में पीछे छोड़ दिया. वो भी बड़े मार्जिन से. ‘बाहुबली’ ने करीब 75 करोड़ कमाए थे. वहीं, रजनीकांत की फिल्म ने 260 करोड़ का कलेक्शन कर डाला. ‘कबाली’ के हिंदी वर्ज़न ने पहले हफ्ते में करीब 22 करोड़ रुपए का बिज़नेस किया था. हालांकि, दूसरे हफ्ते में इस आंकड़े में बड़ा ड्रॉप देखने को मिला. 90 पर्सेंट का ड्रॉप. लेकिन फिर भी हिंदी में डब फिल्मों के बिज़नेस के लिहाज़ से इसके 28 करोड़ रुपए का कलेक्शन कम नहीं.

राधिका आपटे भी फिल्म का हिस्सा थीं.
राधिका आपटे भी फिल्म का हिस्सा थीं.

इंडिया में फिल्म को तमिल, तेलुगु और हिंदी में रिलीज़ किया गया था. फिल्म की कहानी का बड़ा हिस्सा मलेशिया में आधारित है. यही वजह है कि इसे वहां की मलय भाषा में भी रिलीज़ किया गया था. मलय में रिलीज़ होने वाली ये पहली तमिल फिल्म बनी. कहानी थी कबाली की. जो मलेशिया में काम करने वाले तमिल मज़दूरों के लिए लड़ता है. किसी झूठे आरोप में फंसाकर उसे जेल पहुंचा दिया जाता हैं. 25 साल बाद लौटता है. जिन्होंने उसके साथ गलत किया, उन सब को ढूंढने. अपना बदला लेने.


7. एंदीरन (2010)
कमाई: 24 करोड़
कास्ट: रजनीकांत, ऐश्वर्या राय, डैनी डेंग्ज़ोपा
डायरेक्टर: एस शंकर

कुछ फिल्मों के लिए कहा जाता है ‘अहेड ऑफ देयर टाइम’. यानि अपने समय से आगे. 2010 में आई ‘एंदीरन’ के लिए ये बात फिट बैठती है. ‘बाहुबली’ के आने के बाद बहुत कुछ बदल गया. लेकिन उससे पहले साउथ की इस फिल्म का हिंदी ऑडियंस के बीच बोलबाला था. तमिल में ‘एंदीरन’ के नाम से रिलीज़ हुई इस फिल्म को हिंदी ऑडियंस ‘रोबोट’ के नाम से पहचानती है. फिल्म के नाम एक और रिकॉर्ड था. उस वक्त की सबसे महंगी इंडियन फिल्म होने का. हालांकि, ये रिकॉर्ड आगे जाकर इसी के सीक्वल ने तोड़ा. ‘रोबोट’ ने यानी ‘एंदीरन’ के हिंदी वर्जन ने टोटल 24 करोड़ रुपए कमाए.

4
हिंदी में ‘रोबोट’ नाम से रिलीज़ हुई इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस तोड़ दिया था.

2001 में शंकर ने ‘नायक’ बनाई थी. अनिल कपूर और रानी मुखर्जी के साथ. ठीक उसके बाद ‘रोबोट’ अनाउंस कर डाली. कमल हासन और प्रीति जिंटा के साथ. हालांकि, डेट्स की वजह से प्रोजेक्ट अटक गया. शंकर भी दूसरी फिल्मों में बिज़ी हो गए. 2008 में रजनीकांत को लीड रोल ऑफर किया गया. वो मान गए और फिल्म का काम आगे बढ़ा. फिल्म की कहानी वसीगरण से शुरू होती है. साइन्टिस्ट हैं. ‘चिट्टी’ नाम के एक सुपर रोबोट का आविष्कार करते हैं. लेकिन AIRD की संस्था चिट्टी को अप्रूवल नहीं देती. कहती हैं कि तुम्हारा रोबोट मानवीय भावनाएं नहीं समझ सकता. चिट्टी की ये कमी पूरी करने के लिए उसे इमोशन दिए जाते हैं. और यहीं से पूरी कहानी घूम जाती है. चिट्टी अपने ही रचयिता के सामने आ खड़ा होता है. वसीगरण अब क्या करता है, यही फिल्म की कहानी है.


