Submit your post

Follow Us

'गहराइयां': दीपिका पादुकोण की इस फिल्म के टीज़र को देख शाहरुख की एक फिल्म याद आती है

मेरे दिल का एक टुकड़ा.

दीपिका पादुकोण ने इंस्टाग्राम पर एक टीज़र शेयर कर उसके साथ ये कैप्शन लिखा. ये टीज़र है उनकी आने वाली फिल्म ‘गहराइयां’ का. जहां उनके साथ सिद्धांत चतुर्वेदी हैं. जिन्होंने टीज़र शेयर करते हुए लिखा,

वो कहते हैं कि आप जिसे भी प्यार करते हैं, उनमें अपने हिस्से छोड़ जाते हैं. शायद मेरा दिल आपको यहां मिले.

दीपिका और सिद्धांत की ये फिल्म किस बारे में हैं, उसे कौन बना रहे हैं, और टीज़र देखकर हमें क्या समझ आया, अब इस पर बात करेंगे.

# कहानी क्या है?

अपने कोर में ‘गहराइयां’ एक रोमांटिक स्टोरी है, जहां चार लोग अपने-अपने अनुभव से प्यार शब्द का मतलब समझने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन कहानी सिर्फ इतनी नहीं. उन्हें अंदर ही अंदर एक गिल्ट भी खाए जा रही है. अपने पार्टनर्स से बेवफाई करने की गिल्ट. दीपिका और सिद्धांत को लगता है कि वो अपने प्यार में स्वार्थी हो रहे हैं, और अपने पार्टनर्स के साथ गलत कर रहे हैं. उनकी ये जर्नी मॉडर्न रिलेशनशिप्स के फैब्रिक उधेड़ने का काम करती है. बाकी प्लॉट के लिहाज़ से ‘कभी अलविदा ना कहना’ भी इससे मिलती-जुलती थी, देखना होगा कि यहां ट्रीटमेंट कैसा होगा.

फिल्म में दीपिका और सिद्धांत के पार्टनर्स का रोल धैर्य करवा और अनन्या पांडे निभा रहे हैं. धैर्य को आप ’83’ में रवि शास्त्री का कैरेक्टर निभाते हुए देखेंगे. बाकी उनके अलावा फिल्म में नसीरुद्दीन शाह और रजत कपूर भी मेजर कैरेक्टर्स प्ले करेंगे.


# टीज़र कैसा लगा?

50 सेकंड के टीज़र में उदासी बनी रहती है, जैसे कोई किरदार हो. वर्टिकल फॉर्मैट में किरदार हमें स्प्लिट स्क्रीन पर दिखते रहते हैं. एडिटिंग देखकर आपको पहली नज़र में समझ आ जाता है कि यहां चल क्या रहा है, कौन सा किरदार कैसी उलझन से जूझ रहा है. जैसे हमें पहले दोनों विंडो में दीपिका और सिद्धांत नज़र आते हैं. फिर सिद्धांत और धैर्य से होते हुए हमें दीपिका और अनन्या देखने को मिलती हैं, और ये सब शुरुआती 15 सेकंड में हो जाता है. टीज़र में फिल्म अपनी बेसिक स्टोरी को कैसे कैप्चर करती है, इसका एक और एग्ज़ाम्पल बताते हैं. एक पॉइंट पर हमें धैर्य और अनन्या अलग-अलग विंडो में नज़र आते हैं. जहां धैर्य अपनी गर्दन झुकाए, हताश होकर बैठा है. वहीं एक कम रोशनी वाले कमरे में अनन्या के चेहरे पर फोन की लाइट पड़ रही है, जिसे देखकर लगता है कि वो आहत हुई है या उसे कुछ शॉकिंग न्यूज़ मिली है.

टीज़र में कैरेक्टर्स को कोई डायलॉग नहीं मिला, फिर इसकी टोन उदास क्यों लगती है. इसका जवाब है टीज़र में आने वाले बोल, जो कहते हैं:

“तू मर्ज़ है, दवा भी, पर आदत है हमें,
रोका है खुद को, पर हम रह न सके.”


# किसने बनाई है?

‘कपूर एंड संस’ डायरेक्ट करने के करीब छह साल बाद शकुन बत्रा फिर से डायरेक्टर वाली चेयर पर लौट रहे हैं. फिल्म को लेकर शकुन ने अपने एक इंटरव्यू में कहा था,

गहराइयां मेरे लिए सिर्फ एक मूवी नहीं है, ये इंसानी रिश्तों की बारीकियों को तराशती एक जर्नी है.

धर्मा प्रोडक्शंस और Viacom 18 Studios ने शकुन बत्रा की Jouska Films के साथ मिलकर ‘गहराइयां’ को प्रड्यूस किया है. ‘गहराइयां’ को आप 25 जनवरी, 2022 से अमेज़न प्राइम वीडियो पर स्ट्रीम कर सकेंगे.


वीडियो: ‘स्पाइडरमैन: नो वे होम’ का पहले ही दिन बॉक्स ऑफिस पर धमाल, तगड़ी कमाई के बड़े-बड़े रिकॉर्ड तोड़े!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू- थार

फिल्म रिव्यू- थार

'थार' अपने किस्म की पहली फिल्म लगती है, जहां सबकुछ ऑन पॉइंट है. सिवाय मेन स्टोरीलाइन के

मूवी रिव्यू: डॉक्टर स्ट्रेंज इन द मल्टीवर्स ऑफ मैडनेस

मूवी रिव्यू: डॉक्टर स्ट्रेंज इन द मल्टीवर्स ऑफ मैडनेस

बेनेडिक्ट कम्बरबैच और सैम रैमी मिलकर फिल्म की ये प्रॉब्लम फिक्स नहीं कर पाते.

फिल्म रिव्यू- हीरोपंती 2

फिल्म रिव्यू- हीरोपंती 2

ये फिल्म सिनेमा माध्यम का उपहास करती है.

मूवी रिव्यू: रनवे 34

मूवी रिव्यू: रनवे 34

‘रनवे 34’ की सबसे अच्छी बात ये है कि वो लाउड हीरोज़ के दौर में वैसा बनने की कोशिश नहीं करती.

सीरीज रिव्यू : गिल्टी माइंड्स

सीरीज रिव्यू : गिल्टी माइंड्स

कुछ बढ़िया ढूंढ़ रहे हैं, तो इसे देखना बनता है.

फिल्म रिव्यू- ऑपरेशन रोमियो

फिल्म रिव्यू- ऑपरेशन रोमियो

'ऑपरेशन रोमियो' एक फेथफुल रीमेक है. मगर ये किसी भी फिल्म के होने का जस्टिफिकेशन नहीं हो सकता.

फिल्म रिव्यू: जर्सी

फिल्म रिव्यू: जर्सी

फिल्म अपने इमोशनल मोमेंट्स को जितना जल्दी बिल्ड अप करती है, ठीक उतना ही जल्दी नीचे भी ले आती है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: माई

वेब सीरीज़ रिव्यू: माई

सीरीज़ की सबसे अच्छी और शायद बुरी बात सिर्फ यही है कि इसका पूरा फोकस सिर्फ शील पर है.

शॉर्ट फिल्म रिव्यू- लड्डू

शॉर्ट फिल्म रिव्यू- लड्डू

एक मौलवी और बच्चे की ये फिल्म इस दौर में बेहद ज़रूरी है.

फिल्म रिव्यू- KGF 2

फिल्म रिव्यू- KGF 2

KGF 2 एक धुआंधार सीक्वल है, जो 2018 में शुरू हुई कहानी को एक सैटिसफाइंग तरीके से खत्म करती है.