Submit your post

Follow Us

वरुण धवन की इस फिल्म की तैयारी के लिए करण जौहर के पापा पाकिस्तान गए थे

पूरी एक पीढ़ी गुजर गई. संजय दत्त और माधुरी का प्यारा फिल्मी जोड़ा साथ देखे. ये अरमान करण जौहर की अगली फिल्म 'कलंक' में पूरा हो जाएगा. और भी कई खास बातें हैं इस फिल्म में.

आपको 70 और 80 के दशक की फिल्मों के नाम याद हैं? ‘मर्द’, ‘गुंडा’, ‘थानेदार’. एक से एक नाम. अगर हम कहें कि ‘कलंक’ नाम की एक फिल्म है, तो आपको पक्का लगेगा कि उसी जमाने की होगी. मगर ऐसा है नहीं. ये करण जौहर की अगली फिल्म का नाम है. ‘कलंक’ के बारे में काफी बातें हो रही हैं. जबकि फिल्म की शूटिंग बस शुरू ही हुई है. करण जौहर की धर्मा प्रॉडक्शन, साजिद नाडियाडवाला की नाडियाडवाला ग्रैंडसन और फॉक्स स्टार स्टूडियोज़, तीनों मिलकर इसे प्रोड्यूस कर रहे हैं. इसे डायरेक्ट करेंगे ‘2 स्टेट्स’ फेम अभिषेक वर्मन. ‘कलंक’ 19 अप्रैल, 2019 को रिलीज़ होगी.अभी करीब एक साल है आपको फिल्म देखने में. तब तक इसकी खास-खास बातें ही जान लीजिए. 

1.) ‘कलंक’ की चर्चा इसमें काम करने वाले ऐक्टरों की फौज के कारण हो रही है. वरुण धवन, आलिया भट्ट, सोनाक्षी सिन्हा, आदित्य रॉय कपूर, माधुरी दीक्षित और संजय दत्त. एक से एक धाकड़ कलाकार इसमें काम कर रहे हैं. दबी खबर ये भी है कि कुछ और बड़े कलाकार इसमें गेस्ट अपीयरेंस भी देंगे.

2.) सुनने में आ रहा है, किआरा आडवानी भी इसमें नजर आएंगी. किआरा, जिन्होंने  ‘एम.एस. धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी’ में धोनी की पत्नी साक्षी का रोल किया था. ये भी हो सकता है कि वो गेस्ट रोल में आयटम नंबर करती नजर आएं. वरुण ने हाल ही में फिल्म ‘कलंक’ के लिए एक गाना शूट किया है. इसके कोरियोग्रफर हैं रेमो डिसूज़ा. हो सकता है कि इसी गाने में वरुण के साथ नजर आएं किआरा.

वरुण धवन और किआरा आडवानी.
वरुण धवन और किआरा आडवानी. धोनी वाली फिल्म में किआरा ने धोनी की पत्नी साक्षी का रोल किया था. 

3.) संजय और माधुरी की जोड़ी. करीब 21 साल हुए इनको साथ देखे. साल था 1997. फिल्म थी ‘महानता’. अब इस फिल्म में ये दोनों वापस एक साथ दिखेंगे. दोनों ने आठ फिल्मों में साथ काम किया है. कहा जाता है कि संजय और माधुरी के बीच उस दौर में बहुत प्यार था. मगर 1993 में हुए मुंबई ब्लास्ट में संजय का नाम आ गया. इसके बाद दोनों में दूरी आ गई. माधुरी न तो जेल में संजय से मिलने गईं, न ही उनसे कोई कॉन्टैक्ट किया. संजय इस बात से बहुत हर्ट हुए. जेल से निकलने के बाद उन्होंने भी माधुरी से दूरी बना ली. संजय की जिंदगी में रिया आईं और साल 1998 में दोनों ने शादी कर ली. इसके एक साल बाद 1999 में माधुरी ने डॉक्टर श्रीराम नेने से शादी कर ली. इसके बाद से माधुरी और संजय, दोनों आमने-सामने आने से कतराते थे. लेकिन अब ‘कलंक’ आ रही है, जिसमें ये दोनों एक साथ स्क्रीन पर दिखाई देंगे.

फिल्म 'खलनायक' के एक सीन में संजय और माधुरी.
फिल्म ‘खलनायक’ के एक सीन में संजय और माधुरी. ये वो दौर था, जब माधुरी और संजय के किस्से तैरते थे. लोग कहते थे कि उनका अफेयर है. 

4.) पहले इस फिल्म के लिए संजय दत्त के साथ श्रीदेवी को साइन किया गया था. लेकिन श्रीदेवी के गुजरने के बाद करण ने उनके किरदार के लिए माधुरी को साइन कर लिया. श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी ने इसके लिए माधुरी दीक्षित को सोशल मीडिया पर धन्यवाद भी दिया था. संजय और माधुरी के पुराने रिश्तों को देखते हुए लोग कई तरह के सवाल उठा रहे थे. इन सवालों पर माधुरी ने पूरी तरह प्रफेशनल होते हुए कहा कि उन्हें किसी के साथ काम करने में दिक्कत नहीं है. संजय को हालांकि इस चीज से दिक्कत थी, लेकिन करण जौहर ने उन्हें किसी तरह राज़ी कर लिया.

किसी फंक्शन में माधुरी दीक्षित और श्रीदेवी.
एक फंक्शन में माधुरी दीक्षित और श्रीदेवी. पहले श्रीदेवी को इस फिल्म के लिए साइन किया गया था. उनके गुजरने के बाद माधुरी को उनके रोल के लिए साइन किया गया है. 

