Submit your post

Follow Us

इरफान का अवॉर्ड लेते वक्त फूट-फूटकर रोए बाबिल, मां ने लिखी ऐसी बात कि गला रुंध जाए

फिल्मफेयर अवॉर्ड 2021 में इरफान खान को फिल्म ‘अंग्रेज़ी मीडियम’ में उनकी परफॉरमेंस के लिए मरणोपरांत बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड दिया गया. साथ ही इरफान को फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से भी नवाज़ा गया. इरफान का ये अवॉर्ड लेने उनके बेटे बाबिल इस इवेंट में पहुंचे थे. क्योंकि कैंसर से लंबी लड़ाई के बाद 29 अप्रैल, 2020 को इरफान खान की डेथ हो गई. वो 53 साल के थे.

जब स्टेज पर रितेश देशमुख, राजकुमार राव और आयुष्मान खुराना ने इरफान को श्रद्धांजलि देनी शुरू की, तब ऑडियंस में बैठे बाबिल फूट-फूटकर रोने लगे. अपने पिता के कपड़ों में तैयार होकर इस इवेंट में पहुंचे बाबिल ने स्टेज पर जाकर कहा कि इस बात से बड़े खुश हैं कि ऑडियंस ने उन्हें खुले बांहों से स्वीकार किया है. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि वो इंडियन सिनेमा को नई ऊंचाइयों तक ले जाना चाहते हैं. ये कहकर वो नीचे चले आए. बड़ा इमोशनल मोमेंट था.

27 मार्च को हुए अवॉर्ड शो में बाबिल के इमोशनल होकर रोने पर उनकी मां सुतपा सिकदर ने एक कड़क कविता लिखी. ऐसी कविता, जिसे पढ़कर आपका गला रुंध जाएगा. आप वो कविता नीचे पढ़ सकते हैं-

 

 

 

View this post on Instagram

 

  A post shared by Sutapa Sikdar (@sikdarsutapa)

मेरा बेटा

बड़ा कड़क लौंडा है वो
चुप चुप के नही सबके सामने ज़ार ज़ार रोता है वो
बड़ा कड़क लौंडा है
बाप के यादों को समेटता है नाज़ुक उंगलियों से
बिखेरता है उन्हें ख़ुशबू की तरह
सहेजता है उन्हें बंद डायरी में
बड़ा सख्त लौंडा है वो
अपनी मां को गले लगाके कह पाता है
“पूरी ज़िंदगी तू घना पेड़ थी हम सब के लिए’
अब उड़ मां पंख फैलाए होश गवाएं’
शर्माता है गालों पर उसके गिरते हैं डिम्पल मुस्कुराकर
जब कहता है अपनी ही मां को “अब तो जा जी ले अपनी ज़िंदगी सिमरन”
बड़ा सख़्त लौंडा है यह
रात भर रोता है बाबा की याद में
जब आंख सूज जाती है तो पूछने पर यह नही कहता अपनी मर्दानगी के ख़ातिर कि सोया नही रात भर
कह देता है रोया हूं मां
अहसासात को जज़्बात को नौ मन बोझ बनाके नही रखता क्योंकि मर्द है वो
अल्लाह का लाख लाख शुक्र है बड़ा सख़्त लौंडा है मेरा बेटा
क्योंकि जज़्बात छिपाने के लिए नही दिखाने के लिए जिगर चाहिए होता है
पुराने रवायतों को तोड़कर नए आयाम बनाने के लिए जिगर चाहिए होता है
बहुत बहुत सख्त होना पढ़ता है नरम दिखने के लिए
बड़ा सख़्त लौंडा है यह. 

बेसिकली इस कविता का मर्म ये है कि रोने को किसी लिंग विशेष या किसी कमज़ोरी से जोड़कर नहीं देखना चाहिए. हमें लड़कों का रोना भी नॉर्मल करना चाहिए. क्योंकि अपनी भावनाओं को इतने सारे लोगों के सामने प्रकट करने के लिए भी बहुत हिम्मत की ज़रूरत पड़ती है.

