Submit your post

Follow Us

पड़ताल: क्या अमित शाह का काफिला घायल युवक को तड़पता छोड़ कर निकल गया?

लोकसभा चुनाव को लेकर सभी दलों की ज़बरदस्त तैयारी चल रही है. सभी पार्टियां अपने-अपने हिसाब से चुनाव प्रचार में जान फूंकी हुई हैं. सभी एक दूसरे की गलतियां ढूंढ-ढूंढ कर पब्लिक के सामने रख रहे हैं. ताकि जनता के सामने उनकी छवि खराब हो सके और उनको उसका फायदा मिल सके. अब एक पुरानी खबर खूब वायरल हो रही है.

#क्या है दावा

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे पोस्ट में दावा किया गया है कि अमित शाह का काफिला युवक को तड़पता छोड़ कर निकल गया. 2018 की खबर अब वायरल की जा रही है. कई लोग इस पोस्ट को रीशेयर कर रहे हैं. हमारे पाठक आलोक ने भी हमें इस तस्वीर को भेज कर इसकी सच्चाई जाननी चाही. क्योंकि 28 मार्च 2018 के इस पोस्ट को 31 हज़ार से ज्यादा लोग शेयर कर चुके हैं. साथ ही इस पोस्ट के कमेंट सेक्शन में अमित शाह के लिए कई तरह की बातें लिख रहे हैं जिसे हम आपको नहीं दिखा सकते.

सोशल मीडिया पर कुछ इस तरह से दावे किए जा रहे हैं.
सोशल मीडिया पर कुछ इस तरह से दावे किए जा रहे हैं.

#हमने शुरू की दावे की पड़ताल

#1. खबर 2018 की दिख ही रही थी तो इसकी जानकारी जुटाना मुश्किल नहीं था. गूगल पर इस खबर के बारे में सर्च करने पर पता चला कि खबर 2016 की है.

#2. दिसंबर 2016 में तेलंगाना के भुपालापल्ली में एक सड़क दुर्घटना हुई थी. उसी वक्त एक ट्रक ने बाइक वाले को टक्कर मार दी. बाइक पर तीन लोग बैठ थे. गोपी, सतीश और चैरी. इस हादसे में चैरी की मौके पर ही मौत हो गई. जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक्त पास के गांव के लोग उसके आस पास जमा हो गए थे. वो हादसे में घायल लोगों की जान बचाने के लिए गाड़ी ढूंढ रहे थे. तभी जनजाति कल्याण मंत्री अज़मीरा चंदुलाल का काफिला वहां से गुज़रा. लेकिन वो बिना रुके आगे निकल गए. इस घटना के बाद वहां जमा लोगों ने इसकी तस्वीर खींच ली.

#3. इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर भी खूब शेयर किया गया.

साल 2016 में सोशल मीडिया पर शेयर की गई खबर का स्क्रीन शॉट
साल 2016 में सोशल मीडिया पर शेयर की गई खबर का स्क्रीन शॉट

मामला सामने आने के बाद मंत्री ने भी माफी मांगी थी. मंत्री ने बाद में कहा:

“अपने एक रिश्तेदार के साथ कॉल पर व्यस्त था. उस वक्त मुझे उतरना चाहिए और घायलों से मिलना चाहिए था, लेकिन उस वक्त मैं काफी जल्दबाजी में था.”

इस खबर को उस वक्त मीडिया में भी खूब चलाया गया था. कई वेबसाइट्स पर अब भी ये खबर मौजूद है.

#क्या नतीजा निकला

इस पोस्ट का अमित शाह से कोई लेना-देना नहीं है. सड़क हादसा हुआ था लेकिन साल 2016 में हुआ था. इसके साथ ही काफिला ना रोकने के लिए बाद में मंत्री ने खेद भी जताया था. हमारी पड़ताल में सोशल मीडिया पर किए गए दावे झूठे निकले.

आपके पास भी ऐसा कोई पोस्ट हो, ऐसी कोई तस्वीर हो, कोई वीडियो हो जिनकी सत्यता पर आपको शक हो, तो उसकी पड़ताल के लिए भेजिए हमारे पास Padtaalmail@gmail.com पर. हम उसकी पड़ताल करेंगे और आपको उसकी सच्चाई बताएंगे.


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

पाताल लोक की वो 12 बातें जिसके चलते इस सीरीज़ को देखे बिन नहीं रह पाएंगे

'जिसे मैंने मुसलमान तक नहीं बनने दिया, आप लोगों ने उसे जिहादी बना दिया.'

ऑनलाइन देखें वो 18 फ़िल्में जो अक्षय कुमार, अजय देवगन जैसे स्टार्स की फेवरेट हैं

'मेरी मूवी लिस्ट' में आज की रेकमेंडेशन है अक्षय, अजय, रणवीर सिंह, आयुष्मान, ऋतिक रोशन, अर्जुन कपूर, काजोल जैसे एक्टर्स की.

कैरीमिनाटी का वीडियो हटने पर भुवन बाम, हर्ष बेनीवाल और आशीष चंचलानी क्या कह रहे?

कैरी के सपोर्ट में को 'शक्तिमान' मुकेश खन्ना भी उतर आए हैं.

वो देश, जहां मिलिट्री सर्विस अनिवार्य है

क्या भारत में ऐसा होने जा रहा है?

'हासिल' के ये 10 डायलॉग आपको इरफ़ान का वो ज़माना याद दिला देंगे

17 साल पहले रिलीज़ हुई इस फ़िल्म ने ज़लज़ला ला दिया था

4 फील गुड फ़िल्में जो ऑनलाइन देखने के बाद दूसरों को भी दिखाते फिरेंगे

'मेरी मूवी लिस्ट' में आज की रेकमेंडेशंस हमारी साथी स्वाति ने दी हैं.

आर. के. नारायण, जिनका लिखा 'मालगुडी डेज़' हम सबका नॉस्टैल्जिया बन गया

स्वामी और उसके दोस्तों को देखते ही बचपन याद आता है

वो 22 एक्टर्स जिनको यशराज फिल्म्स ने बॉलीवुड में लॉन्च किया

यश और आदि चोपड़ा के इस प्रोडक्शन हाउस ने इस साल 50 बरस पूरे कर लिए हैं.

इन 8 बॉलीवुड सेलेब्स के मदर्स डे वाले वीडियोज़ और फोटो आप मिस नहीं करना चाहेंगे

बच्चन ने मां को गाकर याद किया है, वहीं अनन्या पांडे ने बचपन के दो बेहद क्यूट वीडियोज़ पोस्ट किए हैं.

मंटो, जिन्हें लिखने के फ़ितूर ने पहले अदालत फिर पागलखाने पहुंचाया, उनकी ये 15 बातें याद रहेंगी

धर्म से लेकर इंसानियत तक, सबपर सब कुछ कहा है मंटो ने.