Submit your post

Follow Us

इन 10 बातों से पता चलता है, बैट से पीटने वाले आकाश विजयवर्गीय नए जमाने के असली नेता हैं

कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय का वीडियो वायरल हुआ. नज़र आया कि वो एक अधिकारी को बैट से पीट रहे हैं. इस वीडियो को देख हम कई नतीजों पर पहुंचे और कई सवाल भी उठे. जो आपको नीचे मिलेंगे.

1. मारपीट का कारण अस्पष्ट है. कहा जा रहा है, निगम अधिकारियों की टीम जर्जर मकानों को तोड़ने के लिए आई थी. लेकिन इस बात से इतना गुस्सा आना संभव नहीं है. चूंकि वीडियो इंदौर का है, इसलिए मुझे पूरा भरोसा है कि किसी ने पोहे-जलेबी की बुराई की होगी. जिस कारण विधायक जी का गुस्सा फूट पड़ा.

पोहे जलेबी का अपमान, नहीं सहेगा भियाओ इंदौरी इंसान
पोहे जलेबी का अपमान, नहीं सहेगा भियाओ इंदौरी इंसान

2. आकाश विजयवर्गीय सच्चे लीडर हैं, एक लीडर का काम होता है आगे रहकर मोर्चा संभालना. आकाश वीडियो में अधिकारी को खुद पीटते नज़र आ रहे हैं. इस काम के लिए उन्होंने अपने किसी साथी की मदद नहीं ली. ये दिखाता है कि वो स्वावलंबी हैं. ये बड़े नेता की निशानी है, छोटा नेता छुटभैयों से हाथ उठवाता है. बड़ा नेता खुद क़ानून हाथ में लेता है.

3. कैलाश विजयवर्गीय को पता था कि उनका बेटा किसी को बैट से पीटने वाला है. सबूत के तौर पर ये ट्वीट देखिए जो घंटों पहले ट्विटर पर ट्वीट हो चुका था. और आम समझ की बात ये है कि कोई विधायक, अपने होश-हवास में ऐसा काम तो करेगा है नहीं. और अगर होश में करेगा तो आप समझ सकते हैं, मामला गंभीर है.

4. आकाश विजयवर्गीय नए जमाने के नेता हैं. वो परंपरागत छुटभैयों की तरह हॉकी से पिटाई करते नहीं दिखे. कॉलेज के लड़कों की तरह बेसबॉल ले कर नहीं आए. उन्होंने क्रिकेट के बैट का इस्तेमाल किया. ये दिखाता है कि वो ट्रेंड के साथ चलते हैं.

5. ग़लती आकाश विजयवर्गीय की नहीं है. क्रिकेट वर्ल्डकप चल रहा है. हो सकता है वो अफगानिस्तान वाले मैच में लो स्कोर देखकर नाराज़ चल रहे हों. बताना चाह रहे हों कि संकट के समय हमारे खिलाड़ियों को ऐसे बैटिंग करनी चाहिए. या वो खुद देश के लिए बैटिंग करना चाह रहे थे. बॉल की कमी होने पर अधिकारी पर कवर ड्राइव लगा दी.

6. पिटाई के दौरान उन्होंने शानदार तरीके से बल्ला चलाया. कलाई का बेहतरीन इस्तेमाल किया. इसका मतलब वो क्रिकेट खेलते आये हैं. मध्य प्रदेश में क्रिकेट बैट का इतना बोलबाला वहां 200 रन बनने पर भी न हुआ था. इस उपलब्धि के बदले कमल नाथ सरकार को चाहिए कि वो जीतू पटवारी से खेल मंत्रालय लेकर आकाश को सौंप दे, जिसकी जिस चीज में रूचि हो, उसे वो काम मिलना चाहिए.

क्रिकेट के बल्ले से पुराना अनुराग रहा है आकाश का.
क्रिकेट के बल्ले से पुराना अनुराग रहा है आकाश का.

7. आकाश पिता के नक़्शे-कदम पर चल रहे हैं. तोड़फोड़ और हिंसा के वीडियो अब तक पश्चिम बंगाल से आते थे. ममता सरकार की गलती बताई जाती थी. कैलाश विजयवर्गीय पश्चिम बंगाल के प्रभार में हैं, और आकाश विजयवर्गीय इंदौर को बंगाल बनाने के प्रभार में.

