Submit your post

Follow Us

IPL के वो 5 खिलाड़ी जिनके नाम बड़े हैं, प्रदर्शन छोटे

755
शेयर्स

कईयों को कहते सुना है कि आईपीएल में कुछ खास है. यहां मुर्दे में भी जान आ जाती है. प्लेयर्स फील्डिंग, बैटिंग या फिर बॉलिंग करते हुए जान झोंक देते हैं. कई मजेदार कैच लपके जाते हैं. कई हैरान करने वाले फील्डिंग स्टंट किए जाते हैं. आखिरी गेंद तक पता नहीं होता है कि कौन जीत जाएगा. ये सब इसलिए होता है क्योंकि ये इवेंट कंपीटिटिव है. घनघोर कंपीटिटिव. अब ऐसे में भी कई खिलाड़ी बिल्कुल चल ही नहीं रहे हैं. मोटी फीस जेब में आ रही है मगर प्रदर्शन के नाम पर वो रिफलेक्ट नहीं हो रही. आइए एक नजर डालते हैं उन 5 खिलाड़ियों पर जिन्हें आईपीएल ढो रहा है-

1. युसुफ पठान– मुझे पक्का पता है कि ये नाम सुनते ही यकीनन सोच रहे होंगे कि आपके जहन में भी ये नाम है. क्या हो गया है युसुफ पठान को? क्या इस ऑलराउंडर का टाइम खत्म हो गया है? 37 साल के युसुफ पठान ने बीते 6 मैचों में पता है कितने रन बनाए हैं. सिर्फ 32. उसमें भी एक मैच में 16 मारे हैं. बाकी पांच में 16. एक भी विकेट भी नहीं लिया है. युसुफ को हैदराबाद की टीम ने इस साल 1.9 करोड़ रुपए देकर रीटेन किया था. पिछले सीजन भी युसुफ ने पूरे 15 मैच खेले थे और 28 के औसत से 260 रन मारे थे. पूरे सीजन 1 विकेट ली थी. अब तक टीम यही सोच रही है कि कब खून खौलेगा रे तेरा युसुफ पठान.

Yusuf PAthan
सभी स्क्रीनग्रैब्स IPL की साइट से लिए गए हैं.

2. मनीष पांडे– अपनी पावरफुल हिटिंग के लिए मशहूर इस प्लेयर का बल्ला भी शांत हो चुका है. 2009 में बेंगलोर के लिए डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ 2009 में जब मनीष ने वो 114 रनों की पारी खेली थी तो दुनिया के कान खड़े हो गए थे. 2018 में सनराइजर्स हैदराबाद ने मनीष पांडे को 11 करोड़ रुपए में खरीदा था. पूरे 11 11 करोड़ और 2019 के लिए भी रीटेन किया. 2018 में 15 मैचों में सिर्फ 284 रन बनाए थे और और इस बार पता है कितने रन बनाए हैं साहब ने? पूरे 54. वो भी 6 मैच में. 30 साल के मनीष पांडे को समझना चाहिए कि और भी यंगस्टर्स हैं जो अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं.

Manish Pandey

3. कीरन पोलार्ड– 32 साल का ये विंडीज खिलाड़ी मुंबई इंडियन्स के लिए खेल रहा है. अभी तक 5 मैच खेल लिए हैं और बल्ले से सिर्फ 96 रन निकले हैं. इसमें एक मैच में 46 रनों की पारी है. बाकी चार में देख लीजिए क्या प्रदर्शन रहा है. पोलार्ड बहुत बड़े मैच विनर रहे हैं इसलिए इनका बल्ला न चलना मुंबई इंडियन्स के साथ-साथ उनके फैन्स के लिए दिल तोड़ने वाला है. बल्ले के साथ साथ पोलार्ड गेंदबाजी में भी कुछ नहीं कर पाए हैं. एक भी विकेट नहीं मिला है पोलार्ड को. पिछले सीजन भी पोलार्ड ने मुंबई के लिए 9 मैचों में सिर्फ 133 रन बनाए थे. बावजूद इसके उन्हें इस सीजन में 5.4 करोड़ रुपए की फीस देकर रखा गया और यहां भी खराब फॉर्म जारी है.

