Submit your post

Follow Us

कंगना और राजकुमार राव की ये फिल्म आपको उसकी कहानी जानने के लिए चैलेंज करती है

5
शेयर्स

लगातार विवादों में नाम आने के बाद अब कंगना रनौत की पिक्चर आ रही है. नाम है ‘जजमेंटल है क्या’. ये एक साइकोलॉजिकल कॉमेडी थ्रिलर है. एक बार इस फिल्म के ट्रेलर लॉन्च की घोषणा के बावजूद फिल्म का ट्रेलर नहीं आया. बताया गया कि सेंसर बोर्ड को फिल्म से कुछ दिक्कतें हैं. लेकिन अब इस फिल्म का ट्रेलर आया है, जो काफी अलग है. इंट्रेस्टिंग है. और फनी भी. ट्रेलर की सबसे खास बात ये है कि आप इसे देखने के बावजूद फिल्म की कहानी गेस नहीं कर पाते. सब यहीं बता देंगे, तो नीचे आप क्या पढ़ेंगे? इसलिए कहानी से शुरू करते हैं-

1) कहानी ये है कि दो लोग हैं एक लड़की बॉबी और एक लड़का केशव. दिक्कत ये है कि बॉबी काफी अलग है और केशव कुछ ज़्यादा ही नॉर्मल है. बॉबी को है केशव पर क्रश. लेकिन इसी बीच एक मर्डर होता है, जिसके ये दोनों प्राइम सस्पेक्ट्स हैं. इन दोनों पर शक करने की क्या वजहें हैं, ये फिल्म देखने के बाद चलेगा. यहां से दोनों एक-दूसरे को मर्डर का आरोपी साबित करने की कवायद शुरू करते हैं. लेकिन बॉबी के साथ समस्या है कि वो काफी क्रेज़ी है, इसलिए लोगों का शक उस पर ज़्यादा है, वहीं केशव काफी अच्छा खेल रहा है क्योंकि वो समाज के हिसाब से नॉर्मल है. कुल मिलाकर बात ये है कि दोनों ‘मेंटल’ हैं. लेकिन मेंटल होना गुनाह तो है नहीं. इस केस में कौन फंसता है और किसकी लंका लगती है यही फिल्म की कहानी है.

फिल्म के एक सीन में कंगना रनौत. कंगना इससे पहले 'मणिकर्णिका' में रानी लक्ष्मीबाई के किरदार में नज़र आई थीं.
फिल्म के एक सीन में कंगना रनौत. कंगना इससे पहले ‘मणिकर्णिका’ में रानी लक्ष्मीबाई के किरदार में नज़र आई थीं.

2) फिल्म का ट्रेलर आपको मर्डर केस की जांच कर रहे पुलिसवालों की तरह उलझाकर छोड़ देता है. आप लगातार कंफ्यूज़ रहते हैं और गेस करते रहते हैं कि आखिर मर्डर किया किसने है? लेकिन नतीजे पर नहीं पहुंच पाते. साथ ही बहुत सारा पागलपन, मजाकिया सीक्वेंस और एक तरह का थ्रिल भी आपको महसूस होता है. फिल्म की अच्छी बात ये है कि ये रेगुलर नहीं है. ये अलग है. क्योंकि आपको हुक कर लेती है. आप इसे देखने के बाद रात को बिस्तर पर सोते समय फिल्म के बारे में एक बार ज़रूर सोचेंगे. क्योंकि आप भी तुर्रम खान हैं. तिस पर इन एक्टर्स का काम (अगर आप कायदे के सिनेमा में दिलचस्पी रखते हैं) आपको इस फिल्म के लिए एक्साइट भी करता है.

राजकुमार राव का किरदार फिल्म में काफी कंफ्यूज़िंग है क्योंकि ऐसा लगता है कि वो जैसा है वो दिखता नहीं और जैसा दिखता है वैसा है नहीं.
राजकुमार राव का किरदार फिल्म में काफी कंफ्यूज़िंग है क्योंकि ऐसा लगता है कि वो जैसा है वैसा दिखता नहीं और जैसा दिखता है वैसा है नहीं.

3) फिल्म में कंगना और राजकुमार राव के अलावा भी कई काबिल एक्टर्स काम कर रहे हैं. ये लोग हैं जिमी शेरगिल, जो ट्रेलर में एक सेकंड के लिए राजकुमार राव के साथ नज़र आते हैं. उनके अलावा अमायरा दस्तूर भी हैं, जिन्हें हमने हाल ही में नेटफ्लिक्स फिल्म ‘राजमा चावल’ में देखा है. फिल्म में मर्डर केस की जांच करने वाले पुलिस अधिकारी के रोल में सतीश कौशिक और ब्रिजेंद्र काला हैं. ये दोनों इस कहानी में कॉमिक रिलीफ और थ्रिलर दोनों जोड़ने का काम करते हैं. हुसैन दलाल (नेस्केफे कॉफी ऐड वाले) फिल्म में कंगना के दोस्त बने हैं, जो उसे ये अहसास दिलाने की कोशिश करता है कि वो चाहे जो हो नॉर्मल तो नहीं है. बाकी और कई एक्टरों के नाम बताए जा रहे हैं, जो इस फिल्म का हिस्सा हैं लेकिन उन नामों पर अभी ज़्यादा क्लैरिटी है नहीं.

