Submit your post

Follow Us

हमेशा साथ रहने वाले इस ब्रीफकेस में क्या रखते हैं मोदी?

5
शेयर्स

‘दी लल्लनटॉप’ देश में चल रहे लोकसभा चुनाव की ग्राउंड से सीधी कवरेज आप तक पहुंचा रहा है. इसके अलावा फेसबुक के साथ मिलकर देश के अलग-अलग इलाकों में फ़ेक न्यूज़ से बचने के लिए वर्कशॉप भी कर रहा है. साथ ही, लोगों से जान रहा है कि उन्हें किन ख़बरों के फ़ेक होने पर शक है. इस कड़ी में हमारी टीम पहुंची उज्जैन. यहां ‘दी लल्लनटॉप’ के रिपोर्टर निखिल ने ऐसी ही वर्कशॉप की.

सर्वेश.
सर्वेश.

वर्कशॉप अटेंड कर रहे सर्वेश को एक ख़बर पर शक था. वो वायरल मैसेज की सच्चाई जानना चाहते हैं जिसमें दावा किया जा रहा है कि SPG पीएम और राष्ट्रपति के सुरक्षा देते वक्त जो अटैची/ब्रीफकेस थामे रहता है, उसमें मशीन गन होती है. . सर्वेश चाहते हैं कि ‘दी लल्लनटॉप’इस खबर की पड़ताल करे.

दावा

प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति की सुरक्षा में तैनात स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) जिस ब्रीफकेस को थामे चलता है, उसमें मशीनगन होती है

सर्वेश तक ये वीडियो पहुंचा था.
सर्वेश तक ये वीडियो पहुंचा था.

पड़ताल

हमने इस बारे में जानकारी जुटाई. कुछ लोग कहते हैं कि इसमें मशीन गन है तो कुछ बताते हैं कि इसमें न्यूक्लियर कंट्रोल है. अफवाहों की माने तो ब्रीफकेस का वज़न 10 से 12 किलो के बीच है. ब्रीफकेस में एक छोटा एंटेना और परमाणु बम का ट्रिगर है. दुनिया के किसी भी कोने पर मोदी कभी भी बम फेंक सकते हैं. ये ब्रीफकेस एक लैपटॉप के साथ जुड़ा है. कहते हैं कि जिस भी अधिकारी के पास ये ब्रीफकेस होता है, वो मोदी के आसपास ही रहता है.

हर जगह साये की तरह साथ चलते हैं SPG कमांडो.
हर जगह साये की तरह साथ चलते हैं  SPG कमांडो.

जब पड़ताल की गई तो पता चला कि ये न्यूक्लियर ब्रीफकेस नहीं, बल्कि पोर्टेबल बुलेटप्रूफ शील्ड है. ये पूरी तरह खुल जाता है और रक्षा कवच का काम करता है. ये उनकी पर्सनल प्रोटेक्शन के लिए है. इसका काम ये है कि अगर प्रधानमंत्री पर कोई आतंकी हमला होता है, तो सुरक्षा कमांडो फ़ौरन इसे खोल कर पीएम को कवर कर लें.

main-qimg-2fdcbf0647cbcccdb46026b8e0c76173-c (1)

ये ब्रीफकेस उर्फ़ बैलेस्टिक शील्ड हो रहे सीधे हमले से सुरक्षा करने में सक्षम है. इस ब्रीफकेस में एक गुप्त जेब भी होती है, जिसमें एक पिस्तौल होती है. आतंकी हमले के समय ये ब्रीफकेस एक सुरक्षा ढाल का काम करता है. इसीलिए इसे थामे चलने वाले कमांडो प्रधानमंत्री के आसपास ही रहते हैं.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ भी ये ब्रीफकेस चला करता था. तो ये अफवाह सिर्फ अफवाह ही है कि प्रधानमंत्री मोदी कहीं से भी न्यूक्लियर हमला करने वाला बटन दबा सकते हैं. न्यूक्लियर हमला बेहद ज़िम्मेदारी का फैसला होता है. इसे कुछ पलों में और वो भी आपाधापी में नहीं लिया जा सकता. इसके अलावा मशीन गन भी इस ब्रीफकेस में नहीं आ सकती. मशीन गन भारी भरकम उपकरण है. इस ब्रीफकेस में सिर्फ गन आ सकती है.

नतीजा

तो साफ है कि पीएम और राष्ट्रपति की सुरक्षा में लगे SPG ने हाथ में एक स्पेशल शील्ड पकड़ी होती है, जिसकी पैकिंग ब्रीफकेस की तरह दिखती है. इसमें मशीन गन या न्यूक्लियर बटन नहीं होता, हां, गन ज़रूर होती है. इसके अलावा क्या होता है, ये हम नहीं बता पाएंगे क्योंकि ये हमें भी नहीं पता. सीक्रेट को सीक्रेट रहने दिया जाए.


अगर आपको किसी ख़बर पर शक हो तो हमें लिखें. हमारा पता है PADTAALMAIL@GMAIL.COM

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

भारतीय सिनेमा इतिहास की वो फ़िल्में जिन्हें बनाने में आए खर्चे से कई स्मार्ट सिटीज़ बन जाती

किसी फिल्म ने कितने पैसे कमाए इसमें तो सबकी दिलचस्पी होती है, लेकिन खर्चा कितना हुआ ये जानकर पसीने छूट जाएंगे.

वो दस किताबें जो सरकार आपको पढ़ने नहीं देगी

कुछ तो 50 सालों से बैन ही हैं.

वो 50 दिल को छू लेने वाली फिल्में, जिसने लोगों की ज़िंदगी बदलकर रख दी

कारोबारी ने ट्विटर पर पूछा था 'एक फ़िल्म का नाम बताओ जो असरदार थीं', लोगों ने 50 बता दीं.

सुनील गावस्कर के इस फैन को लोग अक्षय कुमार क्यों बुला रहे हैं?

सोशल मीडिया पर भयानक तरीके से वायरल हुआ पड़ा है ये आदमी.

ऐसे ही चला तो नरेंद्र मोदी की कविता वाली किताब के साथ ये 9 किताबें भी बैन हो जाएंगी!

हाईकोर्ट में War and Peace पर जताई गई आपत्ति, इस अर्टिकल की तरह ही दिलचस्प है.

IMPACT FEATURE: लीक से हट कर 6 करियर ऑप्शन्स जो आपकी लाइफ़ लल्लनटॉप बना देंगे

डॉक्टर, इंजीनियर, IAS बनने के अलावा भी बहुत ऑप्शंस हैं.

भगवान विष्णु से प्रेरित रितेश देशमुख का ये बौना कैरेक्टर आपके दिमाग के परखच्चे उड़ा देगा

फिल्म 'मरजावां' के शुरुआती पोस्टर्स आपका ध्यान अपनी ओर खींच के ही छोड़ेंगे.

काटने वाले सांप से उसका ज़हर वापस चुसवाने जैसे रामबाण फ़िल्मी इलाज

मेडिकल साइंस से आगे एक दुनिया है, जिसे बॉलीवुड कहते हैं.

वॉर का ट्रेलर: अगर ये फिल्म चली तो बॉलीवुड की 'बाहुबली' बन जाएगी

ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ का ये ट्रेलर आप 10 बारी देखेंगे!

इस टीज़र में आयुष्मान ने वो कर दिया जो सलमान, शाहरुख़ करने से पहले 100 बार सोचते

फिल्म 'बाला' का ये एक मिनट का टीज़र आपको फुल मज़ा देगा.