Submit your post

Follow Us

वोटर कार्ड को आधार कार्ड से 'लिंक' करना ग़लत है?

43
शेयर्स

सोशल मीडिया पर कुछ दिन पहले खबर वायरल थी कि सभी लोग अपना वोटर आईडी कार्ड आधार से लिंक करवा लें. इसके लिए चुनाव आयोग के ब्लॉक लेवल ऑफिसर (BLO) के पास आधार कार्ड की फोटोकॉपी जमा करवा दें. इसके लिए आख़िरी तारीख़ 30 सितंबर बताई गई. तब हमने इस दावे की पड़ताल की थी. चुनाव आयोग के शीर्ष अधिकारियों से बात करने के बाद हमने पाया था कि 30 सितंबर तक आधार कार्ड को वोटर कार्ड से लिंक करवाने का दावा भ्रामक है.

Aadhar card

ख़बर पब्लिश होने के बाद हमें कई ईमेल आए, फोन कॉल्स आईं. ज्यादातर कॉल उत्तर प्रदेश, बिहार और राजस्थान से थे. उनका कहना था कि BLO वोटर कार्ड से लिंक करने के लिए आधार कार्ड की मांग कर रहे हैं. तो क्या वोटर आईडी कार्ड से आधार कार्ड लिंक कराना ज़रूरी है? या फिर कुछ ग़लत हो रहा है. चूंकि सबसे ज़्यादा शिकायतें बिहार और उत्तर प्रदेश से थीं, इसलिए हमने बिहार और उत्तर प्रदेश के चुनाव आयोग के शीर्ष अधिकारियों से बात की.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा (दाएं), चुनाव आयुक्त अशोक लवासा (बाएं). तस्वीर 1 सितंबर की है. इसी दिन वोटर लिस्ट को अपडेट करने के लिए ड्राइव की शुरुआत की गई थी.
मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा (दाएं), चुनाव आयुक्त अशोक लवासा (बाएं). तस्वीर 1 सितंबर की है. इसी दिन वोटर लिस्ट को अपडेट करने के लिए ड्राइव की शुरुआत की गई थी.

इसके अलावा भारत निर्वाचन आयोग यानी इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया से भी बात की. उन्होंने बताया कि इलेक्शन कमीशन की ओर से वोटर कार्ड और आधार को लिंक करने का कोई प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है. हां, वोटर लिस्ट को अपडेट करने के लिए एक मुहिम चलाई जा रही है. जिसमें प्रत्येक नागरिक को वोटर लिस्ट में अपना नाम वेरिफाई करने के लिए कोई आधिकारिक डॉक्यूमेंट जमा करवाना होगा. आधार कार्ड उन्हीं डॉक्यूमेंट्स में से एक है. इसके अलावा जो जानकारी हमें चुनाव आयोग से मिली है, वो हम आप तक पहुंचा रहे हैं.

यूपी, बिहार के चुनाव आयोग ने ये बताया

उत्तर प्रदेश के डेप्युटी चीफ इलेक्टोरल ऑफिसर इंद्र भूषण वर्मा ने कहा कि

आधार कार्ड का इस्तेमाल वेरिफिकेशन के लिए मैंडेटरी नहीं है. आधार कार्ड के अलावा 9 और डॉक्यूमेंट्स हैं, जिनका इस्तेमाल वोटर आईडी कार्ड वेरिफिकेशन के लिए किया जा सकता है. यह पूरी तरह नागरिक के विवेक पर निर्भर करता है, उसकी इच्छा पर निर्भर करता है कि वह आधार कार्ड देकर वेरिफिकेशन करवाना चाहता है या कोई और डॉक्यूमेंट देकर. इस पूरी प्रक्रिया में शामिल कोई भी अधिकारी आधार कार्ड से ही वेरिफिकेशन करने के लिए दबाव नहीं बना सकता. अगर कोई ऐसा करता है तो यह गलत है. और इस संबंध में नागरिक की शिकायत पर कार्रवाई हो सकती है. शिकायत डीएम से की जा सकती है.

हमने बिहार के चुनाव आयोग में बात की. उन्होंने भी यही जानकारी दी. इसके अलावा उन्होंने कहा

वोटर आईडी वेरिफिकेशन 15 अक्टूबर तक चलेगा. 10 तरह के डॉक्यूमेंट्स का इस्तेमाल वेरिफिकेशन के लिए हो सकता है. इसके अलावा परिवार का एक सदस्य ऑनलाइन परिवार के अन्य सदस्यों का वोटर वेरिफिकेशन कर सकता है. साथ ही सेवा केंद्रों में हर नागरिक अपनी वोटर आईडी कार्ड को वेरिफाई करवा सकता है. सभी के लिए वेरिफिकेशन करवाना जरूरी है ताकि उनका नाम वोटर लिस्ट में रहे.

