Submit your post

Follow Us

लॉकडाउन में बनी कमाल की 12 इंडियन मूवीज़ और वेब सीरीज़

आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है. ऐसा कुछ स्कूल में पढ़ा था. तब हवा में फुर्र–फुर्र कर उड़ने वाला शक्तिमान रियल लगता था. और ये सब बातें किताबी. बड़े हुए तो समझ आया कि किसीने सोच समझकर ही लिखा है. और अब तो इस बात के प्रमाण भी नज़र आने लगे हैं. किसी महामारी में शेक्सपियर चचा ने ‘किंग लियर’ लिख डाला था. इस साल पैन्डेमिक भी कुछ ऐसे ही हालात ले आया. तो इस साल भी अविष्कार करने वाले निकले. और अपने आस-पास जो मिला, जो दिखा, उसी को यूज़ किया. फिल्में बना डालीं, सीरीज़ बना डालीं. किसने बनाई, उनमें कौन-कौन है, और देख कहां सकते हैं, ये सब डिटेल में जानेंगे अपन.

1. दी गॉन गेम (सीरीज़)

कास्ट: संजय कपूर, अर्जुन माथुर, श्वेता त्रिपाठी शर्मा, श्रिया पिलगांवकर

डायरेक्टर: निखिल नागेश भट्ट

कहां देखें: वूट

Gone Game
‘मेड इन हेवन’ वाले अर्जुन माथुर ही यहां साहिल बने हैं. फोटो – ट्रेलर

कहानी: 25 मिनट्स के 4 एपिसोड. गुजराल फैमिली की स्टोरी. अलग-अलग शहरों में हैं. और तभी दस्तक दे देता है कोरोना. अब तो चाह के भी नहीं मिल सकते. कोरोना को लेकर डर भी है और अनिश्चितता भी. इसी बीच खबर आती है साहिल की. घर का बड़ा बेटा. अचानक तबीयत खराब होने लगती है. पाता है कि कोरोना पॉज़िटिव है. कुछ समय बाद डेथ भी हो जाती है. पर असली सस्पेन्स अब बनता है. जब फैमिली को साहिल के निशान मिलने लगते हैं. शक होने लगता है कि क्या वाकई कोरोना से ही डेथ हुई है? या फिर डेथ हुई भी है, क्यूंकि डेड बॉडी किसी ने देखी नहीं. ये शो आपको एन्गेज करके रखेगा.


2. वकालत फ्रॉम होम  (सीरीज़)

कास्ट: सुमित व्यास, निधि सिंह, कुबरा सैत, गोपाल दत्त

डायरेक्टर: रोहन सिप्पी

कहां देखें: अमेज़न प्राइम वीडियो

Wakalat From Home
इस वर्चुअल अदालत में केस कम सुलझता है और रायता ज़्यादा फैलता है. फोटो – ट्रेलर

कहानी: ‘पर्मानेन्ट रूममेट्स’ वाले सुमित व्यास और निधि सिंह यहां भी एक कपल बने है. पर उस शो की तरह एक दूसरे के करीब आने के मौके नहीं ढूंढ रहे. बल्कि, पीछा छुड़ाना चाहते हैं. इतना कि मामला कोर्ट तक पहुंच गया. जज साहब को लगा कि मामला सीरीयस नहीं है. इसलिए केस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर निपटा लो. तभी शुरू होता है 10 कोर्ट सेशंस का सिलसिला. सामने आते हैं दोनों के वकील. कुबरा बनी हैं सुमित के किरदार की लॉयर. वहीं, गोपाल दत्त निधि के किरदार को रिप्रेज़ेंट कर रहे हैं. घर से पूरा केस चलता है. ज़ाहिर है कॉमेडी ऑफ एरर्स होना तय है. कभी किसी बहस के बीच इंटरनेट अटकता है. तो कभी जज साहब की मम्मी पूछ बैठती हैं कि किससे बातें कर रहा है. इन्हीं सब हरकतों के साथ केस वर्डिक्ट तक पहुंचता है.


