Submit your post

Follow Us

पड़ताल: दिल्ली में फूड ब्लॉगर की गिरफ्तारी वाली बात कितनी सच्ची?

5
शेयर्स

(नोट: हमें खेद है कि इस आर्टिकल के ज़रिए हमने आपको गलत जानकारी दी थी. फेक न्यूज़ का जाल कितना फैला है ये आप इससे जानिए कि हमने पड़ताल करने के लिए इंडिया.कॉम के आर्टिकल से जानकारी ली थी. जबकि उनकी जानकारी गलत थी. हम उस पर भरोसा कर बैठे और हमसे भी गलती हो गई थी. इस ख़बर को आगे सुधार लिया गया है.)

‘दी लल्लनटॉप’ देश में चल रहे लोकसभा चुनाव की ग्राउंड से सीधी कवरेज आप तक पहुंचा रहा है. इसके अलावा फेसबुक के साथ मिलकर देश के अलग-अलग इलाकों में फ़ेक न्यूज़ से बचने के लिए वर्कशॉप भी कर रहा है. साथ ही, लोगों से जान रहा है कि उन्हें किन ख़बरों के फ़ेक होने पर शक है. इस कड़ी में हमारी टीम पहुंची दिल्ली. यहां ‘दी लल्लनटॉप’ के रिपोर्टर नीरज ने ऐसी ही वर्कशॉप की.
वर्कशॉप अटेंड कर रहे आदित्य को एक ख़बर पर शक था. वो एक वायरल मैसेज की सच्चाई जानना चाहते हैं जिसमें दावा किया जा रहा है कि दिल्ली में एक फूड ब्लॉगर को अरेस्ट किया गया है.

आदित्य.
आदित्य.

आदित्य चाहते हैं कि हम इस ख़बर की पड़ताल करें और उन तक सच पहुंचाएं.

दावा

फूड ब्लॉगर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. ब्लॉगर पर आरोप है कि उसने मुफ्त का खाना उड़ाया है जबकि उसका कोई फूड ब्लॉग भी नहीं है.

दावा
दावा

पड़ताल

ये ख़बर फॉक्सी वेबसाइट ने छापी थी. ये वेबसाइट खुद को सटायर पोर्टल बताती है. इनकी लिखी एक स्टोरी ने अहम मुद्दे पर ध्यान दिलाया था. ये स्टोरी है फर्ज़ी फूड ब्लॉगर्स के बारे में. फॉक्सी का ये आर्टिकल भी सटायर पीस ही था. हालांकि कुछ वेबसाइट ने इसे ख़बर मान लिया. इंडिया.कॉम भी उनमें से एक है.

इंडिया.कॉम का आर्टिकल, जिस पर हम भी विश्वास कर बैठे.
इंडिया.कॉम का आर्टिकल, जिस पर हम भी विश्वास कर बैठे.

पहले लिखा गया था
{ये ख़बर है 13 सितंबर 2018 की. गुडगांव की रहने वाली स्वाति खुद को फूड ब्लॉगर बताकर कई महंगे रेस्त्रां में मुफ्त खाना खाती थी. रेस्त्रां में बताती थी कि उसका फेमस फूड ब्लॉग है. और वो रिव्यू के लिए रेस्त्रां की डिश टेस्ट करना चाहती है. क़रीब एक महीन तक ये खेल चलता रहा. लेकिन बाद में पोल खुली तो हवालात जाना पड़ा. इंडिया.कॉम की ख़बर के मुताबिक फूड ब्लॉगर को पुलिस ने उस वक्त गिरफ्तार किया जब वो खाना खाने के लिए दिल्ली के एक रेस्त्रां में पहुंची. स्वाति के पहुंचने पर रेस्त्रां मैनेजमेंट ने उसे बिठा लिया और लगे हाथ पुलिस को भी कॉल कर दिया. पुलिस के पहुंचने पर कार्रवाई हुई और स्वाति को हवालात की सैर करनी पड़ी. ऐसी ही मिलती जानकारी हिंदुस्तान टाइम्स में छपी थी. हालांकि यहां इसे ख़बर के तौर पर नहीं दिखाया गया था. }

लेकिन सच ये है कि ये सटायर पीस था. ऐसा नहीं हुआ है. ये सिर्फ फर्ज़ी ब्लॉगर्ज़ की बड़ी समस्या की ओर ध्यान दिलाने के लिए लिखी गई थी.

नतीजा

हमारी पड़ताल में ये दावा गलत निकला. ये सिर्फ सटायर पीस था. इसमें कोई सच्चाई नहीं है.

अगर आपको किसी ख़बर पर शक हो तो हमें लिखें. हमारा पता है PADTAALMAIL@GMAIL.COM

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

JNU जाने के बाद दीपिका के सपोर्ट में खड़ी हुईं ये 16 मशहूर फिल्मी हस्तियां

दीपिका पादुकोण के इस कदम को लेकर भी जनता दो फांक में बंट गई है.

प्रियंका-निक के अलावा, 77वें गोल्डन ग्लोब्स अवॉर्ड सैरेमनी से जुड़ी 8 जाबड़ बातें ये थीं

जानिए साल की पहली इंटरनेशनल फिल्म-टीवी प्राइज सैरेमनी में क्या-क्या हुआ?

'मलंग' ट्रेलर- वो फिल्म जिसमें हीरो, हीरोइन, पुलिस, विलेन सब हत्याएं करने की बात कर रहे हैं

इस फिल्म में हीरो-हीरोइन नहीं सिर्फ विलन हैं, चार विलन.

वो लेखक, जिसके नाटकों को अश्लील, संस्कृति के मुंह पर कालिख मलने वाला बोला गया

जब एक नाटक में गुंडों ने तोड़फोड़ की, तो बालासाहेब ठाकरे को राज़ी करके उसका मंचन करवाया गया.

CAA मिस्ड कॉल नंबर पर सन्नी लियोनी से बात कराने का दावा करने वाले को पीएम मोदी फॉलो करते हैं!

88662-88662 पर मिस्ड कॉल के लिए घटिया बातें शेयर हो रही हैं.

विजय देवरकोंडा की अगली फिल्म, जो 'अर्जुन रेड्डी' से भी दो कदम आगे की चीज़ लग रही

'वर्ल्ड फेमस लवर' का टीज़र आया है, जिसमें विजय चार हीरोइनों के साथ काम करने के बावजूद दिल तुड़वा बैठे.

इस साल बॉलीवुड में डेब्यू करने वाले ये 10 लोग, पर्दे पर आग लगाने वाले है

इसमें सुपरस्टार से लेकर स्टारकिड्स और नेशनल क्रश तक शामिल हैं.

सिंगर अनुराधा पौडवाल पर आरोप, करियर के लिए चार दिन की बेटी को छोड़ दिया

ऐसे आरोप झेलने वाली अनुराधा पहली सेलेब्रिटी नहीं हैं, शाहरुख से लेकर ऐश्वर्या तक इसके शिकार हो चुके हैं.

2019 की वो 15 फिल्में जिन्हें कहीं से भी ढूंढकर आपको देखना ही चाहिए

साल की सबसे सॉलिड साबित हुई फिल्में.

2019 की ये पांच शानदार मराठी मूवीज़ देखिए, यकीनन थैंक यू बोलेंगे

बायोपिक से लेकर हिस्टॉरिकल ड्रामा तक सब कुछ है इसमें.