Submit your post

Follow Us

भारत की पहली एरियल एक्शन फिल्म 'फाइटर' की ख़ास आठ बातें, जिसमें हृतिक और दीपिका हैं

एक धांसू फ़िल्म आ रही है. फ़िल्म का नाम है ‘फाइटर’. इंडिया की पहली ‘एरियल एक्शन’ फ़िल्म. इसे डायरेक्ट कर रहे हैं सिद्धार्थ आनंद. क्या ख़ास है इसमें? आइए जानते हैं.

1. ‘फाइटर’ में पहली बार हृतिक रोशन और दीपिका पादुकोण एक साथ काम करने जा रहे हैं. इस बात की जानकारी खुद हृतिक रोशन ने सोशल मीडिया पर अपनी दीपिका संग तस्वीर डालकर दी. साथ में लिखा,

गैंग टेकऑफ़ के लिए तैयार है.

2. डायरेक्टर सिद्धार्थ आनंद और हृतिक रोशन की ये एक साथ तीसरी फिल्म है. इससे पहले दोनों ‘बैंग बैंग’ और ‘वॉर’ में एक साथ काम कर चुके हैं. इन दोनों फ़िल्मों में सिद्धार्थ आनंद ने हृतिक रोशन से और फ़िल्म की फ़ीमेल लीड्स यानी ‘बैंग बैंग’ में कैटरीना और ‘वॉर’ में वाणी कपूर से ज़बरदस्त एक्शन करवाया था. तो इस बात की पूरी संभावना है कि हृतिक के साथ दीपिका पादुकोण भी ‘फाइटर’ में ज़बरदस्त एक्शन करती हुईं नज़र आ जाएं.

हृतिक रोशन इन 'वॉर'.
हृतिक रोशन इन ‘वॉर’.

3. ‘फाइटर’ के बारे में बात करने से पहले समझ लीजिए कि ये ‘एरियल एक्शन’ फ़िल्म क्या बला है. तो बेसिकली जिन फ़िल्मों में आसमान में फ़िल्म के सीन फिल्माए जाते हैं, वो फ़िल्में इस केटेगरी में गिरती हैं. अब आपके दिमाग में आएगा ‘कि अरे आसमान में लड़ाई तो हमने ‘इंटरनेशनल खिलाड़ी’ और ‘रेस 2′ में भी देखी थी’. उन फिल्मों में इन सीन्स को दर्शाने के लिए VFX वगैरह का सहारा लिया गया था. जबकि ‘एरियल एक्शन’ फ़िल्मों में असल में आसमान में हेलिकॉप्टर तथा अन्य अति आधुनिक तकनीक से सीन्स शूट होते हैं. एक सीन देखते चलें. 4. हॉलीवुड की कई फ़िल्मों में ‘एरियल एक्शन’ देखने को मिल चुका है. ‘डन्कर्क’, ‘अवतार’, ‘वेलकम टू अर्थ’ उन कई में से चंद नाम हैं. इस जॉनर की एक सबसे ख़ास फ़िल्म और है. ‘टॉप गन’. 1986 में रिलीज़ हुई टॉम क्रूज़ स्टारर इस फ़िल्म को आप इतिहास की सबसे ज्यादा कल्चरल इम्पैक्ट करने वाली फ़िल्म भी कह सकते हैं. इस फ़िल्म से ही दुनिया भर में एविएटर चश्मे पहनने का ट्रेंड शुरू हुआ था. इस फ़िल्म से पहले एविएटर सिर्फ पायलट्स पहनते थे.

टॉम क्रूज़ इन 'टॉप गन'
टॉम क्रूज़ इन ‘टॉप गन’

 5.‘टॉप गन’ से इन्फ्लुएंस होने वालों में कई बड़े नाम भी शामिल हैं. जैसे अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स अपने एस्ट्रोनॉट बनने की इंस्पिरेशन ‘टॉप गन’ को ही बताती हैं. इंडिया की पहली महिला इंडियन एयरफ़ोर्स ऑफिसर गुंजन सक्सेना के भी कमरे में ‘टॉप गन’ का पोस्टर लगा रहता था. सिर्फ ये ही नहीं सुशांत सिंह राजपूत जो बचपन में एस्ट्रोनॉट और पायलट बनने की ख्वाइश रखते थे. उनके मन में भी ये ख्वाइश ‘टॉप गन’ देखने के बाद आई थी हालांकि बाद में जब उनके पिता ने उन्हें इस फील्ड में जाने से मना कर दिया था तब उन्होंने गुस्से में अपने कमरे में लगा पोस्टर फाड़ भी दिया था. 6. ‘फाइटर की पहली झलक हृतिक ने इस साल अपने जन्मदिन 10 जनवरी को दी थी. उन्होंने सोशल मीडिया पर एक मिनट की क्लिप डाल लिखा था, अपनी पहली फ्लाइट में दीपिका पादुकोण के साथ चढ़ने को एक्साइटेड हूं. इस एक मिनट की क्लिप में हृतिक ये कहते हुए सुनाई पढ़ते हैं, “दुनिया में मिल जाएंगे आशिक कई. पर वतन से हसीन सनम नहीं होता. हीरों से सिमटकर, सोने से लिपटकर मरते हैं कई, पर तिरंगे से खूबसूरत कफ़न नहीं होता.”  