3. अ वायरल वेडिंग (सीरीज़)

कास्ट: श्रेया धन्वंतरी, अमोल पराशर, मोहित रैना, सोनाली सचदेव

डायरेक्टर: श्रेया धन्वंतरी

कहां देखें: एरॉस नाउ

A Viral Wedding
बड़ी शादी का प्लान था. इसीलिए इंटरनेट को ही मंडप बना डाला. फोटो – ट्रेलर

कहानी: ‘स्कैम 1992’ वाली सुचेता दलाल तो याद ही होंगी. यानि श्रेया धन्वंतरी. उन्होंने ही ये शो लिखा, डायरेक्ट किया और यहां तक की लीड रोल में भी हैं. शो शुरू होता है निशा से. एक सोशल मीडिया इनफ़्लूएंसर. 3 हफ्ते बाद शादी है. प्लान हैं एकदम बॉलीवुड टाइप बड़ी शादी के. पर तभी लॉकडाउन लग जाता है और सारे अरमान हवा हो जाते हैं. पर निशा भी ऐसे हार नहीं मानने वाली. सोचती है कि जब पूरी दुनिया वर्चुअल हो चुकी है, तो शादी क्यूं नहीं. और यहीं से इनकी वर्चुअल शादी की तैयारियां शुरू होती हैं. कहानी को साथ लेते हुए शो ने एक और काम किया. पब्लिक सर्विस अनाउन्समेंट को पूरी जगह दी. जो उस समय की जरूरत थी.


4. होम स्टोरीज़ (एंथोलॉजी फिल्म)

कास्ट: अर्जुन माथुर, अपूर्वा अरोरा, वीर राजवंत सिंह, इमाद शाह

डायरेक्टर: साहिर सेठी, अनुभूति कश्यप, तन्वी गांधी, अश्विन लक्ष्मी नारायण

कहां देखें: यूट्यूब

कहानी: पूरी तरह लॉकडाउन में बनीं 4 कहानियां. पहली शुरू होती है एक आदमी से. जो डरा हुआ है. कोरोना के इस माहौल से. कि ना जाने बाहर कदम रखेगा तो क्या हो जाएगा. अपने इसी डर से जूझता है.

Home Stories
इस डर के आगे जीत हो पाती है या नहीं? फोटो – ट्रेलर

दूसरी है एक यंग कपल की. एक रात के लिए मिले. पर क्या पता था कि ये रात तीन हफ्ते लंबी खिंच जाएगी. क्यूंकि तभी से लॉकडाउन शुरू हो जाता है. 21 दिन साथ रहते हैं. एक-दूसरे को झेलते हैं या खुश रहते हैं, ये देखने लायक है.

Home Stories
एक रात के लिए मिले थे पर अब तीन हफ्ते तक एक दूसरे को झेलना है. फोटो – ट्रेलर

तीसरी कहानी है एक डिलीवरी बॉय की. लॉकडाउन ने इन्हें भी अलग दुनिया दिखा दी. कहीं डिलीवरी करने गए तो सामने वाला मास्क की जगह वॉटर कैन लगाए बैठा है. तो कहीं लिफ्ट को उंगली भर से छूना तक मना है. तब की कहानी, जब लोगों में कोरोना को लेकर वाकई डर था. शायद थोड़ा ज़रूरत से ज़्यादा.

Home Stories
डिलीवरी बॉय के चश्मे से कोरोनाकाल की कहानी. फोटो – ट्रेलर

चौथी कहानी है एक ऑनलाइन शादी की. जहां सारी रस्में इंटरनेट पे ही हो रही हैं. दुल्हन की मेहंदी, संगीत वगैरह सब. खूब ड्रामे भी होते हैं. लास्ट में शादी हो पाती है या नहीं, ये फिल्म बताएगी.

Home Stories
एक साल पहले तक किसने सोचा था कि इंटरनेट पे शादियां होंगी. फोटो – ट्रेलर

5. सी यू सून (फिल्म)

कास्ट: फहाद फ़ासिल, रौशन मैथ्यूज़, दर्शना राजेंद्रन

डायरेक्टर: महेश नारायणन

कहां देखें: अमेज़न प्राइम वीडियो

C U Soon
फहाद फ़ासिल, जिनका जन्म ही शायद तारीफ़ें बटोरने के लिए हुआ है. फोटो – ट्रेलर

