Submit your post

Follow Us

अपना स्मार्टफोन तोड़ दो अगर सोशल मीडिया के इन लीजेंड्स को नहीं जानते

भारत में सोशल मीडिया पर पहला आत्मघाती हमला किसने किया था? पूनम पांडे का नाम आप ले सकते हैं. जिस तरह स्नैपचैट को तन्मय भट्ट ने भारत में फेमस किया उसी तरह ट्विटर की प्रसिद्धि का ठीकरा पूनम पांडे के सिर पर फूटना चाहिए. उनके बाद इसी लीक पर कई लोग चले. केआरके जैसे बालक और शर्लिन चोपड़ा जैसी बालिकाएं ट्विटर की खा-खा के ब्लू टिक पा गए. शिफू जैसे आए और गए. पाकिस्तान में भी ऐसे बड़े सारे लोग हुए. बांग्लादेश में भी. हीरो अलोम से लेकर ताहेर शाह उदाहरण हैं.

लेकिन आज बात लीजेंड्स की. जिन्हें देखकर लगने लगेगा कि पृथ्वी सलीके के बच्चों से हीन हो गई है. माताओं ने नॉर्मल बच्चे पैदा करना बंद कर दिया है. कुछ सालों से ऐसे इंसान पैदा होने लगे हैं, जिन्हें आप वीडियोज के बाहर या MP4 फ़ॉर्मेट में भी बर्दाश्त नहीं कर सकते. इन्हें देख लगता है मांस-मज्जा की जगह देहों में इरीटेशन भर दी गई है. ये इतने खखोर हैं, मानो ऑक्सीजन की जगह जड़बोंगपन लेते हैं.

खैबर पख्तूनख्वा का लड़का, जो गाजर से जान ले लेता है- नासिर खान जान (लीजेंड)

ये इंसान भारत में नहीं बसता. पाकिस्तान का है. सिर्फ इसी बात पर पाकिस्तान के सौ गुनाह हमें माफ़ कर देने चाहिए. कितने समझदार थे हमारे वो लोग जिन्होंने भारत और पाकिस्तान का बंटवारा समय रहते कर दिया. उन्हें भी नहीं पता था पाकिस्तान एक दिन नासिर खान जान जैसा खतरनाक हथियार तैयार करेगा. हमें पाकिस्तान से डरना चाहिए, इसलिए नहीं कि उसके पास हथियार हैं, चीन का पिछलग्गूपना है. हमें पाकिस्तान से डरना चाहिए कि क्योंकि उसके पास नासिर खान जान है

 

13521857_1819028021658420_8027955971742137403_n

 

10 साल पहले एक फिल्म आई थी. Shoot ‘Em Up उसमें मिस्टर स्मिथ लोगों को गाजर से मार देते हैं. वो दिन हुआ और फिर नासिर खान जान ही हुए. इंसानों को गाजर से मारने का तरीका वापस दोहराया गया. ये नासिर खान जान ही हैं, जो गाजर भी खाते हैं तो साढ़े छह लाख लोग देखते हैं.

 

 

नासिर खान जान पाकिस्तान में खैबर-पख्तूनख्वा में रहते हैं. उम्र उतनी कम भी नहीं हैं, जैसा वो चमनपना करते हैं. 30-31 बरस की उम्र है. यूनिवर्सिटी ग्रेजुएट हैं. बताते हैं कि इनके पिता डॉक्टर थे जो चल बसे. चल बसने के पहले एक दर्ज़न बच्चे पीछे छोड़ गए थे. उन एक दर्जनों में नासिर खान जान सबसे छोटे निकले. मां नौकरी से रिटायर्ड हैं, नासिर को नौकरी मिली नहीं, तो फेसबुक पर हर वेल्ले की तरह पेज बना लिया. मोबाइलों में वीडियो रिकॉर्डिंग का ऑप्शन आ गया है. तो वीडियो भी बना लिए. वीडियो बनाने वाला मॉडलिंग भी करने लगता है. गाना भी गाने लगता है. नासिर सब करते हैं.