फिल्म के ट्रेलर का वो सीन जहां ब्लर ही सही लेकिन जिमी शेरगिल नज़र आते हैं.
फिल्म के ट्रेलर का वो सीन जहां ब्लर ही सही लेकिन जिमी शेरगिल नज़र आते हैं.

4) फिल्म का नाम पहले ‘मेंटल है क्या’ था. लेकिन मानसिक रोगों के डॉक्टरों (साइकेट्रिस्ट) के मुताबिक ये नाम मानसिक रूप से बीमार लोगों को नीचा दिखाता है और उनकी बेइज्ज़ती करता है. इंडियन साइकेट्रिक सोसाइटी ने इस बात की शिकायत सेंसर बोर्ड से कर दी. इसके बाद सेंसर बोर्ड ने फिल्म के प्रोड्यूसरों जितेंद्र और एकता कपूर के साथ मीटिंग की. इस मीटिंग में सेंसर बोर्ड ने फिल्म का ट्रेलर देखा और बिना किसी तरह की दिक्कत के पास कर दिया लेकिन प्रोड्यूसर्स की सहमती से फिल्म का नाम बदलकर ‘जजमेंटल है क्या’ कर दिया गया.

यही वो मर्डर है, जिसके बारे में पूरी फिल्म है.
यही वो मर्डर है, जिसके बारे में पूरी फिल्म है. ट्रेलर में मर्डर एक बताया जाता है लेकिन यहां डेडबॉडी दो नज़र आ रही हैं.

5) इस फिल्म को लिखा है ‘मनमर्ज़ियां’ और ‘केदारनाथ’ जैसी फिल्में लिख चुकी कनिका ढिल्लौं ने. और ‘जजमेंटल है क्या’ को डायरेक्ट किया है प्रकाश कोवलमुडी ने. प्रकाश, तेलुगु सिनेमा के मशहूर फिल्मकार के.राघवेंद्र राव के बेटे और कनिका के पति हैं. प्रकाश अब तक तीन फिल्में बना चुके हैं. उन्हें 2004 में आई फिल्म ‘बोमलत्ता’ के लिए नेशनल अवॉर्ड भी मिल चुका है.

पति और फिल्म डायरेक्टर प्रकाश कोवलमुडी के साथ कनिका ढिल्लौं.
पति और फिल्म डायरेक्टर प्रकाश कोवलमुडी के साथ कनिका ढिल्लौं.

6) फिल्म की शूटिंग मई 2018 में मुंबई में शुरू हुई थी. इसके बाद इसका एक शेड्यूल लंदन में शूट किया गया. जुलाई 2018 में फिल्म की शूटिंग खत्म हो गई. ‘जजमेंटल है क्या’ की रिलीज़ डेट को लेकर काफी हो-हल्ला मचा रहा. पहले इसे मार्च 2019 में रिलीज़ करने की तैयारी थी. लेकिन वो तारीख टलकर मई 2019 हुई और अब फाइनली ये फिल्म 26 जुलाई, 2019 को थिएटर्स में उतर रही है. फिल्म का ट्रेलर आप यहां देख सकते हैं:


 वीडियो देखें: आदित्य पंचोली पर रेप, जबरन वसूली, मारपीट और जहर देकर मारने के मामले में FIR दर्ज

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

जामताड़ा: वेब सीरीज़ रिव्यू

फोन करके आपके अकाउंट से पैसे उड़ाने वालों के ऊपर बनी ये सीरीज़ इस फ्रॉड के कितने डीप में घुसने का साहस करती है?

तान्हाजी: मूवी रिव्यू

क्या अपने ट्रेलर की तरह ही ग्रैंड है अजय देवगन और काजोल की ये मूवी?

फिल्म रिव्यू- छपाक

'छपाक' एक ऐसी फिल्म है, जिसके बारे में हम ये चाहेंगे कि इसकी प्रासंगिकता जल्द से जल्द खत्म हो जाए.

हॉस्टल डेज़: वेब सीरीज़ रिव्यू

हॉस्टल में रह चुके लोगों को अपने वो दिन खूब याद आएंगे.

घोस्ट स्टोरीज़ : मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

करण जौहर, अनुराग कश्यप, ज़ोया अख्तर और दिबाकर बनर्जी की जुगलबंदी ने तीसरी बार क्या गुल खिलाया है?

गुड न्यूज़: मूवी रिव्यू

साल की सबसे बेहतरीन कॉमेडी मूवी साल खत्म होते-होते आई है!

जब एक पत्रकार ने तीखे सवाल पूछे तो नेताजी ने उसको उठवा लिया

एक रात की कहानी, जो पत्रकार पर भारी गुज़री. #चला_चित्रपट_बघूया.

दबंग 3: मूवी रिव्यू

'दबंग 3’ के क्लाइमेक्स में इंस्पेक्टर चुलबुल पांडे को किस चीज़ का अफ़सोस रह जाता है?

फिल्म रिव्यू: मर्दानी 2

ये फिल्म आपके दिमाग में बहुत कुछ सोचने-समझने के लिए छोड़ती है और अपने हालातों पर रोती हुई खत्म हो जाती है.

क्या किया उस बच्ची ने, जिसकी मां की जान मछली में थी और बच्ची को उसे बचाना ही था?

अगर मछली मर जाती, तो मां भी नहीं बचती. #चला_चित्रपट_बघूया.