Submit your post

Follow Us

क्यों अनुराग कश्यप ने इसे 2017 की सबसे खतरनाक फिल्म कहा है!

बात राइटर-डायरेक्टर शंकर रमण की प्रशंसित फिल्म 'गुड़गांव' की, जिसका इंतजार काफी समय से था.

#1. कहानी केहरी सिंह (पंकज त्रिपाठी) की है जो कभी किसान हुआ करता था लेकिन रियल एस्टेट कारोबार में आ गया. और बहुत ही जल्द एक बड़ा बिल्डर बन गया. गुड़गांव को बनाने वालों में एक वो भी था. उसकी एक बेटी (रागिनी खन्ना) है जिसके नाम पर वो प्रीत रियल एस्टेट कंपनी चलाता है. वो अपनी बेटी से बहुत प्यार करता है और उसे अपना लकी चार्म बताता है. उसका बड़ा बेटा निक्की सिंह (अक्षय ओबेरॉय) है जो बिगड़ैल है. बाप की नजरों में वो बैड लक से ज्यादा कुछ नहीं है. प्रीति अमेरिका से आर्किटेक्चर की पढ़ाई करके लौटती है. केहरी बहुत खुश है. सब ठीक चल रहा है. तभी प्रीति किडनैप हो जाती है. अब एक-एक करके स्थितियां ऐसी होती जाती हैं कि अतीत में जो-जो गलत किया वो केहरी के सामने आकर खड़ा हो जाता है. कैसे धीरे-धीरे उसका परिवार नष्ट होता जाता है!

बाप-बेटी के किरदार में पंकज त्रिपाठी और रागिनी खन्ना.
बाप-बेटी के किरदार में पंकज त्रिपाठी और रागिनी खन्ना.

#2. ‘गुड़गांव’ एक क्राइम थ्रिलर है जिसकी कहानी सच्ची घटनाओं से ली गई है. डायरेक्टर शंकर रमन ने इस फिल्म की रिसर्च के लिए बहुत सारी क्राइम न्यूज़ पढ़ीं. उन्होंने गुड़गांव में भूमि अधिग्रहण से जुड़ी जानकारियों और जमीनों के भ्रष्ट सौदों के बारे में भी पढ़ा.

फिल्म का एक दृश्य.
फिल्म का एक दृश्य.

#3. फिल्म में महिला-पुरुष असमानता, आर्थिक असमानता, शहरीकरण, महिलाओं के प्रति हिंसा, लालच, महत्वाकांक्षा, बाजारवाद, पूंजीवाद, अनैतिकता, भ्रष्टाचार, पारिवारिक विरासत की लड़ाई जैसी थीम्स भी हैं. इसमें कई सारे मैसेज हैं जिनमें से एक ये भी है कि “आप जैसा बोते हैं वैसी ही फसल काटते हैं.”

#4. दिल्ली में पले-बढ़े शकर रमण लंबे समय से सिनेमैटोग्राफर रहे हैं. बतौर डायरेक्टर ये उनकी पहली फीचर फिल्म है. उन्होंने ‘पीपली लाइव’ (2010), ‘पतंग’ (2011) और ‘रॉकी हैंडसम’ (2016) जैसी फिल्मों की सिनेमैटोग्राफी की है. ‘हारुद’ (2010) और ‘फ्रोज़न’ (2007) जैसी फिल्मों के स्क्रीनप्ले भी लिखे हैं. ‘फ्रोज़न’ के लिए उन्हें बेस्ट सिनेमैटोग्राफी का नेशनल अवॉर्ड भी मिला था. ‘गुड़गांव’ की सिनेमैटोग्राफी उन्होंने खुद नहीं की बल्कि बरसों के अपने परिचित विवेक शाह से करवाई है जो एफटीआईआई से पढ़े हुए हैं.

डायरेक्टर शंकर रमन. फोटोः फेसबुक
डायरेक्टर शंकर रमन. फोटोः फेसबुक

#5. जिन्हें अनुराग कश्यप की ‘अग्ली’ पसंद आई थी उन्हें ‘गुड़गांव’ भी जरूर पसंद आ सकती है. खुद अनुराग ने इस फिल्म को 2017 की सबसे खतरनाक फिल्म कहा है. एक्टर रणवीर सिंह ने भी इसे सॉलिड थ्रिलर और बॉम्ब जैसे अलंकार दिए.

k.jlje

#6. ‘निल बटे सन्नाटा’, ‘किल्ला’ और ‘लायर्स डाइस’ जैसी फिल्में लाने वाली कंपनी जार पिक्चर्स ने इस फिल्म का निर्माण भी किया है. फिल्म में पंकज त्रिपाठी, अक्षय ओबेरॉय (लाल रंग, जब हैरी मेट सेजल) और रागिनी खन्ना के अलावा आमिर बशीर, शालिनी वत्स भी अहम भूमिकाओं में हैं.

