Submit your post

Follow Us

गेम ऑफ़ थ्रोन्स S8E5- कौन गिरा है कौन मरा है, किस मातम है कौन कहे

64
शेयर्स

एक दीवार पर खून के कुछ धब्बे हैं. उसके बगल में ही एक छोटी लड़की बैठी है. पूरा शहर जल रहा है. सैनिकों और रेल्म के बाकी सारे लोगों के ऊपर मौत मंडरा रही है. ड्रैगन और डिनायरस के रूप में. ये सब कुछ तब हो रहा है जबकि अभी कुछ देर पहले ही संधि हो चुकी है. लेकिन कोई क्या ही कर सकता है जब दोनों ही तरफ पागलपन तारी हो. जिन्होंने संधि की है उनकी कोई औकात नहीं इस युद्ध में और जो युद्ध की चाह रखते हैं वही सब कुछ हैं.

सत्य है कि- युद्ध की चाह रखने वाले, युद्ध टालने वालों से हमेशा से ज़्यादा शक्तिशाली रहते आए हैं.  

आर आर मार्टिन का शाहकार – गेम ऑफ़ थ्रोन्स. पहले, दूसरे, तीसरे और चौथे एपिसोड का रिव्यू कर चुकने के बाद आज बारी है पांचवे की.

पढ़िए- गेम ऑफ़ थ्रोन्स सीज़न 8 एपिसोड 1 - रिव्यू

पढ़िए- गेम ऑफ़ थ्रोन्स सीज़न 8 एपिसोड 2 - रिव्यू

पढ़िए- गेम ऑफ़ थ्रोन्स सीज़न 8 एपिसोड 3 - रिव्यू

पढ़िए- गेम ऑफ़ थ्रोन्स सीज़न 8 एपिसोड 4 - रिव्यू

13  मई, 2019 को भारतीय समयानुसार सुबह 6:30 बजे भारत में इसके आठवें सीज़न के पांचवे एपिसोड (S8E5), का प्रीमियर किया गया. हॉटस्टार पे. ये सीजन का ऑफिशियली सेकंड लास्ट एपिसोड है और पूरे गेम ऑफ़ थ्रोन्स का भी. लेकिन इसमें वो सब कुछ हो रहा है जो इस महा गाथा का अंत करता. यानी छठे एपिसोड के लिए केवल चीज़ों को समेटना बाकी रहा.

सवा घंटे के इस एपिसोड में बहुत सी ऐसी चीज़ें हुई हैं जिसकी हमें उम्मीद थी, बस ये देखना रह गया था कि कैसे? हम जानते ही थे कि सरसी और हाउंड का क्या होगा? हमें ये भी अंदेशा था कि डिनायरस और उसके ड्रैगन का क्या होगा? समुद्र की रक्षा कर रहे इयूरॉंन ग्रेजॉय का क्या होगा?  और इन सबके उत्तर को लेकर निश्चित इसलिए थे क्यूंकि इनकी नियति में कोई भी परिवर्तन सीरियल की लंबाई को और बढ़ा देता.

यूं गेम ऑफ़ थ्रोन्स जैसे मैग्नम ओपस के लिए ये तथ्य भी एक स्पॉइलर ही है कि- इसके दो ही एपिसोड बाकी रह गए हैं. 

यूं कुछ चीज़ें बड़ी ज़ल्दी में भी की गई या निपटा दी गई लगती हैं. जैमी लेनेस्टर से लेकर थियॉन तक के किरदारों को पूरा समय दिया गया था, वो बनाने के लिए, कि जो वो अंत में बन जाते हैं. लेकिन दूसरी तरफ अब डिनायरस के लिए समय की कमी सी पड़ गई लगती है. ये भी समझ में नहीं आता कि पिछले कुछ एपिसोड से टायरन लेनेस्टर की अक्ल पर पत्थर सा क्यूं पड़ गया है. इस एपिसोड में भी उसकी प्रासंगिकता केवल क्षमा याचना तक ही सीमित रही.