7.  ये टीज़र, हृतिक के कैप्शन, तथा अन्य खबरें ये इशारा कर रही हैं कि ये फ़िल्म एक वायु सेना से जुड़ी कहानी पर बेस्ड होगी. इस फ़िल्म को डायरेक्ट के साथ-साथ प्रोड्यूस भी सिद्धार्थ करने जा रहे हैं. अपने नए नवेले प्रोडक्शन हाउस ‘मर्फ्लिक्स’ के बैनर तले. साथ में वायकॉम 18 इस फ़िल्म को को-प्रोड्यूस कर रहे हैं. वायकॉम 18 के सीईओ अजीत भी कहते हैं कि वो भी ‘टॉप गन’ के फैन रहे हैं और इस प्रोजेक्ट को लेकर बहुत एक्साइटेड हैं.

8.‘फाइटर’ की रिलीज़ डेट 30 दिसंबर 2022 मुकर्रर की गई थी. लेकिन कोविड की सेकंड वेव की वजह से शूटिंग डेट्स आगे बढ़ गईं थी. लिहाज़ा रिलीज़ डेट बदले जाने की भी पूरी संभावना है. फ़िल्म हिंदी के अलावा ‘तमिल’, तेलुगु’,’मलयालम’, भाषा में भी रिलीज़ की जाएगी.


ये स्टोरी दी लल्लनटॉप में इंटर्नशिप कर रहे शुभम ने लिखी है.


वीडियो: ‘स्टेट ऑफ सीज- टेंपल अटैक’ की कहानी क्या किसी असल घटना पर आधारित है?

 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

'ब्लैक लाइव्स मैटर' पर घुटना टिकाती टीम इंडिया क्या शमी को गद्दार कहे जाने पर भी स्टैंड लेगी?

'ब्लैक लाइव्स मैटर' पर घुटना टिकाती टीम इंडिया क्या शमी को गद्दार कहे जाने पर भी स्टैंड लेगी?

इंस्टाग्राम पर शमी को कुछ लोगों ने भद्दी गालियां दी, टीम इंडिया चुप है.

फिल्म रिव्यू- भवाई

फिल्म रिव्यू- भवाई

इस पूरी फिल्म का मक़सद ही ये है कि हम परदे पर दिखने वाले एक्टर, इंसान और भगवान में फर्क कर सकें. मगर वो हो नहीं पाता!

फिल्म रिव्यू- सरदार उधम

फिल्म रिव्यू- सरदार उधम

सरदार उधम सिंह ने कहा था- 'टेल पीपल आई वॉज़ अ रिवॉल्यूशनरी'. शूजीत ने उस बात को बिना किसी लाग-लपेट के लोगों को तक पहुंचा दिया है.

फ़िल्म रिव्यू: सनक

फ़िल्म रिव्यू: सनक

ये फिल्म है या वीडियो गेम?

मूवी रिव्यू: रश्मि रॉकेट

मूवी रिव्यू: रश्मि रॉकेट

ये रॉकेट फुस्स हुआ या ऊंचा उड़ा?

वेब सीरीज़ रिव्यू: स्क्विड गेम, ऐसा क्या है इस शो में जो दुनिया इसकी दीवानी हुई जा रही है?

वेब सीरीज़ रिव्यू: स्क्विड गेम, ऐसा क्या है इस शो में जो दुनिया इसकी दीवानी हुई जा रही है?

लंबे अरसे के बाद एक शानदार सर्वाइवल ड्रामा आया है दोस्तो...

फिल्म रिव्यू- शिद्दत

फिल्म रिव्यू- शिद्दत

'शिद्दत' एक ऐसी फिल्म है, जो कहती कुछ है और करती कुछ.

फिल्म रिव्यू- नो टाइम टु डाय

फिल्म रिव्यू- नो टाइम टु डाय

ये फिल्म इसलिए खास है क्योंकि डेनियल क्रेग इसमें आखिरी बार जेम्स बॉन्ड के तौर पर नज़र आएंगे.

ट्रेलर रिव्यू: हौसला रख, शहनाज़ गिल का पहला लीड रोल कितना दमदार है?

ट्रेलर रिव्यू: हौसला रख, शहनाज़ गिल का पहला लीड रोल कितना दमदार है?

दिलजीत दोसांझ और शहनाज़ गिल की फ़िल्म का ट्रेलर कैसा लग रहा है?

नेटफ्लिक्स पर आ रही हैं ये आठ धांसू फ़िल्में और सीरीज़, अपना कैलेंडर मार्क कर लीजिए

नेटफ्लिक्स पर आ रही हैं ये आठ धांसू फ़िल्में और सीरीज़, अपना कैलेंडर मार्क कर लीजिए

सस्पेंस, थ्रिल, एक्शन, लव सब मिलेगा इनमें.