कहानी: इंडिया की पहली कंप्युटर स्क्रीन फिल्म. शुरू होती है दुबई में रहने वाले जिमी से. एक दिन डेटिंग ऐप पर अनु से मुलाकात होती है. बातें शुरू हो जाती हैं. जल्द ही प्यार में भी पड़ जाता है. पर तभी अचानक अनु गायब हो जाती है. बिना किसी साइन के. ये सब जिमी की समझ से परे है. इसीलिए  अपने कज़िन केविन की हेल्प लेता है. जो एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर है. केविन अपनी इन्वेस्टिगेशन शुरू करता है. अनु के सोशल मीडिया से लेकर सीसीटीवी तक, सब छान डालता है. पर कुछ हाथ नहीं आता. अनु की मिस्ट्री डिकोड करने में केविन के सामने क्या-क्या आता है, वही फिल्म का प्लॉट है. अक्सर हम देखते हैं कि जहां टेक्नोलॉजी का गज़ब इस्तेमाल है, वहां कहानी को पीछे का दरवाजा दिखा दिया जाता है. पर यहां ऐसा नहीं है. कहानी इतनी ग्रिपिंग है कि ध्यान नहीं हटने देगी. और एक्टर्स का तो क्या ही कहना.


6. अनपॉज़्ड (एंथोलॉजी फिल्म)

कास्ट: सैयामी खेर, गुलशन देवैया, ऋचा चड्ढा, सुमित व्यास, लिलेट दुबे, अभिषेक बनर्जी, रत्ना पाठक शाह, शार्दुल भारद्वाज

डायरेक्टर: राज एंड डीके, निखिल आडवाणी, तनिष्ठा चैटर्जी, अविनाश अरुण, नित्या मेहरा

कहां देखें: अमेज़न प्राइम वीडियो

कहानी: कोविड-19 और उससे उपजे असाधारण हालातों पर बनी 5 कहानियां. पहली कहानी है फ्यूचर की. जहां कोविड-19 नहीं, कोविड-30 चल रहा है. वर्चुअल का ज़माना है. यहां तक कि डेट भी. ऐसी ही एक डेट पर अहान मिलता है आयशा से. पहली नज़र में पसंद आ जाती है. लेकिन नहीं जानता कि आयशा एक वैक्सीन वॉरियर है. और वो एक रजिस्टर्ड हाइपो. जब पता चलेगा तो क्या होने वाला है, ये फिल्म बताएगी.

Unpaused
दोनों की केमिस्ट्री फिल्म में जम रही है. फोटो – ट्रेलर

दूसरी कहानी देविका की. जो एक फेमस मैगजीन की मालकिन है. मैगजीन का एडिटर उसका पति साहिल है. जनता कर्फ्यू लग चुका है. इस दौरान देविका लगातार सुसाइड करने की कोशिश कर रही है. पर इसकी वजह क्या है? और क्या इसका साहिल से कुछ लेना-देना है? ये फिल्म देखकर जानिए.

Unpaused
आखिर सुसाइड की वजह क्या है? फोटो – ट्रेलर

तीसरी कहानी है अर्चना जी और प्रियंका की. एक ही सोसाइटी में रहती हैं. अपने शिकायती नेचर की वजह से अर्चना जी की किसी से नहीं बनती. एक अज़ीब सी सिचुएशन क्रिएट हो जाती है. जिसकी वजह से अर्चना जी और प्रियंका को साथ समय बिताना पड़ता है. दोनों के इस कुछ समय के साथ के परिणाम क्या होते हैं, फिल्म में देखिए.

Unpaused
‘सैराट’ वाली रिंकू राजगुरु यहां प्रियंका बनी हैं. फोटो – ट्रेलर

चौथी कहानी है एक मजदूर परिवार की. लॉकडाउन लग चुका है. ये फैमिली मुंबई में फंस चुकी है. मकान मालिक ने निकाल दिया तो एक सैम्पल फ्लैट में चुपचाप रह रहे हैं. राशन भी खत्म होने को है. वापस अपने गांव जाने का कोई साधन नहीं. ये समस्या कैसे सुलझेगी? सुलझेगी भी या नहीं, जवाब फिल्म में मिलेगा.

Unpaused
‘पाताल लोक’ वाले हथोड़ा त्यागी ही परिवार के मुखिया बने हैं. फोटो – ट्रेलर

आखिरी कहानी. उमा एक सीनियर सिटिज़न हैं. अकेले रहती हैं. लॉकडाउन के दौरान एक दिन दवाइयां लेने निकल पड़ती हैं. रास्ते में मिलता है रफीक. एक ऑटोवाला. रफीक की भी इस कोरोना काल से कुछ शिकायतें हैं. धीरे-धीरे दोनों की बातचीत शुरू होती है. शक और अविश्वास से शुरू हुई इनकी सवारी अब एक प्यारी से दोस्ती में तब्दील होने लगती है. फिल्म का ये हिस्सा आपका दिल खुश कर जाएगा.


