Submit your post

Follow Us

59 ऐप्स बैन होने पर संबित पात्रा ने एक बार फिर PM मोदी की 56 इंच की छाती का जिक्र छेड़ दिया

भारत में 59 ऐप्स बैन कर दिये गए हैं. सभी चाइनीज़ ऐप हैं. इनमें टिकटॉक, UC ब्राउज़र, शीन, क्लब फैक्ट्री, हैलो, शेयरइट जैसे पॉपुलर ऐप्स भी शामिल हैं. सरकार ने इसके पीछे प्राइवेसी और डेटा सिक्योरिटी का हवाला दिया है. सोशल मीडिया पर इससे जुड़े रिएक्शंस आ रहे हैं. ट्विटर पर #Chineseapps और #ChineseAppBlocked ट्रेंड कर रहे हैं. नेताओं ने भी सरकार के इस कदम को लेकर तरह-तरह की बातें लिखी हैं.

पहले बात संबित पात्रा की करते हैं. BJP के प्रवक्ता हैं. उन्होंने ट्वीट किया,

’56 ….59′

बस इतना ही. उन्होंने बड़ी चालाकी से ये दोनों नंबर एक साथ रख दिए. 59 माने बैन हुए ऐप्स की संख्या. और पीएम मोदी के 56 इंच के सीने का दावा. अब लोग अपने-अपने तरीके से इसका मतलब निकाल रहे हैं. कुछ के मुताबिक ’56 इंच का सीना अब 59 का हो गया है’, वहीं कुछ मतलब निकाल रहे हैं कि 56 इंच वाले ने 59 ऐप बैन कर दिए. असल मतलब क्या है, ये तो वही बता पाएंगे.

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा,

‘फोन में एक क्विक चेक किया, कोई चाइनीज ऐप नहीं. अब वो ऐप्स जिनमें चीन का पैसा लगा है, उनकी बात एकदम अलग होगी.’

अगले ट्वीट में पब्जी को लेकर भी सवाल किया. कहा,

‘अगर PUBG भी चीन का ऐप होता, तो बहुत से भारतीय युवाओं को पढ़ाई और देश के निर्माण के लिए वक्त मिल जाता.’

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने तंज कसने के अंदाज़ में लिखा,

‘चीन की सेना अब पक्का गलवान घाटी छोड़कर चली जाएगी, चूंकि अब वो टिकटॉक का इस्तेमाल नहीं कर पाएगी. क्या घर में घुसकर मारा!’

कांग्रेस के नेता और आनंदपुर साहिब से सांसद मनीष तिवारी ने ट्वीट कर कहा,

‘चीन के ऐप्स को बैन करना अच्छा आइडिया है. चीनी टेलीकॉम और चीन की कंपनियों से पीएम केयर्स फंड में जो पैसा मिला उसका क्या? अच्छा आइडिया है या बुरा? चीन में सबकुछ आखिर में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चीन (CCP), पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA), और इंटेल ऑर्गेनाइज़ेशन के अधिकार में या फिर उनके कंट्रोल में होता है. साथ में ये DEEP STATE SIRE कहलाते हैं.’

इसके अलावा अगले ट्वीट में कहा,

‘रवि शंकर प्रसाद, क्या आपने चीन ऐप के बैन के संबंध में दो सवालों पर सोचा है-

– उनका क्या जो VPN के ज़रिए इन ऐप्स तक पहुंच रहे हैं?
– उन ऐप्स का क्या जो कई भारतीयों के फोन में निष्क्रिय पड़े होंगे? क्या वो लाइव/स्लीपर खतरा पैदा नहीं करते?’

इसके अलावा अगले ट्वीट में पूछा,

‘रवि शंकर प्रसाद अलीबाबा इस बैन ऐप्स की लिस्ट में क्यों नहीं है? ये क्या Paytm कनेक्शन की वजह से है? क्या इस बैन से आप ये प्रमाणित कर रहे हैं कि बाकि चीनी ऐप्स से सुरक्षा को खतरा नहीं हैं?’

इसके अलावा कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल ने कहा,

‘हम चाइनीज ऐप पर लगे बैन का स्वागत करते हैं. चीन की सेना हमारे अधिकार क्षेत्र में घुसी और हमारी सेना पर हमला किया, इसे लेकर हम हमारी सरकार से उम्मीद करते हैं कि वो और भी ज्यादा पर्याप्त और प्रभावी उपाय करे.’

