Submit your post

Follow Us

रामगोपाल वर्मा की मूवी में पीएम मोदी, अमित शाह और चंद्रबाबू नायडू ही नहीं, और भी कई राजनेता हैं

‘कम्मा राज्यम लो कडापा रेडलू’. मैंने ये नाम सही से स्पेल किया है या नहीं मुझे नहीं मालूम. इसके ट्रेलर में ये अंग्रेज़ी में लिखा है- Kamma Rajyam Lo Kadapa Reddlu. और है ये एक तेलुगु मूवी. मूवी का ट्रेलर पिछले दिनों नंबर वन पर ट्रेंड कर रहा था. You tube पर.

‘कम्मा…’ डायरेक्ट कर रहे हैं रामगोपाल वर्मा. आरजीवी. रामू. जिन्होंने हिंदी फिल्मों में ‘सत्या’ और ‘रंगीला’ जैसी मूवीज़ से नाम कमाया और ‘राम गोपाल वर्मा की आग’ से उसे बुलंदी की उस सीमा तक पहुंचा दिया जहां पर कम ही लोगों का नाम पहुंचा होगा. रामू को उनकी मूवीज़ के अलावा उनके ट्वीट से भी बहुत लोग जानते हैं. तो चलिए आगे बात करने से पहले उनका एक ट्वीट ही पढ़ लेते हैं-

तो आपने ट्वीट पढ़ लिया और आपको स्क्रीन शॉट के रूप में इसके ट्रेंडिंग करने का सबूत भी मिल गया.

अब एक कन्फेशन. चूंकि फिल्म में आंध्र प्रदेश की भाषा (तेलुगु) और वहां की पॉलिटिक्स है, और चूंकि ट्रेलर में वैसे भी इम्पोर्टेन्ट चीज़ें रिवेल नहीं की जातीं हैं. इसलिए अभी से फिल्म का पूरा कॉन्टेक्स्ट समझना मुश्किल है. हालांकि ट्रेलर में अंग्रेज़ी के सबटाइटल्स भी हैं और चेहरे भी काफी जाने पहचाने. और इन्हीं चेहरों को देखकर कहा जा सकता है मूवी में आंध्रप्रदेश की ‘रियल’ और ‘करंट’ पॉलिटिक्स दिखाई गई है.

अब ये मूवी या तो पूरी तरह रियल होगी या किसी विशेष व्यक्ति या विशेष पार्टी का गुणगान करने के लिए बनाई गई. पहली स्थिति में, यानी मूवी के रियलिटी के करीब होने की स्थिति में इसके रिलीज़ न हो पाने की स्थिति भी बन सकती है. लेकिन फिल्म की अंतिम परिणिति चाहे जो भी हो इसके रिलीज़ होने तक इसका बड़ा बज़ रहने वाला है. सिर्फ आंध्र प्रदेश या साउथ में ही नहीं बल्कि ऑल ओवर इंडिया में.

ट्रेलर में एक किरदार को स्पीकर की सीट में सोते हुए देखा जा सकता है. ये कौन है?

इस ट्वीट को पढ़कर तो लगता है ये पी रामराम का किरदार है. लेकिन आंध्र में पी. रामराम नाम के तो कोई स्पीकर हुए ही नहीं. टी सीताराम नाम के ज़रूर हुए थे. उनकी ऑरिजनल तस्वीर ये रही-

Original

तो अगर आप गौर करें तो किरदारों के नाम बदले गये हैं. इन्फेक्ट बदले नहीं गए हैं हल्के से ट्वीक किए गए हैं.

ट्रेलर में एक जगह हिंदी भी सुनाई देती है. जब स्क्रीन में अमित शाह और नरेंद्र मोदी के किरदार होते हैं. इसमें मोदी के किरदार कहते हुए सुनाई देते हैं कि-

उनका बेल कैंसल होगा, पर मैं आपके साथ हूं.

ट्रेलर में एक जगह एक करैक्टर कहता है-

मैं फिल्मों में काम करके, अपना वो समय बर्बाद नहीं करना चाहता जो मैं आप लोगों की सेवा में लगा सकता हूं.

लेफ्ट में पवन कल्याण हैं राईट में आरजीवी की मूवी का एक किरदार जो पवन कल्याण की ट्रू कॉपी है.
लेफ्ट में पवन कल्याण हैं. राईट में आरजीवी की मूवी का एक किरदार जो पवन कल्याण की ट्रू कॉपी है.