 

18194609_1986195804941640_8365886593522638459_n

 

नासिर खान जान का वो वीडियो कौन ही भूल सकेगा. जिसमें इस लीजेंड ने लता मंगेशकर को चुनौती दे डाली थी. कभी मैंने ही सीधे शब्दों में कहा था. ज़िंदगी में इंसान बड़ा तभी बन पाता है, जब वो चुनौतियों और चुनौतियों से मिलते-जुलते एक शब्द का डटकर सामना करे.चुनौतियां वो खुद ही खड़ी करते हैं, और दूसरे शब्द के बारे में ज्यादा क्या ही लिख दें.

 

 

नासिर खान जान के साथ तस्वीर खिंचाने को किटकैट टेलकम पाउडर फेम वसीम हसन शेख भी तरसते हैं.

 

17203067_1957481167813104_4399528827334934587_n

 

अंत में देखिए. नासिर खान जान ने भारत की नई सनसनी ढिंचाक पूजा के फड़फड़ाते वायरल वीडियो पर क्या कहा.

 

कानों से रक्तदान की संस्कृति की प्रणेता बनी ढिंचाक पूजा

 

यूट्यूब इंडिया वालों का बस चले तो ढिंचाक पूजा के चरण पखारें. उनके बारे में सबसे बड़ी बात कही जा चुकी है. “कुछ लोग मम्मी के पेट से महान पैदा होते हैं, कुछ को जबरिया महान बना दिया जाता है लेकिन कुछ लोग अपने बलबूते पर महान बनते हैं. ढिंचाक पूजा इन तीनों कैटगरी में आती हैं.” ढिंचाक पूजा वो डेड एंड है, जहां के आगे रास्ते खत्म हो जाते हैं. ढिंचाक पूजा का गीत सुनना उस स्वप्न की तरह है, जहां आप अपने सबसे डर से भागते हैं और सपने में ही अपने पैर में फंसकर गिर पड़ते हैं. और उठ नहीं पाते. आपको पता होता है आंखें खोलकर आप इस सपने को तोड़ सकते हैं, वीडियो बंद कर पूजा के अस्तित्व को नकार सकते हैं, लेकिन नहीं पूजा के वीडियो देख-देख आप, अपनी सहनशक्ति की परीक्षा लेते हैं.

 

18664220_1022213831242791_6504548175742298447_n

 

ढिंचाक पूजा दरअसल ऐसी-वैसी यूट्यूब सेलिब्रिटी नहीं हैं. जिनके वीडियो बस वाहियाततम होने के कारण वायरल हो जाते हैं. पूजा वो शक्ति हैं जो जीते-जी इंसान के अंदर से खौफ खत्म करती हैं. मरने से हम क्यों डरते हैं? मौत का खौफ क्यों हो? पूजा धरती में थंटोस की प्रतिनिधि हैं. मौत का देवता. जो अपना जादू चलाए तो मौत प्यारी लगने लग जाती है. आत्महत्या में इतना चार्म क्यों है?

 

 

क्यों नाव में बैठे आदमी का कलेजा भर आता है, क्यों नदी में कूद जाने का दिल करता है. थंटोस के कारण. वही थंटोस जिसके प्रभाव से MCU ने अपना सबसे बड़ा विलेन थानोस पाया. ढिंचाक पूजा मृत्यु के उस देव की ब्रांड अंबेस्डर हैं. जिनका एक गाना सुनने के बाद जीवन से मोह और मृत्यु का भय खत्म हो जाता है.

 

अगर जान बाकी हो तो ये गाना भी सुनें.

 

क्या आप ये पंक्तियां पढ़ पा रहे हैं? मुबारक हो आप अमर हैं. इंसान के अंदर जब कोई चमत्कारिक बदलाव होता है तो उसे पहले-पहल पता नहीं चलता. बड़े से बड़ा चमत्कारी मनुष्य खुद पर अविश्वास के बाद ही और बड़ा होता है. आपको भी विश्वास करना होगा. ये गाना सुनकर भी आप बच गए तो मौत अब आपको छू न सकेगी.

हम 2G घोटाला जांचते रह गए, अंबानी ने इसे 10G भेज दिया – अजमा फल्ला

पाकिस्तान हमले करता है. छुपकर कभी सामने से. लेकिन ये वो हमला है जो खुद पाकिस्तान भी नहीं करना चाहता था. ये पाकिस्तान में हुआ वो आत्मघाती हमला था, जिसकी जिम्मेदारी कोई आतंकी संगठन भी लेने नहीं आएगा.