8. विश्वरूपम (2013)
कमाई: 19 करोड़
कास्ट: कमल हासन, शेखर कपूर, पूजा कुमार, राहुल बोस
डायरेक्टर: कमल हासन

हिंदी ऑडियंस को कमल हासन के नाम से परिचित करवाने की कोई जरूरत नहीं. क्यूंकि उन्होंने भी कमल की फिल्में ‘नायकन’, ‘चाची 420’, ‘हे राम’ और ‘विश्वरूपम’ बड़े चाव से देखी. फिल्म के हिंदी वर्ज़न ने अपने पहले हफ्ते में 11.5 करोड़ रुपए का बिज़नेस किया. हिंदी वर्जन का टोटल कलेक्शन रहा 19 करोड़ रुपए. वहीं, फिल्म का टोटल वर्ल्डवाइड कलेक्शन 220 करोड़ का रहा. 2018 में फिल्म का सीक्वल भी आया था.

कमल हासन ही फिल्म के डायरेक्टर और को-राइटर भी थे.
कमल हासन ही फिल्म के डायरेक्टर और को-राइटर भी थे.

कहानी शुरू होती है विश्वनाथ से. कथक टीचर है. बीवी को विश्वनाथ के बारे में कुछ खटकता है. कि ये जैसा बनता है, रियलिटी में वैसा नहीं. इसी वजह से डिटेक्टिव को अपने पति के पीछे लगा देती है. डिटेक्टिव को जो पता लगता है, उससे इन सब की दुनिया बदल जाती है. कमल ने ही फिल्म को लिखा और डायरेक्ट किया था.


9. आई (2015)
कमाई: 18 करोड़
कास्ट: विक्रम, एमी जैकसन, उपेन पटेल, सुरेश गोपी
डायरेक्टर: एस शंकर

डायरेक्टर शंकर की एक और हिट फिल्म. तमिल के साथ-साथ तेलुगु और हिंदी में रिलीज़ की गई. फिल्म के हीरो थे विक्रम. जिन्हें हिंदी ऑडियंस ‘अपरिचित’ से पहचानती है. ‘आई’ में अपनी परफॉरमेंस के लिए उन्हें बेस्ट एक्टर का फिल्मफेयर अवॉर्ड भी मिला था. यहां उन्होंने एक बॉडी बिल्डर का किरदार निभाया. नाम था लिंगेसन. लिंगेसन को टॉप मॉडल दिया के साथ काम करने का मौका मिलता है. दोनों की जोड़ी हिट हो जाती है. लिंगेसन की सक्सेस से जलकर कुछ लोग उसे एक ड्रग दे देते हैं. जिससे उसकी पूरी बॉडी खराब हो जाती है. आगे जाकर लिंगेसन इन्हीं लोगों से अपना बदला लेता है. इस सब के बीच क्या होता है, यही फिल्म की कहानी है.

डायरेक्टर शंकर की एक और हिट फिल्म.
डायरेक्टर शंकर की एक और हिट फिल्म.

फिल्म में बॉडी बिल्डर लिंगेसन का किरदार हॉलीवुड एक्टर अर्नोल्ड श्वॉर्जनेगर से प्रेरित है. यही कारण है कि फिल्म के म्यूज़िक लॉन्च पर अर्नोल्ड भी मौजूद थे. रिलीज़ के बाद फिल्म को बम्पर रिस्पॉन्स मिला. बॉक्स ऑफिस इंडिया के मुताबिक फिल्म ने पहले ही दिन साउथ इंडिया में 21 करोड़ का कलेक्शन किया था. फिल्म का अब तक का टोटल कलेक्शन है 225 करोड़ रुपए. और हिंदी वर्जन ने कमाए टोटल 18 करोड़.


10. बॉम्बे (1995)
कमाई: 13 करोड़
कास्ट: अरविंद स्वामी, मनीषा कोइराला, प्रकाश राज, आकाश खुराना
डायरेक्टर: मणि रत्नम

‘बॉम्बे’ को उस समय की ‘बाहुबली’ कहना गलत नहीं होगा. फिल्म की कहानी 1993 में हुए दंगों पर आधारित थी. जो मणि रत्नम के डायरेक्शन और एआर रहमान के म्यूज़िक से और निखर गई. अरविंद स्वामी और मनीषा कोइराला लीड रोल मे हैं. अरविंद ने यहां एक जर्नलिस्ट का रोल किया. जिसे शहला नाम की एक मुस्लिम लड़की से प्यार हो जाता है. परिवार नहीं मानता. तो वो उनकी मर्जी के खिलाफ जाकर उससे शादी कर लेता है. फिर आता है साल 1993. दंगे फैलते हैं. जिसमें इनके जुड़वा बच्चे खो जाते हैं.

फिल्म का म्यूज़िक और डायरेक्शन बेहद शानदार हैं.
फिल्म का म्यूज़िक और डायरेक्शन बेहद शानदार हैं.

