Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

फैक्ट चेक: क्या योगी आदित्यनाथ ने सरकारी मर्सिडीज़ लेने से इनकार कर दिया?

5
शेयर्स

क्या उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकारी मर्सिडीज लेने से इनकार कर दिया? सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे पोस्ट में ये दावा किया जा रहा है. इस पड़ताल में हम यही Fact Check करेंगे.

क्या है इस वायरल पोस्ट में?
एक कार्ड है. इसमें योगी आदित्यनाथ की मिसाल दी गई है. लिखा है कि एक योगी हैं मुख्यमंत्री. जिन्होंने सरकारी मर्सिडीज लेने से इनकार कर दिया. इसके बाद बिना नाम लिए किसी पूर्व मुख्यमंत्री पर तंज कसा गया है. कि वो तो शौचालय का मग भी उठाकर ले गए. नाम नहीं होने के बावजूद समझ आता है कि ये इशारा अखिलेश यादव की तरफ है. इस तंज का रेफरेंस अखिलेश यादव के मुख्यमंत्री आवास खाली करने से जुड़ा है. तब तस्वीरें आई थीं. अखिलेश के बंगले की टाइल्स उखाड़ दी गई थीं. क्यारियां तक खोद दी गई थीं. नल की टोंटी गायब होने जैसी बातें आई थीं. शौचालय से मग ले जाने वाली बात उसी क्रम की अतिशयोक्ति है.

ये पोस्ट ज्यादातर बीजेपी समर्थकों से जुड़े पेजों पर शेयर हो रही है.
ये पोस्ट ज्यादातर बीजेपी समर्थकों से जुड़े पेजों पर शेयर हो रही है.

 

ये वायरल पोस्ट का एक स्क्रीनशॉट
ये रहा वायरल पोस्ट का एक स्क्रीनशॉट

ये एक और सैंपल

ये एक और सैंपल

सच क्या है?
सच ये है कि योगी आदित्यनाथ ने नई मर्सिडीज़ लेने से इनकार किया था, लेकिन चलते वो मर्सिडीज़ में ही हैं. वैसे वो कई बार अलग-अलग गाड़ी में भी दिखते हैं.

योगी आदित्यनाथ (फोटो: IANS)
योगी आदित्यनाथ (फोटो: IANS)

हमने सर्च किया, तो जुलाई 2017 की कई खबरें मिलीं. खबर में ये था कि राज्य के एस्टेट डिपार्टमेंट ने नए-नए मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ के लिए दो नई गाड़ियां खरीदने का प्रस्ताव दिया था. ये दोनों गाड़ियां मर्सिडीज एम गार्ड थीं. एक कार की कीमत करीब तीन करोड़ रुपये थी. लेकिन उस समय योगी ने इस नई खरीद से इनकार कर दिया था. उन्होंने कहा था कि वो अखिलेश के समय खरीदी गई गाड़ियों से ही काम चलाएंगे.

ये 5 जुलाई, 2017 को आई हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट है.
ये 5 जुलाई, 2017 को आई हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट है. इसमें बताया गया है कि नई कार खरीदने का प्रस्ताव CM ने नामंजूर कर दिया है. और भी जगहों पर आई थी ये रिपोर्ट. 

अखिलेश ने CM रहते हुए कौन सी गाड़ी खरीदी थी?
अखिलेश जब मुख्यमंत्री थे, तो उनके लिए मर्सिडीज बेंज रेंज की कार खरीदी गई थी. उस समय इसकी कीमत तकरीबन डेढ़ करोड़ रुपये थी. ऐसी ही एक कार उनके पिता मुलायम सिंह यादव के लिए भी खरीदी गई थी. चुनाव हारने के बाद अखिलेश ने वो सरकारी गाड़ी लौटा दी. जब योगी ने CM पद संभाला, तो नई गाड़ी लेने की जगह उसी गाड़ी को इस्तेमाल करने को कहा.

जब मायावती CM थीं, तब उन्होंने अपने लिए लैंड क्रूजर कार मंगवाई थी. ये मायावती के 2007 से 2012 वाले कार्यकाल की बात है. तब इसकी कीमत एक करोड़ रुपये थी.

नई कार नहीं खरीदी, मगर चलते मर्सिडीज से ही हैं
यानी योगी आदित्यनाथ के लिए नई कार नहीं खरीदी गई. नई कार न खरीदने का फैसला करके उन्होंने सरकार के करीब 5 करोड़ रुपए बचाए. इसके लिए उनकी तारीफ की जानी चाहिए. मगर उनके फैन तारीफ में कुछ ज्यादा ही आगे निकल गए और गलत फैक्ट बताने लगे. जबकि फैक्ट ये है कि वो चलते मर्सिडीज में ही हैं. अखिलेश के दौर में खरीदी गई मर्सिडीज ही उनकी सरकारी सवारी है. इस हिसाब से वायरल हो रहा पोस्ट फर्ज़ी है.


ट्रंप के वायरल वीडियो में क्या वाकई नरेंद्र मोदी की तारीफ हो रही है?

अर्थात: क्या पीएम मोदी ने बिना सोचे-समझे इनकम सपोर्ट का फैसला लिया?

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Fact Check: UP CM Yogi Adityanath rejects official Mercedes, claim fake viral post

10 नंबरी

इन 5 बड़ी वजहों से फाइनल में न्यूजीलैंड से हार गई टीम इंडिया

दिनेश कार्तिक निदाहस ट्रॉफी का फाइनल दोहराने वाले थे, मगर...

आज एक-दो नहीं, कुल 45 फिल्में रिलीज़ हुई हैं

शायद ऐसा भारत में पहले कभी नहीं हुआ.

उड़ी फिल्म में ‘हाउ इज़ द जोश’ कहां से आया, असली कहानी जानिए

फिल्म के डायरेक्टर ने अपनी मुंह से सुनाया है इस डायलॉग का किस्सा...

UP Budget: योगी सरकार के बजट की 13 बातें, जो बताती हैं कि इलेक्शन 2019 में ही है

एक्सप्रेस-वे, एयरपोर्ट पर खूब खर्च की तैयारी है.

PUBG के साथ इन गेम्स में दिलचस्पी क्यों ले रही है दिल्ली सरकार?

दिल्ली के कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स ने चेताया, बचा के रखें बच्चों को.

ट्विटर पर 90's की ऐसी-ऐसी चीज़ें शेयर हो रही हैं कि कोई मुस्कुरा रहा है, किसी की आंखें नम हैं

बचपन की यादों का ऐसा तूफ़ान आ गया है कि लोग मार इमोशनल हुए जा रहे हैं!

केंदी पों और जस्ट चेंऊं चेंऊं सुनने वाले देश 'जलाने' लगे हैं

'सुन सुना, हाथी का अंडा ला' और 'मेरी लचके कमर' क्यों सुनाई देता है?

विजय माल्या के बारे में वो दस फनी बातें, जो आपको गूगल पर भी नहीं मिलेंगी

माल्या को जब इंडिया लाया जाएगा तो आप उससे पॉइंट 8 और 9 के बारे में पूछ लेना.

जानिए फिल्म '83 में रणवीर सिंह के साथ कौन-कौन से एक्टर्स कर रहे हैं काम

देश के अलग-अलग हिस्सों के एक्टर्स क्रिकेट की ट्रेनिंग ले रहे हैं.