Submit your post

Follow Us

पूरी दुनिया में ये सेल्फी भयानक वायरल हो गई है, इन दो लड़कियों से ज़्यादा आगे खड़े बंदे के चलते

इटली के डेप्युटी प्राइम मिनिस्टर हैं मातेयो साल्विनि. उनके साथ बड़ी चोट हुई है. हुआ वही है जो आप भी अक्सर औरों के साथ करते रहते हैं. मामला इटली के सिसिली में हुआ. जहां साल्विनि एक रैली में गए हुए थे. और वहीँ उनके साथ हो गई फोटोबॉम्बिंग. नहीं नहीं बम वम सुनकर ज़्यादा परेशान न हों. क्योंकि अगर ये ख़तरनाक है तो आपको भी इस काम से बचना चाहिए.

पहले जान लीजिए क्या है फोटोबॉम्बिंग?

नहीं भाई साब, फोटो के साथ बम वम का कोई मामला है ही नहीं. ये बला वही है जिसे आप भी कई बार कर चुके हैं. बस आपको पता नहीं था, कि आप इतना टेक्निकल काम कर रहे हैं. याद करिए कि आपने लास्ट टाइम किसी की तस्वीर में उसके सिर के पीछे ‘V’ जैसा उंगलियों से कब बनाया था? ताकि जब तस्वीर आए तो बंदे के सिर पर यमराज की तरह सींग लहराते दिखे? बस यही है फोटोबॉम्बिंग. किसी की अच्छी भली तस्वीर की लुटिया डुबा देना ही फोटोबॉम्बिंग है. तरीके कई हैं, आप कैसे करते हैं ये आपके क्रिएटिव दिमाग़ पर है. ना करिए तो अच्छा है.

देखिए ऐसे डुबोई जाती है किसी तस्वीर की लुटिया
देखिए ऐसे डुबोई जाती है किसी तस्वीर की लुटिया

 

अब जानिए कि साल्विनि के साथ क्या हुआ-

साल्विनि रैली ख़तम होने के बाद लोगों से मिल रहे थे. तस्वीरों का दौर चल ही रहा था, कि अचानक दो लड़कियां आईं. एक का नाम था Gaia (मुझे तो गईआ जैसा कुछ लग रहा है) लेकिन इस नाम से यहां भारत में बुलाने पर कोई रक्षक दल दिक़्क़त कर सकता है. तो अपने हिसाब से प्रनाउन्स कर लीजिए. दूसरी लड़की का नाम थोड़ा आसान है, Matilde.

तो ये दोनों लड़कियां स्टेज पर आईं और साल्विनि से बाक़ायदा तस्वीर के लिए परमिशन ली. वो तैयार भी हो गए. सेल्फ़ी में जैसे ही मुंह घुसाए.  बस खेल हो गया. वही फोटोबॉम्बिंग. दोनों लड़कियों ने एक-दूसरे को चूमा और तस्वीर ले ली. जितने में साल्विनि समझते लड़कियां निकल गईं.

पूरी घटना का वीडियो देख लीजिए:

इसके पीछे लॉजिक क्या है?

बिना लॉजिक के सिर्फ़ भाई की फ़िल्में आ सकती हैं. बाकी सब जगह लॉजिक होता है. असल में साल्विनि को पूरी दुनिया में ‘समलैंगिकता विरोधी’ माना जाता है, यानी ‘एंटी LGBT’. और इसे साबित करने के लिए साल्विनि मौके-बेमौके होने वाले प्रोग्राम्स में शिरक़त करते रहते हैं. इसी तरह का एक कार्यक्रम मार्च 2019 में वेरोना में हुआ था जिसका थीम था ‘फ़ैमिली वैल्यू’. अब इसमें परिवार वग़ैरह पर बात हुई और लगे हाथ समलैंगिकों को परिवार-विरोधी बताया गया. इसी का बदला लिया इन दोनों लड़कियों ने.

