Submit your post

Follow Us

इरफ़ान के निधन पर राहुल गांधी, संबित पात्रा, अमित शाह और दूसरे बड़े नेता क्या बोले?

एक्टर इरफ़ान नहीं रहे. 53 बरस की उम्र में उनका निधन हो गया. उनके जाने से हर कोई हैरान है. सोशल मीडिया पर खलबली मची हुई है. लोगों के दनादन रिएक्शन्स आ रहे हैं. राजनेताओं ने भी इरफ़ान के जाने पर दुख जताया. ट्वीट कर श्रद्धांजलि दे रहे हैं.

राजनेताओं के ट्वीट्स-

राहुल गांधी ने लिखा,

‘इरफ़ान के निधन की खबर सुनकर बहुत दुख हुआ. एक बहुमुखी प्रतिभा वाले एक्टर थे. वैश्विक फिल्मों और टीवी पर वो भारत के लोकप्रिय ब्रांड एंबेसडर थे. उनकी बहुत याद आएगी. इस दुख की घड़ी में उनके परिवार, दोस्त और प्रशंसकों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं.’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर दुख जताया. कहा,

‘इरफ़ान के निधन की खबर सुनकर हैरान हूं. बहुत ही असाधारण एक्टर थे. उम्मीद है कि उनके काम को हमेशा याद रखा जाएगा. रेस्ट इन पीस.’

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी ट्वीट कर कहा,

‘इरफ़ान बहुमुखी प्रतिभा वाले एक्टर थे. उनके निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ. उनके परिवार, दोस्त और समर्थकों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं. ओम शांति.’

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने लिखा,

‘इरफ़ान का असामयिक (उचित समय से पहले) निधन हो गया. बहुमुखी प्रतिभा वाले एक्टर थे. वो न केवल एक अच्छे एक्टर थे, बल्कि एक अच्छे क्रिकेटर थे, लेकिन इस फील्ड में पैसों की कमी के चलते आगे नहीं जा पाए. टीवी और फिल्मों में बेमिसाल काम किया. बहुत लोगों को भरोसा देते रहे, प्रेरणा देते रहे. मैं इरफ़ान को श्रद्धांजलि देता हूं और उनके परिवार, दोस्त, फैन्स के लिए संवेदनाएं.’

प्रियंका गांधी ने लिखा,

‘इरफ़ान की बेमिसाल अदाकारी जैसी दूसरी मिसाल मिलनी मुश्किल है. उनके अभिनय ने भाषाओं, राष्ट्रों और मज़हबों की सीमाओं को तोड़ते हुए अदाकारी का एक ऐसा लहजा बनाया, जिसने कला और संवेदना के जरिए पूरी मानवता को एकजुट किया. आपका अभिनय हमारी थाती है. हम इसे सहेजकर रखेंगे.’

डॉ कुमार विश्वास ने इरफ़ान के लिए एक कविता लिख डाली.

‘प्रथा, हासिल जैसी शुरुआती फ़िल्मों से आजतक भारतीय सिनेमा के प्रातिभ ग्लोबल अभिनेता, मेरे दोस्त इरफ़ान का यूं जाना तोड़ गया.
“रहने को सदा दहर में आता नहीं कोई,
तुम जैसे गए ऐसे भी जाता नहीं कोई !
इक बार तो ख़ुद मौत भी घबरा गई होगी,
यूँ मौत को सीने से लगाता नहीं कोई..!

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने लिखा,

‘कोई स्टिरियोटाइप लुक नहीं, कोई सिक्स-पैक एब्स नहीं, कोई फैन्सी डांस स्टेप नहीं. बॉलीवुड में उनके परिवार का भी कोई पहले से नहीं था. वो केवल उनका हुनर था और उनका शानदार स्क्रीन प्रेसेंस. इरफ़ान, जब हर कोई शांत रहता था, आप बोलने की हिम्मत करते थे, ये आपकी सबसे बड़ी संपत्ति थी. आप बहुत ज्यादा याद आओगे.’

BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने लिखा,

‘इरफ़ान के जाने की खबर ने बहुत दुखी किया. इतने प्रतिभाशाली व्यक्ति इतनी जल्दी चले गए. उनकी आत्मा को शांति मिले.’

UP के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लिखा,

‘हम सबके चहेते अभिनेता इरफ़ान आज अंनत गति को प्राप्त हुए. भावभीनी श्रद्धांजलि! विख्यात धावक पान सिंह तोमर की अमर भूमिका में वो सदैव याद किये जाएंगे.’

महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने लिखा,

‘उनके द्वारा निभाया गया हर रोल हमारे दिमाग में घर कर गया है. पान सिंह तोमर के जोश से लेकर अंग्रेजी मीडियम में एक पिता का रोल निभाया. इरफ़ान ऐसे एक्टर थे, जिन्हें ध्यान पूर्वक देखा जाना चाहिए था. उनके द्वारा निभाए गए किरदारों में वो ज़िंदा रहेंगे. ओम शांति.’

गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर कहा,

‘इरफ़ान के निधन की खबर से दुखी हूं. वो बहुमुखी प्रतिभा वाले एक्टर थे. उनकी कला ने दुनियाभर में नाम और पहचान कमाई थी. इरफ़ान हमारी फिल्म इंडस्ट्री की एक संपत्ति थी. उनके जाने देश ने एक शानदार अभिनेता और दयालु आत्मा को खो दिया. उनके परिवार और समर्थकों के लिए संवेदनाएं.’

कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा,

‘इरफ़ान के निधन की खबर सुनकर दुखी हूं. सिनेमा की दुनिया में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा. उनके परिवार और दोस्तों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं. उनकी आत्मा को शांति मिले.’

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लिखा,

‘मृत्यु सत्य है और शरीर नश्वर, यह सत्य जानते हुए भी हर व्यक्ति के असमय निधन पर अत्यंत दुख होता है. अभिनय शब्द की असली परिभाषा देने वाले अभिनेता इरफ़ान के निधन पर भावभीनी श्रद्धांजलि. अपने उत्कृष्ट अभिनय के माध्यम से आप सदैव हमारे दिलों में जिंदा रहेंगे. विनम्र श्रद्धांजलि.’

हेमा मालिनी ने लिखा,

‘इरफ़ान अब नहीं रहे. इतने शानदार एक्टर. उनकी नैचुरल एक्टिंग की मैं हमेशा से फैन रही हूं. हालांकि मुझे उनके साथ काम करने का कभी कोई मौका नहीं मिला. फिल्म इंडस्ट्री के लिए ये एक भारी नुकसान है. असमय निधन हुआ. उनकी आत्मा को शांति मिले.’

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा,

‘देश के सबसे बहुमुखी अभिनेताओं में से एक इरफ़ान के जाने से दुखी हूं, हैरान हूं. उनके परिवार, दोस्त और फैन्स के साथ मेरी संवेदनाएं हैं. भगवान उन सबको ताकत दे. उनकी (इरफ़ान) आत्मा को शांति दे.’

इरफ़ान 2018 में इरफ़ान को न्यूरोएंडोक्राइम ट्यूमर डायग्नोज़ हुआ था. एक साल तक लंदन में इलाज कराने के बाद वो फरवरी 2019 में इंडिया लौटे थे. लौटते ही वो अपनी फिल्म ‘अंग्रेज़ी मीडियम’ की शूटिंग में लग गए. हालांकि फिल्म जब रिलीज़ होने को आई, तो इरफान ने एक वीडियो जारी कर कहा कि वो इस फिल्म के प्रमोशन में हिस्सा नहीं ले पाएंगे. क्योंकि वो पूरी तरह से रोगमुक्त नहीं हुए हैं.

25 अप्रैल को इरफ़ान की मां सईदा बेगम का जयपुर में देहांत हो गया था. वो 95 साल की थीं. मौत की वजह उम्र संबंधी दिक्कतें बताई जा रही थीं. इरफ़ान लॉकडाउन की वजह से अपनी मां के अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं हो पाए. पहले बताया गया कि इरफ़ान इंडिया से बाहर लेकिन इंडियन एक्स्प्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इरफ़ान मुंबई में थे और उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए अपनी मां को श्रद्धांजलि अर्पित की थी.

28 अप्रैल को खबर आई कि इरफ़ान की तबीयत अचानक बिगड़ गई है. जिसके बाद उन्हें मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती करवाया गया.


वीडियो देखें: इरफ़ान कैंसर के कारण करीब दो साल फिल्मों से दूर रहे अब ‘अंग्रेजी मीडियम’ ला रहे हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो 7 इंडियन एक्टर्स/सेलेब्रिटीज़, जिन्होंने आत्महत्या कर ली थी

इस लिस्ट में लीजेंड्स से लेकर स्टार्स सब शामिल हैं.

सुशांत सिंह राजपूत के 50 ख्वाब, जो उन्होंने पर्चियों में लिख रखे थे

उनके ख्वाबों की लिस्ट में उनके व्यक्तित्व का सार छुपा हुआ है.

डेथ से पहले इन 5 प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे थे सुशांत सिंह राजपूत

इनमें से एक फिल्म अगले कुछ दिनों में रिलीज़ होने वाली है, जो सुशांत के करियर की आखिरी फिल्म होगी.

इंडियन आर्मी ऑफिसर्स पर बन रही 7 फिल्में, जिन्हें देखकर छाती चौड़ी हो जाएगी

इन फिल्मों में इंडिया के सबसे बड़े सुपरस्टार्स काम कर रहे हैं.

ये FICCI, ASSOCHAM, CII वगैरह सुनाई तो खूब देते है, पर होते क्या हैं?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 जून को इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स (ICC) के सेशन को संबोधित किया.

बड़े बजट और सुपरस्टार्स वाली वो 5 फिल्में, जो किसी भी हाल में ऑनलाइन रिलीज़ नहीं होंगी

ये 2020 की सबसे बड़ी और बहुप्रतीक्षित फिल्में हैं.

इबारत : गिरफ़्तारी भागने का मौक़ा होने के बाद भी शहीद रामप्रसाद बिस्मिल भागे क्यों नहीं?

काकोरी केस में गिरफ़्तार किए गए थे बिस्मिल.

भारत के लिए खेले इन क्रिकेटर्स के पास कौन सी डिग्री है?

बड़ी डिग्री वाले हैं ये क्रिकेटर.

वो 8 बॉलीवुड फिल्में, जो थिएटर्स के बदले सीधे ऑनलाइन रिलीज़ होने जा रही हैं

इस लिस्ट में इंडिया के सबसे बड़े सुपरस्टार्स से लेकर दिग्गज फिल्ममेकर्स की फिल्में भी शामिल हैं.

कोरोना से जुड़ी आठ अफवाहें, जिनको लोगों ने बिना सोचे-समझे, धड़ल्ले से शेयर किया

वायरस से ज्यादा तेज़ी से तो ये अफवाहें फ़ैलीं.