Submit your post

Follow Us

चर्चित कंपनियों के टॉप अधिकारी रहे ये लोग इस्तीफे के बाद अब क्या कर रहे हैं?

ऑनलाइन फूड डिलीवरी ऐप जोमैटो के को-फाउंडर और मुख्य परिचालन अधिकारी (COO) गौरव गुप्ता ने इस्तीफा दे दिया. उनका ये इस्तीफा अचानक हुआ है. इसी बहाने हम उन लोगों के बारे में जानेंगे, जिन्होंने कंपनी के बड़े पद पर रहते हुए अचानक इस्तीफा दे दिया. साथ ही ये भी जानने की कोशिश करेंगे कि इस्तीफा देने वाले ये लोग कंपनी छोड़ने के बाद क्या कर रहे हैं.

गौरव गुप्ता

गौरव गुप्ता जोमैटो के को-फाउंडर थे. 14 सितंबर को उन्होंने कंपनी से इस्तीफा दे दिया. गौरव गुप्ता ने IIT और IIM जैसे बड़े संस्थानों से पढ़ाई की थी. इसके बाद एक दशक तक A.T. Kearney में कंसल्टेंट के तौर पर काम किया. जुलाई 2015 में उन्होंने जोमैटे में पारी शुरू की थी. 2018 में उनको कंपनी का Chief Operating Officer  (COO) बनाया गया था. फिर 2019 में उन्हें फाउंडर बनाया गया था.

जोमैटो के IPO में गौरव गुप्ता प्रमुख चेहरों में से एक थे. उन्होंने जोमैटो का न्यूट्रीशन और ग्रॉसरी बिजनेस शुरू करने पर फोकस किया था. हालांकि पिछले हफ्ते कंपनी ने इस बिजनेस को बंद करने का ऐलान किया. कुछ खबरों में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि पिछले कुछ समय से जोमैटो के को-फाउंडर दीपेंदर गोयल के साथ गौरव गुप्ता के रिश्ते अच्छे नहीं चल रहे थे.

Gaurav Gupta
गौरव गुप्ता ने 6 साल बाद जौमैटो से इस्तीफा दिया है. (फाइल फोटो- आज तक)

आगे क्या?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गौरव गुप्ता के बारे में कहा जा रहा है कि वो अपनी नई कंपनी शुरू कर सकते हैं. हालांकि फिलहाल वो परिवार के साथ वक्त बिताना चाहते हैं. नई कंपनी शुरू करने को लेकर कुछ खास जानकारी मीडिया में नहीं आई है.

अमित नय्यर

जानी मानी डिजिटल पेमेंट कंपनी पेटीएम के प्रेसिडेंट अमित नय्यर ने इसी साल जुलाई में इस्तीफा दिया था. Goldman Sachs में काम कर चुके नय्यर 2019 में पेटीएम बोर्ड से जुड़े थे. उन्हें इस स्टार्टअप कंपनी की फाइनेंशियल सर्विसेज आर्म का जिम्मा सौंपा गया था. नय्यर ने कंपनी के इंश्योरेंस और लेंडिंग वर्टिकल्स को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई थी. उन्होंने पेटीएम का IPO आने से पहले कंपनी से इस्तीफा दे दिया था. वो प्रेजिडेंट के रूप में कंपनी में आए थे.

Amit Nayyar
अमित ने इसी साल जुलाई में इस्तीफा दिया था.

इस्तीफे के बाद क्या?

पेटीएम के प्रेसिडेंट पद से इस्तीफा देने के बाद अमित नय्यर कहां गए, इस बारे में मीडिया में कुछ खास जानकारी नहीं है.

विनोद दसारी

बुलेट मोटरसाइकिल बनाने वाली कंपनी रॉयल एनफील्ड के CEO विनोद दसारी ने इसी साल अगस्त में इस्तीफा दे दिया. वो करीब 2 साल से इस पद पर थे. रॉयल एनफील्ड आयशर मोटर्स की एक डिविजन है. दसारी अप्रैल 2019 में रॉयल एनफील्ड से जुड़े थे. इससे पहले उन्होंने 14 साल तक देश की दूसरी सबसे बड़ी कमर्शियल वीकल मेकर कंपनी अशोक लीलेंड में काम किया था. रॉयल एनफील्ड में उनके कार्यकाल का अधिकांश हिस्सा कोविड-19 को चुनौतियों से निपटने में चला गया था. इस दौरान वो UCE प्लेटफॉर्म से नई जेनरेशन और जे एंड पी के ट्रांजिशन में सफल रहे थे. उन्होंने घरेलू और विदेशी बाजारों में ब्रांड के विस्तार के लिए कई कदम उठाए थे.

Vinod K Dasari
Vinod K Dasari के कार्यकाल का अधिकांश हिस्सा कोविड की चुनौतियों से निपटने में चला गया था.

इस्तीफे के बाद क्या?

दसारी के इस्तीफे के बाद ऐसी खबरें आईं कि उन्होंने चेन्नई में अपनी पत्नी के नॉट फॉर प्रॉफिट हॉस्पिटल को जॉइन किया. उनकी योजना देश में सस्ती हेल्थ केयर सुविधाएं बनाने की है.