सेल्फी का दौर है लेकिन ये जी का जंजाल बन जाएगा ये साल्विनि ने सोचा नहीं था
सेल्फी का दौर है लेकिन ये जी का जंजाल बन जाएगा ये साल्विनि ने सोचा नहीं था

लड़कियों ने ताबड़तोड़ दूसरी तस्वीर लेने की भी कोशिश की. लेकिन एक सिक्योरिटी गार्ड ने दोनों के चेहरों के बीच हाथ लगाकर उन्हें अलग किया.

लाल घेरे में सिक्योरिटी गार्ड का हाथ दिखाई दे रहा है
लाल घेरे में सिक्योरिटी गार्ड का हाथ दिखाई दे रहा है

ये तस्वीर जैसे ही इनमें से एक लड़की ने अपने इंस्टाग्राम पर डाली. साल्विनि ट्रोल होने लगे ट्विटर पर. # GaiaeMatil ट्रेंड होने लगा. लोगों का कुल जमा रिएक्शन था ‘जो बोया वही तो काटोगे’

इसी को कहते हैं, आए थे हरिभजन को ओटन लगे कपास
इसी को कहते हैं, आए थे हरिभजन को ओटन लगे कपास

जैसे यहां देखिए: अंत में लिखा है ‘ब्रेव’

 

यहां इस बात का ज़िक्र है कि जैसे ही साल्विनि को अंदाज़ा हुआ, उन्होंने फ़ोन छीनने की नाक़ामयाब कोशिश की –

 

तो इस तरह से साल्विनि को इन दो लड़कियों ने क्रिएटिव सबक सिखाया. बिना खडग बिना ढाल. और साल्विनि जिस मोमेंट इस तस्वीर में कैद हुए हैं अब वो कभी बदला नहीं सकेगा. ट्विटर समेत बाकी सोशल मीडिया में लोग जमकर मौज ले रहे हैं और ज़्यादातार इन लड़कियों की तारीफ़ ही कर रहे हैं.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

इबारत : शरद जोशी की वो 10 बातें जिनके बिना व्यंग्य अधूरा है

आज शरद जोशी का जन्मदिन है.

इबारत : सुमित्रानंदन पंत, वो कवि जिसे पैदा होते ही मरा समझ लिया था परिवार ने!

इनकी सबसे प्रभावी और मशहूर रचनाओं से ये हिस्से आप भी पढ़िए

गिरीश कर्नाड और विजय तेंडुलकर के लिखे वो 15 डायलॉग, जो ख़ज़ाने से कम नहीं!

आज गिरीश कर्नाड का जन्मदिन और विजय तेंडुलकर की बरसी है.

पाताल लोक की वो 12 बातें जिसके चलते इस सीरीज़ को देखे बिन नहीं रह पाएंगे

'जिसे मैंने मुसलमान तक नहीं बनने दिया, आप लोगों ने उसे जिहादी बना दिया.'

ऑनलाइन देखें वो 18 फ़िल्में जो अक्षय कुमार, अजय देवगन जैसे स्टार्स की फेवरेट हैं

'मेरी मूवी लिस्ट' में आज की रेकमेंडेशन है अक्षय, अजय, रणवीर सिंह, आयुष्मान, ऋतिक रोशन, अर्जुन कपूर, काजोल जैसे एक्टर्स की.

कैरीमिनाटी का वीडियो हटने पर भुवन बाम, हर्ष बेनीवाल और आशीष चंचलानी क्या कह रहे?

कैरी के सपोर्ट में को 'शक्तिमान' मुकेश खन्ना भी उतर आए हैं.

वो देश, जहां मिलिट्री सर्विस अनिवार्य है

क्या भारत में ऐसा होने जा रहा है?

'हासिल' के ये 10 डायलॉग आपको इरफ़ान का वो ज़माना याद दिला देंगे

17 साल पहले रिलीज़ हुई इस फ़िल्म ने ज़लज़ला ला दिया था

4 फील गुड फ़िल्में जो ऑनलाइन देखने के बाद दूसरों को भी दिखाते फिरेंगे

'मेरी मूवी लिस्ट' में आज की रेकमेंडेशंस हमारी साथी स्वाति ने दी हैं.

आर. के. नारायण, जिनका लिखा 'मालगुडी डेज़' हम सबका नॉस्टैल्जिया बन गया

स्वामी और उसके दोस्तों को देखते ही बचपन याद आता है