 

15220222_221311474977441_7944756009064723239_n (1)

 

अजमा फल्ला के बारे में एक बात सिरे से तय है, वो क्यूट है. अत्यंत. लेकिन ये बात कहीं से भी उसकी प्रतिभा के आड़े नहीं आती. वो उतनी ही अझेल है. जितनी ढिंचाक पूजा. अझेलपना नज़र में पहली दफा तब आया जब वक़ार ज़का पिटे थे. पाकिस्तान में गरीबों का रोडीज चलाया करता है ये आदमी. शोएब अख्तर अगर 2003 में बालों की केयर करना बंद कर देते तो कुछ ऐसे ही नज़र आते जैसे वक़ार. उन्हीं वक़ार को कोई पीट गया था, वक़ार पहले तो बड़ा अभुआए कि ऐसी तैसी कर देंगे. लेकिन बाद में चीं बोल गए, उन्हीं को गरियाती नज़र आईं थीं अजमा फल्ला.

 

कहने वालों ने उन्हें पाकिस्तान की एमा वॉट्सन भी कह डाला. कहो ब्यूटी और बीस्ट के बाद क्या एमा का ये हाल हुआ है? ये जानिए कि अजमा को शाहरुख खुद भी फोन करते हैं. और तो और अंबानी उन्हें गिफ्ट भी भेजते हैं. अंबानी शायद आईपीएल जीतने से इतने खुश हो गए कि उन्होंने पहले ही अजमा को 10G वाला इंटरनेट बनवाकर भेज दिया. यहां हम 2G घोटाले में तियां-पांचा कर रहे हैं. ये तय नहीं कर पा रहे कि घोटाला हुआ तो कित्ते का? किसने किया? वहां अंबानी ने पाकिस्तान को 10G दे दिया. जी हां, आप मुफ्त के 4G में बौराए हैं. वो 10G दिए बैठे हैं. और मजे की बात ये कि इंटरनेट वहां भी नहीं चल रहा. ये झेलिए.

 

लड़का जिसके लिए शाहरुख वीजा भेजते हैं- नोमान खान 

सोशल मीडिया पर बालक होते हैं. वयस्क होते हैं और फिर लीजेंड्स होते हैं. नोमान खान लीजेंड हैं. ये बात उन्होंने खुद बताई. बताया तो ये भी कि जब उन्हें चोट लगती है तो थाईलैंड से डॉक्टर पूरा हवाई कॉप्टर लेकर आता है. आपको लगता है ये सिर्फ बालक हैं. बालकों वाली बात करते हैं, तो आप गलत हैं. पाकिस्तान की एक चीज से हमें बहुत फर्क पड़ता है. राजनीति. पाकिस्तान की राजनीति में क्या चल रहा है, आपको कैसे पता चलेगा? आम आदमी से, अखबार से, वेबसाइट्स से? शाम साढ़े आठ बजे के बाद वेबकैम से डिबेट पर बैठने वाले रक्षा विशेषज्ञ?

 

18555853_330151090736057_7722194709855066169_n

 

ये आम लोग हैं, आदरणीय निक फ्यूरी कह गए हैं. लीजेंड्स हमें एक चीज बताते हैं इतिहास दूसरी लेकिन निक फ्यूरी ने कहीं भी आम आदमी क्या कहता है इसका जिक्र नहीं किया. इतिहास को आप कुछ भी कहने दीजिए. लीजेंड की बात सुनिए. लीजेंड नोमान बताते हैं. वहां इमरान खान उन्हें फोन कर परेशान करते हैं. सपोर्ट मांगते हैं. ऑफर देते हैं कि अस्पतालों के नाम उनके नाम कर दें. लेकिन वो नवाज़ शरीफ को प्रेम करते हैं. उनके लिए मर भी सकते हैं. भारत के नेताओं को जाने ये बात कब समझ आएगी कि यहां लोग भले उनके नाम पर मारने को उतारू हों लेकिन कोई लीजेंड कभी उनके लिए मरने की बात नहीं करता.