5.) करण जौहर इस फिल्म का जिक्र कर रहे थे. बोले, ‘कलंक’ एक पीरियड ड्रामा फिल्म है. इसकी कहानी 1940 के दशक की होगी. इसमें हिंदुस्तान के बंटवारे वाला दौर भी दिखाया जाएगा. करण जौहर ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि ये उनके पापा यश जौहर का ड्रीम प्रॉजेक्ट था. वो तकरीबन 15 साल से ज़्यादा पहले इसपर काम शुरू कर चुके थे. इस फिल्म के बंटवारे वाले हिस्से सच्चे लगें, इसके लिए रिसर्च पर काफी मेहनत की गई है. यश जौहर चाहते थे कि वो जो स्क्रीन पर दिखाना चाहते हैं, वो बिलकुल असल लगे. इसलिए वो पाकिस्तान के जिन हिस्सों को फिल्म में दिखाना चाहते हैं, उन्हें देखने के लिए पाकिस्तान भी गए थे. ताकि हूबहू वैसा ही सेट बनवाया जा सके. लेकिन फिर यश जौहर गुजर गए. अपने जीते-जी वो इसे बना नहीं पाए. अब करण जौहर अपने पापा का बचा काम अब पूरा कर रहे हैं.

फिल्म 'कलंक' का पोस्टर.
फिल्म ‘कलंक’ का पोस्टर.

6.) अखबार डीएनए के मुताबिक फिल्म की शूटिंग के लिए एक बहुत आलीशान सेट बनवाया गया है. यहां फिल्म के कुछ अहम हिस्से शूट होने हैं. ये सेट पुरानी दिल्ली के एक मुहल्ले का है, जिसमें एक महल भी होगा. इसे डिजाइन किया है अमृता महल नकाई ने. इसे बनाने में तकरीबन 15 करोड़ रुपये का खर्चा आया है. शूटिंग के दौरान इस बात का खास ख्याल रखा जा रहा है कि कहीं से भी इस सेट के भीतर की तस्वीरें लीक न हों. किरदारों के लुक को भी सीक्रेट रखा जा रहा है. पूरी कोशिश की जा रही है कि लोगों की इस फिल्म में दिलचस्पी बनी रहे.

फिल्म की शूटिंग के पहले दिन आदित्य रॉय कपूर और सोनाक्षी सिन्हा. दूसरी ओर प्रोड्यूसर्स करण जौहर और साजिद नाडियाडवाला.
फिल्म की शूटिंग के पहले दिन आदित्य रॉय कपूर और सोनाक्षी सिन्हा. दूसरी ओर प्रॉड्यूसर्स करण जौहर और साजिद नाडियाडवाला.

ये भी पढ़ें:

‘फेमस’ के ट्रेलर की 10 बातें : इसमें पंकज त्रिपाठी का एक सीन याद रहेगा
वीरे दी वेडिंग’ का ट्रेलर: आसपास रेप हो रहे हैं यहां बहन की गाली से सशक्तिकरण हो रहा है!
‘संजू’ के टीज़र पर 10 बातें : क्या राजकुमार हीरानी की ये फ़िल्म निराश करेगी?
‘भावेश जोशी सुपरहीरो’ का टीज़र आ गया हैः इस साल की मस्ट वॉच फिल्मों में है


वीडियो देखें: फिल्म रिव्यू: नानू की जानू

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

शी- नेटफ्लिक्स वेब सीरीज़ रिव्यू

किसी महिला को संबोधित करने के लिए जिस सर्वनाम का इस्तेमाल किया जाता है, उसी के ऊपर इस सीरीज़ का नाम रखा गया है 'शी'.

असुर: वेब सीरीज़ रिव्यू

वो गुमनाम-सी वेब सीरीज़, जो अब इंडिया की सबसे बेहतरीन वेब सीरीज़ कही जा रही है.

फिल्म रिव्यू- अंग्रेज़ी मीडियम

ये फिल्म आपको ठठाकर हंसने का भी मौका देती है मुस्कुराते रहने का भी.

गिल्टी: मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

#MeToo पर करण जौहर की इस डेयरिंग की तारीफ़ करनी पड़ेगी.

कामयाब: मूवी रिव्यू

एक्टिंग करने की एक्टिंग करना, बड़ा ही टफ जॉब है बॉस!

फिल्म रिव्यू- बागी 3

इस फिल्म को देख चुकने के बाद आने वाले भाव को निराशा जैसा शब्द भी खुद में नहीं समेट सकता.

देवी: शॉर्ट मूवी रिव्यू (यू ट्यूब)

एक ऐसा सस्पेंस जो जब खुलता है तो न सिर्फ आपके रोंगटे खड़े कर देता है, बल्कि आपको परेशान भी छोड़ जाता है.

ये बैले: मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

'ये धार्मिक दंगे भाड़ में जाएं. सब जगह ऐसा ही है. इज़राइल में भी. एक मात्र एस्केप है- डांस.'

फिल्म रिव्यू- थप्पड़

'थप्पड़' का मकसद आपको थप्पड़ मारना नहीं, इस कॉन्सेप्ट में भरोसा दिलाना, याद करवाना है कि 'इट्स जस्ट अ स्लैप. पर नहीं मार सकता है'.

फिल्म रिव्यू: शुभ मंगल ज़्यादा सावधान

ये एक गे लव स्टोरी है, जो बनाई इस मक़सद से गई है कि इसे सिर्फ लव स्टोरी कहा जाए.