यानी ये किसी ऐसे राजनेता का करैक्टर है, जो पहले एक्टर था. ये पवन कल्याण का करैक्टर है. फिल्मों में काम करने के बाद और काफी जन कल्याण कार्य कर चुकने के बाद उन्होंने 14 मार्च, 2014 को अपनी एक पार्टी बना ली- जन सेना पार्टी. हालांकि इस पार्टी ने 2019 के अपने पहले विधान सभा इलेक्शन में सिर्फ एक सीट जीती. और इसी साल के लोकसभा इलेक्शन में 18 सीटों में चुनाव लड़ने के बावज़ूद अपना खाता भी नहीं खोल पाई.

इस वक्त आंध्रप्रदेश के सीएम हैं वाई एस जगनमोहन रेड्डी. तो क्या वो भी ‘कम्मा राज्यम लो कडापा रेडलू’ के ट्रेलर में दिखाई देते हैं? बिलकुल. एक जगह उनका किरदार, नायडू के किरदार की घूरती नज़रों से नज़रें मिलाकर कहता है-

घूरिए मत. आपके ऐसे आखें दिखाने से किसी को डर नहीं लगता.

 

लेफ्ट में वाई एस जगनमोहन रेड्डी हैं राईट में आरजीवी की मूवी का एक किरदार जो जगनमोहन रेड्डी की ट्रू कॉपी है.
लेफ्ट में वाई एस जगनमोहन रेड्डी हैं राईट में आरजीवी की मूवी का एक किरदार जो जगनमोहन रेड्डी की ट्रू कॉपी है.

‘कम्मा राज्यम लो कडापा रेडलू’ का फर्स्ट लुक ट्रेलर सात सितंबर को रिलीज़ किया गया था. मूवी अगले फ्राइडे यानी 29 नवंबर, 2019 को रिलीज़ होगी.

कहने वाले ये भी कह रहे हैं कि ये फिल्म रामू की कमबैक फिल्म भी साबित हो सकती है. कमबैक डायरेक्शन के लिए नहीं, बल्कि हिट फिल्म के मामले में. वैसे तो रामू की फिल्म आती रही हैं. आखिरी फिल्म आए भी ज़्यादा वक़्त नहीं हुआ. लेकिन एक अदद हिट मिले रामू को अरसा हो गया.


वीडियो देखें:

यशराज फिल्म्स के खिलाफ 100 करोड़ रुपए हड़पने के मामले में एफआईआर-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

इन 8 बॉलीवुड सेलेब्स के मदर्स डे वाले वीडियोज़ और फोटो आप मिस नहीं करना चाहेंगे

बच्चन ने मां को गाकर याद किया है, वहीं अनन्या पांडे ने बचपन के दो बेहद क्यूट वीडियोज़ पोस्ट किए हैं.

मंटो, जिन्हें लिखने के फ़ितूर ने पहले अदालत फिर पागलखाने पहुंचाया, उनकी ये 15 बातें याद रहेंगी

धर्म से लेकर इंसानियत तक, सबपर सब कुछ कहा है मंटो ने.

सआदत हसन मंटो को समझना है तो ये छोटा सा क्रैश कोर्स कर लो

जानिए मंटो को कैसे जाना जाए.

महाराणा प्रताप के 7 किस्से: जब वफादार मुसलमान ने बचाई उनकी जान

9 मई, 1540 को पैदा होने वाले महाराणा प्रताप की मौत 29 जनवरी, 1597 को हुई.

दुनिया के 10 सबसे कमज़ोर पासवर्ड कौन से हैं?

रिस्की पासवर्ड का पता कैसे चलता है?

'इक कुड़ी जिदा नां मुहब्बत' वाले शिव बटालवी ने बताया कि हम सब 'स्लो सुसाइड' के प्रोसेस में हैं

इन्होंने अपनी प्रेमिका के लिए जो 'इश्तेहार' लिखा, वो आज दुनिया गाती है

शराब पर बस ये पढ़ लीजिए, बिना लाइन में लगे झूम उठेंगे!

लिखने वालों ने भी क्या ख़ूब लिखा है.

वो चार वॉर मूवीज़ जो बताती हैं कि फौजी जैसे होते हैं, वैसे क्यूं होते हैं

फौजियों पर बनी ज़्यादातर फिल्मों में नायक फौजी होते ही नहीं. उनमें नायक युद्ध होता है. फौजियों को देखना है तो ये फिल्में देखिए.

गहने बेच नरगिस ने चुकाया था राज कपूर का कर्ज

जानिए कैसे शुरू और खत्म हुआ नरगिस और राज कपूर का प्यार का रिश्ता..

सत्यजीत राय के 32 किस्से: इनकी फ़िल्में नहीं देखी मतलब चांद और सूरज नहीं देखे

ये 50 साल पहले ऑस्कर जीत लाते, पर हमने इनकी फिल्में ही नहीं भेजीं. अंत में ऑस्कर वाले घर आकर देकर गए.