Submit your post

Follow Us

पड़ताल: मुरली मनोहर जोशी की आडवाणी को लिखी विस्फोटक चिट्ठी का सच क्या है?

273
शेयर्स

सोशल मीडिया पर एक चिट्ठी भयानक वायरल हो रही है, जहां-तहां लोगों के पास फेसबुक, व्हाट्सअप, ट्विटर जितने भी सोशल मीडिया माध्यम हैं उसके ज़रिए पहुंच रही है. ये चिट्ठी कानपुर से सांसद और बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी की तरफ से लालकृष्ण आडवाणी को लिखी गई है.

क्या है दावा?

लालकृष्ण आडवाणी के नाम लिखी गई इस चिट्ठी में दावा किया गया कि आडवाणी और जोशी को घर के लोगों ने अपमानित करके बाहर निकाला. चिट्ठी में घर का आशय पार्टी था. चिट्ठी में इस लोकसभा चुनाव में बीजेपी की कैसी स्थिति रहेगी इस बात का भी ज़िक्र है. गौरतलब है कि इससे पहले भी जोशी कानपुर के वोटरों के नाम चिट्ठी लिख चुके हैं. जिसमें उन्होंने चुनाव न लड़ने की जानकारी दी थी. साथ ही ये भी कहा था कि बीजपी के महासचिव ने उनसे कानपुर या फिर किसी भी दूसरी सीट से चुनाव लड़ने के लिए मना किया है. अब जोशी की नई चिट्ठी में क्या लिखा है आप नीचे पूरे विस्तार से पढ़ सकते हैं, लेकिन चिट्ठी की मोटी बात जान लीजिए जिसे लेकर सोशल मीडिया पर बवाल मच गया.

पहले चरण की 91 सीटों पर मतदान के गिरते प्रतिशत से स्पष्ट है कि बीजेपी को बमुश्किल 8-10 सीटें ही मिल पाएंगी, दूसरे और तीसरे चरण में बेहर प्रदर्शन होने का भी कोई कारण नज़र नहीं आ रहा है. पिछली चर्चा में आप (आडवाणी) बीजेपी को 120 और मैं बीजेपी को 150 सीटें दे रहा था परन्तु पहले चरण के मतदान के बाद आप सही साबित होते नज़र आ रहे हैं.

चिट्ठी की बातें पढ़ने के बाद ये सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गई. लोग एक दूसरे को शेयर करके पूछने लग गए कि चिट्ठी सही है क्या? चिट्ठी पहली नज़र में लोगों को सही भी लग रही थी क्योंकि इस पर न्यूज़ एजेंसी ANI का Logo लगा था. हालांकि चिट्ठी की भाषाई गलतियां लोगों के मन में शक भी पैदा कर रही थी.

सोशल मीडिया पर यही चिट्ठी वायरल हो रही है.

फेसबुक, व्हाट्सअप, ट्विटर हर जगह लोग अलग-अलग कैप्शन के साथ इस चिट्ठी को पोस्ट करने लगे.

सोशल मीडिया पर लोग कुछ इस तरह से पोस्ट करने लगे.
सोशल मीडिया पर लोग कुछ इस तरह से पोस्ट करने लगे.

हमने शुरू की चिट्ठी की पड़ताल

#1-  मुरली मनोहर जोशी की चिट्ठी के बारे में ऑफिशियल कोई जानकारी नहीं मिली.

#2- हमने आज तक की संवाददाता पॉलमी साहा से इस सिलसिले में बात की. उन्होंने बताया कि मुरली मनोहर जोशी के ऑफिस की तरफ से ये जानकारी दे दी गई है कि उन्होंने इस तरह की कोई चिट्ठी नहीं लिखी है.

#3- अब इस चिट्ठी में ANI का Logo लगा था, इसीलिए हमने न्यूज़ एजेंसी ANI से भी बात की. उन्होंने भी इस तरह की चिट्ठी की ब्रॉडकास्टिंग से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा:

‘हमारी तरफ से इस तरह की कोई खबर प्रसारित नहीं की गई. साथ ही हमारा Logo भी गलत इस्तेमाल किया गया है, किसी ने हमारे नाम का गलत इस्तेमाल किया है. इस चिट्ठी से हमारा कोई लेना-देना नहीं है’

क्या निकला नतीजा?

हमारी पड़ताल में सोशल मीडिया के दावे फर्ज़ी निकले. ये चिट्ठी फर्ज़ी निकली. न्यूज़ एजेंसी ANI ने भी इस खबर इनकार कर दिया. ये चिट्ठी किसने लिखी कहां से वायरल हुई इसकी जानकारी नहीं पता चल पाई. लेकिन कुल मिलाकर चिट्ठी फर्ज़ी है, इसीलिए इस पर विश्वास ना किया जाए.

तो चुनावी मौसम चल रहा है, ऐसे में आपके पास भी ऐसी कोई चिट्ठी पहुंच जाए, या फिर तस्वीर पहुंच जाए, या फिर वीडियो ही क्यों न पहुंच जाए, जिसपर आपको शक हो. तो उसकी पड़ताल के लिए भेजिए Padtaalmail@gmail.com पर. हम उसकी पड़ताल करके आपको सच बताएंगे.


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो 15 गाने, जिनके बिना छठ पूजा अधूरी है

पुराने गानों के बिना व्रत ही पूरा नहीं होता.

राग दरबारी : वो किताब जिसने सिखाया कि व्यंग्य कितनी खतरनाक चीज़ है

पढ़िए इस किताब से कुछ हाहाकारी वन लाइनर्स.

वो 8 कंटेस्टेंट जो 'बिग बॉस' में आए और सलमान खान से दुश्मनी मोल ले ली

लड़ाईयां जो शुरू घर से हुईं लेकिन चलीं बाहर तक.

जॉन अब्राहम की फिल्म का ट्रेलर देखकर भूतों को भी डर लगने लगेगा

'पागलपंती' ट्रेलर की शुरुआत में जो बात कही गई है, उस पर सभी को अमल करना चाहिए.

मुंबई में भी वोट पड़े, हीरो-हिरोइन की इंक वाली फोटो को देखना तो बनता है बॉस!

देखिए, कितने लाइक्स बटोर चुकी हैं ये फ़ोटोज.

जब फिल्मों में रोल पाने के लिए नाग-नागिन तो क्या चिड़िया, बाघ और मक्खी तक बन गए ये सुपरस्टार्स

अर्जुन कपूर अगली फिल्म में मगरमच्छ के रोल में दिख सकते हैं.

जब शाहरुख की इस फिल्म की रिलीज़ से पहले डॉन ने फोन कर करण जौहर को जान से मारने की धमकी दी

शाहरुख करण को कमरे से खींचकर लाए और कहा- '' मैं भी पठान हूं, देखता हूं तुम्हें कौन गोली मारता है!''

इस अजीबोगरीब साइ-फाई फिल्म को देखकर पता चलेगा कि लोग मरने के बाद कहां जाते हैं

एक स्पेसशिप है, जो मर चुके लोगों को रोज सुबह लेने आता है. लेकिन लेकर कहां जाता है?

वो इंडियन डायरेक्टर जिसने अपनी फिल्म बनाने के लिए हैरी पॉटर सीरीज़ की फिल्म ठुकरा दी

आज अपना 62 वां बड्डे मना रही हैं मीरा नायर.

अगर रावण आज के टाइम में होता, तो सबसे बड़ी दिक्कत उसे ये होती

नम्बर सात पढ़ कर तो आप भी बोलेंगे, बात तो सही है बॉस.