वोटर लिस्ट में डिटेल अपडेट करवाते चुनाव आयुक्त अशोक लवासा. (तस्वीर- निर्वाचन आयोग)
वोटर लिस्ट में डिटेल अपडेट करवाते चुनाव आयुक्त अशोक लवासा. (तस्वीर- निर्वाचन आयोग)

पूरे मामले में जानकारी के लिए हमने भारत निर्वाचन आयोग यानी इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया के प्रवक्ता शेफाली शरण से संपर्क किया. उन्होंने बताया कि

आधार कार्ड को वोटर कार्ड से लिंक करने की कोई भी गाइडलाइन जारी नहीं की गई है. हां, वोटर लिस्ट को अपडेट करने के लिए एक ड्राइव चलाई जा रही है जो एक सितंबर से 15 अक्टूबर तक चलेगी. इसमें वोटर वेरीफिकेशन के लिए 10 डॉक्यूमेंट तय किए गए हैं जिनमें से एक आधार कार्ड है. इसलिए सिर्फ आधार कार्ड से ही वेरिफिकेशन होगा ऐसा नहीं है. इस संबंध में इलेक्शन कमीशन 1 सितंबर को लाॉचिंग के वक्त जानकारी दे चुका है. नागरिक अपना कोई भी आधिकारिक डॉक्यूमेंट देकर वेरिफिकेशन करवा सकता है.

ये 10 डॉक्यूमेंट कौन से हैं?

1. भारतीय पासपोर्ट
2. ड्राइविंग लाइसेंस
3. आधार कार्ड
4. राशन कार्ड
5. सरकारी या अर्धसरकारी कर्मचारियों के पहचान पत्र
6. बैंक की पासबुक
7. किसान पहचान पत्र
8. पैन कार्ड
9. स्मार्ट कार्ड (रजिस्ट्रार जनरल ऑफ इंडिया की ओर से जारी)
10. बिजली/पानी/गैस या फोन बिल

यानी इनमें से आप कोई भी डॉक्यूमेंट देकर वेरिफिकेशन करवा सकते हैं. आधार ज़रूरी नहीं है. अगर आधार न देना चाहें तो ऊपर लिखे डॉक्यूमेंट्स में से कोई एक जमा करवाकर वोटर लिस्ट में नाम अपडेट करवा सकते हैं. वोटर लिस्ट अपडेट करने की ये प्रक्रिया 15 अक्तूबर तक चलेगी.


पड़ताल: क्या चीन से युद्ध हारने के बाद लोगों ने जवाहरलाल नेहरू को थप्पड़ मारा था?

पड़ताल: ISRO प्रमुख के. सिवन की बिना चप्पल वाली वायरल तस्वीर का सच क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सैनिकों के लिए फिल्में भारत में सिर्फ ये एक आदमी बनाता है

1962, 1971 और 1999 के वॉर पर उन्होंने फिल्में बनाईं. आज हैप्पी बड्डे है.

क्या काम कर पाएगा 'दबंग 3' को प्रमोट करने का ये तिकड़म?

'दबंग 3' को सलमान खान नहीं ये प्रमोट करेंगे.

विकी कौशल के छोटे भाई की आने वाली फिल्म का शाहरुख़-सलमान से क्या कनेक्शन है?

सनी कौशल की 'भंगड़ा पा ले' पंजाब में खूब चल सकती है.

रानी की 'मर्दानी 2' तो बाद में आएगी, इसका ये डायलॉग अभी से सुपरहिट हो गया

'मर्दानी 2' के इस पहले वीडियो को देखकर दो बातें याद रह जाएंगी.

कोई नहीं कह सकता कि वो ऋषिकेश मुखर्जी से महान फ़िल्म निर्देशक है

ऋषि दा और उनकी फिल्मों की ये 8 बातें सबको जाननी चाहिए. आज ही के दिन पैदा हुए थे.

वो लैजेंड एक्टर महमूद, जिसने राजेश खन्ना को थप्पड़ लगाकर स्टारपना निकाल दिया था

जो खुद को अमिताभ बच्चन का दूसरा बाप कहता था.

ए.आर रहमान के हीरो की तुलना फिल्म रिलीज़ होने से पहले ही सलमान खान के साथ क्यों हो रही है?

रहमान ने इस लड़के से जितनी मेहनत फिल्म से पहले करवा दी है, वो सुनकर बाकी स्टार्स को तारे नज़र आने लगेंगे.

कौन हैं रितेश अग्रवाल जो इतनी कम उम्र में 7500 करोड़ के मालिक बन गए

सोचिए सबसे अमीर भारतीय कौन है?

बर्थडे: इन 5 चीजों के लिए देश मनमोहन सिंह को थैंक्यू बोलेगा

मनमोहन सिंह के पास जब मंत्री बनने की खबर आई तो इनको लगा कि मजाक है...

'हाउसफुल 4' से आई अक्षय और बाकी एक्टर्स की फोटोज़ देख लेंगे, तो फिल्म देखने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी

फिल्म देखकर हंसी आए चाहे नहीं, इसका कॉन्सेप्ट सुनकर तो ठठाकर हंसेगें आप.