Submit your post

Follow Us

मनीष पांडेय अंपायर की ये गलती न पकड़ते तो कल हैदराबाद पक्का हारती

किसी भी बॉलर के लिए सबसे बड़ी पनौती क्या होगी. ये कि वो बॉल डाले. विकेट मिले. फिर अंपायर अपना दायां हाथ दाहिनी तरफ कंधे की सिधाई में आधा उठा दे. माने नो बॉल बता दे. पर इससे बड़ी पनौती भी एक चीज हो सकती है. वो ये कि विकेट मिलने के बाद अंपायर नो बॉल ना देख पाए. पर नॉन स्ट्राइक एंड पर खड़ा बैट्समैन उसे देख ले. अंपायर को उसे चेक करने को बोल दे. कुछ ऐसा ही हुआ आईपीएल के 25वें मैच में. हैदराबाद वर्सेज पंजाब. पहले बैटिंग करने उतरी हैदराबाद की टीम. ओपनिंग आए शिखर धवन और केन विलियमसन. विलियमसन तो पहले ही ओवर की चौथी बॉल पर शून्य पर धर लिए गए. शिखर धवन 11 तो साहा भी मात्र 6 रन बना सके. फिर आए मनीष पांडेय और शाकिब अल हसन. इस जोड़ी पर ही टीम की जीत-हार टिकी थी. 5 ओवरों में 27 रन पर 3 विकेट गिर चुके थे.

मनीष पांडेय ने शाकिब का विकेट बचा लिया.
मनीष पांडेय ने शाकिब का विकेट बचा लिया.

फिर आया छठा ओवर. बॉल बरिंदर सरन के हाथ में. दूसरी ही बॉल शॉर्ट और वाइड लेंथ पर आई. शाकिब ललचा गए. जड़ दिए शॉट. पर गेंद बाउंडरी नहीं पार कर पाई. थर्ड मैन पर लपक लिए गए. शाकिब वापस जाने लगे. उधर रन के लिए दौड़े मनीष पांडे ने वापस अंपायर की तरफ दौड़ लगाई. नो बॉल चेक करवाने के लिए बोला. अंपायर ने भी उनकी सलाह को सीरियसली लिया. मामला थर्ड अंपायर के पास पहुंचा. बड़ी स्क्रीन पर रीप्ले चला तो ये वाकेयी नो बॉल निकली. शाकिब की लॉटरी निकल गई. साथ ही उनकी टीम की. तब शाकिब 0 पर खेल रहे थे. आउट हो गए होते तो हैदराबाद के 132 रन कभी न बनते. शाकिब और मनीष के बीच 52 रनों की पार्टनरशिप हुई. शाकिब ने 28 रन बनाए. मजेदार बात यहां ये थी कि अंपायर इस नो बॉल को देख तक न पाए थे. ऐसे में मनीष पांडेय हैदराबाद के लिए दो तरह से तारणहार बनकर आए. बल्ले से भी और दिमाग से भी. वैसे भी पंजाब 13 रनों से ही हारी. ऐसे में ये तेजी मैच जिताऊ साबित हुई. वीडियो भी देख ल्यो उस दुर्लभ क्षण का –

A post shared by Sumit (@7as.sumit) on


ये भी पढ़ें –

मनोज तिवारी के बॉलिंग ऐक्शन की जांच के लिए CBI क्या, FBI भी कम पड़ेगी!

पिछले दो मैचों में हैदराबाद ने जो किया है, IPL की सभी टीमें उनसे कांपेंगी

वीडियो: 33 सेकंड्स में 33 छक्के, सबसे आखिर में धोनी ने कहर ढा दिया

धोनी का ये थ्रो देख के बड़े-बड़े निशानेबाज अंटी लगाना भूल जाएंगे

‘बाप बाप होता है’ वाली लाइन धोनी ने असल में यहां साबित की

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

'चक दे! इंडिया' की 12 मज़ेदार बातें: कैसे सलमान हॉकी कोच बनते-बनते रह गए

शाहरुख खान की इस यादगार फिल्म की रिलीज को 13 साल पूरे हो गए हैं.

देखिए सुषमा स्वराज की 25 दुर्लभ तस्वीरें, हर तस्वीर एक दास्तां है

सुषमा की ज़िंदगी एक खूबसूरत जर्नी थी, और ये तस्वीरें माइलस्टोंस.

नौशाद ने शकील बदायूंनी को कमरे में बंद कर लिया, तब जाकर 'टाइमलेस' गीत जन्मा

नन्हा मुन्ना राही हूं, मन तड़पत हरि दर्शन को, जैसे कई गीत रचने वाले बदायूंनी का आज जन्मदिन है.

वो गाना जिसे गाते हुए रफी साहब के गले से खून आ गया

मोहम्मद रफी के कुछ रोचक मगर कम चर्चित किस्से.

रफाल तो अब आया, इससे पहले भारत किन-किन फाइटर प्लेन से दुश्मनों का दिल दहलाता था

'इंडियन एयरफोर्स कोई चुन्नु-मुन्नु की सेना नहीं है.'

टेलीग्राम ने 2GB फ़ाइल शेयर करने का ऑप्शन शुरू किया, साथ में वॉट्सऐप के मज़े भी ले लिए

वॉट्सऐप तो बस 16MB की फ़ाइल पर सरेंडर कर देता है

15,000 रुपए के अंदर 32 इंची स्मार्ट टीवी के कितने बेहतर ऑप्शन मौजूद हैं

अब तो टीवी भी बहुत स्मार्ट हो चला है.

कोरोना काल में भी रेलवे ने ये 'तीसमार खां' टाइप काम कर डाले

क्या रेलवे के दिन फिर जाएंगे?

विकास दुबे एनकाउंटर मामले की जांच करने वाले पैनल के तीन सदस्य कौन हैं?

योगी सरकार में एनकाउंटर की जांच को लेकर सवाल उठते रहे हैं.

'इक कुड़ी जिदा नां मुहब्बत' वाले शिव बटालवी ने बताया कि हम सब 'स्लो सुसाइड' के प्रोसेस में हैं

इन्होंने अपनी प्रेमिका के लिए जो 'इश्तेहार' लिखा, वो आज दुनिया गाती है