7. पथम पुधु कालाई (एंथोलॉजी फिल्म)

कास्ट: कालिदास जयराम, रितु वर्मा, श्रुति हासन, सुहासिनी मनी रत्नम, एंड्रिया जेरेमिया

डायरेक्टर: सुधा कोंगरा, गौतम मेनन, सुहासिनी मनी रत्नम, राजीव मेनन, कार्तिक सुब्बराज

कहां देखें: अमेज़न प्राइम वीडियो

कहानी: कोरोना जैसे अनिश्चित दौर में सेट. उम्मीद भरी 5 कहानियां. जो प्यार और नई शुरुआत करने में यकीन रखती हैं. पहली कहानी है राजीव और लक्ष्मी की. दोनों लगभग उम्र में 60 का आंकड़ा पार कर चुके है. एक दूसरे को चाहते हैं. इसी कारण लक्ष्मी दो दिन के लिए जयराम के घर आकर ठहरती है. अपनी फैमिली को बिना बताए. पर तभी लॉकडाउन लग जाता है. और ये दो दिन का स्टे 21 दिन में बदल जाता है. इन्हीं 3 हफ्तों में पुराने दिनों के गलियारों में भी उतरते हैं. इनके रिश्ते में क्या मोड आएगा? और क्या होगा जब इनके परिवारों को इनके बारे में पता चलेगा, ये फिल्म देखकर जानेंगे.

क्या होगा जब इनके परिवारों को इनके अफेयर का पता चलेगा? फोटो - ट्रेलर
क्या होगा जब इनके परिवारों को इनके बारे में पता चलेगा? फोटो – ट्रेलर

दूसरी कहानी. एक दादा और पोती के रिश्ते की. दोनों में बिल्कुल नहीं बनती. तभी अचानक दादाजी की तबीयत बिगड़ जाती है. जिस वजह से पोती को ध्यान रखने आना पड़ता है. साथ समय बिताते हैं. पुरानी खटास पिघलती है या नहीं, यही आगे की कहानी है.

तीसरी कहानी है एक मां और तीन बेटियों की. हर साल ये बेटियां अपनी मां का बर्थडे चाव से मनाती हैं. पर इस बार बात कुछ अलग है. इनकी मां कोमा में है. घर में ऐसा माहौल और ऊपर से कोरोना. क्या इस फैमिली को फिर से हंसने-खेलने या नॉर्मल फ़ील करने का मौका मिलेगा?

ऐसे अनिश्चित समय में इस फैमिली को एक और बुरी खबर मिलेगी या कहीं से उम्मीद की किरण. फोटो - ट्रेलर
ऐसे अनिश्चित समय में इस फैमिली को एक और बुरी खबर मिलेगी या कहीं से उम्मीद की किरण. फोटो – ट्रेलर

चौथी कहानी. दो स्कूल के ज़माने के दोस्त. साधना और विक्रम. फिर मिलते हैं. साधना की बाइक खराब हो जाती है. जिस कारण विक्रम के घर रुकना पड़ता है. इसी दौरान लॉकडाउन लग जाता है. अब तो बाहर निकलने के सारे रास्ते बंद. तो यहीं रुक जाती है. इसी स्टे के दौरान विक्रम को पता चलता है कि साधना कोकेन एडिक्ट है. विक्रम अपनी दोस्त की कैसे हेल्प करता है, ये फिल्म देखने पर पता चलेगा. एक बात तय है पर. ये कहानी खत्म होने के बाद आपके चेहरे पर एक चौड़ी सी मुस्कान होगी.

बाबाजी ने जो कहा, दोनों चोरों ने हाथ जोड़ के माना. फोटो - ट्रेलर
बाबाजी ने जो कहा, दोनों चोरों ने हाथ जोड़ के माना. फोटो – ट्रेलर

पांचवी और आखिरी कहानी. देवन और उसका साथी. दोनों एक नंबर को लुच्चे चोर. चाहते हैं कि एक बड़ी चोरी करें और सब सेट हो जाए. दोनों चाहे कितने ही बड़े फ्रॉड हों, पर एक मामले में सच्चे हैं. टीवी पर एक बाबा को फॉलो करते हैं. बाबा जो बोलते हैं, ये लपेटते जाते हैं. आगे सपनों वाली बड़ी चोरी कर पाते हैं या नहीं, ये देखने लायक है. सारी कहानियों में से सबसे मज़ेदार यही है. बोले तो फुल टू फन.