अगर आप गौर करें तो इस पूरे लास्ट सीज़न में दरअसल हो क्या रहा है कि किरदार अपनी आदतों और संस्कारों के हिसाब से बर्ताव करने के बजाय महज़ कहानी आगे बढ़ाने का कार्य कर रहे हैं. यूं टायरन भी अपने किरदार को प्ले नहीं कर रहा, बस ‘एक किरदार’ को प्ले कर रहा है. साथ ही पूरे आठवें सीज़न में ही देखने को मिला कि किरदार अपेक्षाओं से अलग तो व्यवहार कर रहे हैं लेकिन उसके पीछे का मोटिव समझ नहीं आ रहा. इसे लेज़ी राइटिंग कहा जा सकता है.

वैसे एक अच्छी बात ये है कि इस एपिसोड के स्पेशल इफेक्ट्स मार्वल सीरीज़ की फिल्मों को टक्कर देते हुए लगते हैं. जलते हुए शरीर, कटते हुए सर और ढहती हुई दीवारें वीभत्स तरीके से कलात्मक हैं. सबसे अच्छी बात इस एपिसोड की ये रही कि इस वाले के ‘महायुद्ध’ में रोशनी की दिक्कत नहीं थी, वो जो तीसरे एपिसोड में पूरी दुनिया ने बताई थी.

अब बच गया है इस सीरियल का अंतिम एपिसोड, जो 19 मई को प्रसारित किया जाएगा.


जाते जाते इस एपिसोड का एक वन लाइनर-

जितना बड़ा रिस्क, उतना बड़ा ईनाम.


वीडियो देखें-

धोनी और दूसरे क्रिकेटर्स के फेवरेट मेरठ वाले क्रिकेट बैट बनते देखिए –

;

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

Dabangg 3 से सलमान खान का दनदनाता हुआ पहला ऑफिशियल वीडियो आ गया है

'स्वागत नहीं करोगे हमारा' से 'स्वागत तो करो हमारा' तक का सफर देखकर आप भी कहेंगे- भाई भाई भाई भाई!

इन 5 किरदारों से पता चलता है कि अतुल कुलकर्णी की एक्टिंग रेंज कितनी ज़बरदस्त है

वो एक्टर जिसने मुसलमानों को पाकिस्तान चले जाने को कहा और बाद में खुद रामप्रसाद बिस्मिल बन गया.

अक्षय कुमार बनेंगे वो राजपूत राजा जिसे दुश्मन कैद करके ले गया आंखें फोड़ दी, फिर भी मारा गया

कल्पना नहीं कर सकते 'पृथ्वीराज' थियेटरों में उतरेगी तो क्या होगा!

इंडिया के वो क्रिकेटर्स जिन्होंने फिल्मों में सिर्फ गेस्ट रोल नहीं बाकायदा एक्टिंग की

जब तक हम 10 क्रिकेटर्स का नाम बताते, लिस्ट में एक और नया नाम जुड़ गया.

वो पांच वजहें जिनके लिए 'छिछोरे' देखी ही जानी चाहिए

देख लो भाई, पहली फ़ुर्सत में देख लो.

फ़िल्म 'आधार' का टीज़रः मुक्काबाज़ वाले हीरो की ये फिल्म हर कोई देखने वाला है

गांव का पहला आदमी, जो आधार कार्ड बनवाने के लिए आगे आया और उसकी ऐसी-तैसी हो गई.

सनी देओल के बेटे की पहली फ़िल्म के ट्रेलर में सिर्फ एक चीज़ देखने लायक है

'पल पल दिल के पास' से डेब्यू करने जा रहे हैं करण देओल.

हमारी हर फिल्म और वेब सीरीज़ में पाकिस्तान अपनी जगह कैसे बना लेता है?

The Family Man Trailer: मनोज बाजपेयी और शाहरुख-इमरान हाशमी की वेब सीरीज़ में ये दो चीज़ें डिट्टो हैं.

आदेश श्रीवास्तव के टॉप 5 गाने और सोनू निगम के रोने का किस्सा

महज़ 51 साल की उम्र में कैंसर की वजह से मौत हो गई थी संगीतकार आदेश श्रीवास्तव की.

इन टीचर्स को विश नहीं किया तो बेकार है आपका टीचर्स डे

ये कभी आपके स्कूल के बाहर या अंदर नहीं नजर आए लेकिन शिक्षा बहुत दी.