‘गुड़गांव’ 4 अगस्त को रिलीज होने जा रही है.

देखें फिल्म का ट्रेलरः

और पढ़ें:
राज कुमार के 42 डायलॉगः जिन्हें सुनकर विरोधी बेइज्ज़ती से मर जाते थे!
‘बादशाहो’ की असल कहानीः ख़जाने के लिए इंदिरा गांधी ने गायत्री देवी का किला खुदवा दिया था!
सैफ अली खान की फिल्म ‘कालाकांडी’ की असल कहानी ये है!
राज कपूर का नाती फिल्मों में आ रहा है लेकिन लोग पहले ही उससे चिढ़े हुए हैं
अनुष्का शर्मा की फिल्म ‘परी’ की 5 बातें जो आपको जाननी चाहिए!
इंडिया में राजकुमार राव की फिल्म ‘न्यूटन’ का ट्रेलर नहीं आया है पर यहां देखिए
नवाज की नई फिल्म का ट्रेलर जिसमें वो वासेपुर के ‘फैज़ल खान से ज्यादा हरामी है’
भंसाली ने ‘पद्मावती’ में कुछ ऐसा किया है कि राजपूत उन्हें गले लगा लेंगे
24 बातों में जानें कंगना रनोट की नई फिल्म ‘सिमरन’ की पूरी कहानी

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू- मनी हाइस्ट Season 5 Vol. 2

वेब सीरीज़ रिव्यू- मनी हाइस्ट Season 5 Vol. 2

'मनी हाइस्ट' के इस वॉल्यूम की खास बात है कि ये अपने सारे लूज़ एंड्स को बांधकर एक सैटिसफाइंग सी एंडिंग दे देती है.

वेब सीरीज रिव्यू : इनसाइड एज 3

वेब सीरीज रिव्यू : इनसाइड एज 3

कैसा है विवेक ओबेरॉय और ऋचा चड्ढा के शो का तीसरा सीज़न?

मूवी रिव्यू: बॉब बिस्वास

मूवी रिव्यू: बॉब बिस्वास

क्या इस बॉब पर बिस्वास किया जा सकता है?

मूवी रिव्यू: तड़प

मूवी रिव्यू: तड़प

अहान शेट्टी का डेब्यू प्रॉमिसिंग था या नहीं?

फिल्म रिव्यू: द पावर ऑफ द डॉग

फिल्म रिव्यू: द पावर ऑफ द डॉग

'डॉक्टर स्ट्रेन्ज' और 'शरलॉक' वाले धांसू एक्टर बेनेडिक्ट की नई फिल्म कैसी है?

'83' में कपिल देव की वो पारी देखने को मिलेगी, जिसकी फुटेज दुनिया में कहीं उपलब्ध नहीं

'83' में कपिल देव की वो पारी देखने को मिलेगी, जिसकी फुटेज दुनिया में कहीं उपलब्ध नहीं

कैसा है रणवीर सिंह की '83' का ट्रेलर?

मूवी रिव्यू - अंतिम: द फाइनल ट्रुथ

मूवी रिव्यू - अंतिम: द फाइनल ट्रुथ

कायदे से ये सलमान खान फिल्म नहीं होनी चाहिए थी, लेकिन बन जाती है.

फिल्म रिव्यू: छोरी

फिल्म रिव्यू: छोरी

मराठी फिल्म का रीमेक ये फिल्म ओरिजिनल से अच्छी है या बुरी?

फिल्म रिव्यू- सत्यमेव जयते 2

फिल्म रिव्यू- सत्यमेव जयते 2

'सत्यमेव जयते 2' मसाला जॉनर का नाम खराब करने वाला कॉन्टेंट है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: इल्लीगल सीज़न  2

वेब सीरीज़ रिव्यू: इल्लीगल सीज़न 2

नेहा शर्मा, पीयूष मिश्रा का ये शो 'सूट्स' तो नहीं, लेकिन बुरा भी नहीं.