8. लॉक्ड इन लव (सीरीज़)

कास्ट: रोहित रॉय, मानसी जोशी रॉय

डायरेक्टर: रोहित रॉय

कहां देखें: एमएक्स प्लेयर

Locked In Love
रोहित और मानसी ने 10 किरदार निभाए हैं. फोटो – ट्रेलर

कहानी: एक घर में सेट 5 कहानियां. 2 परफ़ॉर्मर्स. मायनों को तलाशना. कैसे सभी की लाइफ में प्यार होते हुए भी, सबकी उम्मीदें उससे अलग-अलग हैं. रोहित रॉय और उनकी वाइफ मानसी ने ही ये सारे किरदार निभाए. इनमें से कुछ कहानियां शायद आप प्रेडिक्ट कर लें. पर फिर भी इस कोशिश की तारीफ होनी चाहिए. लिमिटेड स्पेस में लिमिटेड किरदारों के साथ एक्सपेरिमेंट किया गया.


9. मेट्रो पार्क – क्वारंटीन एडिशन (सीरीज़)

कास्ट: रणवीर शोरे, पूर्बी जोशी, ओमी वैद्य, पितोबाश त्रिपाठी

डायरेक्टर: एबी वरगीस

कहां देखें: एरॉस नाउ

Metro Park
‘थ्री इडियट्स’ वाले चतुर भी शो का हिस्सा हैं. फोटो – ट्रेलर

कहानी: ये इस शो का दूसरा सीज़न है. पहला पूरी तरह नॉर्मल हालात में शूट हुआ था. एक टिपिकल गुजराती फैमिली, जो अमेरिका में रहती है. कल्पेश, पायल और उनके बच्चे. कल्पेश एक स्टोर चलाता है. पायल ब्यूटी सलोन में अपना करियर बनाने की कोशिश में लगी है. इनका एक मज़ेदार सा रिलेटिव भी है. जिसका किरदार ‘थ्री इडियट्स’ वाले चतुर ने निभाया है. इन्हीं की डेली लाइफ पर शो की धुरी घूमती है. सेकंड सीज़न कोरोना काल में शूट करना पड़ा. यहां इनके एडवेंचर सिचुएशन के हिसाब से बदल गए. जैसे कल्पेश नई हॉबीज़ सीखने लगता है. कुकिंग, सिंगिंग आदि. पायल अपने बिज़नेस के प्लान बनाती है. मिडल क्लास परिवारों में होने वाली रोज़ की खिटपीट पर बना है ये शो.


10. केस जॉन्डिस (सीरीज़)

कास्ट: परम्ब्रता चट्टोपाध्याय, अनिर्बन चक्रबर्ती, अंकुश हज़रा

डायरेक्टर: सुभंकर चट्टोपाध्याय

कहां देखें: होयचोय टीवी

Case Jaundice
‘कहानी’ के इंसपेक्टर सिन्हा यहां इंसानों की वकालत कर रहे हैं. फोटो – ट्रेलर

कहानी: लोग परेशानी झेल रहे हैं. आप उनसे कह सकते हैं कि कुछ मत करो. पर आप ऐसा कोरोना से नहीं कह सकते. इसी नोट पर शुरू होता है शो का ट्रेलर. फिर इन्ट्रोडक्शन होता है दास और सेन का. दोनों लॉयर हैं. एक बात पर आपस में ठन रखी है. एक इंसानों की तरफ है तो दूसरा कोरोना का पक्षधर. मामला कोर्ट तक ले जाते हैं. एक बोलता है कि इंसानों से बाहर भी दुनिया है. दूसरा मानता है कि इंसान नेचर के लिए सबसे बड़ा गिफ्ट है. सुनने में बेहद सेंसलेस लगे. पर ये ऐसे वक्त बनी जब कुछ भी निश्चित नहीं था. उस समय अगर ऐसे तर्क चेहरे पर हंसी ला पाएं, तो हर्ज़ ही क्या है.