अनंत नारायणन

ऑनलाइन फैशन रिटेलर मिंत्रा के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) अनंत नारायणन ने जनवरी 2019 में पद से इस्तीफा दे दिया था. नारायणन ने जुलाई 2015 में मिंत्रा के CEO का पद संभाला था. इससे पहले वे मैकिंजे एंड कंपनी से जुड़े हुए थे. अनंत ने मिंत्रा के नेतृत्व में कंपनी लगातार विस्तार और विकास करती रही. पिछले 4 सालों के दौरान उन्होंने मिंत्रा और जबांग की नींव को मजबूत करने का काम किया. इसके लिए उन्होंने अपनी अलग रणनीति बनाई. इसकी वजह से दोनों कंपनियों ने बाजार में अपनी पहचान कायम रखी.

Anant Narayan
अनंत नराणय से चार साल बाद इस्तीफा दिया था.

इस्तीफे के बाद क्या?

इस्तीफे के समय खबर आई थी कि अनंत नारायण अपनी नई पारी Hotstar के साथ शुरू कर सकते हैं.

नरेश गोयल

वित्तीय संकट में फंसी जेट एयरवेज के चेयरमैन और संस्थापक नरेश गोयल ने मार्च 2019 में इस्तीफा दे दिया था. करीब ढाई दशक पहले पत्नी अनीता के साथ जेट एयरवेज की नींव रखने वाले नरेश गोयल ने इसे देश की दूसरी सबसे बड़ी एयरलाइन बनाया था, लेकिन कर्ज के बढ़ते बोझ ने सब खत्म कर दिया था. 1973 में गोयल ने खुद की ट्रैवल एजेंसी खोली. नाम दिया जेट एयर. लोग जब उनका मजाक उड़ाते तब वो कहा करते थे कि एक दिन वो खुद की एयरलाइन कंपनी खोलेंगे. 1991 में उनका ये सपना पूरा हो गया. उन्होंने एयर टेक्सी के रूप में जेट एयरवेज की शुरुआत की. एक साल बाद उनकी जेट ने चार जहाजों का एक बेड़ा बना लिया और जेट एयरक्राफ्ट की पहली उड़ान शुरू हो गई. लेकिन बाद में कुछ गलत फैसलों की वजह से कंपनी कर्ज में डूबती चली गई.

2012 में जेट एयरवेज देश की सबसे बड़ी एयरलाइंस कंपनी बन गई थी.
2012 में जेट एयरवेज देश की सबसे बड़ी एयरलाइंस कंपनी बन गई थी.

इस्तीफे के बाद क्या?

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल और कुछ अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया था. गोयल को हिरासत में लेकर घंटों पूछताछ की थी. उनके परिसरों पर छापा मारा था.


टेस्ला के CEO मस्क की मोदी सरकार से इस मांग का टाटा क्यों विरोध कर रही है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

ट्रेलर रिव्यू: हॉकआई

कैसा है मार्वल की इस नई सीरीज़ का ट्रेलर?

फ़िल्म रिव्यू: तुगलक़ दरबार

कैसी है कमाल के एक्टर विजय सेतुपति की नई फ़िल्म?

फिल्म रिव्यू- थलैवी

'थलैवी' के पास भरपूर मौका था कि वो एक ऐसी बायोपिक बन सके, जिसकी मिसालें दी जातीं. मगर 'थलैवी' ये मौका बड़े मार्जिन से चूक जाती है.

ट्रेलर रिव्यू: कोटा फैक्ट्री सीज़न 2

जीतू भैया क्या नया करना वाले हैं?

ट्रेलर रिव्यू: मैट्रिक्स रिसरेक्शन्स

कियानू रीव्स एक बार फ़िर नियो बनकर रेड पिल-ब्लू पिल खिलाने आ रहे हैं.

वेब सीरीज़ रिव्यू: मुंबई डायरीज़

कैसी है मोहित रैना और कोंकणा सेन शर्मा की अमेज़न प्राइम पर रिलीज़ हुई ये सीरीज़?

वेब सीरीज रिव्यू- कैंडी

'कैंडी' अपने होने को सार्थक बनाने के लिए हर वो चीज़ करती है, जो की जा सकती थी. जानिए कैसी है वूट पर आई नई वेब सीरीज़.

ट्रेलर रिव्यू: सेक्स एजुकेशन

नेटफ्लिक्स की इस महापॉपुलर सीरीज का ट्रेलर कैसा है?

ट्रेलर रिव्यू: द गिल्टी

जैक जिलेनहॉल जैसे ज़बरदस्त एक्टर की फ़िल्म का ट्रेलर कैसा है?

फिल्म रिव्यू: शांग-ची एंड दी लीजेंड ऑफ दी टेन रिंग्स

ये फिल्म इसलिए चर्चा में है क्योंकि पहली बार किसी मार्वल की सुपरहीरो फिल्म का नायक एशियाई मूल का है. जानिए कैसी है ये फिल्म.