रूपा गांगुली के साथ कैलाश विजयवर्गीय. कैलाश को मध्यप्रदेश से दूर ही रखा जाता है.
रूपा गांगुली के साथ कैलाश विजयवर्गीय.

8. आकाश विजयवर्गीय ने अधिकारी को बैट से मारा, मतलब वो बैटमैन हैं.जिस समय पूरी दुनिया मार्वल फैन हुई जा रही है. उस समय भी वो डीसी फैन बने हैं. क्रिकेट लीग ना सही, अधिकारी को बैट से मारकर मारकर जस्टिस लीग पर चल पड़े हैं. हर शहर का एक रखवाला होता है. गौथम का रखवाला ब्रूस वेन था, इंदौर के पास आकाश विजयवर्गीय है. तीन नंबर विधानसभा आकाश का क्षेत्र है. अब इंदौर वालों को चाहिए कि वो तीन नंबर में आने वाली कृष्णपुरा की छत्री पर बैटमैन को बुलाने के लिए स्पेशली मोडिफाइड सर्चलाईट लगवा दे.

batman searchlight1

9. अधिकारी को बात न मानने पर पीटा गया, इसलिए बैटमैन को बातमान भी बुलाया जा सकता है. आकाश, कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं. उन्हें कैलाश विजयवर्गीय बेटामैन भी बुला सकते हैं.

आकाश के बल्ला प्रेम की एक और निशानी
आकाश के बल्ला प्रेम की एक और निशानी

10. ख़बर मिली कि इस पिटाई के बाद मौके पर बुलाई गई जेसीबी का इस्तेमाल भी नहीं हो सका. यानी आकाश उन चंद लोगों में से हैं, जिन्हें जेसीबी की खुदाई देखने में कोई इंटरेस्ट नहीं है.


कौन है मोदी भक्त रॉकी मित्तल, जिसका काम ही अपने गानों में राहुल गांधी को कोसना है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

इरफ़ान के ये विचार आपको ज़िंदगी के बारे में सोचने पर मजबूर कर देंगे

उनकी टीचर ने नीले आसमान का ऐसा सच बताया कि उनके पैरों की ज़मीन खिसक गई.

'पैरासाइट' को बोरिंग बताने वाले बाहुबली फेम राजामौली क्या विदेशी फिल्मों की नकल करते हैं?

ऐसा क्यों लगता है कि आरोप सही हैं.

रामायण में 'त्रिजटा' का रोल आयुष्मान खुराना की सास ने किया था?

रामायण की सीता, दीपिका चिखालिया ने किए 'त्रिजटा' से जुड़े भयानक खुलासे.

क्या दूरदर्शन ने 'रामायण' मामले में वाकई दर्शकों के साथ धोखा किया है?

क्योंकि प्रसार भारती के सीईओ ने जो कहा, वो पूरी तरह सही नहीं है. आपको टीवी पर जो सीन्स नहीं दिखे, वो यहां हैं.

शी- नेटफ्लिक्स वेब सीरीज़ रिव्यू

किसी महिला को संबोधित करने के लिए जिस सर्वनाम का इस्तेमाल किया जाता है, उसी के ऊपर इस सीरीज़ का नाम रखा गया है 'शी'.

असुर: वेब सीरीज़ रिव्यू

वो गुमनाम-सी वेब सीरीज़, जो अब इंडिया की सबसे बेहतरीन वेब सीरीज़ कही जा रही है.

फिल्म रिव्यू- अंग्रेज़ी मीडियम

ये फिल्म आपको ठठाकर हंसने का भी मौका देती है मुस्कुराते रहने का भी.

गिल्टी: मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

#MeToo पर करण जौहर की इस डेयरिंग की तारीफ़ करनी पड़ेगी.

कामयाब: मूवी रिव्यू

एक्टिंग करने की एक्टिंग करना, बड़ा ही टफ जॉब है बॉस!

फिल्म रिव्यू- बागी 3

इस फिल्म को देख चुकने के बाद आने वाले भाव को निराशा जैसा शब्द भी खुद में नहीं समेट सकता.