Submit your post

Follow Us

किसान आंदोलन की इन वायरल तस्वीरों का सच आपसे छिपाया गया है

भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले करीब 30,000 किसान 23 सितंबर को हरिद्वार में जुटे. वहां से ये दिल्ली के लिए पैदल चले, जिसे नाम दिया गया किसान क्रांति यात्रा. कुछ किसानों के साथ में ट्रैक्टर और ट्रॉली भी थीं. 2 अक्टूबर को इन किसानों को राजघाट से संसद भवन तक विरोध मार्च निकालना था. 1 अक्टूबर की शाम को ये किसान दिल्ली से सटे साहिबाबाद पहुंचे. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने किसानों की यात्रा पर रोक लगा दी. 2 अक्टूबर को दिल्ली-यूपी सीमा पर गाजीपुर में किसानों और पुलिस में संघर्ष की स्थिति बन गई. पुलिस ने किसानों पर हल्का लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े. इसके बाद सोशल मीडिया पर किसानों और पुलिस को लेकर कई सारी तस्वीरें शेयर होने लगीं. सबसे ज्यादा शेयर हुईं दो तस्वीरों की सच्चाई हम आपको बता रहे हैं.

पहली तस्वीर– किसान आंदोलन को लेकर सबसे ज्यादा शेयर की गई इस तस्वीर में कई पुलिसवाले और एक बुजुर्ग किसान आमने-सामने दिख रहे हैं. पुलिसवालों और बुजुर्ग दोनों के हाथ में लाठियां हैं. इस फोटो को ऐसे दिखाया गया जैसे कई पुलिसवाले मिलकर एक बुजुर्ग किसान पर हमला कर रहे हैं. महिला कांग्रेस की महासचिव और महिला आयोग की पूर्व सदस्य शमिना शफीक ने ये फोटो अपने ट्विटर पर शेयर की. ये फोटो किसान आंदोलन की सबसे चर्चित फोटो बन गई.

सोशल मीडिया पर यह तस्वीर बहुत वायरल हुई है.
सोशल मीडिया पर यह तस्वीर बहुत वायरल हुई है.

सच्चाई क्या है?

यह फोटो PTI के फोटोग्राफर रवि चौधरी ने क्लिक किया. इंडिया टुडे फैक्ट चैक टीम ने रवि चौधरी से बात की. उन्होंने बताया

ये बुजुर्ग शख्स वहां अकेले मौजूद नहीं थे, वो किसानों के समूह का एक हिस्सा थे. एक ही घटना के कई रूप होते हैं, ये तस्वीर असरदार दिखी, इसलिए पहले वर्जन (संस्करण) में इसे इस्तेमाल किया गया. बाद में हमने तस्वीर में मौजूद अन्य प्रदर्शनकारियों को भी दिखाया. ये पुलिसकर्मी दिल्ली पुलिस के थे.

किसानों के इस समूह की एक फोटो यह भी है. आप देख सकते हैं कि किसान अकेले नहीं पूरे ग्रुप के साथ थे.

इसी घटना की एक तस्वीर ये भी है.
इसी घटना की एक तस्वीर ये भी है.

दूसरी तस्वीर- इस तस्वीर में एक पुलिसकर्मी और एक आदमी दिखाई दे रहा है. आदमी के हाथ में ईंट है और पुलिसकर्मी के हाथ में पिस्तौल है. इस फोटो को भी 2 अक्टूबर के किसान आंदोलन से जोड़कर सर्कुलेट किया गया. सीपीआई (एमएल) पोलित ब्यूरो की सदस्य और लेफ्ट विचारक कविता कृष्णन ने यह फोटो ट्वीट की.

कविता कृष्णन का ट्वीट.
कविता कृष्णन का ट्वीट.

सच्चाई क्या है?