कांग्रेस के एक और नेता ने Paytm पर बैन की मांग की है. नाम है मनिकम टैगोर. सांसद हैं. उन्होंने कहा,

‘कुछ चाइनीज ऐप पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के इस साहसिक कदम का मैं स्वागत करता हूं. अब नरेंद्र (पीएम मोदी) को अपना 56 इंच का सीना दिखाना चाहिए और पेटीएम को बैन करना चाहिए, जिमसें बड़े पैमाने पर चीनी निवेश है. समय वहां अपना पैसा लगाने का है जहां आपका सबकुछ हो.’

तिरुवनंतपुरम सांसद और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने पिछले साल जुलाई में ऐप्स के ज़रिए फायदा उठाने वाले मुद्दे का संसद में जिक्र किया था. अब जब ऐप्स बैन हुईं, तो उन्होंने ट्वीट कर कहा,

‘मैंने पार्लियामेंट में चीन के ऐप्स के द्वारा डाटा हार्वेस्टिंग के मुद्दे को उठाया था. मैं मंत्रालय से मांग करूंगा कि वो IT स्टैंडिंग कमिटी को इस बैन पर ब्रीफ दे. साथ ही इन सभी के वैकल्पिक सेवाओं के बारे में सुझाए या प्रमोट करे.’

विपक्ष के बहुत से नेता केंद्र के फैसले का स्वागत कर रहे हैं, लेकिन पेटीएम बैन न करने के मुद्दे पर भी सवाल उठा रहे हैं. सरकार से जवाब मांग रहे हैं.


वीडियो देखें: भारत सरकार ने टिकटॉक, शेयर इट, हेलो, UC ब्राउजर समेत 59 ऐप को बैन कर दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

फादर्स डे बेशक बीत गया लेकिन सेलेब्स के मैसेज अब भी आंखें भिगो देंगे

'आपका हाथ पकड़ना मिस करता हूं. आपको गले लगाना मिस करता हूं. स्कूटर पर आपके पीछे बैठना मिस करता हूं. आपके बारे में सब कुछ मिस करता हूं पापा.'

वो एक्टर जो लोगों को अंग्रेज़ लगता था, लेकिन था पक्का हिंदुस्तानी

जिसकी हिंदी, उर्दू और अंग्रेज़ी पर गज़ब की पकड़ थी.

भारत-चीन तनाव: PM मोदी के बयान पर भड़के पूर्व फौजी, कहा- वे मारते मारते कहां मरे?

पीएम ने कहा था न कोई हमारी सीमा में घुसा है न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है.

'बुलबुल' ट्रेलर: देखकर लग रहा है ये बिल्कुल वैसी फिल्म है, जैसी एक हॉरर फिल्म होनी चाहिए

डर भी, रहस्य भी, रोमांच भी और सेंस भी. ऐसा लग रहा है कि फिल्म 'परी' से भी ज्यादा डरावनी होगी.

इस आदमी पर से भरोसा उसी दिन उठ गया था, जब इसने सनी देओल का जीजा बनकर उन्हें धोखा दिया था

परदे पर अब तक 182 बार मर चुका है ये एक्टर.

'गो कोरोना गो' वाले रामदास आठवले की कही आठ बातें, जिन्हें सुनकर दिमाग चकरा जाए

अब आठवले ने चायनीज फूड के बहिष्कार की बात कही है.

विदेशी मीडिया को क्यों लगता है कि भारत-चीन सीमा पर हालात बेकाबू हो सकते हैं?

सब जगह लद्दाख झड़प की चर्चा है.

वो 7 इंडियन एक्टर्स/सेलेब्रिटीज़, जिन्होंने आत्महत्या कर ली थी

इस लिस्ट में लीजेंड्स से लेकर स्टार्स सब शामिल हैं.

सुशांत सिंह राजपूत के 50 ख्वाब, जो उन्होंने पर्चियों में लिख रखे थे

उनके ख्वाबों की लिस्ट में उनके व्यक्तित्व का सार छुपा हुआ है.

डेथ से पहले इन 5 प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे थे सुशांत सिंह राजपूत

इनमें से एक फिल्म अगले कुछ दिनों में रिलीज़ होने वाली है, जो सुशांत के करियर की आखिरी फिल्म होगी.