खैर, अपने पिता के नक्शे कदम पर चलते हुए बाबिल भी जल्द ही अपना एक्टिंग डेब्यू करने जा रहे हैं. वो अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन हाउस क्लीन स्लेट्ज फिल्म के तहत बनने वाली अगली फिल्म का हिस्सा हैं. ‘क़ला’ नाम से बन रही इस फिल्म में बाबिल के साथ ‘लैला मजनू’ फेम तृप्ती डिमरी नज़र आने वाली हैं. इस फिल्म को ‘बुलबुल’ वाली अनविता दत्त डायरेक्ट कर रही हैं. अनाउंसमेंट वीडियो आप यहां देख सकते हैं-


View this post on Instagram

A post shared by Babil (@babil.i.k)


वीडियो देखें: BAFTA Awards ने इरफ़ान और ऋषि कपूर को कैसे ट्रिब्यूट दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो 10 एक्टर्स, जिन्होंने पिछले एक साल में थिएटर्स बंद होने का गम भुला दिया

वो 10 एक्टर्स, जिन्होंने पिछले एक साल में थिएटर्स बंद होने का गम भुला दिया

'पाताल लोक' वाले जयदीप अहलावत से लेकर 'स्कैम 1992' वाले प्रतीक गांधी, सभी का शुक्रिया.

ये चीज ना सीख पाए तो नोवाक जोकोविच के मैच देखना ही बेकार है!

ये चीज ना सीख पाए तो नोवाक जोकोविच के मैच देखना ही बेकार है!

Djoko से ये सीख लिया तो जीवन सफल समझो.

सुशांत सिंह राजपूत के फैन्स ने इन 6 लोगों पर हत्या और उकसावे के आरोप लगाए थे

सुशांत सिंह राजपूत के फैन्स ने इन 6 लोगों पर हत्या और उकसावे के आरोप लगाए थे

आखिर सुशांत सिंह राजपूत को क्यों मारना चाहेंगे, सलमान खान, करण जौहर और महेश भट्ट?

सुशांत सिंह राजपूत की बरसी पर पढ़िए उनके 16 बेहतरीन डायलॉग्स

सुशांत सिंह राजपूत की बरसी पर पढ़िए उनके 16 बेहतरीन डायलॉग्स

जो हमें ज़िंदगी जीने का तरीका समझाते हैं.

सुशांत सिंह राजपूत केस में कब, क्या और कैसे हुआ? जांच कहां तक पहुंची?

सुशांत सिंह राजपूत केस में कब, क्या और कैसे हुआ? जांच कहां तक पहुंची?

सुशांत को गुज़रे एक साल हो गया, केस में क्या-क्या हुआ?

डेथ से पहले इन 5 प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे थे सुशांत सिंह राजपूत

डेथ से पहले इन 5 प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे थे सुशांत सिंह राजपूत

आज सुशांत सिंह राजपूत की पहली पुण्यतिथि है.

सुशांत सिंह राजपूत के 50 ख्वाब, जो उन्होंने पर्चियों में लिख रखे थे

सुशांत सिंह राजपूत के 50 ख्वाब, जो उन्होंने पर्चियों में लिख रखे थे

उनके ख्वाबों की लिस्ट में उनके व्यक्तित्व का सार छुपा हुआ है.

EMS नंबूदिरीपाद, वो शख्स जिसने भारत में लेफ्ट की पहली चुनी हुई सरकार बनाई

EMS नंबूदिरीपाद, वो शख्स जिसने भारत में लेफ्ट की पहली चुनी हुई सरकार बनाई

जन्मदिन पर 10 पॉइंट्स में जानिए नंबूदिरीपाद की कहानी.

श्रीकांत और राजी तो ठीक, लेकिन 'द फैमिली मैन' के इन 5 किरदारों ने शो को इतना शानदार बनाया है

श्रीकांत और राजी तो ठीक, लेकिन 'द फैमिली मैन' के इन 5 किरदारों ने शो को इतना शानदार बनाया है

मनोज बाजपेयी के अपने बॉस को थप्पड़ लगाने वाले सीन के पीछे की कहानी तो कुछ और ही निकली.

Cannes 2021 में प्रीमियर होने वाली 10 कमाल की फिल्में, जिन्हें मिस करना समझदारी नहीं

Cannes 2021 में प्रीमियर होने वाली 10 कमाल की फिल्में, जिन्हें मिस करना समझदारी नहीं

वो फेस्ट, जहां अपनी फिल्म स्क्रीन करना हर डायरेक्टर का सपना होता है.