ये फोटो भी न्यूज एजेंसी पीटीआई का है. इसे 2013 में खींचा गया था. 30 सितंबर, 2013 को मेरठ जिले के खेड़ा गांव में एक महापंचायत हुई थी. मुजफ्फरनगर दंगों के आरोप में बीजेपी विधायक संगीत सोम को जेल में डाल दिया गया था. उनके ऊपर NSA के तहत केस दर्ज किया गया था. इसके विरोध में महापंचायत बुलाई गई. इस महापंचायत पर प्रशासन ने रोक लगा दी थी. जिसके बाद प्रशासन और स्थानीय लोग आमने-सामने हो गए थे. यह फोटो तभी लिया गया था. इस फोटो का किसान आंदोलन से कोई लेना-देना नहीं है. हालांकि कविता कृष्णन ने बाद में ट्वीट कर इसको स्वीकार किया कि यह फोटो 2013 का है.

अगर आपके पास भी ऐसी कोई पोस्ट, फोटो, वीडियो या मैसेज है जिस पर आपको शक है तो आप उसे  lallantopmail@gmail.com,  फेसबुक पर हमारे वेरिफाइड पेज The Lallantop और हमारे वेरिफाइड ट्विटर हैंडल @TheLallantop पर भेज सकते हैं. हम उसकी पड़ताल कर सच्चाई पता करेंगे.


वीडियो-लखनऊ पुलिस ने जैसे SIT जांच से पहले क्राइम सीन बिगाड़ा, वो हैरान करने वाला है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

KRK के इस ह्रदय परिवर्तन का राज़ क्या है?

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

इस तरह का एक्शन आपने इससे पहले इंडियन सिनेमा में नहीं देखा होगा.

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

पड़ोसी केतन ने सलमान के पनवेल वाले फार्महाउस के बारे में कुछ ऐसा बोल दिया, जो उन्हें ठीक नहीं लगा.

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

'अला वैकुंठपुरमुलो' के हिंदी रीमेक 'शहज़ादा' में कार्तिक आर्यन और कृति सैनन लीड रोल्स कर रहे हैं.

2022 में आने वाली वो 23 बड़ी फिल्में, जिनका पब्लिक को बेसब्री से इंतज़ार है

2022 में आने वाली वो 23 बड़ी फिल्में, जिनका पब्लिक को बेसब्री से इंतज़ार है

इस लिस्ट में हिंदी से लेकर अन्य भाषाओं की बहु-प्रतीक्षित फिल्मों के नाम भी शामिल हैं.

क्या होती हैं ये एनिमे फ़िल्में या सीरीज़, जिनके पीछे सब बौराए रहते हैं

क्या होती हैं ये एनिमे फ़िल्में या सीरीज़, जिनके पीछे सब बौराए रहते हैं

ये कार्टून और एनिमे के बीच क्या अंतर होता है? साथ ही जानिए ऐसे पांच एनिमे शोज़, जो देखने ही चाहिए.

सायना नेहवाल ट्वीट मामले में एक्टर सिद्धार्थ की मुश्किलें बढ़ीं, बीजेपी हुई इन्वॉल्व

सायना नेहवाल ट्वीट मामले में एक्टर सिद्धार्थ की मुश्किलें बढ़ीं, बीजेपी हुई इन्वॉल्व

सिद्धार्थ ने सायना को लेकर एक ट्वीट किया, जो सेक्सिस्ट और अपमानजनक था.

RRR के लिए अजय और आलिया ने जितनी फीस ली, उतने में एक फिल्म बन जाती

RRR के लिए अजय और आलिया ने जितनी फीस ली, उतने में एक फिल्म बन जाती

कमाल की बात ये कि दोनों राजामौली की इस फिल्म में सिर्फ कैमियो कर रहे हैं.

अमरीश पुरी: उस महान एक्टर के 18 किस्से, जिसे हमने बेस्ट एक्टर का एक अवॉर्ड तक न दिया

अमरीश पुरी: उस महान एक्टर के 18 किस्से, जिसे हमने बेस्ट एक्टर का एक अवॉर्ड तक न दिया

जिनके बारे में स्टीवन स्पीलबर्ग ने कहा था, 'अमरीश जैसा कोई नहीं, न होगा'.

मलयालम एक्ट्रेस भावना मेनन ने 5 साल बाद अपनी किडनैपिंग और मोलेस्टेशन पर बात की

मलयालम एक्ट्रेस भावना मेनन ने 5 साल बाद अपनी किडनैपिंग और मोलेस्टेशन पर बात की

इस सब का आरोप एक्टर दिलीप के ऊपर है.