फिल्म की कहानी बेहद मार्मिक थी. हिंदी बेल्ट में खूब पसंद की गई. उस समय की साउथ से हिंदी में डब हुई सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली फिल्म बनी. बॉक्स ऑफिस इंडिया के मुताबिक फिल्म के हिंदी वर्ज़न ने 13 करोड़ का कलेक्शन किया. उस समय के हिसाब से ऐसा कलेक्शन वाकई बड़ी बात है.


11. हिंदुस्तानी (1996)
कमाई: 11 करोड़
कास्ट: कमल हासन, मनीषा कोइराला, उर्मिला मातोंडकर
डायरेक्टर: एस शंकर

इंडिया में कम ही फिल्में बनी हैं जो विजिलांटे जस्टिस को जस्टिफाय करती हैं. उन चुनिंदा फिल्मों में से एक है ‘इंडियन’. जिसे हिंदी में ‘हिंदुस्तानी’ के नाम से रिलीज़ किया गया. फिल्म में कमल हासन का डबल रोल था. एक स्वतंत्रता सेनानी, जो अपने आसपास हो रहे भ्रष्टाचार से तंग आ चुका है. कुछ करना चाहता है. एक-एक कर भ्रष्ट सरकारी अधिकारियों को मारना शुरू कर देता है. अंत में बात पहुंचती है उसके भ्रष्ट बेटे पर. यहां भी वो मोह में नहीं पड़ता. और अपने बेटे को मारने के मिशन पर निकल पड़ता है. फिल्म का एक्शन और एक पिता का ऐसा अनुशासन जनता को खूब भाया. इस पॉइंट पर नॉर्थ बेल्ट की ऑडियंस शंकर के काम से भी परिचित हो चुकी थी.

कमल हासन ने फिल्म में डबल रोल निभाया है.
कमल हासन ने फिल्म में डबल रोल निभाया है.

फिल्म ने तीन नैशनल अवॉर्ड अपने नाम किए. यहां तक कि इसे उस साल इंडिया की तरफ से ऑस्कर्स के लिए भी भेजा गया था. फिल्म ने 25 करोड़ कमाए. जिसमें से 11 करोड़ इसके हिंदी वर्ज़न का कलेक्शन था.


वीडियो: जब इंडस्ट्री में शिल्पा के ‘मनहूस’ होने की अफवाह उड़ी और काम मिलना बंद हो गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

Realme X7 Pro: ये तो वनप्लस नॉर्ड का बड़ा भाई लगता है!

पहली नज़र में कैसा लगा Realme X7 Pro स्मार्टफोन, आइए बताते हैं.

फिल्म रिव्यू- डूब: नो बेड ऑफ रोजेज़

इरफान के गुज़रने के बाद उनकी पहली फिल्म रिलीज़ हुई है. और 'डूब' का अर्थ वही है, जो आप समझ रहे हैं.

मूवी रिव्यू: मास्साब

नेक कोशिश वाली जो मुट्ठीभर फ़िल्में बनती हैं, उनमें इस फिल्म का नाम लिख लीजिए.

आयरन मैन, स्पाइडर मैन छोड़िए, बचपन में टीवी पर आने वाले ये 5 देसी सुपरहीरो याद हैं आपको?

उस वक़्त का टीवी आज से ज़्यादा स्मार्ट था. आज के मुकाबले कंटेंट कम था लेकिन जितना था, लाजवाब था.

'ओ बेटा जी' वाले भगवान दादा की 34 बातें: जिन्हें देख अमिताभ, गोविंदा, ऋषि कपूर नाचना सीखे!

हिंदी सिनेमा के इन बड़े विरले एक्टर को याद कर रहे हैं.

FAU-G गेम रिव्यू : एक ही बटन पीटते-पीटते थक गया हूं ब्रो!

अच्छे मौक़े को गंवाना कोई इनसे सीखे.

मूवी रिव्यू: दी व्हाइट टाइगर

कई पीढ़ियों में एक बार पैदा होता है व्हाइट टाइगर, इसलिए खास है. पर क्या फिल्म के बारे में भी ये कहा जा सकता है?

फिल्म रिव्यू- मैडम चीफ मिनिस्टर

मैडम चीफ मिनिस्टर जिस ताबड़तोड़ तरीके से शुरू होती है, वो खत्म होते-होते वापस उतनी ही दिलचस्प और मज़ेदार हो जाती है. मगर दिक्कत का सबब है वो सब, जो शुरुआत और अंत के बीच घटता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू- तांडव

'तांडव' बड़े प्रोडक्शन लेवल पर बनी एक छिछली पॉलिटिकल थ्रिलर है, जिसे लगता है कि वो बहुत डीप है.

मूवी रिव्यू: त्रिभंग

कैसा रहा काजोल का डिजिटल डेब्यू?