11. पवित्र पप्पीज़  (सीरीज़)

कास्ट: विक्रम चैटर्जी, सोहिनी सरकार, अंकिता चक्रबर्ती, सयन घोष

डायरेक्टर: देबलोय भट्टाचार्य

कहां देखें: होयचोय टीवी

Pabitra Puppies
वीएफएक्स को नहीं, शो के पीछे लगे दिमाग को देखिएगा. फोटो – ट्रेलर

कहानी: ये लीक से थोड़ा हटके है. क्यूंकि यहां कॉमेडी या ड्रामा नहीं, बल्कि थ्रिलर ट्राय किया गया. एक वॉइसओवर से शुरू होता है शो. बताता है कि शहर में कर्फ्यू लगा है. बाहर जंग छिड़ गई है. फिर कुछ दोस्तों से मिलवाता है. दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में बंटे हैं. पर तभी इनको कनेक्ट करने वाली वारदात शुरू होती है. या फिर कहें वारदातें. एक-एक कर ये अज़ीब ढंग से मरना शुरू हो जाते हैं. इतनी सारी सुसाइडस् भी एक साथ संभव नहीं. और अगर मर्डर है, तो कौन कर रहा है? यही शो जानने की  कोशिश करता है.


12. लव एंड अफेयर्स (सीरीज़)

कास्ट: बरखा बिष्ट सेनगुप्ता, इंद्रनील सेनगुप्ता, देबप्रियो मुखर्जी

डायरेक्टर: अभिषेक साहा

कहां देखें: होयचोय टीवी, एमएक्स प्लेयर

Love And Affair
रोशनी का भ्रम या फिर सच में दाल में कुछ काला है. फोटो – ट्रेलर

कहानी: शक. कितना नुकसान कर सकता है? इतना कि शायद चीजें सही होने से परे चली जाएं. यही शक इस सीरीज़ के सेंटर में कुंडली मार के बैठा है. रोशनी और ओभी की कहानी. लंबे समय से शादी में हैं. प्यार भी पूरा है. पर बीते कुछ दिनों से रोशनी को ओभी का बर्ताव कुछ बदला-बदला सा लग रहा है. शक होने लगता है. जिससे पैदा होती हैं गलतफहमियां. फिर शुरू होते हैं मियां बीवी में झगड़े. पर क्या सच में ओभी का अफेयर चल रहा है या ये बस रोशनी के दिमाग का भ्रम भर है? इसका जवाब आपको सीरीज़ में मिलेगा.


वीडियो: साल 2020 में बॉलीवुड और टीवी इंडस्ट्री के किन-किन लोगों ने अलविदा कह दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू- हीरोपंती 2

फिल्म रिव्यू- हीरोपंती 2

ये फिल्म सिनेमा माध्यम का उपहास करती है.

मूवी रिव्यू: रनवे 34

मूवी रिव्यू: रनवे 34

‘रनवे 34’ की सबसे अच्छी बात ये है कि वो लाउड हीरोज़ के दौर में वैसा बनने की कोशिश नहीं करती.

सीरीज रिव्यू : गिल्टी माइंड्स

सीरीज रिव्यू : गिल्टी माइंड्स

कुछ बढ़िया ढूंढ़ रहे हैं, तो इसे देखना बनता है.

फिल्म रिव्यू- ऑपरेशन रोमियो

फिल्म रिव्यू- ऑपरेशन रोमियो

'ऑपरेशन रोमियो' एक फेथफुल रीमेक है. मगर ये किसी भी फिल्म के होने का जस्टिफिकेशन नहीं हो सकता.

फिल्म रिव्यू: जर्सी

फिल्म रिव्यू: जर्सी

फिल्म अपने इमोशनल मोमेंट्स को जितना जल्दी बिल्ड अप करती है, ठीक उतना ही जल्दी नीचे भी ले आती है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: माई

वेब सीरीज़ रिव्यू: माई

सीरीज़ की सबसे अच्छी और शायद बुरी बात सिर्फ यही है कि इसका पूरा फोकस सिर्फ शील पर है.

शॉर्ट फिल्म रिव्यू- लड्डू

शॉर्ट फिल्म रिव्यू- लड्डू

एक मौलवी और बच्चे की ये फिल्म इस दौर में बेहद ज़रूरी है.

फिल्म रिव्यू- KGF 2

फिल्म रिव्यू- KGF 2

KGF 2 एक धुआंधार सीक्वल है, जो 2018 में शुरू हुई कहानी को एक सैटिसफाइंग तरीके से खत्म करती है.

फ़िल्म रिव्यू: बीस्ट

फ़िल्म रिव्यू: बीस्ट

विजय के फैन हैं तो ही फ़िल्म देखने जाएं. नहीं तो रिस्क है गुरु.

वेब सीरीज रिव्यू: अभय-3

वेब सीरीज रिव्यू: अभय-3

विजय राज ने महफ़िल लूट ली.