Submit your post

Follow Us

कैसा है शाहिद कपूर की 'जर्सी' का ट्रेलर, जिसमें वो क्रिकेटर बनकर धमाल कर रहे हैं

आजकल शाहिद कपूर साउथ की फ़िल्मों के खूब रीमेक बना रहे हैं. 23 नवंबर को शाहिद की फ़िल्म ‘जर्सी’ का ट्रेलर रिलीज़ हुआ है. कैसा है ट्रेलर, क्या है फ़िल्म का पूरा गणित समझते चलें.

#कहानी क्या है?

अर्जुन रायचंद एक फेल्ड क्रिकेटर है. घर के हालात तंग हैं. गृहस्थी अर्जुन की पत्नी सारा चलाती है. अर्जुन के पास पांच सौ रुपये भी नहीं रहते वो भी अपनी पत्नी से मांगने पड़ते हैं. अर्जुन खुद बड़ा क्रिकेटर नहीं बन पाया लेकिन अपने बेटे सिद्धार्थ को बड़ा क्रिकेटर बनाना चाहता है. जब चारों तरफ से कोई रास्ता नहीं दिखता तो अर्जुन एक बार फ़िर मैदान पर वापसी करने की ठानता है. अर्जुन के इस संघर्ष की कहानी है ‘जर्सी’.

ट्रेलर में शाहिद को वाइट जर्सी में देख उनकी ‘दिल बोले हड़िप्पा’ फ़िल्म की याद आती है. और उन्हें चिल्लाते-झगड़ते देख ‘कबीर सिंह’ की. ट्रेलर से फ़िल्म की सिनेमैटोग्राफी मोहक दिखती है. ट्रेलर में सुनाई पड़ रहा अनिरुद्ध रविचंद्र का बैकग्राउंड म्यूजिक भी भीना लगता है. मृणाल भी फ़िल्म में एक लव इंटरेस्ट ज़्यादा एक स्ट्रांग रोल में दिखती हैं.

#कौन कौन है?

फ़िल्म में शाहिद कपूर एक फेल्ड क्रिकेटर अर्जुन रायचंद की भूमिका में हैं. मृणाल ठाकुर अर्जुन की पत्नी सारा रायचंद के किरदार में हैं. फ़िल्म में शाहिद के पिता पंकज कपूर कोच चंद्रशेखर की भूमिका में नज़र आते हैं. फ़िल्म में शरद केलकर भी नज़र आएंगे. अर्जुन-सारा के बेटे सिद्धार्थ के रोल में रोनित कामरा हैं.

पंकज कपूर.
पंकज कपूर.

#राइटर-डायरेक्टर कौन हैं?

ये फ़िल्म गौटम टिन्नानूरी द्वारा लिखित और निर्देशित 2019 में रिलीज़ हुई तेलुगु फ़िल्म ‘जर्सी’ का रीमेक है. इस फ़िल्म में श्रद्धा श्रीनाथ फीमेल लीड थीं. कोच की भूमिका फ़िल्म में सत्यराज ने निभाई थी. ओरिजनल फ़िल्म में नानी ने मुख्य रोल अदा किया था. नानी ने हिंदी रीमेक में शाहिद के काम की खूब तारीफ़ भी की. उन्होंने कहा,

“वो मुझसे अच्छा करेगा. वो बहुत ही कमाल का परफ़ॉर्मर है और किरदार को बहुत अच्छे से पकड़ लेता है. गौटम ने मुझे कुछ तस्वीरें दिखाई हैं. शाहिद बहुत कमाल लग रहा है. गौटम बहुत कम बोलने वाला इंसान है. उसे कुछ जल्दी से पसंद नहीं आता. उसे शाहिद का काम बहुत पसंद आता है. उसके चेहरे से दिखता है. उसने मुझे बताया था कि वो हिंदी वर्जन के आउटपुट से बहुत खुश है. मैं अभी से इमैजिन कर सकता हूं क्या ज़बरदस्त फ़िल्म बनी होगी.”

शाहिद कपूर.
शाहिद कपूर.

#कब और कहां आएगी जर्सी?

‘जर्सी’ का तेलुगु वर्जन खूब हिट हुआ था. यानी फ़िल्म की कहानी तो उम्दा है ही. ये फ़िल्म कैसा करेगी ये एक्टर्स पर डिपेंड करता है. हालांकि ट्रेलर से तो कास्ट अच्छी लग रही है. बाकी 31 दिसंबर को देखेंगे जब फ़िल्म सिनेमाघरों में आ जाएगी.


वीडियो: स्पाइडर मैन और इटर्नल्स के बाद मार्वेल कौन ही बड़ी फिल्में लेकर आ रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: कोबाल्ट ब्लू

फिल्म रिव्यू: कोबाल्ट ब्लू

मूलत: ये फिल्म प्रेम और उससे उपजे दुख की बात करती है.

विजय की फिल्म 'बीस्ट' के ट्रेलर में पबजी फैन्स ने क्या ग़लती निकाल दीं?

विजय की फिल्म 'बीस्ट' के ट्रेलर में पबजी फैन्स ने क्या ग़लती निकाल दीं?

डिफेंस वालों को भी शिकायत हो सकती है.

फिल्म रिव्यू- मॉर्बियस

फिल्म रिव्यू- मॉर्बियस

अगर आपने मार्वल की कोई फिल्म नहीं देखी, तब भी 'मॉर्बियस' को देख सकते हैं. क्योंकि इसका मार्वल की पिछली फिल्मो से कोई लेना-देना नहीं है.

मूवी रिव्यू: कौन प्रवीण तांबे

मूवी रिव्यू: कौन प्रवीण तांबे

ये एक आम इंसान के हीरो बनने की कहानी है. उसके खुद को लगातार रीक्रिएट करने की कहानी है.

मूवी रिव्यू: अटैक

मूवी रिव्यू: अटैक

फिल्म ठीक उस बच्चे की तरह है जो परीक्षा से एक रात पहले पूरा सिलेबस कवर करना चाहता है. नहीं समझे? तो रिव्यू पढिए.

मूवी रिव्यू: शर्माजी नमकीन

मूवी रिव्यू: शर्माजी नमकीन

कैसी है ऋषि कपूर की आखिरी फिल्म?

फिल्म रिव्यू- RRR

फिल्म रिव्यू- RRR

ये फिल्म देखकर समझ आता है कि जब किसी फिल्ममेकर का विज़न क्लीयर हो और उसे अपना क्राफ्टबोध हो, तो एक साधारण कहानी पर भी अद्भुत फिल्म बनाई जा सकती है.

फिल्म रिव्यू- बच्चन पांडे

फिल्म रिव्यू- बच्चन पांडे

हमारे यहां के फिल्ममेकर्स को ये समझना है कि किसी फिल्म को लोकल ऑडियंस की सेंसिब्लिटीज़ के हिसाब से ढालने का मतलब उन्हें डंब समझना नहीं है.

मूवी रिव्यू: जलसा

मूवी रिव्यू: जलसा

विज़िबल और इनविज़िबल रूप से कन्फ्लिक्ट या कहें तो डिवाइड पूरी फिल्म में दिखता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: ब्लडी ब्रदर्स

वेब सीरीज़ रिव्यू: ब्लडी ब्रदर्स

शो की कास्ट में काबिल एक्टर्स के नाम होने के बावजूद ये शो राइटिंग के टर्म्स में पिछड़ जाता है.