 

 

गांधी परिवार ने इस देश की सत्ता को किस हद तक कसा है, वो आपको इस लीजेंड का वीडियो देखकर पता लगता है. साथ ही भारत सरकार अपनी विदेश नीति किस बुरी तरीके से हैंडल कर रही है वो भी यही वीडियो देख पता लगता है. तब जब नोमान खान मोदी जी का नाम लेते उन्हें मोदी गांधी कह देते हैं. मानो पीएम कोई गांधी ही हो सकता है. दो महीने से मोदी जी इस बेचारे पाकिस्तानी को फोन कर परेशान कर रहे थे, गलती सिर्फ इतनी कि उसने मोदी जी के हाय का जवाब दे दिया था.

 

 

नोमान खान बड़े हुए फिर इतने बड़े हो गए कि शाहरुख खान ने खुद उनके लिए वीजा भिजवाया था. भिजवाएं भी काहे नहीं? उनको भी तो सेल्फी लेनी होती है. साथ ही साथ अमिताभ बच्चन को भी सेल्फी लेनी थी.

 

 

लीजेंड नोमान खान इंडिया आ भी रहे थे. शाहरुख को उनके साथ फिल्म करने का मौक़ा भी मिलता . लेकिन हा फैंस! फैंस ने एयर अड्डे पर घेर लिया और भारत इस लीजेंड की झलक देखने से बच गया.

 

तो आपने इन चार लीजेंड्स को जाना, इंटरनेट के समय में ये नाइटमेयर हैं. इनके वीडियोज झेलना त्रासदी है लेकिन ये फेमस हैं. आप इनका मज़ाक उड़ाकर के किनारे कर सकते हैं लेकिन इनकी जितनी फॉलोइंग है, उतनी भीड़ जुटाने में एक ढ़ंग के आदमी को जीवन लग जाता है. ये प्रसिद्धि का नया तरीका है, किसी काम को इतने बुरे तरीके से कीजिए कि बुराई के चरम पर पहुंच जाएं. ये कर्कश हैं, बकवास करते हैं. कुछ भी करते रहते हैं, आलोचना झेलते हैं लेकिन हर बार जब कोई इनकी बात करता है ये थोड़ा फेमस और हो जाते हैं. इनसे सिर्फ एक बात सीखी जा सकती है, अपना काम उसी लगन के साथ कीजिए, जिस लगन से ये लोग वाहियात काम कर रहे हैं.


 

लता जी को पाकिस्तानी ने किया चैलेंज, उसका गाना सुनकर रो देंगे

कौन है ये लड़की जिसने यूट्यूब पर तबाही मचा रखी है?

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: टर्टल

फिल्म रिव्यू: टर्टल

एक्टिंग की दुनिया में अपना अलग मुकाम बना चुके संजय मिश्रा की नई फिल्म 'टर्टल' यानी कछुआ कैसी है?

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

इस सीरीज़ की सभी 5 कहानियों में एक चीज़ कॉमन है- सबकुछ बेहतर हो जाने की उम्मीद.

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

ट्रेलर आया है, जिसमें एक बड़े वैज्ञानिक का कैमियो भी है.

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

अगर Knives Out को बहुत ही बुरे ढंग से बनाया जाए, तो रिज़ल्ट ’36 फार्महाउस’ जैसी फिल्म होगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

'ये काली काली आंखें' में आपको बहुत सी ऐसी चीज़ें दिखेंगी, जो आप पहले देख चुके हैं. बस उन चीज़ों के मायने, यहां थोड़ा हटके हैं.

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

न ही इसे सिरे से खारिज किया जा सकता है, न ही इसे मस्ट वॉच की कैटेगरी में रखा जा सकता है

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

अब इनकी हिंदी डब फिल्में खोजने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

अगर पॉलिटिकल कॉमेडी से ऑफेंड होते हैं, तो दूर ही रहिए.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

नसीरुद्दीन शाह, रघुबीर यादव और लारा दत्ता जैसे एक्टर्स लिए लेकिन....

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

Cubicles 2 एक सपने के साथ शुरू होती है. और इसका एंड भी बिल्कुल ड्रीमी होता है. एक ऐसा सपना, जिसके पूरे होने की सिर्फ उम्मीद और इंतज़ार किया जा सकता है.