Pollard

4. युवराज सिंह– हर क्रिकेटर का एक दौर होता है. युवराज सिंह का भी एक दौर था. आईपीएल में मुंबई इंडियंस के लिए खेल तो रहे हैं मगर जिस तरह के प्रदर्शन की युवी से उम्मीद है, वो नहीं दिख रहा है. अभी तक 4 मैच खेले हैं और 98 रन बनाए हैं. इनमें एक 53 रनों की पारी भी है जो पहले ही मैच में खेल ली थी. मगर उसके बाद युवी ने 23, 18 औऱ 4 रनों की पारियां खेलीं. पिछले मैच से ड्रॉप भी हो गए हैं. जब युवराज को कहीं कोई खरीददार नहीं मिल रहा था तो मुंबई ने उनके 1 करोड़ के बेस प्राइस पर खरीद लिया था. पिछले साल पंजाब के लिए खेलते हुए भी युवराज सिंह ने 8 मैचों में सिर्फ 65 रन बनाए थे.

Yuvi

5. जयदेव उनाडकट– आईपीएल में एक खिलाड़ी और है जो हर साल ऑक्शन के दौरान मोटी रकम पाने के लिए चर्चा में आता है. मगर प्रदर्शन हमेशा सामान्य से भी हल्का रहता है. नाम जयदेव उनाडकट है और अभी तक इस लेफ्ट आर्म मीडियम पेसर ने सिर्फ तीन मैच खेले हैं और दो विकेट लिए हैं. पिछले सीजन भी उनाडकट ने 15 मैच खेले और सिर्फ 11 विकेट लिए यानी प्रति मैच एक विकेट का भी औसत नहीं रहा. 28 साल के उनाडकट को पहले राजस्थान रॉयल्स ने रिलीज करने का प्लैन बना लिया था मगर फिर ऑक्शन के आखिर में फिर से 8.4 करोड़ रुपए में खरीद लिया. इस खिलाड़ी के बारे में एक बात कही जा सकती है कि नाम बड़े और दर्शन छोटे.

Unadkat


लल्लनटॉप वीडियो भी देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
IPL 2019: Five players who have been a disaster for their teams

पोस्टमॉर्टम हाउस

मेड इन हैवन: रईसों की शादियों के कौन से घिनौने सच दिखा रही है ये सीरीज़?

क्यों ये वेब सीरीज़ सबसे बेस्ट मानी जाने वाली सीरीज़ 'सेक्रेड गेम्स' से भी बेस्ट है.

गेम ऑफ़ थ्रोन्स सीज़न 8 एपिसोड 4 - रिव्यू

सब कुछ तो पिछले एपिसोड में हो चुका, अब बचा क्या?

मूवी रिव्यू: सेटर्स

नकल माफिया कितना हाईटेक हो सकता है, ये बताने वाली थ्रिलर फिल्म.

फिल्म रिव्यू: ब्लैंक

आइडिया के लेवल पर ये फिल्म बहुत इंट्रेस्टिंग लगती है. कागज़ से परदे तक के सफर में कितनी दिलचस्प बन बाती है 'ब्लैंक'.

'जुरासिक पार्क' जैसी मूवी के डायरेक्टर ने सत्यजीत राय की कहानी कॉपी करके झूठ बोला!

जानिए क्यों राय अपनी वो हॉलीवुड फिल्म न बना पाए, जिसकी कॉपी सुपरहिट रही थी, और जिसे फिर बॉलीवुड ने कॉपी किया.

ढिंचाक पूजा का नया गाना, वो मोदी विरोधी हो गईं हैं

फैंस के मन में सवाल है, क्या ढिंचाक पूजा समाजवादी हो गई हैं?

गेम ऑफ़ थ्रोन्स सीज़न 8 एपिसोड 3 - रिव्यू

एक लंबी रात, जो अंत में आपको संतुष्ट कर जाती है.

कन्हैया के समर्थन में गईं शेहला राशिद के साथ बहुत ग़लीज़ हरकत की गई है

पॉलिटिक्स अपनी जगह है लेकिन ऐसा घटिया काम नहीं होना था.

एवेंजर्स एंडगेम रिव्यू: 11 साल, 22 फिल्मों का ग्रैंड फिनाले, सुपरहीरोज़ का महाकुंभ और एक थैनोस

याचना नहीं, अब रण होगा!

क्या शीला दीक्षित ने कहा कि सरकारी स्कूल में बूथ न बनें, वरना लोग स्कूल देख AAP को वोट दे देंगे?

ज़ी रिबप्लिक के बाकी ट्वीट पढ़ेंगे तो पूरा मामला क्लियर हो जाएगा.