Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या दिल्ली पुलिस ने चांदनी चौक में ना जाने को कहा है?

5
शेयर्स

‘दी लल्लनटॉप’ देश में चल रहे लोकसभा चुनाव की ग्राउंड से सीधी कवरेज आप तक पहुंचा रहा है. इसके अलावा फेसबुक के साथ मिलकर देश के अलग-अलग इलाकों में फ़ेक न्यूज़ से बचने के लिए वर्कशॉप भी कर रहा है. साथ ही, लोगों से जान रहा है कि उन्हें किन ख़बरों के फ़ेक होने पर शक है. इस कड़ी में हमारी टीम पहुंची दिल्ली. यहां ‘दी लल्लनटॉप’ के रिपोर्टर नीरज ने ऐसी ही वर्कशॉप की.
वर्कशॉप अटेंड कर रही जाह्नवी को एक ख़बर पर शक था.

जाह्नवी कॉलेज स्टूडेंट हैं और उन्हें ये मैसेज WhatsApp के ज़रिए मिला है.
जाह्नवी कॉलेज स्टूडेंट हैं और उन्हें ये मैसेज WhatsApp के ज़रिए मिला है.

वो एक वायरल मैसेज की सच्चाई जानना चाहती हैं जिसमें दावा किया जा रहा है कि दिल्ली और बैंगलोर के भीड़-भाड़ वाले इलाके में आतंकी हमला हो सकते हैं. हमने इस दावे की पड़ताल की. पहले दावा जान लेते हैं.

दावा

असल दावा इंग्लिश में है. हम हिंदी तर्जुमा यहां लिख रहे हैं.

सभी लोगों से गुज़ारिश है कि अपने परिवार और प्रियजनों को चांदनी चौक और इसके जैसे दिल्ली और बैंगलोर के भीड़-भाड़ वाले इलाकों में जाने से परहेज करने को कहें. लश्कर-ए-तौयबा के 2 ग्रुप्स यहां पहुंच गए हैं और सुसाइड अटैक करने की योजना बना रहे हैं.

असल दावा अंग्रेजी में है.
असल दावा अंग्रेजी में है.

पड़ताल

दरअसल, ये मैसेज सीज़नल है. ये काफी सालों से वायरल हो रहा है. इस मैसेज के बारे में जब दी क्विंट ने नई दिल्ली के DCP मधुर वर्मा से बात की थी, तो उन्होंने इस मैसेज को फेक बताया था. ये स्टोरी 22 जनवरी, 2019 की है. यानी गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले की. उन्होंने माना था कि ये मैसेज whatsApp और सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल हो रहा है. लेकिन साफ किया कि पुलिस ने ऐसा कोई नोटिस जारी नहीं किया है.
# राष्ट्रीय महत्व के दिनों में अक्सर पुलिस ऐसे नोटिस जारी करती है. स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस और गांधी जयंती के दिनों में अक्सर ऐसे नोटिस जारी किए जाते हैं. जिसमें हिदायत दी जाती है कि भीड़-भाड़ वाले इलाकों से बचा जाए. इन दिनों में आतंकी हमले की योजना बनाने वाले भी धरे जाते हैं. लेकिन इससे वायरल हो रहा ये मैसेज जस्टिफाई नहीं होता. अगर पुलिस कोई नोटिस जारी करती है तो वो whatsApp पर नहीं, अपनी वेबसाइट और मीडिया के ज़रिए जारी करती है. ऐसी घोषणा आम दिनों के लिए नहीं होती.

नतीजा

हमारी पड़ताल में ये दावा पुराना और भ्रामक निकला. हालांकि इसे सिरे से ख़ारिज करना भी गलत होगा. इसलिए आप सिर्फ उस मैसेज पर ही विश्वास करें जिसके साथ पुलिस या प्रशासन की ओर से जारी कोई नोटिस, लेटर वगैरह भी दिखे. जहां तक बात रही इस मैसेज की. ये मैसेज झूठा है. जिसकी पुष्टि खुद पुलिस ने की हैं.

अगर आपको किसी ख़बर पर शक हो तो हमें लिखें. हमारा पता है: PADTAALMAIL@GMAIL.COM

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

आयुष्मान खुराना की 22 अंतरंग बातेंः मां के सामने एक लड़की ने उनके स्पर्म मांग लिए थे!

बड्डे बॉय को इतना पर्सनली कहीं और जान पाएं तो बताएं.

Dabangg 3 से सलमान खान का दनदनाता हुआ पहला ऑफिशियल वीडियो आ गया है

'स्वागत नहीं करोगे हमारा' से 'स्वागत तो करो हमारा' तक का सफर देखकर आप भी कहेंगे- भाई भाई भाई भाई!

इन 5 किरदारों से पता चलता है कि अतुल कुलकर्णी की एक्टिंग रेंज कितनी ज़बरदस्त है

वो एक्टर जिसने मुसलमानों को पाकिस्तान चले जाने को कहा और बाद में खुद रामप्रसाद बिस्मिल बन गया.

अक्षय कुमार बनेंगे वो राजपूत राजा जिसे दुश्मन कैद करके ले गया आंखें फोड़ दी, फिर भी मारा गया

कल्पना नहीं कर सकते 'पृथ्वीराज' थियेटरों में उतरेगी तो क्या होगा!

इंडिया के वो क्रिकेटर्स जिन्होंने फिल्मों में सिर्फ गेस्ट रोल नहीं बाकायदा एक्टिंग की

जब तक हम 10 क्रिकेटर्स का नाम बताते, लिस्ट में एक और नया नाम जुड़ गया.

वो पांच वजहें जिनके लिए 'छिछोरे' देखी ही जानी चाहिए

देख लो भाई, पहली फ़ुर्सत में देख लो.

फ़िल्म 'आधार' का टीज़रः मुक्काबाज़ वाले हीरो की ये फिल्म हर कोई देखने वाला है

गांव का पहला आदमी, जो आधार कार्ड बनवाने के लिए आगे आया और उसकी ऐसी-तैसी हो गई.

सनी देओल के बेटे की पहली फ़िल्म के ट्रेलर में सिर्फ एक चीज़ देखने लायक है

'पल पल दिल के पास' से डेब्यू करने जा रहे हैं करण देओल.

हमारी हर फिल्म और वेब सीरीज़ में पाकिस्तान अपनी जगह कैसे बना लेता है?

The Family Man Trailer: मनोज बाजपेयी और शाहरुख-इमरान हाशमी की वेब सीरीज़ में ये दो चीज़ें डिट्टो हैं.

आदेश श्रीवास्तव के टॉप 5 गाने और सोनू निगम के रोने का किस्सा

महज़ 51 साल की उम्र में कैंसर की वजह से मौत हो गई थी संगीतकार आदेश श्रीवास्तव की.